Connect with us

प्रदेश

एक ऐसा मंदिर जहां लगता है आशिकों का मेला, जानें इसकी वजह…

Published

on

लखनऊ। मकर संक्रांति का पर्व यूं तो देश के हर हिस्से में मनाया जाता है, लेकिन बुन्देलखण्ड के बांदा में इस पर्व का विशेष महत्व है। दरअसल इस दिन केन नदी के किनारे भूरागढ़ दुर्ग में आशिकों का मेला लगता है। जहां प्रेम को पाने की चाहत में अपने प्राणों की बलि देने वाले नट महाबली के प्रेम मंदिर में मकर संक्राति के दिन हजारों जोड़े विधिवत पूजा अर्चना कर प्रसाद चढ़ा कर मन्नत मांगते हैं। पुराने लोगों का मानना है की इस मंदिर को “प्यार का मंदिर” भी कहा जाता है।

हर साल मकर संक्रांति के दिन इस किले के नीचे बने नटबाबा के मन्दिर में मेला भी लगता है, जिसमें दूर-दूर से श्रद्धालू आते हैं। हर साल की तरह इस साल भी केन नदी में मेला लगा जिसमें श्रद्धालुओं ने स्नान किया व नदी से सटे हुए भूरागढ़ के किले में सैकड़ों श्रद्धालुओं ने मंदिर में प्रसाद चढ़ाया व दरगाह पर फातहा दिलाकर मन्नत मांगी।

यह भी पढ़ें: शादी के बाद विदा होकर ससुराल जा रही दुल्हन की सड़क हादसे में मौत, 5 लोग घायल

इस मंदिर में विराजमान नट बाबा भले इतिहास में दर्ज न हो, लेकिन बुन्देलियों के दिलो में नटबाबा के बलिदान की अमिट छाप है। ये जगह आशिकों के लिए किसी इबादतगाह से कम नहीं। मकर संक्रांति के मौके पर शादीशुदा जोड़े यहां आशीर्वाद लेने आते हैं तो सैकड़ो प्रेमी-प्रेमिकाएं अपने मनपसंद साथी के लिए यहां मन्नत मांगते हैं। इस किले में केवल बांदा के ही नहीं बल्कि दूर-दूर से युवक-युवतियां यहां आती हैं। इसलिए इस मंदिर व किले को “प्यार का मंदिर” कहा जाता है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

केजरीवाल के वाराणसी चुनाव के सूत्रधार रहे संजीव कुमार सिंह कांग्रेस में शामिल

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय पर आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय पर्वेक्षक और पूर्वांचल के संयोजक रहे संजीव कुमार सिंह ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और पूर्व सांसद राजेश मिश्रा की उपस्थिति में कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण किया। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डा. उमाशंकर पाण्डेय ने बताया कि संजीव कुमार सिंह ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से छात्र राजनीति शुरू की। छात्र राजनीति के साथ ही साथ वे समाजसेवा से भी जुड़े रहे। आम आदमी पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे संजीव कुमार सिंह पूर्वांचल के कई आंदोलनों की अगुवाई भी कर चुके हैं।

आम आदमी पार्टी के नेता संजीव कुमार सिंह समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि पूरे प्रदेश में योगी सरकार की जनविरोधी नीतियों के चलते जनता परेशान है। अपराध और भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में भाजपा की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ लड़ाई लड़ी जा रही है। संजीव कुमार सिंह जैसे युवा और जुझारू नेताओं के कांग्रेस में आने से हमारे संघर्ष को मजबूती मिलेगी।

पूर्व सांसद राजेश मिश्रा ने कहा कि संजीव कुमार के काँग्रेस पार्टी में आने से पार्टी को पूर्वांचल में मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि पूरे देश में अराजकता की स्थिति है। देश की संस्कृति और संविधान के खिलाफ भाजपा साजिश रच रही है। आज जरूरी है कि युवाओं को पार्टी से जोड़कर संविधान विरोधी भाजपा के चेहरे को बेनकाब किया जाए।

सदस्यता ग्रहण कार्यक्रम में संजीव कुमार सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की नीतियों और विचारधारा से प्रभावित हो कर उन्होंने पार्टी की सदस्यता ग्रहण किया है। राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी और अजय कुमार लल्लू के नेतृत्व में सड़कों पर एक बेहतर समाज और देश बनाने व हर अन्याय और नाइंसाफी के खिलाफ लड़ाई लड़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी अपने स्वराज और आंतरिक लोकतंत्र के विचार को त्याग चुकी है। दिल्ली में साम्प्रदायिक हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की चुप्पी बेहद खतरनाक है।

यह भी पढ़ें: सीखना एक सतत प्रक्रिया है, इंसान जीवन भर सीखता रहता है: डॉ एसपी सिंह

