Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

भारत को नाटों सहयोगी देशों जैसा मिला दर्जा, रक्षा संबधों में मिलेगा फायदा

Published

on

वॉशिंगटन। मोदी सरकार ने अपनी कूटनीति से एक और नया पड़ाव तय कर लिया है। मंगलवार को अमेरिकी संसद ने भारत को नाटो सहयोगियों के जैसा दर्जा देने वाले प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। नाटों देशों जैसा दर्जा मिलने के बाद भारत को अमेरिका कि साथ रक्षा संबधों में फायदा होगा। इसके पहले ये दर्जा इजरायल और साउथ कोरिया को मिल चुका है।

बता दें, फाइनेंशियल इयर 2020 के लिए नैशनल डिफेंस ऑथराइजेशन ऐक्ट को अमेरिकी संसद ने पिछले हफ्ते  मंजूरी दी थी। जिसके बाद अब इसमें संशोधन के प्रस्ताव को स्वीकृति मिली है। बिल को मंजूरी मिलने के बाद हिंदू अमेरिकी फाउंडेशन ने सेनेटर कॉर्निन और वॉर्नर को धन्यवाद दिया। फाउंडेश के एमडी समीर कालरा ने कहा, ‘भारत को गैर-नाटो देश के दर्जे से ऊपर लाना बड़ा कदम है। यह दोनों देशों के बीच अभूतपूर्व संबंधों की शुरुआत है।’

दरअसल, सेनेटर जॉन कॉर्निन और मार्क वॉर्नर ने ही इस विधेयक को पेश किया था। इस बिल में कहा गया था कि, हिंद महासागर में भारत के साथ मिलकर कई क्षेत्रों में काम करने की जरूरत है। इसमें भारत के साथ मानवीय सहयोग, आतंक के खिलाफ लड़ाई, काउंटर-पाइरेसी और समुद्री सुरक्षा पर काम करने की जरूरत है।

भारत को अब अमेरिका के साथ रक्षा संबधों में फायदा होगा। इस प्रस्ताव की मंजूरी के बाद अमेरिका भारत के साथ इजरायल और दक्षिण कोरिया की तर्ज पर ही डील करेगा। इसका मतलब है भारत अमेरिका से अडवांस और महत्वपूर्ण तकनीक को उसके करीबी देशों की तरह की खरीद सकता है। http://www.satyodaya.com

अंतरराष्ट्रीय

ऑस्ट्रेलिया: आग से जानवरों की रक्षा के लिए कंगारू द्वीप पर आपदा टीम मौजूद

Published

on

सिडनी। ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी भयावह आग के कारण अब तक 50 करोड़ से अधिक जानवरों की मौत हो चुकी है। इस  बीच सोमवार को दक्षिण कंगारू द्वीप पर जानवरों के बचाव व राहत कार्य के लिए आपदा मिशन शुरु करते हुए एक टीम तैनात की गई। पशु कल्याण संगठन ह्यूमन सोसायटी इंटरनेशनल(एचएसआई) द्वारा गठित आपदा टीम आग में झुलसे, धुएं से प्रभावित जानवरों की सहायता की जा रही है।

बता दें कि टीम इस भयंकर प्राकृतिक आपदा से बचे जानवरों के लिए पानी व खाद्य केन्द्र बनाएगी। एचएसआई की वरिष्ठ विशेषज्ञ केली डोनिथान ने जंगलों में लगी आग के चलते जानवरों की हुई मौत का जिक्र करते हुए कहा कि,‘‘ जमीनी स्थिति बेहद गंभीर है। एक जानवर बचाव कर्मी के नाते मैंने कई मुश्किल परिस्थितियां देखी है। जहां तक नजरे जा रही हैं वहां तक जानवरों के झुलसे शव दिखाई दे रहे हैं। हम हर दिन बचाव और तलाशी अभियान चला कर जिंदा व झुलसे हुए जानवरों को तलाश रहे हैं। साथ ही उनको तत्काल जीवन रक्षक सहायता देना बेहद राहत भरा है।”

ये भी पढ़ें: निमोनिया से हर साल विश्वभर में 20 लाख से ज्यादा बच्चों की हो रही मौत…


आगे उन्होंने बताया कि, ‘‘हमने आग में झुलसे कई कंगारुओं और कोआला को पानी के लिए तरसते हुए देखा है। इतनी बड़ी संख्या में जानवरों की मौत के बाद किसी भी जानवर का जिन्दा मिलना चमत्कार जैसा लगता है।” बता दें कि कंगारू द्वीप पर लगभग 50 हजार कोआला थे, लेकिन आशंका है कि आग के कारण आधे से ज्यादा द्वीप के सूख जाने और वनस्पतियों के खत्म होने से अब करीब 32 हजार अन्य मवेशियों के साथ ही 30 हजार कोआला जानवरों की भी दर्दनाक मौत हो गई है। वहीं ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग को देश के इतिहास की सबसे भयंकर आग माना जा रहा है। जिसमें अब तक 50 करोड़ से अधिक जानवरों की मौत हो चुकी है और 26 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

यूक्रेन विमान हादसे को लेकर खामनेई के खिलाफ प्रदर्शन, इस्तीफा देने की मांग

Published

on

नई दिल्ली। यूक्रेन के विमान को ईरानी सेना में 8 जनवरी को मार गिराया था। जिसमें 176 यात्री मौजूद थे। जिसके बाद ईरान नेे इस हादसे की जिम्मेदारी ली थी। हादसे की जिम्मेदारी लेने के बाद खामनेई के खिलाफ ईरान की सड़कों पर हजारों लोग उतर आए हैं। प्रदर्शनकारी ईरान के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह अली खामनेई के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार को ट्वीट कर इन प्रदर्शनकारियों का समर्थन किया है। इस विरोध प्रदर्शन के बारे में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अंग्रेजी और फारसी दोनों में ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में ट्रंप ने लिखा है, ईरान की बहादुर जनता, मैं राष्ट्रपति बनने के बाद से ही आप लोगों के साथ खड़ा हूं। मेरी सरकार आप लोगों के साथ रहेगी। हम लोग आपके प्रदर्शन पर नजर बनाए हुए हैं। आपका साहस प्रेरक है।

यह भी पढ़ें:- ईरान ने कहा, हमने ही गलती से मार गिराया था 176 यात्रियों से भरा यूक्रेनी विमान

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी ईरान के विरोध प्रदर्शन के वीडियो को ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है, ईरान के लोगों की आवाज स्पष्ट है। वे ईरानी सरकार के झूठ, भ्रष्टाचार, अयोग्यता और आयतुल्लाह अली खामनेई के नेतृत्व वाली सेना के आंतक से तंग आ चुकी है। हम लोग ईरान की जनता के साथ खड़े हैं, जो बेहतर भविष्य के हकदार हैं।

इस यात्री विमान में ईरान सहित कनाडा के अनेक यात्री सवार थे। ईरान के हजारों प्रदर्शनकारियों ने शुक्रवार को तेहरान में आयतुल्लाह अली खामनेई से त्याग पत्र दिए जाने की भी मांग की। यह छात्र शरीफ और आमिर कबीर यूनिवर्सिटी के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। जिन पर पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने को मजबूर होना पड़ा। छात्र इस विमान को मार गिराए जाने के विरोध में दोषी लोगों को सजा दिए जाने और आयातुल्ला अली खामनेई से पद से त्याग पत्र दिए जाने की मांग कर रहे थे।

यह भी पढ़ें:- ओमानः सुल्तान काबूस के चचेरे भाई हेथम बिन तारिक बने नए शासक

बता दें कि यूक्रेन का बोइंग विमान 737-800 की उड़ान संख्या पीएस 752 तेहरान से कीव की ओर जा रही थी। उड़ान भरने के कुछ मिनट बाद ही यह विमान जमीन पर आ गिरा था। इस विमान में ईरान के 82, कनाडा के 63, यूक्रेन के 11, स्वीडन के 10, अफगानिस्तान के 4, जर्मनी और ब्रिटेन के 3-3 नागरिक सवार थे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ओमानः सुल्तान काबूस के चचेरे भाई हेथम बिन तारिक बने नए शासक

Published

on

नई दिल्ली। ओमान के सुल्तान काबूस बिन सईद का शुक्रवार को निधन हो गया था। 79 वर्ष के सुल्तान ने विवाह नहीं किया था और उनकी कोई संतान नही थी। इसलिए गद्दी का कोई उत्तराधिकारी नही था। जिसके बाद उनके चचेरे भाई संस्कृति मंत्री हेथम बिन तारिक अल सईद को देश के नए शाह के रूप में शपथ दिलाई गई। सरकार ने शनिवार को ट्वीट किया, हेथम बिन तारिक ने देश के नए सुल्तान के रुप में शपथ ली…।

बता दें कि ओमान संविधान के अनुसार, शाही परिवार के पास नया शासक चुनने के लिए तीन दिन का वक्त होता है। अगर परिवार चुनाव नहीं कर पाता है। तो परिवार के नाम लिखे पत्र में चुने गए व्यक्ति को नया सुल्तान बना दिया जाता है। सुल्तान काबूस अरब देश में सबसे ज्यादा लम्बे समय तक शासन करने वाले शासक बन गए। सुल्तान काबूस ने 1970 में ब्रिटेन की मदद से अपने पिता को गद्दी से हटा दिया था और खुद सुल्तान की गद्दी पर बैठ गए थे।

यह भी पढ़ें:- झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पीएम मोदी से की मुलाकात

सुत्रों के मुताबिक यह गद्दी असद बिन तारिक के पास जाने की उम्मीद की थी जो सुल्लान के एक अन्य चचेरे भाई थे और साल 2017 में अंतरराष्ट्रीय संबंधों और सहयोग मामलों के लिए उन्हें उपप्रधानमंत्री नियुक्त किया गया था। लेकिन परिवार के आपसी फैसले के बाद हेथम बिन तारिक को नया शासक चुन लिया गया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 13, 2020, 4:36 pm
Sunny
Sunny
18°C
real feel: 17°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 71%
wind speed: 2 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:03 pm
 

Recent Posts

Trending