Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

महिला सांसद की छोटी ड्रेस को लेकर उड़ा सोशल मीडिया पर मजाक, कईयों ने दी दुष्कर्म करने की धमकी

Published

on

clickretina digital marketing company
clickretina digital marketing company

सांकेतिक चित्र

हमारे देश में बहुत से ऐसे लोग हैं जो सोचते हैं कि महिलाओं और उनके कपड़ों को लेकर सबसे ज्यादा हमारे ही देश में माहौल खराब है। ये बात उन लोगों के लिए सोची जाती है जो आये दिन होने वाले दुष्कर्मों को महिलाओं के कपड़ों से जोड़ते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि ऐसी सोच केवल हमारे ही देश में है। असल में ये सोच नहीं एक तरह की बीमारी है जो किसी को भी हो सकती है। ऐसे ही कुछ बीमार लोगों का झुंड ब्राजील में देखा जा रहा है।

दरअसल, ब्राजील की एक महिला राजनेता को संसद में पहनी अपनी ड्रेस को लेकर लोगों का भद्दे कमेंट झेलने पद रहे हैं। कमेंट करने वाले कुछ लोगों की हिम्मत तो इतनी बढ़ गई कि उसने राजनेता महिला को दुष्कर्म की धमकियां दे डालीं। सोशल मीडिया पर लोगों ने यह धमकियां वहां की एक सांसद अना पाउला को दी हैं।

43 वर्षीय ऐना पाउला अपने क्षेत्र की जानी मानी हस्ती हैं। वह काफी लोकप्रिय भी हैं। उनकी लोकप्रियता इसी साल जनवरी में हुई उनकी जीत से लगाई जा सकती है। उन्होंने संटा कटरीना से सांसद का चुनाव में करीब 50 हजार वोटों द्वारा शानदार और बड़ी जीत दर्ज की थी। इतना ही नहीं ऐना इससे पहले ऐना मेयर भी रह चुकी हैं।

ऐना संसद में पहनी गई अपनी जिस ड्रेस के लिए ट्रोल हुई थीं वह अब सोशल मीडिया पर वायरल है। विवाद होने के बाद ऐना ने सफाई भी दी। उन्होंने कहा कि वह अकसर ऐसी ही टाइट और लो-कट ड्रेस पहनती हैं। उन्होंने आगे कहा, ‘मैं जैसी हूं वैसी ही रहूंगी। मैं इन सब बातों में न पड़कर हमेशा खुश रहना चाहती हूं।’

सांसद ऐना सोशल मीडिया पर भी काफी ऐक्टिव रहती हैं। यहां उनके हजारों चाहनेवाले उन्हें फॉलो करते हैं। विवाद के बाद अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर भी ऐना ने लिखा कि उनके कपड़ों से उनके काम का कोई लेना-देना नहीं है। इतना ही नहीं उन्होंने धमकियां दे रहे लोगों को चेताया भी है कि वह उनपर केस करेंगी। http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अंतरराष्ट्रीय

भारत ने अंतरराष्ट्रीय अदालत से की जाधव को रिहा करने की मांग, कहा- मनगढ़ंत आरोप लगा रहा पाकिस्तान

Published

on

clickretina digital marketing company
clickretina digital marketing company

फ़ाइल फोटो: कुलभूषण जाधव

नई दिल्ली/हेग। भारत ने नीदरलैंड स्थित एक अंतरराष्ट्रीय न्यायालय से आग्रह किया है कि वह पाकिस्तान में भारत के नागरिक कुलभूषण जाधव की हिरासत को गैरकानूनी घोषित करे और उसे तत्काल रिहा करने का आदेश जारी करे। भारत ने पाकिस्तान के सैनिक न्यायालय में चले मुकदमे को अंतरराष्ट्रीय संधि का उल्लंघन बताते हुए कहा कि जाधव के खिलाफ लगाए गए आरोप निराधार और मनगढ़ंत हैं। आरोपों का कोई ठोस आधार नहीं है तथा पाकिस्तान पूरे मामले का उपयोग दुष्प्रचार करने के लिए कर रहा है।

हेग न्यायालय में जाधव की गिरफ्तारी को लेकर चल रही सुनवाई में भारत का पक्ष रखते हुए जाने-माने अधिवक्ता हरीश साल्वे ने कहा कि पाकिस्तान में भारतीय राजनयिकों को जाधव से मिलने की अनुमति नहीं दी गई। यह भी वियना संधि का उल्लंघन है। साल्वे ने कहा कि पड़ोसी देश जाधव पर चले मुकदमे के फैसले तथा उसके खिलाफ लगाए गए आरोपों को भारत के साथ साझा नहीं कर रहा है। पूरे घटनाक्रम से स्पष्ट है कि पाकिस्तान सच्चाई से मुकर रहा है और दुष्प्रचार के लिए इसका इस्तेमाल कर रहा है।

साल्वे ने कहा कि राजनयिक भेंट की सुविधा के बिना जाधव को हिरासत में रखना गैरकानूनी घोषित किया जाना चाहिए। साल्वे ने कहा कि 30 मार्च,2016 से ही भारत पाकिस्तान से मांग कर रहा है कि भारतीय राजनयिकों को जाधव से मिलने की अनुमति दी जाए। पाकिस्तान ने इस आग्रह और बाद में भेजे गए 13 रिमाइंडरों पर कोई कार्रवाई नहीं की। 19 जून 2017 को भारत यह स्पष्ट कर चुका है कि पाकिस्तान के पास ऐसे कोई सबूत नहीं हैं जिससे पता चले की जाधव किसी आतंकी कार्रवाई में शामिल था।

पाकिस्तान कुलभूषण जाधव के जिस तथाकथित इकबालिया बयान का उल्लेख कर रहा है वह मनगढ़ंत है। साल्वे ने कहा कि 25 दिसंबर 2017 को पाकिस्तान में जाधव के परिवारवालों को उससे मिलने की अनुमति दी गई थी। यह मुलाकात जिन परिस्थितियों में हुई वह बहुत अनुचित और क्षोभ का विषय था। भारत ने इस संबंध में पाकिस्तान से विरोध भी व्यक्त किया था। साल्वे ने कहा कि एक निर्दोष व्यक्ति तीन साल से यातना झेल रहा है। साल्वे ने राजनयिक भेंट की सुविधा नहीं दिए जाने के लिए द्विपक्षीय समझौते का हवाला दिए जाने को खारिज करते हुए कहा कि ऐसा कोई भी समझौता वियना संधि के प्रावधानों को अनदेखा नहीं कर सकता।

भारतीय वकील साल्वे ने कहा कि जाधव की हिरासत सार्वभौमिक अधिकारों का उल्लंघन है। कानून और न्याय का तकाजा है कि जब भी किसी व्यक्ति के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए जाएं तो उनका ठोस आधार होना चाहिए और उचित न्याय प्रक्रिया का पालन होना चाहिए। उन्होंने खेद व्यक्त किया कि राजनयिक भेंट की सुविधा नहीं मिलने के कारण भारत को यह पता नहीं चल सका है कि जाधव किस हालत में है। वियना संधि के अनुसार पाकिस्तान को तीन महीने के अंदर राजनीयिक भेंट की सुविधा देनी चाहिए थी। पाकिस्तान ने ऐसा नहीं किया। साल्वे ने न्यायिक पीठ से कहा कि विदेशी नागरिकों के साथ कैसा व्यवहार किया जाए। इस संबंध में विस्तृत अंतरराष्ट्रीय नियमावली है।

उल्लेखनीय है कि 03 मार्च 2016 को पाकिस्तान के बलूचिस्तान से कुलभूषण जाधव को गिरफ्तार किया गया था। इस बारे में भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि जाधव को पाकिस्तानी एजेंसियों ने ईरान से अपहृत किया था। कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने जासूसी और आतंकवादी घटनाओं के आरोप में गिरफ्तार किया था। बाद में एक सैन्य अदालत में उस पर मुकदमा चलाया गया था, जिसमें उसे अप्रैल-2017 में मृत्युदंड की सजा सुनाई गई थी।