संजीव कुमार सिंह के नेतृत्व में शामिल होने वालों में जनपद वाराणसी के वरूण सिंह, हाजी कादिर, पप्पू , फैज, टी0 ए0, दानिश, सोनू, राकेश, सोनू श्रीवास्तव, शमीम, रविशंकर सिंह, प्रमोद सिंह, अशोक यादव, शम्मी, अशोक, आशीष, शैलेन्द्र कुमार सिंह, डा. शैलेन्द्र त्रिपाठी, मनीष सिंह, मन्टू, जय विक्रम सिंह, नरेन्द्र सिंह, अतुल सिंह कैथी, डा. राजेन्द्र सिंह डाफी, मन्नू, संतोष कुमार सिंह, प्रदीप मिश्रा, दीपू, जुनैद, फहद, रजनीश, राहुल दुबे, जनपद जौनपुर के उपेन्द्र प्रताप सिंह, उमेश सिंह, सुशील, बड़कऊ सिंह, सुनील यादव, निशान्त सिंह, चंचल, शिवम सिंह, राम प्रकाश पंडित, सत्य प्रकाश पाण्डेय, अमित कुमार सिंह, श्यामसुन्दर सिंह, लखनलाल यादव, जनपद भदोही के सुरेश गौतम, विनोद श्रीवास्तव, पारसनाथ पाल, लक्ष्मण प्रजापति, राजू यादव, रजनीश राय आदि सैंकड़ों लोगों ने कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सदन में विपक्षी सदस्यों ने सरकार से पूछे सवाल, सरकार ने दिया जवाब

Published

on

लखनऊ। गुरुवार को विधानसभा और विधान परिषद में विपक्ष ने सरकार से कई मुद्दों पर जमकर सवाल-जवाब किया। विपक्ष के सवालों का सरकार ने जवाब भी दिया। विपक्षी सदस्यों ने कुछ मु्द्दों पर सरकार का ध्यान भी आकर्षित कराया। सपा विधायक इरफान सोलंकी ने कहा कि भाजपा की कथनी और करनी में काफी अंतर है। सरकार ने कहा था कि वह विपक्ष के सभी सवालों के उत्तर देगी। लेकिन जब जवाब देने का समय आया तो सेशन में कटौती कर दी। विधायक ने कहा, भाजपा सच का सामना करने से डरती है। पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां को लेकर पूछे गए सवाल पर सोलंकी ने कहा, यह न्यायालय का मामला है, आजम को न्याय जरूर मिलेगा।

यह भी पढ़ें-महंगाई पर सरकार के जवाब से असंतुष्ट सपा ने सदन से किया वाकआउट

बसपा विधायक असलम राईनी ने सदन में खनन का मुद्दा उठाया। राईनी ने कहा कि 14 फरवरी को मुख्यमंत्री से प्रश्न हुआ था कि प्रदेश में मौरंट, गिट्टी और बालू नहीं मिल रही है। इस मामले में 14 दिन बाद भी किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। मौरंग, गिट्टी का रेट भी कम नहीं हुआ है। बसपा विधायक ने कहा कि प्रदेश में लगातार बालू, मौरंग और गिट्टी के दाम बढ़ते जा रहे हैं। अगर नियमानुसार काम हो तो मौरंग, बालू के रेट कम होंगे। लेकिन अगर पारदर्शी तरीके से काम हो तो अधिकारियों की अवैध कमाई बंद हो जाएगी।

इसीलिए इस दिशा में कोई सुधार नहीं हो रहा है। बसपा विधायक ने सदन में कहा कि इस पूरे मामले की जांच एसआईटी से होनी चाहिए। कहा कि भाजपा सरकार को अधिकारी दीमक की तरह काट रहे हैं। स्थिति ऐसी है कि 2022 में भाजपा की सरकार आना उत्तर प्रदेश में मुश्किल लग रहा है।

मंडियों में गेट पास के नाम पर वसूली

असलम राईनी ने मंडियों में अवैध वसूली का मुद्दा भी उठाया। कहा कि मंडियों में गेट पास के नाम पर किसानों से वसूली की जा रही है। गेट पास के रूप में 200 से 500 रुपए तक की वसूली हो रही है। जिसके चलते किसानों को नुकसान हो रहा है। विधायक ने कहा कि मंडी में सचिव पिछले कई वर्षों से जमे हुए हैं। और उनकी संपत्तियां कई गुना बढ़ चुकी हैं।

विधान परिषद

बिजली टेंडर में घोटाले की जांच अब ऊर्जा समिति के पास

गुरुवार को विधान परिषद में ऊर्जा मंत्री ने पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम में हुई अनियमितता की बात स्वीकार की। दरअसल सपा एमएलसी शत्रुरुद्ध प्रकाश ने विधानपरिषद में आज पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम में हुए घोटाले और अनियमित तरीके से बीएमकेएस इलेक्ट्रिकल को टेंडर दिए जाने को लेकर सवाल किया। जिसका जवाब देते हुए ऊर्जा मंत्री ने माना कि जिस कंपनी को ये टेंडर दिया गया था, वो अर्हता को पूरा नहीं करती है। इसमें अनियमितता हुई है। साथ ही सदन में ये भी कहा कि इसकी जांच के लिए 2 सदस्यीय सीमित भी बना दी गयी है।

ऊर्जा मंत्री के इस जवाब पर सपा के सदस्य सन्तुष्ट नहीं हुए। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को जांच समिति में रखा गया है, वो जूनियर अधिकारी हैं। वो अपने सीनियर अधिकारी की जांच कैसे कर सकते हैं। इस पर विधान परिषद के सभापति ने इस मामले को परिषद की ऊर्जा समिति को सौंप दिया। अब ऊर्जा समिति इस पूरे मामले को देखेगी।

आवारा पशुओं से किसी किसान का नुकसान नहीं

सपा एमएलसी सुनील साजन ने विधान परिषद में आवारा पशुओं का मुद्दा उठाया। जिसका जवाब देते हुए पशुधन मंत्री ने कहा, किसानों कि आय में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। किसी किसान की फसल पर असर नहीं हो रहा है। इस पर सुनील साजन ने तंज कसते हुए कहा, अध्यक्ष जी का खेत भी आवारा पशु चर गए होंगे।

यह भी पढ़ें-महंगाई पर सरकार के जवाब से असंतुष्ट सपा ने सदन से किया वाकआउट

सपा के परवेज आलम ने विधान परिषद में अधिकारियों के फोन न उठाने पर मुद्दा उठाया। सपा एलएलसी ने कहा कि अमरोहा नगर पालिका परिषद के अधिशाषी अधिकारी जनप्रतिनिधियों के फोन तक नहीं उठाते। इस पर पूरे विपक्ष ने अधिकारी को सदन में पेश करने की मांग की। उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने विपक्ष को शांत करते हुए आरोपी अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने का आश्वासन दिया।

इस पर पूरे विपक्ष ने एकजुट होकर अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। सपा के अहमद हसन, कांग्रेस के दीपक सिंह और बसपा के दिनेश चंद्रा ने अधिकारी को सदन में बुलाने की मांग की। लेकिन दिनेश शर्मा स्पष्टीकरण मांगने पर ही अड़े रहे। सदन के सबसे वरिष्ठ सदस्य ओम प्रकाश शर्मा ने भी अधिकारी को पेश किए जाने की बात कही। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

लखनऊ: सीएम योगी ने आज कोनेश्वर महादेव मंदिर का किया लोकार्पण…

Published

on

कोनेश्वर महादेव मंदिर

फाइल फोटो

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के चौक स्थित कोनेश्वर महादेव मंदिर के नवीनीकरण का कार्य पूरा हो चुका है।ऐसे में आज सीएम योगी आदित्यनाथ कोनेश्वर मंदिर पहुंचकर जीर्णोद्धार के बाद लोकार्पण किया है। इस दौरान सीएम योगी के साथ मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टण्डन भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, मंत्री आशुतोष टंडन लोकार्पण मेयर संयुक्ता भाटिया एवं विधायक सुरेश श्रीवास्तव और नीरज बोरा भी मौजूद रहे। लोकार्पण के बाद सीएम योगी ने मंच से सभी को संबोधित किया है।

बता दें महादेव का कोनेश्वर मंदिर पुराने लखनऊ के चौक एरिया में स्थापित है।इस मंदिर से एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन का हमेशा से जुड़ाव रहा है।

ये भी पढ़ें:शहीद दिवस पर चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा पर किया गया माल्यार्पण…

दिखेगा सामाजिक सरोकार

सिद्धपीठ के रूप में ख्याति प्राप्त मंदिर को सामाजिक सरोकारों से जोडऩे की पहल के चलते साल 2013 से मंदिर का नवीनीकरण शुरू हुआ था। मंदिर में एक ओर जहां भोलेनाथ के अभिषेक के जल को प्यूरीफाई कर उससे भूमिगत जल को बढ़ाए जाने के लिए सोख्ता बनाया गया है तो दूसरी ओर ऊर्जा संरक्षण के लिए मंदिर परिसर में सौर ऊर्जा का प्लांट स्थापित किया गया है। मंदिर में जहां महादेव के 12 स्वरूप के दर्शन की अनुभूति होगी तो वहीं 18 भगवान की प्रतिमाएं श्रद्धालुओं को बरबस अपनी ओर खीचेंगी।

जानकारी के मुताबिक सोमनाथ मंदिर से लेकर अयोध्या के श्रीराम मंदिर समेत देश के धार्मिक स्थानों को बनाने वाले अहमदाबाद के सौमपुरा परिवार के निर्देशन में मंदिर को नए तरीके से बनाया गया है। मंदिर के ऊपर सत्संग हॉल बनाया गया है, यहां आने वाले संतों को ठहरने और सेवा के लिए दो कमरे भी तैयार किए गए हैं। यही नहीं मंदिर में चढऩे वाले फूलों से अगरबत्ती बनाकर आने वाले श्रद्धालुओं को समृद्धि का पाठ भी पढ़ाने का प्रयास किया गया है। अगरबत्ती बनाने वाली मशीन भी मंदिर में लाई जाएगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 27, 2020, 6:43 pm
Mostly cloudy
Mostly cloudy
23°C
real feel: 22°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 60%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:03 am
sunset: 5:36 pm
 

Recent Posts

Trending