Connect with us

प्रदेश

बिहार: राज्य के कई सरकारी अस्पतालों में पुरुष डॉक्टर करा रहे महिलाओं की डिलीवरी…

Published

on

बिहार में महिला डॉक्टरों की भारी कमी है। पूरे राज्य में आधी आबादी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। प्राथमिक चिकित्सा केंद्र (पीएचसी) हो या रेफरल, सदर या मेडिकल कॉलेज व अन्य अस्पताल सभी जगह महिला डॉक्टरों की भारी कमी है। महिलाएं पुरुष डॉक्टरों की देखरेख में प्रसव कराने को मजबूर हैं।

सूत्रों के माने तो राज्य में महिला रोग विशेषज्ञ के 68 फीसदी पद रिक्त हैं। राज्य में स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ के 533 पद स्वीकृत हैं। इनमें मात्र 167 ही कार्यरत हैं। 366 पद रिक्त हैं। दूसरी ओर, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के तहत भी स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञों की तैनाती की जाती है। इसके तहत राज्य में 127 महिला चिकित्सकों की जरूरत है। संविदा पर नियुक्ति के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति ने 88 महिला चिकित्सकों का चयन किया, लेकिन इनमें मात्र 48 ने ही योगदान दिया।

यह भी पढ़ें: प्रेमिका को लेकर विवाद में फौजी ने पत्नी को मारी गोली…

गांव के इलाकों में हालत और अधिक खराब है। नालंदा के 13 अस्पतालों में एक भी महिला डॉक्टर नहीं हैं। पटना के पीएचसी में एएनएम के भरोसे प्रसव सुविधा चल रही है। पटना के ग्रामीण अस्पतालों में एएनएम के भरोसे प्रसव कराने की सुविधा है। जिले में 23 पीएचसी, 60 एपीएचसी, 4 अनुमंडल स्तरीय, 3 रेलफरल व एक जिला अस्पताल है। इनमें सिर्फ 77 महिला डॉक्टर हैं, जिनमें 14 विशेषज्ञ हैं। सिविल सर्जन डॉ. राजकिशोर चौधरी ने बताया कि पीएचसी में एएनएम ही प्रसव कराती हैं।

जिले के अधिकतर पीएचसी में एक भी महिला चिकित्सक नहीं हैं। महिला चिकित्सक के अभाव में गर्भवती महिलाओं को प्रसव के लिए नर्स पर ही निर्भर रहना पड़ता है। पीएचसी में एक भी महिला चिकित्सक नहीं रहने से महिला मरीजों को प्रसव के लिए फजीहत झेलनी पड़ती है। वहीं राज्य के कई जिला अस्पतालों में महिला डॉक्टरों की भारी कमी के कारण महिलाओं की डिलीवरी पुरुष डॉक्टरों द्वारा किया जा रहा है। वहीं बता दें कि बेगूसराय, जहानाबाद, वैशाली कैमूर, सारण, नालंदा इन सभी जिलों में महिला डॉक्टरों की काफी संख्या में सीटे रिक्त हैं।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

यूपी में जंगलराज, कानून व्यवस्था का कुछ अता-पता नहीं: अजय कुमार लल्लू

Published

on

कहा, प्रदेश जल रहा है और नीरो बंसी बजा रहा है

लखनऊ। यूपी के दो प्रमुख शहरों में पुलिस कमिश्नरी लागू करने के योगी सरकार के फैसले के बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा, सूबे में जंगलराज है, कानून नाम की कोई चीज नहीं बची है। लखनऊ, इलाहाबाद और नोएडा जैसे शहरों में भी हत्या, बलात्कार और लूट आम बात हो गयी है। अपराधियों के हौसले बुलंद हैं क्योंकि उन्हें सरेआम सत्ता का संरक्षण मिला हुआ है। यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि इलाहाबाद में युसुफपुर में विजय शंकर तिवारी के पूरे परिवार की हत्या हो गई लेकिन अभी तक पुलिस हत्याकांड का पर्दाफाश नहीं कर पाई। नोएडा में गौरव चंदेल की हत्या हुई लेकिन पुलिस कार्रवाही नहीं हुई और हत्यारे पुलिस के गिरफ्त से बाहर हैं। लखनऊ में यह नौजवान वकील की हत्या हो गई, पुलिस बस तमाशा देख रही है। पूरा प्रदेश जल रहा है और नीरो बंसी बजा रहा है।

यह भी पढ़ें-सुजीत पांडेय ने संभाली कमिश्नरी, लखनऊ व नोएडा में तैनात किए गए डीसीपी

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि एक तरफ पूरे सूबे में जंगलराज फैला हुआ है। कानून व्यवस्था ध्वस्त है। दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सूबे में पुलिसराज कायम करने का खाका बना लिए हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की आजादी को कुचने के लिए साजिश रच रहे हैं जिसको जनता स्वीकार नहीं करेगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

