Connect with us

प्रदेश

‘मेरी बेटी अपने निर्णय लेने के लिये आजाद है’, वायरल वीडियो पर आया विधायक पप्पू भरतौल का बयान

Published

on

लखनऊ। बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी ने एक वीडियो जारी कर अपने पिता पर धमकाने का आरोप लगाया था। साक्षी ने कहा था कि उसने एक दलित युवक से शादी कर ली है जिसकी वजह से उसे और लड़के के परिवार को परेशान किया जा रहा है। गुरूवार को बीजेपी विधायक ने कहा है कि उनकी बेटी बालिग है और अपने पसंद के लड़के से शादी करने के लिये आजाद है।

यूपी के बरेली जिले की चैनपुर सीट से बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल ने कहा कि, उन्होंने कोई धमकी नहीं दी है और उनकी बेटी अपने निर्णय लेने के लिये स्वतंत्र है।

विधायक मिश्रा बोले कि, ”मेरे खिलाफ मीडिया में जो चल रहा है यह सब गलत है बेटी बालिग है, उसको निर्णय लेने का अधिकार है, मैंने किसी को कोई जान से मारने की धमकी नहीं दी है, न ही मेरे किसी आदमी ने दी है, न ही मेरे परिवार के किसी व्यक्ति ने दी है।

मैं व मेरा परिवार अपने काम में व्यस्त हैं, मैं अपनी विधानसभा में जनता का कार्य कर रहा हूं व पार्टी (भाजपा) का सदस्यता अभियान चला रहा हूं। मेरी तरफ से किसी कोई खतरा नहीं है। वो जहां रहे खुश रहे।”

बता दें, साक्षी ने एक वीडियो जारी किया था जिसमें बताया था कि उसने दलित युवक अजितेश कुमार के साथ शादी कर ली है।

एक और वीडियो जारी कर साक्षी ने कहा था कि उसके पति को पिता से जान का खतरा है। उसने पुलिस से गुहार लगाई थी कि उन्हें सुरक्षा दी जाए। साथ ही यह भी कहा था कि अगर उन्हें कुछ होता है तो इसके जिम्मेदार उनके पिता होंगे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदेश

राम मंदिर मामला: मध्यस्थता पर सुप्रीम कोर्ट ने पैनल से एक हफ्ते के अंदर मांगी रिपोर्ट…

Published

on

राम मंदिर

फाइल फोटो

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान और खत्म होने के बाद भी राम मंदिर का मुद्दा हमेशा सुर्खियों में बना रहता है। ऐसे में अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई है। याचिकाकर्ताओं ने मांग की थी कि इस मामले में कोर्ट ने मध्यस्थता का जो मार्ग निकाला था, वह पूरी तरह से काम नहीं कर रहा है।

जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता पैनल से रिपोर्ट मांगी है। हालांकि अब इस मामले में 18 जुलाई तक रिपोर्ट सामने आएगी और फिर इस बात पर फैसला होगा कि इस मामले में रोजाना सुनवाई होगी या नहीं होगी।

सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता कमेटी से इस मसले पर रिपोर्ट भी मांग ली है। अब इस मामले पर सुनवाई 25 जुलाई को होगी। बता दें पैनल को ये रिपोर्ट अगले गुरुवार तक सुप्रीम कोर्ट में जमा करनी होगी। वहीं इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर पैनल कहता है कि मध्यस्थता कारगर नहीं साबित होती है, तो 25 जुलाई के बाद ओपन कोर्ट में रोजाना इसकी सुनवाई की जाएगी। यानी इस मामले में मध्यस्थता जारी रहेगी या नहीं, इसका फैसला 18 जुलाई को हो जाएगा।

ये भी पढ़े:अब बस चलाने से पहले वज्रासन करेंगे उप्र परिवहन निगम के बस ड्राइवर

जानकारी के मुताबिक हिंदू पक्ष की तरफ से वकील रंजीत कुमार ने कहा है कि 1950 से ये मामला चल रहा है, लेकिन अभी तक सुलझ नहीं पाया है। मध्यस्थता कारगर नहीं रही है इसलिए अदालत को तुरंत फैसला सुना देना चाहिए। पक्षकार ने कहा कि जब ये मामला शुरू हुआ था तब वह जवान थे, लेकिन अब उनकी उम्र 80 हो चुकी है। लेकिन अभी भी इसका को निर्णायक फैसला नहीं आ पाया है।

वहीं इस सुनवाई पूरे मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एसए बोबडे, डीवाई चंद्रचूड़, अशोक भूषण और अब्दुल नज़ीर ने की थी। अदालत ने कहा है कि अनुवाद में समय लग रहा था, इसी वजह से मध्यस्थता पैनल ने अधिक समय मांगा था। लेकिन अब हमने पैनल से रिपोर्ट मांग ली है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

