Connect with us

अनुवाद

कानून बनने के बाद भी महिला को विवाहेतर संबंध बनाने के लिए खाने पड़े कोड़े…!!

Published

on

महिला को बीच चौराहे पर खाने पड़े कोड़े

परिवर्तन ही संसार का नियम है लेकिन यह परिवर्तन कुछ चीजों तक सीमित रहे तो ही अच्छा है। आज की युवा पीढ़ी अब हर चीज में परिवर्तन चाहने लगी है। यहां तक कि उसे अपने जीवनसाथी को छोड़कर किसी और के साथ नया जीवन शुरू करने में भी कोई एतराज नहीं होता। इस तरह अनेकों मामलों के कारण तलाकशुदा लोगों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है।

एक महिला पर बीच सड़क पर एक व्यक्ति कोड़े बरसा रहा है । वहीं आसपास खड़े लोग उस व्यक्ति को रोकने के बजाए मोबाइल पर फोटो खींचते नजर आ रहे हैं।हम आपकों बता दे कि उस महिला पर आरोप है कि उसने विवाहेतर संबंध बनाए थें ।

मामला इंडोनेशिया के एचेह प्रोविन्स का है जहां कानूनी तौर पर इस तरह की सजा देने का प्रावधान है । मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 2001 में ऑटोनोमी हासिल करने के बाद से एचेह प्रोविन्स ने शरिया कानून के एक रूप को अडॉप्ट किया था. हालांकि, इंडोनेशिया का यह इकलौता ऐसा प्रोविन्स है यहां इस तरह सजा मिलती है. ये अलग बात है कि आगामी चुनाव में जीत की उम्मीद कर रहे इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने सार्वजनिक तौर से कोड़े मारने का विरोध किया है. उन्होंने इस सजा को खत्म करने की भी मांग की है. एचेह की सरकार ने कहा था कि 2018 से कोड़े मारने की प्रक्रिया जेल के भीतर होगी. इसके बावजूद इसके स्थानीय अधिकारी सार्वजनिक तौर पर कोड़े मारने के रिवाज को जारी रखे हुए हैं।

यह भी पढ़ें- वीमेन डायरी: अक्सर चौड़े हो जाते हैं घर की बड़ी बेटियों के कंधे…

अब हमारे देश की कानून व्यवस्था के अनुसार महिला के शरीर पर सिर्फ उसका अधिकार है, धारा 497 महिला के सम्मान के खिलाफ है । सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यह तलाक का वजह हो सकता है लेकिन किसी को दंड देने का अधिकार नही है ।
अब से विवाहेतर संबंध अपराध नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने 27-9-2018 को स्त्री और पुरुष के विवाहेतर संबंधों से जुड़ी भारतीय दंड संहिता (आइपीसी) की धारा 497 को अपराध के दायरे से बाहर करने का आदेश दिया था। कोर्ट ने साफ तौर पर कहा था कि पत्नी का मालिक नहीं है पति। कोर्ट ने धारा 497 को महिला के सम्मान के खिलाफ बताया था।सुप्रीम कोर्ट के अनुसार विवाह उपरान्त सेक्स की इच्छा रखना गलत नहीं है।http://www.satyodaya.com

अनुवाद

एक समाजशास्त्री ने बताए पत्नियों को पीटने के तरीके, यू-ट्यूब पर VIRAL हो रहा है वीडियो…

Published

on

पत्नी को पीटने वाला वीडियो यू-ट्यूब ने किया डिलीट

सोशल मीडिया ने जीवन जीने का तरीका ही बदल दिया है।आज परेशानी का समाधान इन्टरनेट पर उपलब्ध है।ज्ञान का भण्डार बना इन्टरनेट अब कुछ ऐसी चीजें भी परोसने लगा है जिसे अच्छे-बुरे की श्रेणी से इतर है। ताजा उदहारण है यू-ट्यूब पर मौजूद एक ऐसा वीडियो जो लोगों को ‘पत्नी को मारने’ के टिप्स दे रहा है। जहां सरकार घरेलु हिंसा को रोकने के अथक प्रयास कर रही है।वहीं दूसरी ओर यू-ट्यूब पर मौजूद AL-Mojtama नाम का चैनल बीवियों को काबू में करने के टिप्स देता नजर आ रहा है।

Qatar के मशहूर समाजशास्त्री Abd Al-Aziz Al-Khazraj ने अपनी नयी वीडियो में लोगों को मुस्लिम पुरुषों को अपनी पत्नियों को मारने सिखाए थें।उनके अनुसार पत्नी को मारने का मतलब है उसे मर्द की ताक़त याद दिलाना।यू-ट्यूब पर डाले वीडियो में उनके साथ एक छोटा बच्चा है जो उनकी पत्नी का किरदार निभाता नजर आ रहा है।फिलहाल, शांति पसंद यू-ट्यूब ने ये वीडियो चैनल से परमानेंट तौर पर डिलीट कर दी है।

यह भी पढ़ें- रांची: ‘कुदरत का करिश्मा’ वापस लौटी 6 साल पहले मरी बहू, ससुराल खुश तो जानें मायके वाले क्यों हैं मायूस…

बता दें, कि अपनी इस विडियो में Abd Al-Aziz Al-Khazraj ने बताया कि सबसे पहले ये समझने की जरुरत है कि पुरुष ही घर का मालिक है।साथ घर में अनुशासन बनाये रखने के लिए एक इंसान अपनी पत्नी को मार सकता है क्योंकि वो उसे प्यार करता है।

आगे उन्होंने कहा है कि कुछ लोग अपनी बीवी के मुंह पर मुक्का या फिर थप्पड़ मारते हैं जोकि पूरी तरह से गलत है।इस्लाम बेहद ही दयालु है, पैगंबर मोहम्मद ने बीवियों को उनके चेहरे पर मारने से सख्त मना किया है। मुंह पर थप्पड़ मारना, सर पर मारना, नाक पर मुक्का मारना ये सब पूरी तरह से प्रतिबंधित है।

Al-Khazraj के अनुसार एक मुस्लिम मर्द को अपनी पत्नी को बेहद ही हलके हाथों से मारना चाहिए।वीडियो में अपने साथ खड़े लड़के को मारते हुए उन्होंने कहा कि ऐसे मारना चाहिए कि बीवी को शौहर की असली ताक़त का पता चल जाए।

यह भी पढ़ें- कानून बनने के बाद भी महिला को विवाहेतर संबंध बनाने के लिए खाने पड़े कोड़े…!!

सभी पुरुषों को सलाह देते हुए उन्होंने कहा कि सबसे पहले पुरुषों को समझाना चाहिए, फिर भी ना माने तो तो मारना चाहिए और साथ ही एक ही बिस्तर पर नहीं सोना चाहिए।ये सारे तरीके उन्हें सजा देने के हैं।

फिलहाल तो ये वीडियो यू-ट्यूब ने डिलीट कर दी है पर औरतों के कपड़ों से लेकर उनके रहन-सहन पर Al-Khazraj ने तमाम वीडियो बनाई हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अनुवाद

BIKNI में फोटो खिंचाने की शौकीन इस लड़की की एक SELFIE ने पूरी जिंदगी बदल दी, जानें कैसे…

Published

on

जान लेती ही नहीं बचाती भी है SELFIE

SELFIE लेने के दौरान हुए हमलों की गिनती करे तो शायद उंगलियां कम पड़ जाए। SELFIE के क्रेज के आगे दुनिया सब भूल जाती है।आपको भी कभी न कभी अलग-अलग एंगल से SELFIE की वजह से डांट या फिर खिंचाई का सामना जरुर करना पड़ा होगा। वहीं इस घटना को पढ़ने के बाद यकीन मानिए आपको कभी कोई SELFIEलेने के लिए मन नहीं करेगा।इंग्लैंड की रहने वाली क्लो जॉर्डन को तस्वीरें खींचने का बहुत ज्यादा शौक है।बस जब भी वो BIKNI SELFIE तो उन्हें अपने पेट पर मौजूद काला तिल बहुत ही बुरा लगता था।एक बार BIKNI पहनकर SELFIEलेने के दौरान उन्होंने तिल को निकलवाने का सोचा। इसके लिए जब वो डॉक्टर के पास पहुंचीं तो तिल की सच्चाई जानकर उनके होश ही उड़ गए।

डॉक्टर ने जब तिल की सर्जरी के लिए एक्स-रे किया, तो उन्हें गंभीर बीमारी के लक्षण दिखाई दिए। बारीकी से जांच की तो पता चला कि वो कोई मामूली तिल नहीं बल्कि स्किन कैंसर का अंश है।डॉक्टर्स ने क्लो को बताया कि कैंसर अभी फर्स्ट स्टेज पर है इसलिए उन्हें परेशान होने की कोई जरुरत नहीं है, और इसका इलाज संभव है।