भारत ने सजा के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में गुहार की थी जिसके बाद सजा पर रोक लगा दी गई थी। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में चल रही अंतिम सुनवाई के दौरान भारत ने आज(सोमवार को) अपना पक्ष रखा। मंगलवार को पाकिस्तान अपनी दलील पेश करेगा। भारत को 20 फरवरी को पाकिस्तान की दलीलों का जवाब देने का मौका मिलेगा। अगले दिन इस्लामाबाद सुनवाई के अंतिम दिन अपना पक्ष रखेगा। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की 10 सदस्यीय पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है। हरीश साल्वे की ओर से दलील पेश किए जाने से पहले भारतीय विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (विधि) दीपक मित्तल ने कहा कि पाकिस्तान एक निर्दोष भारतीय नागरिक के अधिकारों का हनन कर रहा है। आग्रह किया कि वह जाधव के साथ न्याय करे।   http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

युद्ध के बाद घट गई है इस गांव की आबादी, सरकार का ऑफर ‘यहां बसने वाले को मिलेंगे 1.6 लाख रुपये’

Published

on

clickretina digital marketing company
clickretina digital marketing company

गांवों की घटती आबादी चिंता का विषय बन रही है। लोग रोजगार की तलाश में गांव छोड़ कर शहर को जाते हैं और फिर वहीं के होकर रह जाते हैं। ऐसी समस्या सिर्फ हमारे ही देश में नहीं बल्कि विदेशों में भी है। अब इटली के इस गांव को ही ले लीजिए, 1990 में जहां इसकी आबादी 8000 थी वहीं आज घाट कर मात्र 2700 रह गई है। लेकिन यहां की सरकार इसके लिए चिंतित है। इसीलिए तो उन्होंने गांव की आबादी बढ़ाने के लिए लोगों के सामने ऐसा ऑफर रखा है जिसे लोग मना नहीं कर पाएंगे। जी हां इटली के एक कसबे में लोगों को वहां रहने के बदले 2,000 यूरो (1.6 लाख रुपये) का ऑफर दिया जा रहा है।

पुगलिया में एक छोटे से शहर कैंडिला के मेयर निकोला गट्टा ने यहां की घटती आबादी को बढ़ाने की उम्मीद में यह ऑफर दिया है। गट्टा ने कहा कि वह चाहते हैं कि शहर की आबादी फिर से 1990 की तरह 8,000 तक हो जाए। उस समय इस शहर को ‘लिटिल नैपल्स’ के नाम से जाना जाता था।

इटली के गांवो खासकर ऐतिहासिक छोटे शहरों में घटती आबादी अब राष्ट्रीय चिंता का मसला बन चुकी है। युद्ध के बाद कई लोग गांवों से बाहर जाकर बस गए। उम्रदराज आबादी, आर्थिक हालात और अवसरों की कमी के चलते लोग शहरों में रहने लगे।

कई लोगों ने इस समस्या का हल ढूंढने की कोशिश की। लाज़ियो, सिविटा दी बैग्नॉरिजियो में फिलहाल सिर्फ 12 स्थाई निवासी ही हैं। इस गांव ने खुद को एक पर्फेक्ट वीकेंड रिट्रीट के तौर पर खोजा और अब राजधानी रोम से आने वाले लोगों ने इसे सोशल मीडिया पर लोकप्रिय बना दिया है। इस रणनीति ने बढ़िया काम किया और अब यहां हर साल 40,000 से 800,000 लोग घूमने आ रहे हैं।

वहीं पास ही के कैलेब्रिया में रिफ्यूजी चैन की सांस के साथ नई जिंदगी जी रहे हैं। इस शहर को स्थानीय नागरिकों ने खाली कर दिया था। हाल ही में लेखक रॉबर्टो सैवियानो ने कहा था कि इटली की अर्थव्यवस्था का भविष्य अब रिफ्यूजी हैं।

आपको बता दें कि गांव में लोगों को रहने बुलाने के लिए पैसे देने का यह ऑफर नया नहीं है। मई में लिगुरिया के एक छोटे कसबे बोरमिडा के मेयर डैनियल गैलियानो ने भी फेसबुक के जरिए वहां रहने आने वालों को 2,000 यूरो (करीब 1.6 लाख रुपये) देने का ऐलान किया था। लेकिन ऑफर स्वीकार करने वालों की संख्या बहुत ज्यादा होने के बाद उन्होंने इस ऑफर को वापस ले लिया था। हालांकि, ऐसा लगता है कि गट्टा अपने ऑफर पर लंबे वक्त तक टिके रहने वाला है। नॉर्दर्न इटली से पहले ही 6 परिवार वहां जा चुके हैं और 5 परिवार आने की तैयारी में है।

अगर आप भी इस डील को लेने के इच्छुक हैं, तो आपको वहां का स्थाई निवासी होने की प्रतिबद्धता जतानी होगी। गांव में घर किराए पर लें और 7,500 यूरो से ज्यादा आप हर साल कमा सकते हैं। अगर आप सभी योग्यतओं को पूरा करते हैं तो काउंसिल सिंगल्स को 800 यूरो और कपल्स को 1,200 यूरो देगी। वहीं परिवार के साथ गांव में बसने वाले लोगों को 2,000 यूरो चुकाने होंगे। काउंसिल बिल और चाइल्डकेयर पर टैक्स छूट भी मिलेगी। यहां से सबसे पास एयरपोर्ट बारी है जिसके लिए इस गांव से 90 मिनट की यात्रा करनी होती है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ट्रम्प ने चीन से व्यापार समझौते के लिए समय सीमा बढ़ाए जाने के दिए संकेत

Published

on

clickretina digital marketing company
clickretina digital marketing company

वाशिंगटन । राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन के साथ कारोबारी अड़चनों को दूर किए जाने के लिए समय सीमा 60 दिन और बढ़ाए जाने के संकेत दिए हैं । इस आदेश के बाद विश्व की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में टकराव टालने की उम्मीद जाहिर की जा रही है ।

यह भी पढ़ें : राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित

ट्रम्प और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच शिखर वार्ता के दौरान नब्बे दिनों अर्थात एक मार्च तक व्यापारिक अड़चनों को दूर कर लिए जाने पर समझौता हुआ था । राष्ट्रपति ट्रम्प ने चीन में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल की चीनी प्रतिनिधि मंडल के बीच चल रही वार्ता पर संतोष जाहिर किया था और मंगलवार को समय सीमा में वृद्धि किए जाने की बात की थी । ट्रम्प ने कहा है कि चीन उनके प्रतिनिधि मंडल की बातों पर गौर कर रहा है और उन्हें अपेक्षित सम्मान दे रहा है ।

यह भी पढ़ें : आखिर बिहार का ये बैंक मैनेजर क्यों मांग रहा है PM और राष्ट्रपति से पत्नी की हत्या करने के लिए छुट्टी, वजह जान कर निकलेगी मन से आह!!

चीन ने समय सीमा में अतिरिक्त नब्बे दिन की वृद्धि किए जाने का प्रस्ताव किया था, लेकिन ट्रम्प ने साठ दिन बढ़ाए जाने के संकेत दिए हैं । ट्रम्प ने यह भी कहा है कि चीन के साथ एक बार समझौते की रूपरेखा तय होने के बाद वह शी जिनपिंग से मुलाकात करना चाहेंगे ।

http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 19, 2019, 6:52 am
Fog
Fog
16°C
real feel: 16°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 82%
wind speed: 1 m/s N
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 6:10 am
sunset: 5:31 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 7 other subscribers

Trending