Connect with us

प्रदेश

केंद्र और राज्य सरकार से मिले एक-एक पैसे का हिसाब लेगा ‘कैग’

Published

on

कई योजनाएं आ सकती हैं जांच के दायरे में 

नई दिल्ली । गाजियाबाद में नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) सूबे में विभिन्न योजनाओं के नाम पर किए गए जमीन अधिग्रहण की जांच के साथ ही केंद्र और राज्य सरकार से विभिन्न योजनाओं के लिए मिलने वाली धनराशि की पाई-पाई का हिसाब लेगा । इसके लिए भू-अर्जन विभाग से जानकारी मांगी गई है । इसके साथ ही मुआवजा वितरण में लगाए गए कर्मचारियों की सूची भी तलब की गई है । इससे ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) से जुड़ी योजनाएं जांच के दायरे में आ सकती हैं । भूमि अध्याप्ति निदेशक दिग्विजय सिंह ने गाजियाबाद सहित कई जिलों के जिलाधिकारियों से पिछले पांच साल के दौरान विभिन्न योजनाओं के लिए अधिग्रहीत की गई जमीन के दस्तावेज मांगे हैं । यह रिकॉर्ड कैग को दिया जाना है, ताकि जमीन से जुड़ी जांच हो सके ।

पकड़ में आया 25 करोड़ का घोटाला 

मंडलायुक्त डॉ. प्रभात कुमार ने गाजियाबाद में दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे समेत कई योजनाओं की जांच कराई थी । जिसमें दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे में 25 करोड़ रुपये का घोटाला पकड़ में आया है । कैग टीम जमीन ही नहीं बल्कि विभिन्न योजनाओं के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार से मिले पैसे का भी हिसाब लेगी । भू-अर्जन विभाग से पांच साल के दौरान मिलने पैसे की जानकारी मांगी गई है ।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

राजधानी में दिखी करवाचौथ की धूम, मेहंदी रचाने के लिए कतारों में खड़ी रहीं महिलाएं

Published

on

करवाचौथ

फाइल फोटो

लखनऊ। आज देशभर में करवाचौथ का त्योहार बड़े धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। यह व्रत सभी महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए रखती हैं। महिलाएं करवाचौथ का व्रत पूरा दिन बिना पानी पिए संपन्न करती हैं।

करवाचौथ

बता दें करवाचौथ की धूम सिर्फ देशभर में ही नहीं बल्कि राजधानी में भी देखने को मिली। करवाचौथ के व्रत को लेकर महिलाओं के बीच एक अलग सा उत्साह देखने को मिला है। देर रात महिलाओं और लड़कियों ने बाजार में सजी मेहंदी की दुकानों पर मेंहदी रचाती नजर आईं।

कपूरथला, हजरतगंज और गोमतीनगर में मेहंदी के दुकानों पर महिलाओं की भारी भीड़ देखने को मिली है। भीड़ की वजह से मेंहदी लगाने के लिए घंटों-घंटों कतारों में भी खड़ी रहीं।

ये भी पढ़ें:लड़कियां बॉयफ्रेंड के लिए भी रख सकती हैं करवाचौथ का व्रत, लेकिन इस तरह करें पूजा…

इस त्योहार की खुशी बरकरार रहे इसकी वजह से पुलिस प्रशासन भी काफी एक्टिव नजर आई। इस तरह महिलाओं की सुरक्षा के लिए अलीगंज पुलिस ने चाक चौबंद इंतेज़ाम किए गए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

रायबरेली: नरेश स्वीट हाउस और सोमू ढाबा में चला ताबड़तोड़ बुलडोजर

Published

on

रायबरेली : बहुचर्चित आदित्य सिंह उर्फ रवि हत्याकांड मामले में नामजद ढाबा संचालक सुरेश यादव के ढाबे पर जिला प्रशासन ने अतिक्रमण की मार शुरू कर दी है। लगभग 10 थानों की पुलिस फोर्स के साथ पीएसी भी मौके पर मौजूद होकर अतिक्रमण वाले हिस्सों को ढहा दिया। साथ ही साथ उसके बगल में शबे नरेश स्वीट्स पर भी अतिक्रमण का डण्डा चलाकर उसके अतिक्रमण वाले भाग को भी ढहा दिया गया।

जिलाधिकारी के आदेश पर हुई यह बड़ी कार्यवाही जिलाधिकारी के आदेश पर एसडीसम सदर शशांक त्रिपाठी ने आज सुबह पांच बजे पुलिस बल की मौजूदगी में सोमू ढाबे के साथ साथ अतिक्रमण की जद में पाए गए नरेश स्वीट्स पर पीला पंजा चलवा दिया। इस कार्यवाही को देखने के लिए भारी संख्या में लोगो की मौजूदगी भी देखने को मिली। आपको बता दे कि मिलएरिया थाना क्षेत्र के रतापुर चौराहे पर स्थित सोमू ढाबेके मालिक व उनके कर्मचारियों पर रवि हत्या कांड का आरोप था जिसमे कल ही पुलिस ने सुरेश यादव समेत सात लोगों को जेल भेजा था पर मृतक के परिजनों की मांग पर जब ढाबे की नापजोख करवाई गई तो उसमे अतिक्रमण पाया गया जिसके बाद जिला अधिकारी के आदेश पर आज यह बड़ी कार्यवाही की गई।

रवि सिंह हत्याकाण्ड की निष्पक्ष जांच की मांग
शहर में हुए चर्चित आदित्य सिंह उर्फ रवि सिंह हत्याकांड की कड़ी निंदा करते हुए इंकलाबी नौजवान सभा (इनौस) के जिला संयोजक उदय भान चौधरी ने इस प्रकरण की विवेचना की जांच किसी निष्पक्ष जांच एजेंसी से कराने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि आज इस हत्याकांड में आज प्रशासन चाहे जितनी भी बड़ी-बड़ी बातें करें किंतु उसका नकारापन जगजाहिर हो गया है। हत्याकांड की घटना से 20 मीटर की दूरी पर तैनात पुलिसकर्मियों के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई न किए जाने व भारी जन दबाव के बाद प्रशासन के हरकत में आने से यह स्पष्ट हो जाता है कि प्रशासन कितना ईमानदार है। उन्होंने आगे कहा कि इस हत्याकांड को जिस तरह से कुछ लोग जातीय गोलबंदी के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं यह निंदनीय है। उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा कि साल भर में दर्जनों हत्या व बलात्कार की जघन्य घटनाएं कि इसी जनपद में हुई किंतु उन पीडि़त परिवारों को न्याय के लिए कभी भी किसी ने कोई आवाज नहीं उठाई और आज न्याय के नाम पर जातीय गोलबंदी का खेल खेला जा रहा है। अंत में कहा कि जनपद के अमन पसंद लोगों से अपील की कि जातीय नफरत फैलाने वाले लोगों से सावधान रहते हुए हर तरह के अन्याय के विरुद्ध गोलबंद होकर संघर्ष के लिए तत्पर रहें।

Continue Reading

प्रदेश

सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले अयोध्या छावनी में तब्दील…

Published

on

लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या के मंदिर-मस्जिद जमीन विवाद मामले की सुनवाई बुधवार को पूरी हो गई है। वही फैसला आने से पहले अयोध्या पूरी तरह से छावनी में तब्दील हो चुका है। हालांकि यहां हमेशा ही हाई सिक्योरिटी रहती है। लेकिन इस बार हालात ज्यादा अति संवेदनशील है। इसी के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी, डीजीपी ओपी सिंह सहित कई बड़े अफसर बराबर दौरा कर रहे हैं। अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जिला प्रशासन सतर्क हो गया है। विवादित क्षेत्र की कमान संभाले के लिए सीआरपीएफ के जवानों को तैनात कर दिया गया है। बाहर से आने हर व्यक्ति आने-जाने वाले हर व्यक्ति पर नजर रखी जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, विवादित क्षेत्र की तरफ जाने वाली सभी मार्गों पर बैरियर गिरा दिए गए हैं। बाहरी वाहनों को क्षेत्र के अंदर आने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। पूरे नगर के अंदर आने वाले सभी एंट्री पॉइंट्स पर लोगों की तलाशी ली जा रही है। सूत्रों के मुताबिक, दीपोत्सव और फैसले के मद्देनजर बुधवार से ही डबल सिक्यॉरिटी प्लान का खाका खींचा जाने लगा है। हर आने-जाने वाले लोगों का परिचय पत्र देखा जा रहा है।

बता दें कि सुरक्षा के लिहाज से अयोध्या को तीन जोन में बांटा गया है – रेड जोन, यलो जोन और ब्लू जोन। रेड जोन में विवादित स्थल की सुरक्षा है। यहां सुरक्षाबल आधुनिक हथियारों, वॉच टॉवर, ड्रोन कैमरों और सीसीटीवी से लैस हैं। अयोध्या में दाखिल होने के सभी रास्तों, घाटों और सरयू नदी के तट की निगरानी के लिए सैकड़ों सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। अयोध्या में दाखिल होने वाले सभी प्रवेश द्वारों पर बैरिकेडिंग की गई है। सुरक्षा व्यवस्था के लिए पीएसी की 47 कंपनियां तैनात हैं। जल्द ही पीएसी की 200 कंपनियां और अर्द्धसैनिक बल और तैनात किए जाएंगे। अयोध्या जिले में 10 दिसंबर तक धारा 144 लगा दी गई है। धारा 144 लागू होने से प्रशासन ने सार्वजनिक स्थल पर टीवी डिबेट पर रोक लगा दी है। क्षेत्र के सभी लोगों को अपना परिचय पत्र साथ में रखकर चलने की हिदायत दी गई है। जिन वाहनों का एंट्री पास बना है, उन्हें ही चेकिंग के बाद आने दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:- अयोध्या फैसले से पहले सरकार की तैयारी, 30 नवम्बर तक सभी अफसरों की छुट्टियां रद्द

सीओ अमर सिंह ने बताया कि रेड जोन में चेकिंग कराने का मुख्य उद्देश्य है कि कोई बाहरी अराजक तत्व अयोध्या में एंट्री ना कर पाए। उन्होंने बताया कि डॉग स्क्वॉड की टीमों को अयोध्या के प्रमुख स्थलों पर लगाया गया है। खुफिया संगठन होटल, धर्मशाला आदि जगहों पर चेकिंग कर रहे है। पुलिस फोर्स को सतर्क रहने को कहा गया है। उन्होंने बताया अयोध्या में पूरी तरह शांती है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 17, 2019, 11:52 am
Partly sunny
Partly sunny
30°C
real feel: 34°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 51%
wind speed: 1 m/s SE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 5
sunrise: 5:36 am
sunset: 5:07 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending