Connect with us

प्रदेश

रविवार को संयुक्त रैली के साथ चुनावी अभियान की शुरूआत करेंगे अखिलेश

Published

on

लखनऊ। सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने शनिवार को कहा कि यूपी में भाजपा के खिलाफ गठबंधन में शामिल बसपा और रालोद की रविवार को संयुक्त रैली के साथ ही प्रदेश में भाजपा की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ प्रचार अभियान का आगाज हो जाएगा। लोकसभा की 80 सीटों वालें इस प्रदेश के मतदाता ही दिल्ली के राजसिंहासन पर बैठने वाले का भाग्य तय करते आए है। इसलिए सपा-बसपा और रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश में जहां 11 संयुक्त रैलियां करेंगे। साथ ही प्रत्याशियों के पक्ष में भी चुनावी सभाओं को सम्बोधित करेंगे। गठबंधन की बढ़ती मजबूती से भाजपा को केन्द्र में अपनी सत्ता खिसकती नज़र आ रही है। भाजपा नेतृत्व की बौखलाहट से इसका संकेत मिलता है।
श्री चौधरी ने बताया कि रविवार को सहारनपुर के देवबंद में गठबंधन की संयुक्त रैली को अखिलेश यादव, मायावती और चौधरी अजीत सिंह सम्बोधित करेंगे। देवबंद की संयुक्त रैली से सहारनपुर, कैराना, बिजनौर और मुजफ्फरनगर लोकसभा क्षेत्रों तक गठबंधन की आवाज जाएगी। जनसभा स्थल जामिया तिबिया कालेज के पास खाली पड़ी मौलाना रिजवान कुरैशी, मौलाना आमिर, मुकेश कुमार की जमीन पर कस्बा देवबंद में विशाल जनसभा रैली होगी। इसके बाद 13 अप्रैल, 16 अप्रैल, 19 अप्रैल, 20 अप्रैल, 25 अप्रैल, 01 मई, 08 मई, 13 मई तथा 16 मई को गठबंधन की संयुक्त रैलियां होंगी।

यह भी पढ़ें-लोकसभा चुनाव के लिए डिंपल यादव ने दाखिल किया नामांकन

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव 08 अप्रैल को जिला गाजियाबाद एवं बागपत में, 09 अप्रैल को हाथरस में तथा 10 अप्रैल को एटा में चुनावी सभाएं करेंगे। 08 अप्रैल को अखिलेश लोकसभा क्षेत्र गाजियाबाद से सपा प्रत्याशी सुरेश बंसल के लिए रामलीला मैदान, कविनगर, जिला गाजियाबाद में एक चुनावी सभा को सम्बोधित करेंगे। इसके बाद वह लोकसभा क्षेत्र बागपत से रालोद प्रत्याशी जयंत चौधरी के पक्ष में श्रीकृष्ण इंटरकालेज, बालनी, जिला बागपत में चुनावी सभाएं करेंगे। 09 अप्रैल को सपा प्रमुख अखिलेश यादव लोकसभा क्षेत्र हाथरस से सपा प्रत्याशी रामजी लाल सुमन के पक्ष में दो सभाएं करेंगे।
10 अप्रैल एटा में लोकसभा प्रत्याशी कुंवर देवेन्द्र सिंह यादव के समर्थन में श्री यादव जनता को संबोधित करेंगे।
11 अप्रैल को अखिलेश यादव सम्भल लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी डॉ0 शफीकुर्रहमान वर्क, अमरोहा में लोकसभा प्रत्याशी कुंवर दानिश अली तथा बरेली लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी भगवत शरण गंगवार के लिए चुनावी सभाएं करेंगे।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा का जारी हुआ शेड्यूल

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि माध्यमिक शिक्षा की परीक्षा समय सारिणी जारी कर मासिक पाठ्यक्रम का निर्धारण किया गया है । आज से पठन पाठन का कार्य प्रारंभ हो गया है । पिछली बार 7 फरवरी से परीक्षाएं हुई थी और 50 लाख से अधिक परीक्षार्थी थे । 14 दिन में हाइस्कूल और 16 दिन में 12वीं की परिक्षाएं पूरी हुई थीं ।

डॉ दिनेश शर्मा ने बताया कि इस बार यूपी बोर्ड में करीब 55 लाख परीक्षार्थी बैठेंगे । परिक्षाएं 18 फरवरी से शुरू होंगी । 15 दिन में इंटरमीडिएट व 12 दिन में हाइस्कूल की परीक्षा खत्म होगी । पाठ्यक्रम का मासिक विभाजन किया है । कौन सा चैप्टर कब पढ़ाया जाना है, यह भी तय किया गया है । 15 से 25 मार्च के बीच मूल्यांकन होगा और 20 से 25 अप्रैल के बीच रिजल्ट आएंगे । NCRET की पुस्तक अधिक दाम पर बेचने पर कार्रवाई होगी । 1 अप्रैल से नया सत्र शुरू किया गया था । ग्रीष्म अवकाश के बाद आज से स्कूल खुले हैं ।

यह भी पढ़ें: मानसून की पहली बारिश में कई जगह चोक हो गए नाले, जनता के बीच डटी रहीं महापौर

उन्होंने बताया कि इस बार पांच से 30 मार्च तक विश्विद्यालय की परीक्षा होगी और 5 जून तक रिजल्ट जारी करना होगा । 10 मई तक सेमेस्टर परीक्षा पूरी करनी होगी । 9 जुलाई को स्वयं दिनेश शर्मा लखनऊ विश्वविद्यालय में कलास लेंगे ।http://WWW.SATYODAYA.COM