अब बस चलाने से पहले वज्रासन करेंगे उप्र परिवहन निगम के बस ड्राइवर

Published

on

सड़क हादसों को रोकने के लिए परिवहन मंत्री ने दिया सुझाव

लखनऊ। बीते सोमवार को यमुना एक्सप्रेस-वे पर आगरा के पास हुए सड़क हादसे ने पूरे प्रदेश को झकझोर कर रख दिया। इस हादसे में 29 लोगों की मौत पर ही मौत हो गयी जबकि दो से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। बुधवार को सड.क हादसों पर समीक्षा बैठक के दौरान योगी सरकार के परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने एक तरकीब निकाली है। परिवहन मंत्री ने लखनऊ स्थित न्यू हैदराबाद के एक ऑडिटोरियम में समीक्षा के दौरान ऐलान किया कि रोडवेज बस ड्राइवरों को कम से कम 4 छुट्टियां दी जाएंगी। साथ ही हाइवे और एक्सप्रेस-वे पर हादसों से बचने के लिए उन्होंने ड्राइवरों को वज्रासन करने की सलाह दी। परिहवहन मंत्री ने कहा कि ढाबे पर खाना खाने के बाद ड्राइवर वज्रासन करें। यदि ऐसा संभव न हो तो कम से कम 20 मिनट तक आराम कर लें तभी आगे का सफर तय करें।

यह भी पढ़ें-एसएसपी लखनऊ ने हजरतगंज थाने का किया औचक निरीक्षण

मंत्री ने कहा कि नई बसों का संचालन किया जाएगा, साथ ही एक्सप्रेस वे पर तड़के तीन बजे से छह बजे तक विशेष रूप से रोडवेज बसों की चेकिंग की जाएगी। इस तरह की भीषण बस दुर्घटनाओं की आगे पुनरावृत्ति न हो, इस पर गहन विचार-विमर्श के लिए बुधवार को रोडवेज के प्रदेश भर के आरएम व एआरएम व निगम के अन्य अधिकारियों की राजधानी में बैठक बुलाई गई थी। बैठक में आए विशेषज्ञों के सुझावों को परिवहन राज्यमंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने पत्रकारों से साझा किया। इस दौरान वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

विशेषज्ञों की राय

योग विशेषज्ञ मनोहर अवस्थी का कहना है कि भरपेट भोजन के बाद नींद आना स्वाभाविक प्रक्रिया है लेकिन भोजन के बाद अगर 10 मिनट भी वज्रासन कर लिया जाए तो नींद और आलस्य समाप्त हो जाता है। इस आसन से अति निद्रा पर विजय प्राप्त की जा सकती है। साथ ही वज्रासन से चैतन्यता भी आती है। जंघा एवं पैरों की मांसपेशियों में होने वाले खिंचाव का असर पाचन शक्ति पर भी पड़ता है।

भरपेट भोजन से बचें

उन्होंने कहा कि तमाम चिकित्सीय जांचों में भी यह साबित हो चुका है कि भरपेट भोजन करने के बाद नींद आती है। लिहाजा रोडवेज के बस चालकों को एक सलाह यह भी दी जाएगी कि वे बसों के संचालन के दौरान भरपेट भोजन करने से बचें। साथ ही भोजन के बाद वज्रासन करें या फिर थोड़ी देर नींद लेने के बाद बस चलाएं। बैठक में यह सलाह प्रमुखता से आई है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

अखिलेश यादव: नोटबंदी, जीएसटी लागू कर भाजपा ने देश की अर्थव्यवस्था को किया बर्बाद

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ । समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्य मुख्यालय पर आज पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे एकजुट होकर विधानसभा उपचुनावों में जीत की तैयारी में लग जाएं। लोकसभा चुनावों के बाद प्रदेश में 12 निर्वाचन क्षेत्रों में होने वाले उपचुनावों को पूरी गंभीरता से लेने को कहा। उन्होंने कहा कि भाजपा के एकाधिकार और अहंकार को तोड़ने के लिए हमें सभी सीटों पर जीतने का लक्ष्य रखना होगा ।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की कुनीतियों के कारण जनता तबाह और परेशान है। सत्ता का लगातार दुरूपयोग किया जा रहा है। किसान, गरीब, नौजवान और समाज के कमजोर वर्ग की सुरक्षा और सम्मानपूर्ण जीवन के लिए समाजवादी सरकार में सस्ते आवास, पेंशन, यूपी डायल 100 नं0 सेवा, महिला सुरक्षा के लिए 1090 सेवा, सस्ती चिकित्सा व मिडडे मील में पोषक आहार आदि की व्यवस्थाएं की थीं, उनका क्या हुआ?

यह भी पढ़ें: इंजेक्शन से बिगड़ी किशोरी की हालत के बाद मौत, हंगामा

उन्होंने कहा कि भाजपा ने नोटबंदी, जीएसटी को लागू कर देश की अर्थव्यवस्था को बर्बाद किया है। देश में बेकारी बढ़ी है। उसकी स्टार्ट अप, मुद्रा लोन, मेक इन इण्डिया जैसी बहु प्रचारित योजनाएं विफल साबित हुई हैं। भाजपा ने देश को वर्षों पीछे कर दिया है। इसलिए भाजपा ने अब अपनी विफलताओं पर पर्दा डालने के लिए आंकड़ों का मायाजाल बिछाने का काम शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें: विद्युत परिषद मुख्यालय कर्मचारी संघ के शपथ ग्रहण समारोह का हुआ आयोजन

अखिलेश यादव ने कहा कि देश को बहकाने के लिए जोरशोर से अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डालर तक पहुंचाने का दावा भाजपा ने किया है। यह देश के गरीबों, मजदूरों, कम आय वाले कारोबारियों और कारीगरों को धोखा देने के अलावा कुछ और नहीं है। यदि विगत पांच वर्ष में बुनियादी ढांचे को विकसित किया गया होता तो आर्थिक स्थिति में डालर के मुकाबले रूपया मजबूत होता। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 11, 2019, 3:19 pm
Fog
Fog
29°C
real feel: 37°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 89%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 4:51 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending