Connect with us

प्रदेश

भाजपा की जनविरोधी नीतियां उसे केन्द्र की सत्ता से बाहर कर देंगी : मायावती

Published

on

सपा मुखिया अखिलेश यादव व बसपा प्रमुख मायावती ने की चुनावी सभाएं

लखनऊ। बहुजन समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गठबन्धन के प्रत्याशी मऊ से अतुल राय और देवरिया से विनोद कुमार जायसवाल के पक्ष में संयुक्त जनसभाओं को संबोधित किया। महाराजगंज से प्रत्याशी कुंवर अखिलेश प्रताप सिंह के समर्थन में एक रैली मंे अखिलेश यादव ने चुनावी सभा कर उन्हें जिताने का आग्रह किया। मायावती ने कहा कि कांग्रेस के लंबे समय तक देश और अन्य प्रदेशों की सरकारांे में जनता का कोई भला नहीं हुआ। भाजपा की केन्द्र की जनविरोधी नीतियां उसेे सत्ता से बाहर कर देंगी। भाजपा ने अच्छे दिन के वादे पूरे नहीं किये। भाजपा की नाटकबाजी अब काम नहीं आयेगी। कांग्रेस और भाजपा की सरकारों ने पदोन्नति में आरक्षण को निष्प्रभावी बना दिया है। भाजपा और कांग्रेस सरकारों द्वारा निजी क्षेत्रों की संस्थाओं को मौका दिया जा रहा है जिससे आरक्षण का लाभ लगातार कम हो रहा है। भाजपा सरकार ने सच्चर कमेटी पर भी ध्यान नहीं दिया जिसके कारण मुस्लिम धार्मिक अल्पसंख्यकों का उत्थान और विकास रूक गया है। अपर कास्ट में गरीब लोगों की हालत ठीक नहीं है।

यह भी पढ़ें-गुरुवार को वाराणसी, चंदौली व मिर्जापुर लोकसभा क्षेत्रों में सपा-बसपा और रालोद मुखिया करेंगे चुनाव प्रचार

नोटबंदी और जीएसटी बिना तैयारी के लागू होने से व्यापारी वर्ग दुःखी हैं। भाजपा सरकार में देश की सीमांए सुरक्षित नही है। जवानों के शहीद होने की संख्या बढ़ गयी है। यह दुखद है कि इसे भी भाजपा भुनाने में लगी है। मायावती ने कहा कि भाजपा चुनाव जीतने के लिए साम-दाम-दण्ड-भेद अपना रही है। इससे सावधान रहना जरूरी हैै।

वहीं जनता को संबोधित करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि इस बार चुनाव का अलग रंग दिख रहा है। हर तरफ लाल, हरा, नीले रंग का असर दिख रहा है। प्रदेश के मतदाताओं को भाजपा की कंेद्र सरकार के 5 वर्ष और राज्य सरकार के 2 वर्ष का कुल मिलाकर 7 वर्ष के कामकाज का हिसाब-किताब लेना होगा। भाजपा ने जो वादे किये थे उनको भुला दिया। जो सपने दिखाए थे उनकी बात नहीं करते है। अच्छे दिनों के वादों को क्या हुआ? भाजपा के राज में देश कई मामलो में पिछड़ गया है। देश पर पहले 35 लाख करोड़ कर्ज था अब 70 लाख करोड़ कर्ज हो गया है। श्री यादव ने कहा कि भाजपा ने गरीबो, पिछड़ो, दलितो का बहुत नुकसान किया। उनके कार्यकाल में गरीबोें पर 30 हजार मुकदमे और लग गए।

प्रत्याशी के खिलाफ झूठे मुकदमे लगाकर परेशान किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था बिगड़ी हुई है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को भरोसा दिया गया था कि उन्हें फसल की लागत का डेढ. गुना मूल्य मिलेगा, नौजवानो को 2 करोड़ प्रति वर्ष नौकरी दी जाएगी, लोगों के खाते में 15 लाख रूपए आएगें।