डॉक्टर्स के सपोर्ट ने क्लो को हिम्मत दी जिसके बाद उन्होंने ऑपरेशन करा लिया।तीन महीने तक चलें इलाज के बाद डॉक्टर्स ने कलो का तिल सर्जरी करने के बाद निकाल दिया है और अब वे पूरी तरह से ठीक हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अनुवाद

89 वर्षीय महिला ने पार्टी में रखी ‘मेल स्ट्रिपर’ का डांस देखने की फरमाइश, तस्वीरें देख कर हर कोई है हैरान…

Published

on

जीवनशतक के करीब पहुंच चुकी महिलाएं करना चाहती थीं पुरुषों के फ्लर्ट 

बॉलीवुड का एक बहुत मशहूर गाना है- ‘दिल तो बच्चा है जी‘।वैसे ये बात सही भी है, इंसान की उम्र बढ़ती है पर उसका दिल हमेशा उतना ही बड़ा रहता है। ये जरुरी भी है कि अपनी बनावट, रंग और उम्र से परे इंसान अपनी दिल की सुनकर खुद को खुश रखने की पूरी कोशिश करनी चाहिए। हम अक्सर अपने बड़ों से ‘जनरेशन गैप’ का हवाला देकर दूरियां बना लेते हैं। पर हर बार ऐसा ही हो जरुरी नहीं है।

इंग्लैंड के मिल्टन लॉज रिटायरमेंट होम में दादी-परदादी की उम्र वाली महिलाएं एक साथ रहती हैं। इन सभी महिलाओं के पास अपने परिवार से दूर रहने के लिए कई वाजिब कारण हैं। हर साल के अंत में लॉज का स्टाफ आपस में पैसे जमा कर ‘The Sparkle Initiative’ नाम का प्रोग्राम करता है। इस प्रोग्राम का उद्देश्य लॉज में रह रही बुजुर्ग महिलाओं की एक-एक इच्छा पूरी करना है।

स्टाफ को लगा कि हमेशा की तरह इस बार भी सबकी इच्छा पार्टी करने या फिर दूर रहने वाले अपने रिश्तेदार के पास जाने की होगी। तभी 89 वर्षीय जोआन कॉर्प की इच्छा सुनकर सबके मूंह खुले के खुले रह गए। जब स्टाफ के लोगों ने उनसे उनकी इच्छा के बारे इ पूछा तो उन्होंने कहा- ‘ बस एक आदमी’।

शुरुआत में सबको लगा की जोआन मजाक कर रही है पर समय बीतने के बाद भी जोआन अपनी इच्छा पर बनी रही। जोआन ने कहा कि वो चाहती हैं कि लॉज में कई सारे मेल डांसर आकर एक साथ डांस करे और उन्हें खाना परोसे।

एक्टिविटी को-डायरेक्टर क्लेयर मार्टिन ने बताया-“थोड़ी बहुत बातचीत के बाद हमने ‘Hunk in Trunk’ नाम की एक ऐसी कंपनी को ढूंढ निकाला जोकि मेल स्ट्रिपर दिला देती है।

यह भी पढ़ें- क्रिसमस के बॉक्सिंग डे का टिन के डिब्बे से है सम्बन्ध, आखिर बॉक्सिंग डे पर क्यों खेला जाता है क्रिकेट…

ये कंपनी बैचलर पार्टी के लिए पुरुष स्ट्रिपर भेजने का काम करती है। पार्टी में भी ऐसे ही कुछ मेल स्ट्रिपर बुलाए गए थें जिनका काम लॉज में रहने वाली बुजुर्ग महिलाओं का मनोरंजन करना था।

मेल स्ट्रिपर से भरी इस पार्टी का बुजुर्ग महिलाओं ने जम कर लुत्फ़ उठाया। ‘Hunk in Trunk’ की टीम ने सभी बुजुर्ग महिलाओं को खाना परोसने के साथ-साथ उनके साथ डांस भी किया। वहीं पूरी रात चली इस पार्टी के अंत में युवकों ने महिलाओं को मसाज का भी आनंद दिया।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस खबर को प्रशंसा और निंदा दोनों का ही सामना करना पड़ रहा है।मिल्टन लॉज का कहना है कि उन्हें इन टिप्पणियों से कोई फर्क नहीं पड़ता हैम लॉज में रह रही महिलाओं की इच्छा पूरी करना उनका फर्ज है। http://www.satyodaya.com

साभार: Go Social

Continue Reading

Category

Weather Forecast

Failure notice from provider:
Connection Error:http_request_failed

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Trending