Connect with us

प्रदेश

गर्त में जा रही देश की अर्थव्यवस्था, भाजपा सरकार ‘मैन वर्सेज वाइल्ड’ के तमाशे में मशगूल : अखिलेश

Published

on

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि देश की अर्थव्यवस्था गहरे संकट के दौर से गुजर रही है। भाजपा सरकार की कुनीतियों के नतीजे अब सामने आने लगे हैं। नोटबंदी और जीएसटी ने व्यापार जगत में भारी तबाही मचाई है। इससे एक तो छोटे और घरेलू उद्योग तो बंद हो ही रहे थे, अब तो देश का आटो मोबाइल सेक्टर भी दम तोड़ने लगा है। देश का विदेशी मुद्रा भण्डार 26 जुलाई 2019 को समाप्त सप्ताह में 72.7 करोड़ डालर घटकर 429.65 अरब डालर रह गया है। रूपए के कमजोर होने के कारण भारत की अर्थव्यवस्था फिसलकर सातवें स्थान पर आ गई है। 1964 में भी भारत इसी स्थान पर था।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने भारत को 2024-25 तक पांच हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाने का बड़ा वादा किया है। लेकिन आर्थिक संकेत इस बात के हैं कि उनका यह दावा उनके और दावों की तरह थोथा वादा ही साबित होगा। अपनी पहली सरकार में उन्होंने 2 करोड़ नौकरियां देने, किसानों की आय दुगनी करने, मंहगाई कम करने तथा भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के वादे किए थे। 2014 से 2019 तक स्वच्छ भारत, बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ, स्टार्ट अप और स्टैण्ड अप इण्डिया जैसे प्रोग्राम दिए थे जो सब नाकाम रहे। प्रतिव्यक्ति आय के मामले में 2018 में 187 देशों में भारत का नम्बर 142 था।

यह भी पढ़ें-अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंची चांदी, सोने का भाव गिरा

श्री यादव ने कहा कि श्रम ब्यूरों ने रोजगार सर्वेक्षण में कहा है कि पिछले छह वर्षों में लगभग 3.7 करोड़ कामगारों ने कृषि कार्य से तौबा कर ली है। कृषि कार्यों में लोगों की असुरक्षा बढ़ी है। पांच वर्ष में 60 हजार किसानों ने आत्महत्या की है। किसानों पर कुल 72 हजार करोड़ रूपए का कर्ज आंका गया है जबकि कारपोरेट घरानों पर बैंकों का 5 लाख करोड़ का भारत के उद्योगपतियों पर कर्ज बढ़ता जा रहा है। ऐसी स्थिति में उद्योग जगत में उत्पादन बढ़ने की आशा कैसे की जा सकती है। यह संकेत है कि गरीब, किसान, खेती-गांव भाजपा सरकार की प्राथमिकता में कितने नीचे हैं।
भाजपा सरकार के नए भारत का सच यह भी है कि वर्ष 2018 में एक करोड़ दस लाख नौकरियां चली गईं। आटो मोबाइल क्षेत्र की दुर्दशा चिंताजनक है। जीएसटी के कारण वाहनों के 286 शोरूम इस वर्ष अप्रैल तक 18 माह की अवधि में बंद हो चुके हैं और 2 लाख से ज्यादा कर्मचारियों की छंटनी हो चुकी है। इससे पूर्व 32 हजार कर्मचारी पहले ही घर बैठा दिए गए।

यह भी पढ़ें-महिला टी-20 क्रिकेट को राष्ट्रमंडल खेलों में मिली entry, shooting को नहीं मिली जगह

भाजपा व्हाट्सएप और टीवी में ही अपना काम देखती है, जमीनी काम तो कहीं दिखता नहीं है। लोगों से रोजगार छीन लिया गया है। भाजपा जनता को बहकाने के लिए ही अब अपनी पुरानी फेल योजनाओं को नए नाम दे रही है और भाजपा जिमकार्बेट पार्क में ‘‘मैन वर्सेज वाइल्ड‘‘ के तमाशे में मशगूल हैं। बेतहाशा बेरोजगारी से अपराध वृद्धि स्वाभाविक प्रक्रिया है। लूट, अपहरण की घटनाओं में बाढ़ आई है। महिलाओं के प्रति अपराधों में 300 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। देश में हर कोई परेशान है। कानून व्यवस्था चैपट है। समाज में तनाव है। सामाजिक सद्भाव को खतरे में डालने में सत्तारूढ़ दल कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। सच तो यह है कि भाजपा ने लोकतंत्र को ऐसी स्थिति में पहुंचा दिया है, जहां कोई लोकलाज नहीं बची है। लोकराज में यह सबसे खतरनाक स्थिति है। लोकतंत्र को भीड़तंत्र बनाने की उसकी साजिशों से सभी को सावधान रहना होगा।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

UPLMRC व लखनऊ रेल मंडल कार्यालय में मनाया गया स्वतंत्रता दिवस

Published

on

मेट्रो रेल कारपोरेशन में कुमार केशव और उत्तर रेलवे में मण्डल रेल प्रबंधक डाॅ. मोनिका अग्निहोत्री ने फहराया तिरंगा

लखनऊ। 74वें स्वतंत्रता दिवस पर उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन और उत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल के प्रबन्धक कार्यालय में ध्वजारोहण किया गया। उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (यूपीएमआरसी) ने अपने गोमती नगर स्थित प्रशासनिक भवन व ट्रांसपोर्ट नगर स्थित मेट्रो डिपो में स्वतंत्रता दिवस समारोह का आयोजन किया। यूपीएमआरसी के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने ध्वजारोहण कर तिरंगे को सलामी दी। सभी निदेशकों और उच्च अधिकारियों एवं कर्मचारियों की उपस्थिति में राष्ट्रगान के साथ स्वतंत्रता सेनानियों श्रद्धांजलि दी गई। समारोह में कोरोना प्रोटोकाल भी ख्याल रखा गया।

समारोह को संबोधित करते हुए प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और शहीद भगत सिंह के ऐतिहासिक भाषणों का जिक्र किया। साथ ही उन्होंने सभी कर्मचारियों से महात्मा गांधी के आदर्शों पर आगे बढ़ने और कर्तव्यनिष्ठा का आह्वान किया। कानपुर मेट्रो परियोजना के लखनपुर स्थित कास्टिंग यार्ड में भी स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। कानपुर मेट्रो परियोजना के निदेशक अरविंद सिंह ने कास्टिंग यार्ड परिसर में ध्वजारोहण किया।

यह भी पढ़ें-आजम खां को जेल में वीवीआईपी ट्रीटमेंट देने का आरोप, शासन ने बैठाई जांच

समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, हम सभी का एक ही लक्ष्य होना चाहिए कि हमें कानपुर मेट्रो परियोजना के प्रयॉरिटी कॉरिडोर को विश्वस्तरीय मानकों के साथ नियत समय पर पूरा करना है। साथ ही, हमें परियोजना के आगामी कॉरिडोर्स के लिए भी तैयार रहना है।

मंडल रेल प्रबंधक डा. मोनिका अग्निहोत्री ने फहराया तिरंगा

पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल के मंडल रेल प्रबंधक डा. मोनिका अग्निहोत्री लखनऊ स्थित अपने कार्यालय में ध्वजारोहण किया। डा. अग्निहोत्री ने सभी रेलकर्मियों व रेल उपयोगकर्ताओं को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों के त्याग एवं अभूतपूर्व बलिदान को याद करते उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। कहा कि सेना और अर्धसैनिक बलों के उन वीर जवानों, खुफिया एजेंसियों के कार्मिकों को नमन करती हॅू, जो अनेक विषम परिस्थितियों में अपना सर्वोच्च बलिदान देकर देश की अखण्डता एवं संप्रभुता के साथ-साथ हमारी रक्षा कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें-कोरोना पाॅजिटिव पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान की किडनी फेल, वेंटिलेटर पर रखे गए

कोविड-19 के विरूद्ध दिन-रात सेवा कार्य में लगे कोरोना योद्धाओं जैसे डाक्टर, नर्सेस, पैरामेडिकल स्टाफ, आर.पी.एफ एवं पुलिस कर्मी इत्यादि के प्रति आभार व्यक्त किया। इसके उपरांत मण्डल चिकित्सालय, बादशाहनगर में पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल महिला कल्याण संगठन के सहयोग से चिकित्सालय स्टाफ द्वारा रोगियों को फल वितरित किया और उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

लखनऊ जं. स्टेशन पर किया गया पौधरोपण

स्वतंत्रता दिवस पर लखनऊ जं. स्टेशन पर स्टेशन निदेशक गिरीश कुमार सिंह एवं वरिष्ठ पर्यवेक्षकों ने पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के लिए एरिका पाम के 22 पौधों का रोपण किया। एरिका पाम पौधों की देखभाल के लिए संबंधित अधिकारी एवं पर्यवेक्षकों ने एक-एक गमला गोद भी लिया। इस अवसर पर अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (परिचालन) शिशिर सोमवंशी, अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (प्रशासन) राघवेन्द्र कुमार, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. संजय श्रीवास्तव एवं सभी शाखाधिकारी व पूर्वोत्तर रेलवे महिला कल्याण संगठन की सदस्याएं व रेल कर्मचारी तथा उनके परिवारीजन उपस्थित थे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

विकास दुबे के गांव में नहीं हुआ ध्वजारोहण, बिना तिरंगा फहराए ही चले गए शिक्षक

Published

on

लखनऊ। 74वां स्वतंत्रता दिवस आज पूरे देश में हर्ष उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। वहीं विकास दुबे के कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में आजादी का जश्न नहीं मनाया गया। बताया जा रहा है कि यह स्वतंत्रता के बाद इतिहास ने पहली बार हुआ है। यहां स्वतंत्रता दिवस पर किसी भी सरकारी भवन में ध्वजारोहण नहीं किया गया।

बिकरू गांव के पंचायत भवन का ताला तक नहीं खोला गया। वहीं गांव के लोगों ने बताया कि हर साल पंचायत भवन में तिरंगा फहराया जाता था। लेकिन इस बार ग्राम सचिव 15 अगस्त को भी गांव नहीं पहुंचे। गांव के प्राथमिक विद्यायल में सुबह शिक्षक तो पहुंचे और कुछ देर रूकने के बाद बिना तिरंगा फहराए सभी शिक्षक चले गए।

कानपुर सीडीओ डाॅक्टर महेंद्र कुमार का कहना है कि गांव में ध्वजारोहण की जिम्मेदारी बीडीओ और ग्राम सचिव की होती है। बीडीओ आलोक पांडेय कोरोना संक्रमित होने के कारण क्वारंटीन हैं। उनकी अनुपस्थिति में ग्राम सचिव की जिम्मेदारी थी कि वह गांव जाकर लोगों को एकजुटकर ध्वजारोहण कराते और गांव में सफाई का संदेश भी देते।

यह भी पढ़ें:- वाराणसीः नर्स से ध्वजारोहण करवाकर मंडलायुक्त ने कोरोना योद्धाओं का बढ़ाया मनोबल

उन्होंने कहा यदि ऐसा नहीं हुआ है तो यह अपराध है। इस प्रकरण की जांच कराएंगे। वहीं बीडीओ आलोक पांडेय ने कहा कि गांव में ध्वजारोहण न होना अपराध है। यह जिम्मेदारी ग्राम सचिव के साथ-साथ ग्राम प्रधान की भी की होती है। वह गांव जाकर लोगों को एकजुटकर ध्वजारोहण कराएं। उन्होंने कहा कि ग्राम सचिव के पास कई गांवों की जिम्मेदारी होती है। यह पता लगाया जा रहा है कि वह किन कारणों से बिकरू गांव नहीं पहुंच पाए। यह कृत्य अपराध की श्रेणी में आता है। इस प्रकरण की जांच कराई जाएगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

आजम खां को जेल में वीवीआईपी ट्रीटमेंट देने का आरोप, शासन ने बैठाई जांच

Published

on

पूर्व कांग्रेसी नेता फैसल खान लाला की शिकायत पर जेल प्रशासन ने बैठाई जांच

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रामपुर के सांसद आजम खां को सीतापुर जिला जेल में वीवीआईपी ट्रीटमेंट दिए जाने का मामला सामने आया है। पूर्व कांग्रेसी नेता फैसल खान लाला ने गृह मंत्रालय को एक पत्र लिखकर शिकायत की है। जिसके बाद शासन ने मामले की जांच बैठा दी है। डीआईजी जेल ने फैसल खान लाला को बयान दर्ज कराने के लिए 20 अगस्त को मुख्यालय बुलाया है।

बता दें कि सपा सांसद आजम खान, विधायक पत्नी डॉ तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम खान के साथ फरवरी 2020 से सीतापुर की जेल में बंद हैं। उन्हें अभी तक कई मामलों में जमानत मिलने के बावजूद कई अन्य मामलों में कोर्ट से राहत का इंतजार है।

यह भी पढ़ें-बाबा रामदेव ने सुशांत के लिए किया यज्ञ, कहा- परिवार को जल्द मिले न्याय

फैसल खान लाला ने पिछले दिनों गृह मंत्रालय सहित उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी को पत्र लिखकर सीतापुर जेल में सांसद आजम खान को वीआईपी ट्रीटमेंट दिए जाने का आरोप लगाया था। आरोप है कि आजम खां को जेल में मोबाइल उपलब्ध कराया गया है। जेल प्रशासन आजम खां व उनके परिवार को फाइव स्टार होटल का खाना खिला रहा है।

पूर्व कांग्रेस नेता ने शिकायती पत्र में अपनी हत्या कराए जाने की भी आशंका जताई है। शिकायती पत्र का संज्ञान लेते हुए शासन ने इस मामले में जांच बैठा दी है। पुलिस महानिदेशक कारागार विभाग लखनऊ ने उप महानिरीक्षक कारागार संजीव त्रिपाठी को मामले की जांच सौंपी है। संजीव त्रिपाठी ने फैसल लाला को पत्र लिखकर 20 अगस्त को बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया है।

सरकार बदलने के बाद बढ़ी आजम की मुश्किलें

बता दें कि उत्तर प्रदेश में सरकार बदलने के साथ ही आजम खां की मुश्किलें बढ़ गईं थीं। रामपुर में जौहर विश्वविद्यालय की जमीन को लेकर उनके खिलाफ कई मुकदमे दर्ज हैं। इसी तरह कई अन्य तरह के फर्जीवाड़ा करने के आरोप हैं। योगी सरकार में उनके खिलाफ 80 से ज्यादा मामले दर्ज किए जा चुके हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 15, 2020, 6:18 pm
Partly sunny
Partly sunny
34°C
real feel: 41°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 70%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 5:08 am
sunset: 6:13 pm
 

Recent Posts

Trending