Continue Reading

प्रदेश

युवाओं के सपने चकनाचूर कर रहीं भाजपा सरकारें : अखिलेश यादव

Published

on

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि आज का युवा ही कल का भविष्य है, वही परिवर्तन का अग्रदूत बनता है लेकिन भाजपा की गलत नीतियों से उसके सपने चकनाचूर हो रहे हैं। देश की युवा शक्ति को गुमराह करने के लिए भाजपा सरकारें तमाम साजिशें कर रही हैं। ऐसी परिस्थिति पैदा की जा रही है कि नौजवान शिक्षा और रोजगार से वंचित रहे। इसके लिए प्राथमिक तौर पर विश्वविद्यालयों को निशाना बनाया जा रहा है, छात्र-छात्राओं का उत्पीड़न कर उन्हें समाज और राष्ट्र की मुख्यधारा से अलग रखने का षडयंत्र हो रहा है। भाजपा सरकार ने लखनऊ, इलाहाबाद, बनारस, गोरखपुर के विश्वविद्यालयों में छात्रसंघों को निष्क्रिय बनाने के साथ वहां शैक्षिक अव्यवस्थाओं पर उंगली उठानेवाले छात्र-छात्राओं को फर्जी मुकदमों में फंसाने के साथ उनका परिसर में प्रवेश भी प्रतिबंधित कर दिया है। उनके शैक्षिक जीवन को बर्बाद करने के हथकंड़े अपनाए जा रहे हैं। शांतिपूर्ण आंदोलन करने पर छात्र-छात्राओं को जेल की यातनाएं दी जा रही है।

यह भी पढ़ें-आदर्श व्यापार मंडल ने जीएसटी के लिए वित्त मंत्री को दी बधाई, कर प्रणाली को सरल बनाने की मांग

विश्वविद्यालयों में छात्रसंघ लोकतंत्र की नर्सरी के तौर पर काम करते रहे हैं। देश के तमाम बड़े नेता, प्रशासक, शिक्षाविद तथा चिकित्सा सहित विविध क्षेत्रों के विशेषज्ञ इन्हीं की देन हैं। लोकतंत्र का पहला पाठ यहीं पढ़ा जाता है। छात्रसंघों के पीछे स्वतंत्रता आंदोलन से लेकर कई बुनियादी मुद्दों पर संघर्ष का स्वर्णिम इतिहास रहा है। भाजपा सरकार ने लिंगदोह समिति की सिफारिशों का बहाना लेकर विश्वविद्यालयों में छात्रसंघों के अस्तित्व को ही समाप्त करने का काम किया है जो लोकतंत्र की हत्या के समान है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, संसद से सड़क तक अभी एक सप्ताह भी नहीं गुजरा है जब लोकतंत्र की दुहाई देने वाले आपातकाल की चर्चा कर रहे थे। छात्रसंघों पर प्रहार लोकनायक जयप्रकाश नारायण के सपनों को भी तोड़ना है। युवा शक्ति की ताकत पर ही लोकनायक ने सम्पूर्ण क्रांति का सपना संजोया था।

यह भी पढ़ें-खूबसूरती की मिसाल थीं लेडी डायना, हमेशा पर्स में रखती थीं ये चीज

अखिलेश ने कहा कि सपा विश्वविद्यालयों की स्वायसत्ता के साथ छात्रसंघों की अनिवार्य उपस्थिति की पक्षधर रही है। छात्रसंघों के माध्यम से देश में परिवर्तन की उठने वाली लहरों की पहचान होती है। युवावर्ग की उम्मीदों-आकांक्षाओं को भी यहीं से रास्ता मिलता है। इस युवाशक्ति के रास्ते में रोड़े अटकाकर और उसे उत्पीड़न का शिकार बनाकर भाजपा वस्तुतः युवाशक्ति के मनोबल को तोड़ने और उन्हें अराजक राजनीति में ढकेलने का निंदनीय कार्य कर रही है। नौजवानों के भविष्य से खेलना भाजपा के लिए आत्मघाती गोल करने जैसा साबित होगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

मंत्री अनुपमा जयसवाल ने ‘स्कूल चलो अभियान’ का किया उद्घाटन, नामांकन रथ को दिखाई हरी झंडी…..

Published

on

स्कूल चलो अभियान

फाइल फोटो

लखनऊ। यूपी के सभी जिलों में 1 जुलाई से ‘स्कूल चलो अभियान’ की शुरूआत हो चुकी है। इसमें 6 साल से 14 साल तक के बच्चों को स्कूल भेजा जाएगा। इस अभियान की शुरूआत सीएम योगी आदित्यनाथ पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से इसकी शुरूआत कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:अनुदेशकों मानदेय में हो रही कटौती को लेकर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर बोला हमला, कही ये बात…

स्कूल चलो अभियान का सभी बेसिक शिक्षा विभाग में एक उच्च स्तर पर प्लानिंग की गई है। ऐसे में आज राजधानी लखनऊ के गांधी प्रतिष्ठान में स्कूल चलो अभियान का उद्घाटन किया गया।

जहां समारोह के दौरान सूबे की मंत्री अनुपमा जयसवाल ने नामाकंन रथ को हरी झंडी दिखाकर उसे रवाना किया। इतना ही नहीं इसके साथ-साथ बच्चों को स्कूल ड्रेस, बैग और किताबें वितरित की हैं। वहीं इस कार्यक्रम के दौरान बच्चों ने सिंगिंग और डांसिंग भी की है।

अगर हम इस अभियान के बारे में बात करें तो ‘स्कूल चलो अभियान’ के तहत सरकार का सिर्फ यही उद्देश्य है कि सभी बच्चे खूब पढ़े और आगे बढ़ें।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 1, 2019, 9:16 pm
Partly cloudy
Partly cloudy
34°C
real feel: 39°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 55%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:47 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending