Connect with us

प्रदेश

युवाओं के सपने चकनाचूर कर रहीं भाजपा सरकारें : अखिलेश यादव

Published

on

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि आज का युवा ही कल का भविष्य है, वही परिवर्तन का अग्रदूत बनता है लेकिन भाजपा की गलत नीतियों से उसके सपने चकनाचूर हो रहे हैं। देश की युवा शक्ति को गुमराह करने के लिए भाजपा सरकारें तमाम साजिशें कर रही हैं। ऐसी परिस्थिति पैदा की जा रही है कि नौजवान शिक्षा और रोजगार से वंचित रहे। इसके लिए प्राथमिक तौर पर विश्वविद्यालयों को निशाना बनाया जा रहा है, छात्र-छात्राओं का उत्पीड़न कर उन्हें समाज और राष्ट्र की मुख्यधारा से अलग रखने का षडयंत्र हो रहा है। भाजपा सरकार ने लखनऊ, इलाहाबाद, बनारस, गोरखपुर के विश्वविद्यालयों में छात्रसंघों को निष्क्रिय बनाने के साथ वहां शैक्षिक अव्यवस्थाओं पर उंगली उठानेवाले छात्र-छात्राओं को फर्जी मुकदमों में फंसाने के साथ उनका परिसर में प्रवेश भी प्रतिबंधित कर दिया है। उनके शैक्षिक जीवन को बर्बाद करने के हथकंड़े अपनाए जा रहे हैं। शांतिपूर्ण आंदोलन करने पर छात्र-छात्राओं को जेल की यातनाएं दी जा रही है।

यह भी पढ़ें-आदर्श व्यापार मंडल ने जीएसटी के लिए वित्त मंत्री को दी बधाई, कर प्रणाली को सरल बनाने की मांग

विश्वविद्यालयों में छात्रसंघ लोकतंत्र की नर्सरी के तौर पर काम करते रहे हैं। देश के तमाम बड़े नेता, प्रशासक, शिक्षाविद तथा चिकित्सा सहित विविध क्षेत्रों के विशेषज्ञ इन्हीं की देन हैं। लोकतंत्र का पहला पाठ यहीं पढ़ा जाता है। छात्रसंघों के पीछे स्वतंत्रता आंदोलन से लेकर कई बुनियादी मुद्दों पर संघर्ष का स्वर्णिम इतिहास रहा है। भाजपा सरकार ने लिंगदोह समिति की सिफारिशों का बहाना लेकर विश्वविद्यालयों में छात्रसंघों के अस्तित्व को ही समाप्त करने का काम किया है जो लोकतंत्र की हत्या के समान है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, संसद से सड़क तक अभी एक सप्ताह भी नहीं गुजरा है जब लोकतंत्र की दुहाई देने वाले आपातकाल की चर्चा कर रहे थे। छात्रसंघों पर प्रहार लोकनायक जयप्रकाश नारायण के सपनों को भी तोड़ना है। युवा शक्ति की ताकत पर ही लोकनायक ने सम्पूर्ण क्रांति का सपना संजोया था।

यह भी पढ़ें-खूबसूरती की मिसाल थीं लेडी डायना, हमेशा पर्स में रखती थीं ये चीज

अखिलेश ने कहा कि सपा विश्वविद्यालयों की स्वायसत्ता के साथ छात्रसंघों की अनिवार्य उपस्थिति की पक्षधर रही है। छात्रसंघों के माध्यम से देश में परिवर्तन की उठने वाली लहरों की पहचान होती है। युवावर्ग की उम्मीदों-आकांक्षाओं को भी यहीं से रास्ता मिलता है। इस युवाशक्ति के रास्ते में रोड़े अटकाकर और उसे उत्पीड़न का शिकार बनाकर भाजपा वस्तुतः युवाशक्ति के मनोबल को तोड़ने और उन्हें अराजक राजनीति में ढकेलने का निंदनीय कार्य कर रही है। नौजवानों के भविष्य से खेलना भाजपा के लिए आत्मघाती गोल करने जैसा साबित होगा।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

यूपी: देवरिया महोत्सव में बॉलीवुड कलाकार भी बिखेरेंगे जलवा…

Published

on

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में 21 जनवरी से शुरू होने वाले देवरिया महोत्सव की तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गई हैं। वहीं 21 से 31 जनवरी तक आयोजित महोत्सव में बालीबुड कलाकार लोगों के बीच अपना जलवा बिखेरेंगे ।

इस संबंध में जिलाधिकारी अमित किशोर ने सोमवार को यहां बताया कि देवरिया महोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई हैं। आगामी 21 से 31 जनवरी तक होने वाले देवरिया महोत्सव में चीनी मिल ग्राउंड पर 10 दिनों तक बॉलीवुड कलाकार रंग जमाते हुए नजर आयेंगे। वहीं ग्राउंड में जन कल्याणकारी योजनाओं की प्रदर्शनी भी लगेगी।

ये भी पढ़ें: बिहार: शॉर्ट सर्किट से लगी आग में 9 घर जलकर स्वाहा, मची सनसनी

जिलाधिकारी महोत्सव समिति के अघ्यक्ष भी हैं। महोत्सव से पर्यटन खेल और सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। जिले के लोग एक ही जगह पर कला, संस्कृति, शिल्प, व्यंजन, योग ,गीत-संगीत व जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठा सकेंगे। स्थानीय कलाकारों को प्रोत्साहित करने के लिए सभी तहसील क्षेत्रों में दो दिवसीय तहसील स्तरीय महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है, जहां से बेहतर प्रतिभाओं का चयन कर मुख्य मंच पर लाया जाएगा।

आगे बताया कि राष्ट्रीय कलाकारों द्वारा प्रस्तुति का लुफ्त शहरवासी उठा सकेंगे । पूरे महोत्सव पर ड्रोन कैमरे से नजर रखी जाएगी। भारत और राज्य सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए समाज कल्याण, पशुपालन, कृषि, शिक्षा, चिकित्सा सहित विभिन्न विभागों द्वारा स्टाल लगाकर लाभार्थियों को लाभान्वित किया जाएगा।  

Continue Reading

प्रदेश

1994 बैच के IPS सुजीत पांडे होंगे लखनऊ के पहले पुलिस कमिश्नर

Published

on

आलोक सिंह को मिली नोएडा की कमान, अन्य कई आईपीएस अफसरों के हुए तबादले

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और नोएडा में अब पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होगी। सोमवार को योगी कैबिनेट ने इस प्रस्ताव पर मुहर लगा दी। इसके साथ ही लखनऊ और नोएडा में पहले पुलिस कमिश्नर के नामों का भी ऐलान हो गया है। राजधानी लखनऊ की कमान 1994 बैच के आईपीएस अफसर सुजीत पांडे को मिली है जबकि 1995 बैच के आईपीएस आलोक सिंह को नोएडा का पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया गया है। पिछले दिनों नोएडा के एसएसपी वैभव कृष्ण की बर्खास्तगी और लखनऊ के एसएसपी कलानिथि नैथानी का गाजियाबाद में तबादला होने के बाद से ही यूपी के इन दोनों प्रमुख शहरों में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू होने की चर्चा गरम थी। लंबी कवायद के बाद सोमवार को हुई योगी कैबिनेट ने इसकी मंजूरी दे दी। देश के कई बड़े शहरों में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू है, लेकिन यूपी के किसी शहर में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम पहली बार लागू होगा।

आलोक सिंह

लखनऊ पुलिस कमिश्नर के नाम की घोषणा के साथ लखनऊ पुलिस के कुछ नए अफसरों के नामों का ऐलान हुआ है। नवीन अरोड़ा को लखनऊ का ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर (लॉ एंड आर्डर) बनाया गया है। नीलाब्जा चौधरी को ज्वाइंट कमिश्नर क्राइम एंड हेड क्वार्टर, अखिलेश कुमार को एडिशनल कमिश्नर लॉ एंड ऑर्डर, श्रीपर्णा गांगुली को एडिशनल कमिश्नर क्राइम व मुख्यालय बनाया गया है। इसके अलावा दोनों जनपदों में कमिश्नर प्रणाली लागू होने के बाद 6 आईपीएस अफसरों को नई तैनाती दी गयी है। जिसमें संदीप सालुंके को एडीजी टेक्निकल सर्विस, असीम अरुण को एडीजी 112, जेएन सिंह को एडीजी कानपुर जोन, प्रेम प्रकाश को एडीजी प्रयागराज जोन, प्रवीण कुमार को आईजी रेंज मेरठ और लव कुमार को डीआईजी गोरखपुर रेंज बनाया गया है।

यह भी पढ़ें-राजधानी लखनऊ शहर होगा मेट्रोपॉलिटियन, पुलिस आयुक्त संभालेंगे कमान

पुलिस से जुड़े विभागों के नेतृत्व में भी बदलाव

यूपी में पहली बार कमिश्नरी सिस्टम का फार्मूला अपनाने जा रही योगी सरकार ने सोमवार को प्रदेश पुलिस में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। पुलिस विभाग से जुड़े अन्य विभागों के नेतृत्व में बदलाव करते हुए शासन ने 4 अन्य आईपीएस अफसरों का तबादला किया है। जिसके तहत जावीद अहमद को डीजी फायर सर्विस, विश्वजीत महापात्रा को डीजी रूल्स एण्ड मैनुअल्स, जीएल मीना को डीजी मानवाधिकार अयोग और डीएल मीना को डीजी मानवाधिकार बनाया गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

CM योगी तीन दिवसीय दौरे पर आज जायेंगे गोरखपुर…

Published

on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ सोमवार को तीन दिवसीय दौरे पर गोरखपुर आ रहे हैं। योगी यहां सीएए को लेकर 19 जनवरी को आयोजित होने वाली भाजपा की रैली के मद्देनजर पार्टी के क्षेत्रीय, जिला, महानगर पदाधिकारियों को सहेजेंगे। बता दें कि योगी को पहले सोमवार को गोरखपुर महोत्सव के समापन समारोह में भाग लेना था, लेकिन ओमान के सुल्तान काबूस बिन सईद के निधन पर सोमवार को राजकीय शोक घोषित होने के कारण गोरखपुर महोत्सव के अंतिम दिन के सभी कार्यक्रम अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दिए गए हैं।

यह जानकारी महोत्सव समिति के अध्यक्ष और मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर ने दी। सूत्रों के मुताबिक सोमवार को होने वाले सभी कार्यक्रम मंगलवार को आयोजित किए जाने की उम्मीद है। वहीं 14 जनवरी को योगी का बिहार के गया जिले में कार्यक्रम है। मकर संक्रांति के अवसर पर 15 जनवरी को योगी गुरु गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाने के बाद लखनऊ रवाना हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें: सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश में लागू की पुलिस कमिश्नर प्रणाली, जानें और बातें…

जानकरी के अनुसार योगी सोमवार 12.30 बजे गोरखनाथ मंदिर के तिलक हाल में भाजपा पदाधिकारियों को संबोधित करेंगे। रात्रि विश्राम गोरखनाथ मंदिर में करेंगे। मंगलवार की सुबह 10.50 बजे बिहार के गया जाएंगे, जहां उन्हें सीएए को लेकर जनसभा को संबोधित करना है। गया से वापस गोरखपुर आएंगे और 15 जनवरी को तड़के गुरु गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाएंगे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 13, 2020, 5:21 pm
Sunny
Sunny
18°C
real feel: 17°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 71%
wind speed: 2 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:03 pm
 

Recent Posts

Trending