Connect with us

प्रदेश

एक दिवसीय विशेष सत्र के लिए विधानसभा अध्यक्ष ने सभी दलों से मांगा सहयोग

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा का विशेष सत्र 26 नवंबर को बुलाया गया है। सत्र को सुचारू रूप से चलाने के लिए शुक्रवार को विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सर्वदलीय बैठक की। विधानसभा अध्यक्ष ने सभी दलों से सत्र को सफल बनाने का अनुरोध किया है। श्री दीक्षित ने नेताओं को संबोधित करते हुए कहा, हमारे संविधान निर्माताओं के लम्बे और कठिन परिश्रम के बाद 26 नवंबर 1949 को भारत का संविधान अंगीकृत किया गया था। भारत के संविधान की उद्देशिका और उसमें निहित नागरिकों व सरकारों के मूल कर्तव्यों के सम्बन्ध में चर्चा के लिए यह विशेष सत्र बुलाया गया है। यह हमारे संविधान के प्रति निष्ठा, सम्मान और आदर व्यक्त करने का एक अवसर है।

बैठक में नेता सदन व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सत्ता पक्ष की ओर से सत्र को सुचारू रूप से चलाने में सहयोगी का आश्वासन दिया। सीएम योगी ने कहा, 26 नवम्बर का दिन देश के संविधान का दिवस है। भारत के संविधान की उद्देशिका और कर्तव्यों के प्रति सभी संकल्पित हो सकें, इसलिए यह विशेष सत्र आहूत किया जा रहा है। उन्होंने सभी दलों से इस सत्र में सहयोग की अपेक्षा करते हुए कहा कि लोकतंत्र की ताकत संवाद है।

संवाद और तर्कसंगत चर्चा से ही समाधान निकलते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, संविधान की उद्देशिका और मूल कर्तव्यों पर चर्चा होने से सार्थक और सकारात्मक सन्देश जाएगा। इससे संविधान निर्माताओं के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करने के साथ-साथ हम संविधान के प्रति आदर और सम्मान की भावना को भी मजबूत कर सकेंगे। उन्होंने इस पहल के लिए भारत सरकार, विधान सभा अध्यक्ष तथा संसदीय कार्य मंत्री की सराहना करते हुए विश्वास व्यक्त किया कि इस विशेष सत्र में सभी दलों का सहयोग मिलेगा और एक प्रभावी सन्देश जाएगा।

यह भी पढ़ें-यूपी की अर्थव्यवस्था को 1 ट्रिलियन डाॅलर बनाने के लिए सीएम योगी ने की बैठक

संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने विशेष सत्र को एक अच्छी पहल बताते हुए कहा कि 26 नवम्बर को संविधान दिवस पूरे देश में मनाया जा रहा है। हमें अपने अधिकारों के प्रति सचेत होने के साथ-साथ कर्तव्यों के प्रति भी निष्ठावान होना होगा। उन्होंने कहा कि संविधान की उद्देशिका और अनुच्छेद-51ए पर चर्चा से अच्छा सन्देश जाएगा। बैठक में नेता विपक्ष रामगोविन्द चौधरी, बहुजन समाज पार्टी के लाल जी वर्मा, अपना दल के नील रतन सिंह पटेल ‘नीलू’ तथा कांग्रेस पार्टी के सोहिल अख्तर अंसारी ने हिस्सा लिया। सभी विपक्षी नेताओं ने विशेष सत्र को आहूत किए जाने की पहल का स्वागत किया। समूच विपक्ष ने पूरा सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

CAA Protest: अलीगढ़ में हिंसक प्रदर्शन, कई जगहों पर पथराव व आगजनी

Published

on

जनपद में 24 घण्टे के लिए इंटरनेट सेवा बाधित, स्थिति तनावपूर्ण

लखनऊ। यूपी में एक बार फिर सीएए विरोधी चिंगारी भड़कती दिख रही है। दिल्ली में शनिवार से शुरू हुए हंगामे की आंच यूपी के अलीगढ़ तक पहुंच चुकी है। रविवार को सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कुछ लोगों ने ऊपरकोट कोतवाली पर पथराव कर दिया। हिंसा बढ़ती देख पुलिस को प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज करना पड़ा। भीड़ को भगाने के लिए पुलिस ने आंसू गैसे के गोले भी छोड़े। प्रदर्शनकारियों ने कई स्थानों पर आगजनी भी की। प्रदर्शनकारियों के पथराव में एक आरएएफ का एक जवान और एक हिन्दू युवक भी घायल हो गया।

मौके पर कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ ही डीएम व एसएसपी खुद मौके पर डटे हुए हैं। वहीं खबर है कि प्रदर्शनकारियों ने बाबरी मंडी पुलिस चौकी में दो पुलिसकर्मियों को बंधक बना लिया है। और बाहर से लगातार फायरिंग की जा रही है। स्थिति संभालने के लिए एडीजी आगरा जोन भी अलीगढ़ के लिए रवाना हो गए हैं।#Aligarh

यह भी पढ़ें-दिल्लीः सीएए विरोधी व समर्थक आमने-सामने, जाफराबाद में भारी हंगामा

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को शहर कोतवाली के सामने से सभी को हटा दिया है। जिलाधिकारी सीबी सिंह ने तनाव को देखते हुए जनपद में 24 घण्टे के लिए इंटरनेट सेवा बाधित कर दी है। बवाल के बाद देहलीगेट और ऊपरकोट थाना क्षेत्र की सभी दुकानों को बंद कर दिया गया है। बिगड़ते हालात देखते हुए पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों मौके पर पहुंच गए हैं। हालांकि अधिकारियों के काफी समझाने के बाद भी तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है।

धार्मिक स्थल पर पत्थरबाजी

खबर के मुताबिक बवाल की शुरूआत एक धार्मिक स्थल पर पत्थरबाजी के बाद शुरू हुआ। रविवार को ऊपरकोट और शाहजमाल इलाकों में एनआरसी, सीएए के विरोध में प्रदर्शन हो रहा था। इसी बीच शाहजमाल इलाके में तुर्कमान गेट के पास प्रदर्शनकारी युवकों ने एक धार्मिक स्थल पर पत्थरबाजी कर दी। जिसके बाद से हालात तनावपूर्ण हो गए। देर शाम तक हजारों प्रदर्शनकारी मौके पर ही डटे हुए थे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

गोरखपुर: डॉ कफील खान के मामा की गोली मारकर हत्या, जमीनी विवाद का मामला….

Published

on

कफील खान

फाइल फोटो

लखनऊ। गोरखपुर के बीआरडी ऑक्सीजन कांड से चर्चा में आए डॉ कफील खान के मामा नुसरत उल्लाह वारसी उर्फ अफसर की बदमाश ने गोली मारकर हत्या कर दी है। शुक्रवार की रात 11 बजे के करीब गोली की तड़तड़ाहट सुनकर बेटी दौड़ी, लेकिन तब तक बदमाश फरार हो चुके थे।

हालांकि इस हत्या की खबर पाते ही एसएसपी डॉ। सुनील कुमार गुप्ता, एसपी सिटी डॉ। कौस्तुभ, सीओ कोतवाली वीपी सिंह तीन थाने की फोर्स और फोरेंसिक एक्सपर्ट के मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भेजकर जांच शुरू कर दी है।

मृतक डॉ। कफील खान के छोटे मामा थे। वह गोरखपुर के पुराने रईस होने की वजह से शहर में कई जगह इनका जमीन का विवाद भी चल रहा था। कई मामले में न्यायालय में विचाराधीन हैं। तीन भाइयों में सबसे छोटे नुसरत उल्लाह खां रोजाना ही रात में खाना खाने के बाद पड़ोसी सिराज तारिक के घर में कैरम खेलने जाते थे। शुक्रवार की रात दस बजे के करीब वह कैरम खेलने गए थे। जब वह ग्यारह बजे वह वहां से घर के लिए लौट रहे थे।

