Connect with us

प्रदेश

पीसीएस-जे में 557वां स्थान पाने वाले अभय राजवंशी ने सत्योदय के साथ साझा किये सफलता के राज

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश न्यायिक सेवा (पीसीएस जे) 2018 का शनिवार को परिणाम घोषित हुआ। इस परीक्षा में 610 पदों पर चयन किया गया है। सफल अभ्यर्थियों में एक नाम राजधानी के अभय राजवंशी पुत्र राजेंद्र प्रसाद का भी है जिन्होंने पहले ही प्रयास में 557 वां स्थान प्राप्त किया है। अभय ने अपनी सफलता का श्रेय अपने गुरुजनों, परिवार, सीनियर्स और खुद की कड़ी मेहनत को दिया है।

जानकीपुरम, लखनऊ के निवासी अभय ने सत्योदय से बातचीत करते हुए बताया कि वो शुरू से ही ज्यूडीशरी का हिस्सा बनना चाहते थे। उनके लिये ये प्रोफेशन नहीं बल्कि पैशन है। लोगों को न्याय देना यह बात उन्हें अंदर से प्रेरित करती है। लखनऊ यूनिवर्सिटी से एलएलबी (आनर्स) 2017 में और एल एल एम 2018 में किया। वहां भी ऐसे सीनियर्स का साथ मिला जिन्होंने इस सेवा की तैयारी करने में उनकी काफी मदद की।

अभय ने बताया कि वो बहुत ही फोकस रहकर तैयारी करते थे इसलिये कभी भी किसी और सेवा की तैयारी नहीं की। खाने-पीने के अलावा ज्यादातर टाइम वो पढ़ाई में ही लगाते थे। एक दिन में औसत 11 से 12 घंटे उनका समय पढ़ते हुए गुजरता था। इसके लिये परिवार से भी बहुत सहयोग मिला। कभी भी उनसे छोटे-बड़े कामों के लिये नहीं कहा गया। कोई नहीं चाहता था उनको पढ़ाई में किसी भी प्रकार का व्यवधान हो।

ये भी पढ़ें: Apollo 11 मिशन ने क्यों ला दी थी प्रेमिकाओं की आंखों में चमक, पहले कदम की 50 वीं सालगिरह

अपनी तैयारी को लेकर उन्होंने कहा कि सबसे पहले प्रीलिम्स की तैयारी की। पहले चरण के बाद जब उन्होंने आकलन किया तो पता चल गया कि वो मेंस दे पाएंगे। बिना रिजल्ट का इंतजार किये और समय गंवाए मेंस की तैयारी शुरू कर दी थी। इसके लिये जितना भी स्टडी मैटीरियल उपलब्ध था उसे पढ़ा, खुद से भी नोट्स बनाए, उत्तर लेखन किया और जो भी महत्वपूर्ण टॉपिक्स थे उन्हें दोहराता रहा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यूट्यूब और एजुकेशन एप्स से काफी मदद मिली, विशेष तौर पर इतिहास विषय में इन डिजिटल प्लेटफॉर्म्स से बहुत फायदा पहुंचा।

अभय ने बताया कि मेंस में सलेक्शन हो जाने के बाद इंटरव्यू की तैयारी में उन्हें टीचर्स से काफी सहायता मिली। किस प्रकार के सवाल पूछे जाते हैं और कैसे उनके उत्तर दिये जाए इसे लेकर टीचरों ने उनका मार्गदर्शन किया। उन्होंने बताया कि इंटरव्यू में पूंछे गए ज्यादातर सवाल उनके विषय से जुड़े ही थे। अभय ने अपनी हॉबी के रूप में क्रिकेट का जिक्र किया था लेकिन इंटरव्यू में इससे जुड़ा कोई सवाल नहीं पूछा गया।

पीसीएस जे की तैयारी कर रहे लोगों को अभय ने सलाह दी कि फोकस रहें और अपने विषय पर मजबूत पकड़ बनाएं। उत्तर लेखन करते रहे यह मेंस में बहुत मदद करता है। साथ ही लगातार रिवीजन करते रहना चाहिये। महत्वपूर्ण टॉपिक्स को टाइम निकाल कर दोहराते रहें। http://www.satyodaya.com

