Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

ऑस्ट्रेलिया में बिकराल हुई पानी की समस्या, ऊंटों की हत्या करवा रही सरकार

Published

on

नई दिल्ली। दक्षिणी ऑस्ट्रेलिया 2019 में सबसे गर्म वर्ष रहा है। इसकी वजह से कई इलाको में आग भी लगी। जिससे वहां सूखे की स्थिति हो गई है। सूखे के हालात हो जाने से पानी की समस्या बढ़ गई है। वहां के लोग पानी को बचाने के लिए वहां के ऊंटों को मारना शूरू कर दिया है। इन ऊंटों को हवाई जहाज के जारिए मौत के घाट उतारा जा रहा हैं। पेशेवर निशानेबाज इस काम को हेलीकॉप्टर के जरिये अंजाम दे रहे हैं।

अधिकारियों ने बताया कि सूखाग्रस्त इलाकों में स्थानीय समुदायों के लिए खतरा पैदा न हो इसके लिए ऊंटों को मारा जा रहा है। यहां ऊंटों के बड़े झुंड सूखे और ज्यादा गर्मी की वजह से गांवों की ओर आना शुरू कर दिया था। जिसकी वजह से भोजन-पानी के साथ साथ बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुंच रहा है। बल्कि बचे-खुचे पानी के स्रोतों को भी दूषित कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें:- Ind vs Aus: भारतीय टीम 255 रनों पर ऑलआउट, धवन ने खेली 74 रनों की पारी

एपीवाई के जनरल मैनेजर रिचर्ड किंग ने कहा कि हम पशु अधिकार कार्यकर्ताओं की चिंताओं की सराहना करते हैं लेकिन गैर स्थानीय जंगली जानवरों की वास्तविकताओं के बारे में गलतफहमी है। ऊंट लगभग 5 किलोमीटर दूर से पानी के स्त्रोत को सूंघ लेते है। और यह पानी के बड़े स्त्रोतों में फंस कर मर जाते है। जिसकी वजह से प्रदूषण फैल जाता है। http://www.satyodaya.com

अंतरराष्ट्रीय

कश्मीर में हिमस्खलन से पांच लोगों की मौत

Published

on

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के गंदेरबल जिले में हिमस्खलन के कारण कम से कम पांच लोगों की मौत हो गयी है। आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को ‘यूनीवार्ता’ को बताया कि नौ लोगों का एक दल कल रात जिले के कोलन में बचाव अभियान के लिए जा रहा था कि तभी सभी हिम्सखलन की चपेट में आ गये। पुलिस ने स्थानीय नागरिकों की मदद से तलाशी अभियान चलाकर चार लोगों को सुरक्षित बचा लिया।

यह भी पढ़ें:शाहीन बाग इलाके में धरना प्रदर्शन पर उचित कार्रवाई करे दिल्ली पुलिस: हाईकोर्ट


उन्होंने कहा कि पूरी रात तलाशी अभियान जारी रहा और मंगलवार सुबह पांच लोगों के शव बरामद किए गए। कुपवाड़ा, बांदीपोरा और बारामुला जिले में हिमस्खलन के कारण कई मकानों को नुकसान पहुंचा है। संभागीय प्रशासन ने उत्तरी और मध्य कश्मीर के ऊपरी इलाकों में हिमस्खलन की चेतावनी जारी करते हुए लोगों से हिमस्खलन की आशंका वाले इलाकों में नहीं जाने का आग्रह किया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

अमेरिकी सीखेंगे हिंदी, भारतीय दूतावास 16 जनवरी से शुरू करेगा मुफ्त क्लासेज

Published

on

नई दिल्ली। भाषा संवाद के साथ-साथ संबंध स्थापित करने का भी सशक्त माध्यम है। भाषा के जरिये न सिर्फ विचार दूसरों तक पहुंचाते हैं बल्कि संस्कृति से भी लोग रूबरू होते हैं। यही वजह है कि 16 जनवरी से अमेरिका स्थित भारतीय दूतावास में निशुल्क हिंदी की कक्षाएं संचालित की जाएंगी। पिछले दो वर्ष से यहां स्थित भारतीय दूतावास की ओर से विभिन्न देश के नागरिकों को हिंदी सिखाने के लिए न केवल भारतीय दूतावास में निशुल्क कक्षाएं चल रही हैं बल्कि अमेरिका के जाने माने उच्च शिक्षा केंद्रों में भी हिंदी शिक्षण का कार्य किया गया। दूतावास ने जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी एवं जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी में हिंदी पढ़ाने के लिए डॉ. मोक्षराज को नियुक्त किया। प्रमुख तीन स्थलों पर संचालित इन कक्षाओं में विभिन्न 12 देशों के लोग भाग ले चुके हैं। 

भारत की तरफ इस समय पूरा विश्व देख रहा है। सबसे बड़ा लोकतंत्र, तमाम विविधताओं के बावजूद लोगों का एक साथ रहना और विभिन्न संस्कृतियों के इस संगम को देख हर कोई इस देश के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानना चाहता है। यही वजह है कि दुनियाभर के लोगों की दिलचस्पी हिंदी भाषा की तरफ बड़ी है। भारत के बारे में सही जानकारियां पाने के लिए लोग हिंदी सीखना चाहते हैं। भारत की कला-संस्कृति, वास्तु-शिल्प, परिवार व्यवस्था, दांपत्य जीवन, हिंदी फिल्म, योग-ध्यान, पाक-कला, राजनीति एवं व्यवसाय के विषय में ज्ञानवृद्धि के लिए करोड़ों लोगों में हिंदी के प्रति रुचि बढ़ी है।

बता दें, संयुक्त राष्ट्र महासंघ ने भी हिंदी को आधिकारिक रूप से अपना लिया है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय का आधिकारिक ट्विटर हैंडल हिंदी में है। अमेरिकन आर्मी में हिंदी सीखने वालों की संख्या निरंतर बढ़ रही है तथा पुस्तकालयों, विभिन्न विद्यालयों एवं शासन-प्रशासन में भी अनेक गैर-भारतीय हिंदी भाषी लोग मिल जाते हैं। यहां हिंदी फिल्मों के गीत गुनगुनाने वाले हजारों विदेशी हैं।

ये भी पढ़ें: अमिताभ की समधन और राज कपूर की बेटी रितु नंदा का निधन, शोक में बॉलिवुड

वॉशिंगटन डीसी स्थित भारतीय दूतावास में भारत की ओर से नियुक्त पहले सांस्कृतिक राजनयिक डॉ. मोक्षराज को भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद ने भारतीय संस्कृति शिक्षक के रूप में नियुक्त किया है। वे वॉशिंगटन डीसी, वर्जीनियां, मैरीलेंड, वेस्ट वर्जीनियां, केंटकी आदि अनेक अमेरिकी राज्यों में हिंदी, भारतीय संस्कृति, योग एवं संस्कृत की शिक्षा देते हैं। सिर्फ यही नहीं, वे भारतीय दूतावास की ओर से आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2018 एवं 2019 के योग कार्यक्रम का नेतृत्व भी कर चुके हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

पश्चिम एशिया के ताजा संकट के लिए अमेरिका जिम्मेदार :ईरान

Published

on

नई दिल्ली: ईरान के राष्ट्रपति हसन रोहनी ने कहा है कि पश्चिम एशिया में निर्मित ताजा संकट के लिए अमेरिका जिम्मेदार है तथा अमेरिका की आेर से क्षेत्र में किये गये अपराध की वैश्विक स्तर पर खुलकर निंदा की जानी चाहिए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राष्ट्रपति ने कहा कि क्षेत्र में सुरक्षा और शांति के लिए क्षेत्रीय देशों को मिलकर काम करना चाहिए। राष्ट्रपति कार्यालय ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कहा है कि श्री रोहानी ने स्वीडन के प्रधानमंत्री स्टेफन लोफवेन के साथ टेलीफोन पर बातचीत के दौरान यह बात कही।

यह भी पढ़ें: मस्जिद के अंदर केरल के BJP सचिव पर हुआ हमला, भाजपा ने वाम संगठनों का बताया हाथ…

रोहानी ने कहा,“क्षेत्र की ताजा स्थिति के लिए अमेरिका जिम्मेदार है और क्षेत्र में अमेरिका की ओर से किये गये अपराध की हम सभी को स्पष्ट रुप से कड़ी निंदा करनी चाहिए।” रोहानी ने कहा कि ईरान की ओर से इराक स्थिति अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर हमला संयुक्त राष्ट्र चार्टर के अनुच्छेद 51 के तहत किया गया और यह अपराध नहीं था। उन्होंने कहा कि पश्चिम एशिया संकट का समाधान एक दूसरे की संप्रभुता का सम्मान करते हुए केवल क्षेत्रीय देशों द्वारा राजनीतिक वार्ता के माध्यम से हो सकता है। राष्ट्रपति ने कहा,“ क्षेत्र में सुरक्षा और शांति बहाल करने के लिए हम सभी को साथ मिलकर काम करना चाहिए।”http://www.styodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 14, 2020, 6:56 pm
Mostly cloudy
Mostly cloudy
18°C
real feel: 18°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 77%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:04 pm
 

Recent Posts

Trending