ये भी पढ़ें:भारत दौरे पर ट्रंप व पत्नी मेलानिया को नहीं पहनाया जाएगा माला, न लगेगा तिलक

घर के अंदर से ही रास्ता था मगर वह बाहर के रास्ते अपने गेट पर पहुंचे। आसपास के लोगों के मुताबिक एक बाइक सवार वहां पर मौजूद था। वह नुसरत के कंधे पर हाथ डालकर बात करते हुए अंदर गया और फिर गेट के अंदर से घर में साथ घुसा। उसके बाद उसने उन्हें गोली मार दी और वह नीचे गिरकर तड़पने लगे।

गोली की आवाज सुनकर बेटी तायब दौड़ पड़ी। शोर मचाने पर आसपास के लोग भी मौके पर पहुंच गए मगर तब तक बदमाश फरार हो गए थे। लोग उन्हें अस्पताल ले जाते इसके पहले ही उनकी मौत हो गई थी। बदमाशों ने आंख के नीचे, मुंह के बीच में गोली मारी है। पुलिस बदमाश और हत्या के वजह की तलाश में जुटी है। क्राइम ब्रांच की टीम भी मौके पर पहुंच गई थी। हालांकि पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है। पुलिस, क्राइम ब्रांच की टीम लगी है, जल्द ही घटना का पर्दाफाश किया जाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

भारत दौरे पर ट्रंप व पत्नी मेलानिया को नहीं पहनाया जाएगा माला, न लगेगा तिलक

Published

on

डोनाल्ड ट्रंप

फाइल फोटो

लखनऊ। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया के भारत दौरे से पहले तैयारियां पूरी हो चुकी हैं । भारत दौरे से पहले डोनाल्ड ट्रंप भी कम उत्साहित नहीं हैं। ऐसे में आगरा दौरे के दौरान ट्रंप और उनकी मेलानिया को न तो तिलक लगाया जाएगा और न ही कोई उनके पैर छुएगा। सुरक्षा को देखते हुए ये निर्देश दिए गए हैं। इसकी सूची जारी कर दी गई है कि स्वागत कौन-कौन करेगा।

खेरिया एयरपोर्ट पर ट्रंप और मेलानिया के आने के बाद उनका स्वागत सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, भारत में अमेरिका के राजदूत करेंगे। आगरा के महापौर नवीन जैन उन्हें शहर की प्रतीकात्मक चाबी भेंट कर उनका स्वागत करेंगे।

ये भी पढ़ें:सीतापुर: डीजे बजाने को लेकर हुए विवाद में चली गोली, महिला डांसर घायल

वहीं सुरक्षा ड्यूटी में पुलिसकर्मियों, अधिकारियों को इसके लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं। मेहमानों को न बुके भेंट किए जाएंगे, न ही फूल। इतना ही नहीं स्वागत के दौरान ट्रंप को माला पहनाने की भी इजाजत नहीं है।

फोटो लेने पर पुलिसवाले होंगे निलंबित

पुलिसकर्मियों को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि ट्रंप और मेलानिया का मोबाइल से फोटो लेने की कोशिश न करें। अगर कोई पुलिसवाला ऐसा करता है तो उसे सस्पेंड कर दिया जायेगा। इसे अनुशासनहीनता माना जाएगा बाद में इसकी विभागीय जांच भी की जाएगी।

ट्रंप और मेलानिया के ताज के लिए रवाना होने पर उनके जहाज के नजदीक भी सिर्फ वे ही अफसर जा सकेंगे जिनको जहाज की सुरक्षा में लगाया गया है। अन्य को ट्रंप और मेलानिया के नजदीक जाने की इजाजत नहीं है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 23, 2020, 8:01 pm
Fog
Fog
23°C
real feel: 23°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 77%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:07 am
sunset: 5:33 pm
 

Recent Posts

Trending