Connect with us

प्रदेश

राममंदिर फैसले से पहले यूपी की जेलों में जारी अलर्ट, कैदियों पर रखी जाए कड़ी नजर…

Published

on

राममंदिर

फाइल फोटो

लखनऊ। अयोध्या राममंदिर पर आज सुप्रीम कोर्ट अपना ऐतिहासिक फैसला सुनाने वाला है। ऐसे में यूपी सरकार ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी गई है, इतना ही नहीं स्कूल कॉलेजों को भी बंद कर दिया गया है।

प्रदेश में शांति बनी रहे इसके लिए यूपी की जेलों में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। डीजी आनंद कुमार ने जेल के अधिकारियों को जिला प्रशासन के निरंतर संपर्क में रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कैदियों के बीच किसी भी तरह से साम्प्रदायिक सद्भाव बिगड़ने नहीं दिया जाएगा। साम्प्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने की कोशिश पर सख़्त कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं अगर कोई परेशानी होती है तो जिलों में अस्थाई जेल बनाई जा सकती है।

पूरे प्रदेश में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

सीजीआई रंजन गोगोई से मुलाकात के बाद  डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उठाए गए कदमों की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि हमने लोगों के बीच आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए कई ठोस कदम उठाए हैं। धार्मिक नेताओं के साथ बैठक की है। पूरे राज्य में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त भी किया है। इसके साथ ही अयोध्या में विशेष तैयारी की गई है।

ये भी पढ़ें:अयोध्या विवाद पर फैसला आने से पहले CJI रंजन गोगोई को मिली Z-Plus सुरक्षा….

यूपी डीजीपी ओपी सिंह ने कहा, ‘हमने आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए हैं। पूरे प्रदेश के धार्मिक नेताओं और लोगों के साथ हमने 10 हजार बैठकें की हैं। हम लोगों से अपील करते हैं कि वे सोशल मीडिया पर किसी भी तरह का अफवाह न फैलाएं।’ सुरक्षा व्यवस्था के हालात पर बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘अयोध्या में अर्धसैनिक बलों की भारी भरकम तैनाती की गई है। इतना नहीं इलाके में चेकिंग का दौर भी जारी है। एक एडीजी रैंक के अधिकारी की अयोध्या में तैनाती की गई है, जो हालातों ओर चौकन्ने रहेंगे।’http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदेश

UP पुलिस मुख्यालय तक पहुंचा corona, सिग्नेचर बिल्डिंग 48 घंटे के लिए सील

Published

on

लखनऊ. यूपी पुलिस मुख्यालय यानी सिग्नेचर बिल्डिंग तक कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है। दरअसल, एडीजी रेलवे के स्टॉफ अफसर का ड्राइवर सोमवार को कोरोना पॉजिटिव मिला। यूपी पुलिस के मुख्यालय सिग्नेचर बिल्डिंग के तीसरे फ्लोर पर रेलवे पुलिस का मुख्यालय है। लिहाज़ा यूपी पुलिस का मुख्यालय भी अब कोरोना से अछूता नहीं है। रेलवे पुलिस मुख्यालय को 48 घंटे के लिए सील कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: यूपीः लेडी पुलिस के प्यार में पड़े युवक को दबंगों ने जिंदा जलाया, फोर्स तैनात

GRP पुलिस लाइन को करवाया गया खाली

आपको बताते चलें कि जीआरपी पुलिस स्टेशन चारबाग में तैनात 27 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। जिसके बाद 65 सिपाहियों को एक डेंटल कॉलेज में क्वारंटाइन में रखा गया है। सिपाहियों के चारबाग में रहने की जगह जीआरपी पुलिस लाइन को खाली करवा लिया गया है। अब यहां सैनीटाइजेशन का काम किया जा रहा है। अब सैनीटाइजेशन के बाद ही पुलिस लाइन को खोला जाएगा। चारबाग रेलवे स्टेशन पर रोज हजारों प्रवासी श्रमिक ट्रेन से आ रहे हैं। जीआरपी के सिपाहियों की उनको व्यवस्थित करने में ड्यूटी लगी होती है। माना जा रहा है इन्हीं प्रवासी श्रमिकों से जीआरपी के सिपाहियों को कोरोना संक्रमण हुआ। जिसके बाद यह संक्रमण जीआरपी पुलिस लाइन चारबाग तक पहुंचा।

रेलवे मुख्यालय को 48 घंटे तक बंद रखा जाएगा

एडीजी रेलवे संजय सिंघल ने बताया कि उनके स्टॉफ अफसर गुरुवार को छुट्टी से लौटे थे। उनके साथ ही उनका ड्राईवर भी छुट्टी से लौटा था। उनका ड्राईवर चारबाग स्थित जीआरपी पुलिस लाइन में रहता है, जहां कुछ सिपाहियों में कोरोना संक्रमण के मामले मिले थे। लिहाज़ा ड्राइवर का कोरोना टेस्ट कराया गया था जो सोमवार को पॉजिटिव निकला। जिसके बाद रेलवे मुख्यालय सील कर सैनिटाइजेशन का काम शुरू कर दिया गया है। रेलवे मुख्यालय को 48 घंटे तक बंद रखा जाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपीः लेडी पुलिस के प्यार में पड़े युवक को दबंगों ने जिंदा जलाया, फोर्स तैनात

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जहां दबंगों ने एक युवक को हाथ पैर बांधकर पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया। युवक की मौके पर ही मौत हो गई है। जिसके गुस्साए ग्रामीण ने जमकर उत्पात मचाया और पुलिस की पीआरवी 112 और फतनपुर थाने की जीप को फूंक दिया। ग्रामीण पुलिस अधिकारियों के सामने घंटों तक उत्पात और आगजनी करते रहे। बताया जा रहा है कि ग्रामीणों ने 2 पुलिस जीप समेत तीन वाहनों में आग लगा दी। जिसमें 4 पुलिसकर्मी घायल हो गए है। यह पूरा तांडव 3 घंटे तक चलता रहा। इस दौरान पुलिस के अधिकारी गांव में जाने में लाचार नजर आए। बाद में मौके पर पहुंचे आईजी और एडीजी प्रयागराज ने स्थिति को संभाला।

घटना प्रतापगढ़ के फतनपुर के भुजौनी गांव की है। जहां सोमवार दोपहर में घर से निकले युवक अम्बिका पटेल पुत्र रणजीत सिंह का देर शाम आम के बाग में अधजली शव मिलां इसके बाद ग्रामीण आगबबूला हो गए और डायल 112 को सूचना दी। मौके पर पुलिस के साथ पहुंचे सीओ रानीगंज पर ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। इसमें काफी पुलिसकर्मी घायल हो गए और मौके से गाड़ी छोड़ कर भाग निकले। तो ग्रमीणों का गुस्सा उनकी गाड़ियों पर निकल गया और उन्हें आग के हवाले कर दिया।

पुलिस के मुताबिक भुजैनी गांव का अंबिका पटेल अपने ही गांव की एक युवती से प्रेम करता था। इसे लेकर दोनों परिवार में कई बार विवाद भी हुआ था। हाल ही में युवती का सिपाही के पद पर चयन हो गया और वह कानपुर में तैनात है। इस दौरान लड़की की अम्बिका से दूरी बन गई। दोनों शादी करना चाहते थे। आरोप है कि कुछ महीने पहले अंबिका ने अपनी प्रेमिका का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इससे नाराज महिला सिपाही के घरवालों ने अंबिका के खिलाफ फतनपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। मामला पुलिस विभाग से जुड़ा होने के नाते पुलिस ने आनन-फानन में अम्बिका पटेल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। कुछ दिन पहले ही कोरोना महामारी के चलते वह जमानत पर जेल से छूटकर घर आया था।

यह भी पढ़ें:- यूपीः पिछले 24 घंटे में कोरोना के 373 नए मामले, 217 की अबतक मौत

फिलहाल दोनों पक्षों के दर्जनों दबंगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया गया है। वहीं गांव में हत्या के बाद तनाव को देखते हुए पीएससी की 2 कंपनी को तैनात कर दिया गया है। एसपी अभिषेक सिंह का कहना है कि युवक अम्बिका को पेड़ में बाधकर जिंदा जलाया गया है। हत्या के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस की तीन गाड़ियों में आगजनी और पुलिस पर पथराव किया है। लड़की की सोशल मीडिया पर अम्बिका ने फोटो वायरल की थी। परिजनों ने युवक पर छेड़खानी का मुकदमा दर्ज कराया था। लड़की के परिजनों पर हत्या करने का आरोप है। सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

अर्थव्यवस्था डुबोने वालों को ही केन्द्र सरकार ने दिया आर्थिक पैकेज: अखिलेश यादव

Published

on

सपा मुखिया ने भाजपा सरकारों पर बोला हमला

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा है कि केन्द्र सरकार ने आर्थिक पैकेज उन्हीं लोगों को दिया है, जिन्होंने देश की अर्थव्यवस्था को डुबोया है। इस पैकेज से मजदूरों, किसानों और गरीबों को क्या मिला? गरीब, मजदूर भूखे मर रहे है। किसान आत्महत्या करने पर विवश है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, भाजपा सरकार में पिछले 6 सालों में अर्थव्यवस्था को पहले ही बर्बाद कर दिया था। कोविड-19 के बाद अर्थव्यवस्था फ्रीफाल की स्थिति में है। सभी कारोबार में भीषण मंदी है।

अखिलेश ने कहा, सरकार आत्मनिर्भर होने की बात करती है। लेकिन आत्मनिर्भर होने का क्या रास्ता है, यह नहीं बताती। डिफेंस कॉरिडोर के नाम पर किसानों की हजारों हजार एकड़ जमीन पर कब्जा किया जा रहा है। यह सब उद्योगपतियों को दी जाएंगी। कोविड-19 के संक्रमण रोकने में सरकार को जितनी जिम्मेदारी से कदम उठाने चाहिए थे, वैसा नहीं किया। अखिलेश ने कहा कि यह सरकार विपक्षी सुझाव नहीं सुनती। भाजपा सरकार शुरुआत से ही इस महामारी का राजनीतिक लाभ लेना चाहती थी। पहले ताली और थाली बजवाया। जब परिस्थितियां विस्फोटक हो गई तब आनन-फानन में लाॅकडाउन कर दिया।

यह भी पढ़ें-लखनऊ को मिलेगी जाम से राहत, सेतु निर्माण में तेजी लाने के निर्देश

सरकार ने गरीबों और मजदूरों के बारे में सोचा ही नहीं। सरकार को गरीबों और मजदूरों तथा कामगारों को एक सप्ताह का समय देना चाहिए था। लेकिन सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। गरीबों और मजदूरों का सब्र टूट गया। उनके पास खाने जीने को कुछ भी नहीं रह गया। वे अपने घरों के लिए साइकिल से पैदल, ऑटो से जैसे भी हो सकता था, निकल पड़े। सरकार ने कोई इंतजाम नहीं किया। कईयों की भूख प्यास से रास्ते में ही मौत हो गई। इस सब के लिए केंद्र और उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार जिम्मेदार है। अखिलेश ने कहा, गरीबों और मजदूरों की हालत देखकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें खाना खिलाया, पानी पिलाया और उनकी भरपूर मदद की। लेकिन सरकार के पास इतने बड़े साधन- संसाधन होने के बाद भी कोई मदद नहीं पहुंचाई। मुख्यमंत्री जी सिर्फ अपने टीम-इलेवन की बात सुनते हैं।

गरीबों के प्रति भाजपा संवेदनहीन

भाजपा सरकार गरीबों के प्रति संवेदनहीन है। मजदूर पैदल चलते-चलते सड़कों पर मर गया। ट्रेनों में भूख प्यास से मौत हो गई। बस्ती का एक मजदूर ट्रेन के शौचालय में मृत अवस्था में कई दिन पड़ा रहा। कोई पूछने वाला ही नहीं और ना कोई मदद सरकार ने की। सपा ने उसके परिवार की मदद की। यह सरकार अपनी कामयाबी का डंका विदेशों में बजाती है। लेकिन देश में गरीबों मजदूरों और श्रमिकों की जो हालत हुई। क्या उससे दुनिया में अच्छा संदेश गया होगा?

सपा अकेले ही चुनाव लड़ेगी

अखिलेश ने कहा कि सपा के बड़े नेताओं की राय है कि पार्टी अब किसी भी दल के साथ समझौता नहीं करेगी। अकेले चुनाव लड़ेगी। लेकिन भाजपा राजनीतिक साजिश और षड्यंत्र करती रहती है, अफवाहें फैलाती रहती है। इससे जनता को सावधान रहना पड़ेगा। यूपी ने देश को प्रधानमंत्री दिया। भाजपा की सरकार ने 3 एमओयू किए हैं। लेकिन क्या सरकार बताएगी किस उद्योगपति ने निवेश किया। और उद्योगपति को किस बैंक ने कितना लोन दिया है। मुख्यमंत्री जी जितने निवेश की बात कर रहे हैं अगर उतना हुआ होता तो अब तक उत्तर प्रदेश में करोड़ों लोगों को नौकरियां मिल चुकी होती।

स्किल डेवलपमेंट की पुरानी योजना

आज हालत यह है कि पुराने उद्योग धंधे डूब रहे हैं। तीन साल की भाजपा सरकार में एक भी नया कारखाना नहीं लगा। अब सरकार श्रमिकों को भ्रमित करने के लिए नया आयोग की बात कर रही हैं। जबकि यूपी के पास इसके लिए पुराना विभाग है। स्किल डेवलपमेंट की पुरानी योजना है। स्किल डेवलपमेंट में कम्पनियों को इंपैनल किया जाता था। सरकार को बताना चाहिए कि इनके कार्यकाल में कितनी कम्पनियां इंपैनल्ड हुई। देश की राजनीति की दिशा उत्तर प्रदेश से निकलती है। उत्तर प्रदेश की जनता भाजपा से बहुत नाराज हैं। भाजपा सरकार ने जनता को समाज को हर बार को धोखा दिया है।

समाजवादी लोग डरने वाले नहीं हैं

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, सपा का पूरा फोकस उत्तर प्रदेश पर है। हम संगठन को मजबूत करते हुए जमीन पर कार्य कर रहे हैं। हमारा कार्यकर्ता गरीबों, मजदूरों किसानों के बीच रहकर उनकी मदद कर रहा है। हमारा मुख्य लक्ष्य उत्तर प्रदेश कुशासन का पर्याय बन चुकी भाजपा सरकार को हटाना। जब देश की राजनीति का सवाल आएगा तो सपा फैसला लेगी। इस बीमारी के खिलाफ लड़ाई को लेकर समाजवादी पार्टी लगातार सरकार के सामने अपनी बात रख रही है। पार्टी के कार्यकर्ता लोगों के बीच रहकर मदद कर रहे हैं। लेकिन यह सरकार बात तो मानती नहीं। गरीबों की मदद करने पर सपा कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज करा दिया। लेकिन समाजवादी लोग इससे डरने वाले नहीं हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 2, 2020, 11:10 am
Mostly cloudy
Mostly cloudy
31°C
real feel: 38°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 70%
wind speed: 1 m/s SSE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 5
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:27 pm
 

Recent Posts

Trending