मोदी-योगी के खिलाफ जो नारेबाजी करेगा उसे जिंदा दफन कर दिया जाएगाः रघुराज

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के श्रम मंत्रालय राज्यमंत्री रघुराज सिंह अपने बयान पर घिरते नजर आ रहे है। वह रविवार को अलीगढ़ में सीएए के समर्थन में आयोजित रैली को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी के खिलाफ जो नारेबाजी व प्रदर्शन करेगा उसे जिंदा दफन कर दिया जाएगा।

मंत्री ने आगे कहा कि एक प्रतिशत लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं। भारत में रहते हैं और हमारे नेताओं के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाते हैं। यह देश सभी धर्मों के लोगों का है, लेकिन प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी अस्वीकार्य है। उन्होंने भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि नेहरू की जाति क्या थी? उनका खानदान नहीं था।

कांग्रेस का पलटवार
रघुराज सिंह के बयान के बाद कांगेस ने पलटवार करते हुए निशाना साधा है। यूपी कांग्रेस के प्रवक्ता द्विजेंद्र त्रिपाठी ने कहा कि लोगों को सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का अधिकार है। सरकार कितने लोगों को दफन करेंगी? करोड़ो लोग नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार सिंह लल्लू ने रघुराज सिंह के बयान पर पलटवार किया है। अजय कुमार लल्लू ने कहा कि हिंसा कराना और हिंसा में शामिल रहना बीजेपी का पुराना इतिहास रहा हैं। जितने भी आंदोलन सीएए और एनआरसी के खिलाफ हुए हैं। अहिंसात्मक तरीके से किए जाने वालों का दमन किया गया है। लाठी डंडे चलाए गए हैं। गोली मारकर हत्या भी की गई है।

यह भी पढ़ें:- यूक्रेन विमान हादसे को लेकर खामनेई के खिलाफ प्रदर्शन, इस्तीफा देने की मांग

वहीं भाजपा के नेता अपने मंत्री के बयान का बचाव करते नजर आ रहे है। यूपी बीजेपी के प्रवक्ता संजय राय ने कहा कि हमने रघुराज सिंह ने बात की हैं। उन्होंने हमें बताया कि मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया। उनके अनुसार उन्होंने उस विचारधारा को दफनाने की बात कही जो सीएए के खिलाफ लोगों को गुमराह कर रही है। उन्होंने ये लोगों को दफनाने को नहीं कहा। संजय राय ने कहा कि बीजेपी एक लोकतांत्रिक पार्टी है और हम हिंसा में विश्वास नहीं करते। केरल और बंगाल में हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया जा रहा है, लेकिन हम उनके साथ लोकतांत्रिक तरीके से लड़ रहे हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपी: देवरिया महोत्सव में बॉलीवुड कलाकार भी बिखेरेंगे जलवा…

Published

on

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में 21 जनवरी से शुरू होने वाले देवरिया महोत्सव की तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गई हैं। वहीं 21 से 31 जनवरी तक आयोजित महोत्सव में बालीबुड कलाकार लोगों के बीच अपना जलवा बिखेरेंगे ।

इस संबंध में जिलाधिकारी अमित किशोर ने सोमवार को यहां बताया कि देवरिया महोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई हैं। आगामी 21 से 31 जनवरी तक होने वाले देवरिया महोत्सव में चीनी मिल ग्राउंड पर 10 दिनों तक बॉलीवुड कलाकार रंग जमाते हुए नजर आयेंगे। वहीं ग्राउंड में जन कल्याणकारी योजनाओं की प्रदर्शनी भी लगेगी।

ये भी पढ़ें: बिहार: शॉर्ट सर्किट से लगी आग में 9 घर जलकर स्वाहा, मची सनसनी

जिलाधिकारी महोत्सव समिति के अघ्यक्ष भी हैं। महोत्सव से पर्यटन खेल और सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। जिले के लोग एक ही जगह पर कला, संस्कृति, शिल्प, व्यंजन, योग ,गीत-संगीत व जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठा सकेंगे। स्थानीय कलाकारों को प्रोत्साहित करने के लिए सभी तहसील क्षेत्रों में दो दिवसीय तहसील स्तरीय महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है, जहां से बेहतर प्रतिभाओं का चयन कर मुख्य मंच पर लाया जाएगा।

आगे बताया कि राष्ट्रीय कलाकारों द्वारा प्रस्तुति का लुफ्त शहरवासी उठा सकेंगे । पूरे महोत्सव पर ड्रोन कैमरे से नजर रखी जाएगी। भारत और राज्य सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए समाज कल्याण, पशुपालन, कृषि, शिक्षा, चिकित्सा सहित विभिन्न विभागों द्वारा स्टाल लगाकर लाभार्थियों को लाभान्वित किया जाएगा।  

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 14, 2020, 9:31 am
Fog
Fog
13°C
real feel: 16°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 84%
wind speed: 1 m/s E
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:04 pm
 

Recent Posts

Trending