प्रदेश

बोर्ड परीक्षा का सफल आयोजन कराना एक बड़ी चुनौती: डॉ. दिनेश शर्मा

Published

on

अधूरी तैयारियां समय पर हो जायेंगी पूरी

लखनऊ। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि आगामी बोर्ड परीक्षा का सफल आयोजन कराना एक बड़ी चुनौती है। इसके लिए संपूर्ण तैयारी करनी होगी, जो भी तैयारियां अधूरी रह गई हैं उसे समय रहते पूरी कर ली जाएंगी। यह प्रतिष्ठा का विषय है।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि अपनी बेसिक कठिनाइयों के संबंध में एक सुझाव पत्र दीजिए। जरूरी है कि हमें अपने अधिकारियों एवं कर्मचारियों से काम की अपेक्षा करने के साथ ही साथ उनकी बुनियादी आवश्यकताओं को भी पूरा किए जाने पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुझे आशा है कि इस दो दिवसीय अधिवेशन में विभाग की कार्यशैली को और अधिक सुधारने, शिक्षा व्यवस्था के स्तर को और ऊंचा करने के संबंध में अच्छे विचार निकलकर सामने आएंगे।

यह भी पढ़ें :- सिविल में फरवरी से होगी मॉड्यूलर ओटी की शुरूआत

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा व्यवस्था में एक नई कार्य परंपरा का इजाद करें। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, प्रयागराज उत्तर प्रदेश को इस स्तर पर ले जाएं कि अन्य बोर्ड के लोग आपकी अच्छाइयों को फॉलो करें और आप से तुलना करें। उन्होंने कहा कि माध्यमिक एवं बेसिक शिक्षा दोनों को आपस में समन्वय स्थापित करते हुए शिक्षा व्यवस्था के बेहतरी में अपना योगदान देना चाहिए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

इंदौर, उज्जैन और वाराणसी के बीच चलेगी विशेष ट्रेन

Published

on

लखनऊ। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आज मध्यप्रदेश के विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर के शहर उज्जैन और वाराणसी को जोड़ने के लिए शीघ्र ही नयी सर्वसुविधायुक्त ट्रेन चलाने की घोषणा की। गोयल ने यहां पत्रकारवार्ता में कहा कि यह ट्रेन शीघ्र ही चलायी जाएगी, जो इंदौर से उज्जैन होते हुए वाराणसी तक जाएगी और इसी रूट से वापस इंदौर आएगी। इस ट्रेन का नामकरण भी महाकालेश्वर से जोड़कर रखा जाएगा।

गोयल ने कहा कि पर्यटन के दृष्टिकोण से सरकार भगवान महाकाल की नगरी उज्जैन को विश्वकाशी (वाराणसी) से जोड़ना चाहती है। इसके अलावा यह ट्रेन विश्व प्रसिद्ध दोनों धार्मिक नगरों को एक दूसरे से जोड़ देगी। उज्जैन में महाकाल मंदिर के दर्शन के बाद अल्प समय के लिए इंदौर पंहुचे रेल मंत्री के लिए आज सुबह स्थानीय रेल प्रबंधन ने एक प्रेस वार्ता आयोजित की थी। बताया गया है कि महाकाल मंदिर के दर्शन के बाद ही गाेलय के मन में यह ट्रेन चलाने की बात आयी और उन्होंने इंदौर आकर इसकी घोषणा कर दी।

एक सवाल के जवाब में गोयल ने कहा कि निजी कम्पनियों की ओर से ट्रेनों के संचालन को लेकर कहीं कोई हल्ला-विरोध नहीं हैं। बल्कि निजी ट्रेन संचालकों को सभी जगह से अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। गोयल ने कहा कि सालों से रेल सेवा में पर्याप्त निवेश नहीं होने के कारण उनका उन्नयन नहीं हुआ है। लिहाजा निजी सहयोग से रेलवे को सर्वसुविधा युक्त किये जाने का यह प्रयास है।

यह भी पढ़ें: शादी से पहले कुंडली मिलान का चलन हुआ पुराना, दूल्हा-दुल्हन करा रहे हैं ये टेस्ट

उन्होंने कहा कि रेल सेवा भारत की धरोहर है। निजी कंपनियों के आने से भारत की धरोहर पर कोई विपरीत फर्क नहीं पड़ने वाला है। श्री गोयल ने कहा पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप द्वारा अगले 12 साल में 50 लाख करोड़ रुपयों का निवेश रेलवे क्षेत्र में होने का लक्ष्य है। अभी यात्री ट्रेन क्षमता से डेढ़ गुना ‘ओवरलोड’ चल रही हैं। इसलिए निजी रेलगाड़ियों के आने से राहत मिलेगी।

इसी से जुड़े एक अन्य सवाल के जवाब गोयल ने कहा कि जो ट्रेन खाली जा रही हैं और जिन रूट पर ट्रेन ही नहीं है, ऐसे में देश भर के सभी रेल मार्गों का परीक्षण करा कर संतुलन बनाया जाएगा। गाेयल ने दावा करते हुए कहा कि ट्रेनों के संचालन के क्षेत्र में निजी क्षेत्र के आने से रेल सुविधाओं में सुधार और विस्तार होगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

रालोद ने किया प्रथम कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन, भाजपा पर साधा निशाना

Published

on

नवनिर्वाचित युवा रालोद प्रदेश अध्यक्ष का हुआ स्वागत

लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश कार्यालय पर रविवार को प्रथम कार्यकर्ता सम्मेलन एवं स्वागत समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम का आयोजन युवा राष्ट्रीय लोकदल ने किया, जिसकी अध्यक्षता युवा रालोद के महानगर अध्यक्ष विनीत सिंह ने की। रालोद कार्यकर्ताओं ने युवा रालोद के नवनिर्वाचित प्रदेश अध्यक्ष अम्बुज पटेल एडवोकेट का स्वागत किया। कार्यक्रम में राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री डाॅ. मसूद अहमद भी उपस्थित रहे। युवा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए डाॅ. मसूद ने कहा, युवाओं के ही कंधों पर देश का भविष्य टिका है। केन्द्र और प्रदेश की भाजपा सरकार की गलत नीतियों से देश का युवा वर्ग आक्रोशित है। सरकार ने युवाओं को धोखा दिया है। भाजपा से लड़ने के लिए हमें जयंत चौधरी के हाथों को मजबूत करना होगा, इसके लिए युवा वर्ग को आगे आना चाहिए।

युवा रालोद प्रदेश अध्यक्ष अम्बुज पटेल ने कहा, जिस विश्वास के साथ पार्टी नेतृत्व ने मुझे पुनः कमान सौंपी है, मैं अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी कर्तव्य निष्ठा और ईमानदारी के साथ करूँगा। कहा कि यदि देश का युवा वर्ग एकजुट हो जाए तो उस देश को समृद्व और उन्नत होने से कोई नहीं रोक सकता। आज हम सभी को संकल्प लेना है कि प्रदेश के युवाओं की हर समस्या के निदान के लिए जयंत चौधरी के नेतृत्व तथा प्रदेश अध्यक्ष के मार्गदर्शन में हम हर सम्भव प्रयास करेंगे।

यह भी पढ़ें-सीएम योगी ने कहा, कुछ लोगों को गलतफहमी है कि यह देश 1947 में बना

समारोह में वसीम हैदर, संतोष यादव, प्रदेश प्रवक्ता सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी, बीएल प्रेमी, रमावती तिवारी, चन्द्रकांत अवस्थी, प्रीति श्रीवास्तव, अनीता यादव, अनिल पटेल, रिंकू पाण्डेय, सुमित सिंह, सूरज, मनोहर मौर्या, रिजवाना, अखिलेश यादव, देवनारायन शर्मा, पवन गुप्ता, मनोज वर्मा, मनीष वर्मा, विनय वर्मा, नदीम खान, एसपी पाण्डेय, विजय चौधरी, नितिन दुबे आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 12, 2020, 7:51 pm
Fog
Fog
14°C
real feel: 15°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 87%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:02 pm
 

Recent Posts

Trending