Connect with us

प्रदेश

बस्ती से भाजपा सांसद व लोकसभा प्रत्याशी समेत 10 के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज

Published

on

मतदान वाले दिन अपने ही गांव के अपने प्रतिद्वंदी से मारपीट का आरोप

लखनऊ। लोकसभा चुनावों के दौरान एक निर्दलीय उम्मीदवार के साथ मारपीट के मामले में सांसद हरीश द्विवेदी की मुश्किलें बढ. गई हैं। पुलिस ने इस मामले में सांसद समेत दस लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। बता दें कि बस्ती लोकसभा सीट पर 12 मई को मतदान हुआ था। यहां से 11 प्रत्याशी मैदान में थे। जिनमें से भाजपा ने एक बार फिर अपने सांसद हरीश द्विवेदी को मैदान में उतारा था। हरीश के सामने सपा-बसपा गठबंधन की तरफ से बसपा के राम प्रसाद चैधरी और कांग्रेस के राज किशोर सिंह चुनावी मैदान में थे। वहीं लोक गठबंधन पार्टी के टिकट पर पंकज कुमार दुबे भी चुनावी मैदान में थे। पंकज कुमार दुबे सांसद हरीश द्विवेदी के गांव तेलियाजोत (कटया) के निवासी होने की वजह से चर्चा में रहे।

यह भी पढ़ें-रायबरेली: कांग्रेस विधायक अदिति सिंह के काफिले पर हुआ हमला,बाल-बाल बचीं…

आरोप है कि मतदान वाले दिन शाम लगभग 4ः30 बजे पंकज दूबे कटया बूथ के बाहर खड़े थे। वहां मौजूद एक पुलिसकर्मी ने कहा कि तुमने सीओ के पास फोन क्यों किया? बातचीत के दौरान ही सांसद दल-बल समेत पहुंचे। सांसद के कहने पर वहां मौजूद पुलिस कर्मी और अन्य 10-12 लोगों ने उन्हें जमकर मारापीटा। बाद में पुलिस नगर थाने पर ले गई। पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की है। एसओ अनिल कुमार का कहना है कि तहरीर के अनुसार मारपीट, बलवा, धमकी और अपशब्दों के प्रयोग पर मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं इस मामले में सांसद हरीश द्विवेदी का कहना है कि राजनीतिक हताशा में तहरीर दी गई है। पुलिस की विवेचना में सही-गलत सामने आ जाएगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदेश

#corona: लॉकडाउन पर पुलिस सख्त, उल्लंघन करने पर वाहन सीज कर होगी कार्रवाई

Published

on

लखनऊ। देश मे लॉकडाउन के बाद भी कोरोना संक्रमण की स्थिति थमने का नाम नही ले रही दिन प्रतिदिन संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में इजाफा हो रहा है। जिसकी वजह से सरकार लगातार कठोर कदम भी उठा रही है।

लॉकडाउन के बाद चौराहों पर पुलिस बल तैनात है, और लोगो का समय समय पर पुलिस जागरूक भी करती नजर आ रही है। आने जाने वालों से कड़ाई से पूछताछ भी इसके बावजूद भी कोरोना संक्रमण में इजाफा देखने को मिल रहा। जिसकी वजह से पुलिस अधिकारी नई कार्य योजना का गठन कर अब पूरी तरह से केवल फिजिकल डिस्टेन्स लॉकडाउन का पालन, अपराध नियन्त्रण, यातायात व्यवस्था संचालन का ही कार्य करेंगे।

इसे भी पढ़ें-पुलिस, डॉक्टर और पैरामेडिकल के स्टाफ के साथ बनाए सामंजस्य-मौलाना खालिद रशीद

धारा 144 के उलंघन करने पर कार्यवाई करेंगे। जनसेवा के सभी कार्य समाजसेवी संस्थाओं और सम्बंधित विभाग करेंगे। नए नियम के अनुसार अब पुलिस विभाग के अधिकारी मोटरसाइकिल पर एक और एक कार में 2 व्यक्तियों को चलने का आदेश जारी कर दिए है। अपर पुलिस आयुक्त पूर्णेन्दु सिंह ने आज राजधानी पुलिस को लेटर जारी करते हुए निर्देश दिया है, कि किसी भी दशा में एक मोटरसाइकिल पर केवल एक ही व्यक्ति चलेगा और इसका उलंघन करने पर वाहन सीज कर मुकदमे की कार्यवाई की जाएगी।

इसके अलावा भारी माल वाहक गाड़ियों में भी ड्राइवर और क्लीनर के अलावा कोई नही बैठेगा, पुलिस अधिकारी ने अपील करते हुए कहा, कि मेडिकल, प्रेस, बैंक, पुलिस, सचिवालय और अन्य सरकारी कर्मचारी भी इसका पालन करें और पुलिस से वेवजह विवाद न करें।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

कन्नौज की जामा मस्जिद में जुटे नमाजियों को हटाने गई पुलिस पर हमला, कई घायल

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले में जुमे की नमाज अता करने के लिए जुटी भीड़ को हटाने गई पुलिस पर पत्थरबाजी हुई है। इस घटना में कई पुलिस वाले गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। लॉकडाउन के बावजूद जुमे की नमाज के लिए शहर की जामा मस्जिद में नमाजियों की भीड़ जमा हो गई थी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस की टीम पर नामाजियों ने हमला कर दिया। स्थिति को बिगड़ता देख जान बचाकर पुलिसकर्मी वहां से भाग निकले। इस घटना की जानकारी जब पुलिस महकमे के आला अधिकारियों को मिली तो वे भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। लेकिन तबतक नमाजी मस्जिद से भाग निकले थे।

इसे भी पढ़ें-पुलिस, डॉक्टर और पैरामेडिकल के स्टाफ के साथ बनाए सामंजस्य-मौलाना खालिद रशीद

इससे पहले बुधवार शाम को मुजफ्फरनगर में लॉकडाउन का पालन कराने पहुंची पुलिस की टीम पर भी हमला हुआ था। हमले में महिलाएं भी शामिल रही। इस संबंध में पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि कुछ लोगों ने पुलिस दल पर उस वक्त हमला कर दिया, जब वे लॉकडाउन का पालन करने का निर्देश दे रहे थे।’ इस हमले में एक सब इंस्पेक्टर और एक कॉन्स्टेबल घायल हो गए थे।

वहीं, सहारनपुर के गांव जमालपुर में नमाज पढ़ने को लेकर मस्जिद के बाहर इकट्ठा भीड़ को हटाने और छह लोगों को हिरासत में लेने पर लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया। भीड़ ने लाठी-डंडों से हमला कर पकड़े गए लोगों को छुड़वा लिया। इस दौरान दो सिपाही भी चोटिल हो गए। पुलिस ने पांच महिलाओं सहित 26 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

गाजियाबाद में जमातियों की करतूत पर भड़के सीएम योगी, कहा- यह मानवता के दुश्मन

Published

on

मुख्यमंत्री ने आरोपियों पर एनएसए लगाने का दिया निर्देश

लखनऊ। एक तरफ कोरोना महामारी अब तेजी से पूरे भारत को अपनी चपेट में ले रही है। केन्द्र और राज्य सरकारों की सख्ती, प्रशासन की सक्रियता और डाॅक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों के अथक प्रयास के बावजूद देश में स्थिति बिगड़ती जा रही है। पिछले दो दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या में भारी इजाफा हुआ है। इसके पीछे सबसे बड़ी दिल्ली की तब्लीगी जमात है। लाॅकडाउन के बावजूद पहले तो यह हजारों जमाती दिल्ली के निजामुद्दीन में हजारों एकत्र हुए। अब कोरोना जांच और इलाज में भी दुश्वारियां खड़ी कर रहे है।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एमएमजी जिला अस्पताल में भर्ती कराए गए जमातियों के उपद्रव पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बेहद सख्त रुख अपनाया है। शुक्रवार को अधिकारियों के साथ बैठक में सीएम योगी गाजियाबाद की घटना पर काफी नाराज दिखे।

यह भी पढ़ें-कोरोना का कहर: वर्ल्ड बैंक ने भारत को 76 अरब रुपए की सहायता राशि को दी मंजूरी

मुख्यमंत्री ने कहा, ये लोग न कानून को मानेंगे, न ही व्यवस्था को मानेंगे। ये मानवता के दुश्मन हैं। इन लोगों ने महिला स्वास्थ्यकर्मियों के साथ जो किया, वह जघन्य अपराध है। इसलिए हम इन्हें किसी भी हाल में छोड़ेंगे नहीं। सीएम योगी इन सभी पर रासुका लगाने का निर्देश दिया है। सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश के इंदौर जैसी घटना यूपी में नहीं होनी चाहिए।

बता दें कि गाजियाबाद के सीएमओ का एक पत्र इस समय वायरल है। जनपद के पुलिस कप्तान को लिखे अपने पत्र में सीएमओ ने कहा, एमएमजी जिला अस्पताल में भर्ती 100 से ज्यादा जमाती वार्ड में महिला डाक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों के साथ बदतमीजी कर रहे है। वार्ड वह पैजामा उतारकर घूमते हैं। अश्लील इशारे करते है। बाहर से बीडी., सिगरेट और तम्बाकू मंगवाते है। अस्पताल के स्टाफ ने ऐसी स्थिति में ड्यूटी करने से इनकार कर दिया है। सीएमओ ने पुलिस से सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग की है।

कहीं पुलिस पर थूंका तो कहीं स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला

अकेले गाजियाबाद ही नहीं, पिछले कुछ दिनों में देश भर में ऐसी घटनाएं सामने आई हैं जो बेहद अफसोसजनक हैं। मध्य प्रदेश के इंदौर में समुदाय विशेष के लोगों ने मेडिकल चेकअप करने पहुंची डाक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों की टीम पर लाठी व पत्थरों से हमला कर दिया। दिल्ली में जमातियों ने पहले तो मरकज खाली करने से इनकार कर दिया। जिसके चलते राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को कमान संभालनी पड़ी। इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस के जवान जब इन संक्रमित जमातियों को अस्पताल ले जा रहे थे, कुछ लोगों ने जवानों पर थूका भी।

यह भी पढ़ें-पुलिस, डॉक्टर और पैरामेडिकल के स्टाफ के साथ बनाए सामंजस्य-मौलाना खालिद रशीद

उत्तर प्रदेश के कई जनपदों मरीजों की सेवा में लगे डाक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला किया गया। जबकि यह डाॅक्टर अपनी जान जोखिम में डालकर मानव जीवन को बचाने में जुटे हुए हैं। कई जगह लाॅकडाउन का पालन कराने पर पुलिस पर हमला किया गया। सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए अस्पताल में भर्ती जमाती एक जगह एकत्र होकर नमाज पढ़ते भी देखे गए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 3, 2020, 4:36 pm
Sunny
Sunny
32°C
real feel: 32°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 20%
wind speed: 3 m/s WNW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 5:25 am
sunset: 5:55 pm
 

Recent Posts

Trending