यह भी पढ़ें-मानसिक प्रताड़नाओं का सामना करते हैं टेढ़े-मेढ़े दांतों वाले व्यक्ति

सब वादे झूठे साबित हुए। नोटबंदी से कोई फायदा नहीं हुआ। जीएसटी ने व्यापार चैपट कर दिया, तमाम उद्योगपति देश छोड़कर विदेश भाग गए। ऐसे में देश में खुशहाली कैसे आएगी? चायवाला चैकीदार बन गया है उसकी चैकी छीन लेनी है, साथ ही ठोको नीति चलाने वाली राज्य सरकार को भी सत्ता से बेदखल करना है। गठबन्धन जब नया प्रधानमंत्री चुनेगा तभी नया भारत बनेगा।
अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा नेतृृत्व गठबन्धन से घबराया है। सपा-बसपा-रालोद का गठबन्धन सामाजिक न्याय, गरीबों और किसानों का गठबन्धन है। अब सातवें चरण का चुनाव है। अब तक के चुनाव में जनता भाजपा का सफाया कर चुकी है। अगले चरण में भाजपा का पूरी तरह से सफाया हो जाएगा। उन्होने कहा मोदी के गलत फैसलों से देश तबाह हो गया। उनकी नीतियां पूरी तरह फेल हो गई है। करोड़ो लोग बेरोजगार हो गए है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

Lockdown: उत्तर प्रदेश में जल्द शुरू हो सकती है शराब की बिक्री

Published

on

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार ने शराब और बीयर के उत्पादन की अनुम​ति प्रदान कर दी है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि इस पर समीक्षा बैठक के बाद प्रदेश में जल्द ही शराब और बीयर की दुकान खोलने के भी आदेश जारी किये जा सकते हैं। 

राज्य सरकार ने बीते दिनों पूर्व वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए आबकारी नीति घोषित की थी। इस दौरान देशी शराब की दुकान की पिछले साल के मुकाबले इस साल बेसिक लाइसेंस फीस 10 प्रतिशत, अंग्रेजी शराब की दुकान में 20 प्रतिशत और बीयर की दुकान की 15 प्रशित बेसिक लाइसेंस फीस को बढ़ाने का फैसला लिया था। 

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के दौरान गुटखा सिगरेट के होलसेलर व्यापारी के घर हुई छापेमारी


अब इस नई नीति के तहत सरकार ने यह फैसला लिया है कि अंग्रेजी शराब की दुकान, मॉडल शॉप, बीयर की दुकानों पर वाइन की बिक्री की जाएगी। इसके अलावा नये वित्तीय वर्ष अप्रैल माह से हर शराब व बीयर की दुकानों पर पीओएस (प्वाइंट आफ सेल) मशीनों द्वारा हर बोतल पर चस्पा क्यूआर कोड को स्कैन करके बेचा जाना अनिवार्य कर दिया गया लेकिन प्रदेश में फैले कोरोना वायरस के चलते लगे लॉकडाउन के कारण ऐसा हो नहीं पाया। अब सरकार ने शराब उत्‍पादन की अनुमति देकर अपने इरादे जाहिर कर दिए हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

लॉकडाउन: योगी सरकार ने 11 प्रकार के उद्योग चलाने की दी अनुमति

Published

on

लखनऊ। प्रदेश में लॉकडाउन जारी है। इसी बीच प्रदेश में थम चुकी इकॉनमी रफ्तार को गति देने के लिए योगी सरकार ने 20 अप्रैल से आवश्यक सेवाओं के साथ 11 तरह के उद्योगों को संचालित कराने की सशर्त अनुमति दी है। वहीं उद्योग संस्थानों का सैनिटाइजेशन करना होगा। साथ ही आधे कर्मचारी ही काम करेंगे। उन्हें मास्क लगाना अनिवार्य होगा। वहीं सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करना होगा। इस बाबत मुख्य सचिव आरके तिवारी ने प्रदेश के सभी डीएम को पत्र लिखा है।

यह भी पढ़ें-महापौर संयुक्ता भाटिया ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर जाना लखनऊ का हाल

योगी सरकार ने 11 संचालित उद्योगों में स्टील, रिफाइनरी, सीमेंट, रसायन, उर्वरक उद्योगों, वस्त्र उद्योग (परिधान को छोड़कर), फाउंड्रीज, पेपर, टायर, चीनी मिलों को चलाने की अनुमति मिली है। कॉमन एफ्लूएंट ट्रीटमेंट प्लांट को भी संचालित किया जा सकेगा। प्रथम चरण में केवल इकाइयों को चलाने की अनुमति प्रतिबंधों के साथ दी गई है। प्रधान, प्रशासनिक कार्यालयों को खोलने की अनुमति नहीं होगी।

हॉटस्पॉट क्षेत्रों में अनुमति नहीं

मुख्य सचिव ने निर्देश दिया है कि हॉटस्पॉट क्षेत्रों में इकाइयां चलाने की अनुमति लागू नहीं होगी। औद्योगिक परिसर स्थल का गाइड लाइन के अनुसार सैनिटाइजेशन कराया जाएगा। श्रमिकों की संख्या के अनुसार स्क्रीनिंग थर्मल स्कैनर से की जाए। इकाई पर सैनिटाइजर मास्क व पानी की व्यवस्था रखने के निर्देश दिए गए हैं। जिला प्रशासन और चिकित्सा विभाग गाइडलाइन पालन सुनिश्चित किया जाएगा। किसी भी कर्मी को संक्रमण के लक्षण दिखाई देने पर जिला प्रशासन को करना तत्काल सूचित करना होगा।

संक्रमण के लक्षण दिखते ही देनी होगी सूचना

केंद्र ने इन उद्योगों को संचालित करने का निर्देश दिया था। जिसमें ऑप्टिक फाइबर केबल, कंप्रेसर एंड कंडेंसर इकाइयां, इस्पात और फेरस एलॉय मिल, पावरलूम, पल्प और कागज इकाइयां, उर्वरक, पेंट, प्लास्टिक, वाहन इकाइयां, रत्‍‌न एवं आभूषण और सेज व निर्यात से जुड़ी कंपनियों को काम की अनुमति केंद्र सरकार द्वारा दी गई है। ट्रांसफॉर्मर व सर्किट व्हीकल, टेलीकॉम इक्विपमेंट व कंपोनेंट और खाद्य व पेय पदार्थो से जुड़े उद्योग भी काम कर सकेंगे। वहीं कहा गया है कि किसी भी कर्मी को संक्रमण के लक्षण दिखाई पड़े तो तुरन्त जिला प्रशासन को इस बारे में सूचित करें।

Continue Reading

प्रदेश

पत्नी की मौत से आहत युवक ने बेटे को फांसी पर लटका कर की खुदकुशी

Published

on

लखनऊ। कानपुर के हरबंस मोहाल में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब पत्नी की मौत से आहत पति ने अपने बेटे को फांसी के फंदे पर लटका दिया और फिर खुद भी फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस व फोरेंसिक एक्सपर्ट जांच पड़ताल में जुट गई है।

हरबंस मोहाल थाना क्षेत्र के रहने वाले हेमंत कनोडिया की पत्नी की दो महीने पहले बीमारी के चलते मौत हो गई थी। बताया जा रहा है कि पत्नी की मौत के बाद हेमंत डिप्रेशन में चला गया था। इसी डिप्रेशन के चलते हेमंत ने अपने आठ साल के बेटे अनय को पहले फांसी के फंदे पर लटका दिया और उसके बाद खुद भी फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

यह भी पढ़ें-गाजियाबाद : तीन दिन में केवल 3 कोरोना संदिग्धों की आई जांच रिपोर्ट, 547 पेंडिंग

हेमंत के भाई प्रभात कनोडिया ने बताया कि होली के पहले इनकी पत्नी की मौत हो गई थी, जिसके बाद से ये डिप्रेशन में रहने लगे थे। इनको डिप्रेशन से बाहर निकालने के लिए काम करने को कहा गया, लेकिन लॉकडाउन हो गया, जिससे ये घर पर ही रह गए। उनका कहना है कि कल से इनका फोन बंद चल रहा था, जिसपर सुबह जब घर पहुंचे, तब जानकारी मिली कि उन्होंने फांसी लगा ली है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 17, 2020, 8:50 am
Sunny
Sunny
30°C
real feel: 37°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 69%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 4
sunrise: 5:10 am
sunset: 6:02 pm
 

Recent Posts

Trending