Connect with us

प्रदेश

पुष्पेंद्र यादव के परिवार से मिलने पहुंचे अखिलेश, कहा- ये एनकाउंटर नहीं हत्या है

Published

on

लखनऊ। झांसी के पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर का मामला राजनेताओं की एंट्री के बाद और तूल पकड़ता जा रहा है। बुधवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने झांसी से 30 किलोमीटर दूर ग्राम करगुआ खुर्द थाना एरच स्थित पुष्पेंद्र यादव के आवास पर पहुंच कर पीड़ित परिवारीजनों से भेंट की और उन्हें सांत्वना दी। पुष्पेंद्र यादव की विधवा की शादी अभी तीन महीने पहले ही हुई थी। उसका रो-रोकर बुरा हाल है। अखिलेश ने पुष्पेंद्र के परिवार को भरोसा दिलाया है कि समाजवादी पार्टी उनके साथ खड़ी है।

परिवारजनों से मिलने के बाद अखिलेश यादव ने कहा कि किसी को भी पुलिस की कहानी पर भरोसा नहीं है। झांसी का पुलिस प्रशासन जो घटनाक्रम बता रहा है उससे कोई संतुष्ट नही है। परिवार को भी उस पर भरोसा नही है। उन्होंने कहा यह एनकाउंटर नहीं हत्या है। 

 अखिलेश यादव ने विश्वास दिलाया कि पुष्पेन्द्र यादव के परिवार को न्याय दिलाया जाएगा। समाजवादी पार्टी उनके दुख में शामिल है और वह उनका साथ देगी। अखिलेश यादव के साथ उनके समर्थकों की भारी भीड़ थी। अखिलेश के वहां पहुंचते ही लोगों ने पुलिस के खिलाफ काफी नारेबाजी की। अखिलेश भी इस बात से बहुत आक्रोशित थे कि पुलिस निर्दोषों की हत्या कर रही है। उनका कहना है कि कानून के रक्षक ही भक्षक बन रहे हैं। जनता के नागरिक अधिकारों पर डाका डाला जा रहा है। उन्होंने कहा जिस प्रदेश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री हैं वहां जनता को न्याय न मिले तो ताज्जुब हैं।

अखिलेश यादव के आने की खब़र पर पूरा गांव उन्हें देखने उमड़ पड़ा था। आस पड़ोस के गांवो से भी बड़ी संख्या में लोग आए थे। इनमें हजारों नौजवान, महिलाएं, बूढ़े तथा बच्चे तक शामिल थे। पुष्पेंद्र का गांव बेतवा नदी के पास है। यहां लोग नारे लगा रहे थे कि पुष्पेन्द्र के हत्यारों को सजा मिले, पीड़ित परिवार को न्याय मिले।

दरअसल, बीते शनिवार की रात में मोंठ थाने के इंस्पेक्टर पर हमला करने के बाद कार लूटकर भागने वाले पुष्पेंद्र यादव को गुरसराय थाना क्षेत्र में अगली सुबह पुलिस मुठभेड़ में कथित तौर पर मार दिया गया था। पुलिस के मुताबिक उसके 2 साथी भाग निकले थे। पुलिस ये भी आरोप है कि पुष्पेंद्र की कार से दो तमंचे कारतूस और मोबाइल भी बरामद किए गए हैं। जबकि परिजनों का कहना है कि पुष्पेंद्र को जबरन पकड़कर मारा गया है। वे इस मामले में न्याय चाहते हैं। परिजनों का आरोप है कि पुष्पेंद्र के खिलाफ कोई शिकायत नहीं थी। कभी किसी ने उसके बारे में कुछ नहीं कहा। लेकिन पुलिस ने उसे अपराधी बताकर हत्या कर दी।

ये भी पढ़ें: राजस्थान: मालपुरा में राम बारात पर हुआ पथराव, इलाके में लगा अनिश्चितकालीन कर्फ्यू

समाजवादी पार्टी की मांग है कि आरोपी एसओ पर 302 का केस दर्ज किया जाए। घटना की हाईकोर्ट के माननीय सिटिंग जज से जांच कराई जाए। जिसने हत्या की उसे जेल भेजा जाए। उनका कहना है कि इस मामले में पुलिस दोषी है। सबसे ज्यादा मानव अधिकार आयोग की नोटिसें उत्तर प्रदेश सरकार को मिली हैं। हवालात में सबसे ज्यादा मौतें प्रदेश में हुई हैं। कानून व्यवस्था ध्वस्त है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मृतक और उसके शोकाकुल परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए उठ रही आवाजों को ज्यादा समय तक सरकार नहीं दबा सकती।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

भाकपा ने अलीगढ़ व दिल्ली की हिंसा पर चिंता व्यक्त की

Published

on

समूचे उत्तर प्रदेश की जनता से भी शान्ति और भाईचारा की अपील

लखनऊ। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने अलीगढ़ के घटनाक्रमों व दिल्ली की हिंसा में मृतकों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। इसके साथ ही अलीगढ़ समेत समूचे उत्तर प्रदेश की जनता से शान्ति और भाईचारा बनाये रखने की अपील की है।

राज्य सचिव मंडल डॉ. गिरीश की ओर से बुधवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि सीएए एनपीआर और एनआरसी विरोधी आंदोलन को बड़े पैमाने पर लोकतान्त्रिक शक्तियों से मिल रहे समर्थन से संघ भाजपा और उसकी सरकारें विचलित हो गयी हैं और अब उसे बदनाम कर, हिंसा का आरोप लगाकर उसकी आड़ में सांप्रदायिक विभाजन पैदा करना चाहती हैं। इसके लिये वे अपने ट्रेण्ड काडर और पुलिस-प्रशासन का संयुक्त इस्तेमाल कर रही है।

यह भी पढ़ें :- कांग्रेस ने मेरठ से की आरक्षण बचाओ यात्रा की शुरूआत

उन्होंने कहा कि दिल्ली के दुखद घटनाक्रमों से प्रेरित होकर अलीगढ़ में भी शांतिपूर्ण तरीके से चल रहे आंदोलन पर पहले संघ समर्थकों ने पथराव किया और पुलिस प्रशासन ने भी आवश्यकता से अधिक बल प्रयोग कर आतंक और संशय पैदा करने का प्रयास किया। इसके दीर्घकालिक परिणाम देश और समाज के लिये अहितकर होंगे।

भाकपा राज्य सचिव मंडल ने कहा कि लोकतंत्र में किसी आंदोलन की सफलता उसके अहिंसात्मक स्वरूप से तय होती है। इसलिए आंदोलनकारियों को भी इसे अहिसात्मक बनाये रखने के लिये और अधिक मशक्कत करनी होगी। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी सभी आंदोलनकारियों से अपील करती है कि वे किसी भी तरह के उकसावे में न आयें और आंदोलन को महात्मा गांधी की सीख पर चल कर संपूर्णतः अहिंसक बनाये रखें। सचिव मंडल ने यह भी कहा है कि उन्हें समर्थन के नाम पर राजनैतिक रोटियां सेक रहे लोगों से भी सावधान रहना होगा।

भाकपा ने दिल्ली की हिंसा में मारे गए पुलिस जवान और नागरिकों की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है और उन्हें न्याय दिलाने को न्यायिक जांच की मांग की है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

कांग्रेस ने मेरठ से की आरक्षण बचाओ यात्रा की शुरूआत

Published

on

श्री लल्लू ने कहा, आरक्षण छीनने के खिलाफ कांग्रेस आवाज उठाएगी

लखनऊ। कांग्रेस ने मंगलवार को मेरठ से आरक्षण बचाओ यात्रा शुरू की है। इस यात्रा की शुरूआत उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने हरी झण्डी दिखाकर किया। यह यात्रा पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी के आवाहन पर की गई है।

इस अवसर पर श्री लल्लू ने अपने संबोधन में कहा कि आरएसएस और भाजपा द्वारा आरक्षण के अधिकार छीनने वाले मंसूबे के खिलाफ कांग्रेस पार्टी का दस दिन के प्रदेशव्यापी आरक्षण बचाओ यात्रा के माध्यम से आम जनमानस के बीच संवाद स्थापित किया जायेगा। भाजपा की इस कुत्सित विचाराधारा के खिलाफ मजबूती के साथ आवाज उठायी जायेगी।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ने के लिए संकल्पित है। वर्तमान भाजपा सरकार आरक्षण के मौलिक अधिकार पर हमला कर रही है। संविधान में मिले हुए मौलिक अधिकारों पर कुठाराघात करते हुए लोक सेवा आयोग द्वारा आरक्षण को लेकर जो निर्णय लिया है उससे दलितों, पिछड़ों और आदिवासियों के लाखों अभ्यार्थी प्रभावित होंगे।

यह भी पढ़ें :- अखिलेश ने भाजपा पर लगाया जातिवादी पार्टी का आरोप

वहीं प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता डॉ. अनूप पटेल के मुताबिक अनुजाति विभाग के नवनियुक्त प्रान्तीय चेयरमैन आलोक प्रसाद पासी ने पदभार ग्रहण किया। श्री पासी ने कहा कि हम संविधान और आरक्षण की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं और आखिरी दम तक इसकी लड़ाई लड़ेंगे। इस दौरान सांसद पीएल पुनिया, अनुजाति विभाग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व सांसद ब्रजलाल खाबरी, राष्ट्रीय प्रभारी प्रदीप नरवाल उपस्थित रहे।

इस मौके पर पूर्व विधायक पंकज मलिक पूर्व विधायक, योगेश दीक्षित, मनिन्दर सूद बाल्मीकि, तनुज पुनिया, विदित चैधरी, मुकेश धनगर आदि कांग्रेसजन मौजूद रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

दिल्ली से सटे यूपी के जनपदों में हाईअलर्ट जारी, अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात

Published

on

आईजी लाॅ एण्ड आर्डर ने कहा, यूपी में स्थिति शांतिपूर्ण

लखनऊ। दिल्ली में पिछले तीन दिन से सीएए विरोधी हिंसक प्रदर्शनों को देखते हुए यूपी में हाईअलर्ट जारी किया गया है। दिल्ली से सटे यूपी के जनपदों की सीमा पर चौकसी बरती जा रही है। इन जनपदों में अतिरिक्त पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है। मंगलवार देर रात आईजी लाॅ एंड आर्डर उत्तर प्रदेश विजय भूषण ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर यह जानकारी दी। आईजी लां एंड आर्डर ने बताया कि दिल्ली से सटे जनपदों के साथ ही संवेदनशील जनपदों में हाईअलर्ट जारी किया गया है। आला अधिकारियों को डीपीपी मुख्यालय से निर्देश जारी किए गए हैं। गाजियाबाद, बागपत, नोएडा, हापुड़, अलीगढ़, मुजफ्फरनगर, सम्भल, बुलंदशहर में खास सतर्कता बरतने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें-यूं ही नहीं जल रही दिल्ली, हिंसा के पीछे है गहरी साजिश: दिल्ली पुलिस

विजय भूषण ने कहा कि फिलहाल यूपी में शांति है। लेकिन एहतियातन एक्स्ट्रा फोर्स और पीएसी को लगाया गया है। अलीगढ. में भी स्थिति नियंत्रण में है। वहां नामजद कुछ लोगों केा हिरासत में लिया गया है। आईजी लां एंड आर्डर ने कहा कि अलीगढ़ में उपद्रव करने वालों को चिन्हित कर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि दिल्ली के कई इलाकों में बीते शनिवार से सीएए विरोधी प्रदर्शनों में जमकर हिंसा हुई। दंगाइयों ने पेटोल पम्प सहित दर्जनों वाहनों और कई बाजारों को आग के हवाले कर दिया। हिंसा में अब तक आधा दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। दिल्ली के शाहीनबाग, जाफराबाद, चांदबाग, मौजपुर, अकबरपुर सहित कई इलाकों में अभी भी स्थिति तनावपूर्ण है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 25, 2020, 11:41 pm
Fog
Fog
16°C
real feel: 16°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 87%
wind speed: 1 m/s NE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:05 am
sunset: 5:34 pm
 

Recent Posts

Trending