Connect with us

क्राइम-कांड

 मरीज की मौत के बाद अस्पताल में मारपीट के साथ हुई तोड़फोड़, लापरवाही का लगा आरोप

Published

on

 

लखनऊ । राजधानी में आये दिन मरीजों की मौत के बाद प्राइवेट अस्पतालों पर लापरवाही का आरोप लगता रहता है । साथ ही हंगामा और तोड़फोड़ भी देखने को मिलती रहती है । ऐसी ही एक घटना मड़ियांव थाना क्षेत्र स्थित ताड़ीखाने क्रासिंग के पास एक प्राइवेट अस्पताल में हुआ जहां एक मरीज की मौत के बाद परिजनों और उनके साथ मौजूद लोगों ने हंगामा काटते हुए अस्पताल में मौजूद डॉक्टर और कर्मचारियों को मारने पीटने लगे साथ ही तोड़फोड़ भी शुरू कर दी । वहीं तोड़फोड़ होने के दौरान उसमें भर्ती मरीज को भी बाहर भागने पर मजबूर होना पड़ा और वो बाहर रोड पर बैठ कर हंगामा खत्म होने का इंतिजार कर रहें थे और उस मरीज की हालत भी गंभीर दिख रही थी क्योंकि अभी कुछ दिनों पहले ही उस मरीज का ऑपरेशन हुआ था । जिसकी सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत कराते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और कार्रवाई में जुट गई है ।

पूरा मामला मड़ियांव थाना क्षेत्र स्थित ताड़ीखाना के पास सेंट्रल नर्सिंग होम अस्पताल का है जहां पर क्वीन मेरी अस्पताल से डिस्चार्ज के बाद ही इस अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां आज डॉक्टरों ने तीमारदारों से ब्लड की कमी होने की बात कहकर ब्लड लाने को कहा लेकिन उसके आने से पहले ही शुक्रवार की रात लगभग 10:45 पर मौत हो गई । जिसकी जानकारी पाते ही परिजनों और उसके साथ मौजूद लोगों ने अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए तोड़फोड़ शुरू कर दी । सूचना पाते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत कराते हुए तीमारदार की तहरीर लेकर मामले को शांत कराया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया ।

मृतिका के बेटे दीपक कुमार ने बताया कि जब उसने अपनी मां मीना को अस्पताल में भर्ती कराया था तब उसकी हालत ठीक थी लेकिन आज सुबह डॉक्टरों ने ब्लड चढ़ाने की बात कही थी तभी ब्लड की व्यवस्था करने गए थे लेकिन उसके बाद ही खबर आई कि उसकी मां की मौत हो गई । जिसके बाद आरोप लगाते हुए कहा कि डॉक्टरों की लापरवाही और सही इलाज ना कर पाने के कारण ही उसकी मां की मौत हुई है । साथ ही उसने कहा कि जब उसने डॉक्टर से पूछना चाहा तो डॉक्टर ने फोन कर कई लोगों को अस्पताल बुला लिया और उन लोगों ने उससे मारपीट की । जिसके बाद ही दीपक कुमार ने अस्पताल में तोड़फोड़ शुरू कर दी ।

यहां भी पढ़ें : लोगों के लिए प्रेरणादायक है व्यावसायिक गतिविधियों को सामाजिक कार्य से जोड़नाः महापौर

वहीं डॉक्टर परवेज का कहना है कि मरीज पहले से ही काफी सीरियस हालत में था जिसको क्वीन मेरी से डिस्चार्ज कर दिया गया था । उसके बाद ही मरीज के परिजनों के काफी कहने पर ही मरीज को भर्ती किया गया साथ ही उनसे कई बार क्वीन मेरी में भर्ती करवाने की बात कही जा रही थी और मरीज को ब्लड की भी काफी कमी थी । जिसके लिए तीमारदारों से ब्लड लाने की बात कही थी लेकिन ब्लड चढ़ाने से पहले ही मरीज की मौत हो गई । साथ ही बताया मरीज की मौत के बाद तीमारदारों ने अस्पताल के कर्मचारियों के साथ ही डॉक्टर को भी मारा पीटा और अस्पताल में भी तोड़फोड़ की , जिसके कारण ही भर्ती मरीज को बाहर भागना पड़ा ।

भर्ती मरीज रजिया का कहना है कि उसका अभी कुछ दिनों पहले ही ऑपरेशन हुआ है और जिस मरीज की मौत के बाद हंगामा और तोड़फोड़ की गई उसकी हालत पहले से ही गंभीर थी । जिसकी आज मौत होने पर अस्पताल में तोड़फोड़ और मारपीट की गई है । जिसके बाद ही उसकी मां उसको लेकर अस्पताल के बाहर भाग आई । http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्राइम-कांड

आवारा जानवर हैं या इंसान! कुतिया के साथ रेप की घटना ने सोचने पर कर दिया मजबूर

Published

on

मुंबई। सड़क पर इधर-उधर घूमने वाले जानवरों को अक्सर आवारा कहकर बुलाया जाता है। लेकिन कुछ घटनाएं ऐसी होती हैं जिन्हें देख-सुन मन सोच में पड़ जाता है कि आवारा जानवर हैं या इंसान। महाराष्ट्र के नवी मुंबई के खारगर इलाके में एक व्यक्ति को कुतिया के साथ रेप करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

दरअसल, आरोपी का एक वीडियो स्वतंत्रता दिवस के दिन वायरल हुआ था। वीडियो में दिख रहा था कि आरोपी अपना प्राइवेट पार्ट कुतिया के मुंह में डाल रहा है और उसकी पिटाई भी कर रहा है। वीडियो के वायरल होने के बाद वन्‍यजीवों के लिए काम करने वाली संस्‍था ‘पीटा’ के सहयोग से एनिमल एक्टिविस्‍ट विजय रंगारे ने रेप के आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। आरोपी को पुलिस ने एरेस्ट भी कर लिया है।

पीटा ने आरोप लगाया है कि यह व्यक्ति पहले भी इस तरह की घिनौनी वारदातों को अंजाम दे चुका है। रंगारे ने कुतिया की भी तलाश कर उसका मेडिकल परीक्षण कराया है। यदि रिपोर्ट में रेप की बात साबित हो गई तो आरोपी को 10 साल तक की सजा हो सकती है। फिलहाल आरोपी पर भारतीय दंड संहिता की धारा 377 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

ये भी पढ़ें: मंदी के बावजूद सोने में बंपर निवेश, जानिए क्यों!

बता दें, यह कोई पहली बार नहीं है जब जानवरों को साथ इस तरह का घिनौना काम करते कोई पकड़ा गया है। कई बार ऐसी खबरें आ चुकी है जहां लोगों ने बकरी, गाय और अन्य जानवरों के साथ आप्राकृतिक संबध बनाया है। मनोचिकत्सकों की मानें तो पशुओं के साथ रेप करने वाला व्यक्ति मानसिक रूप से काफी डिस्टर्ब होता है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

तालकटोरा पुलिस व क्राइम ब्रांच ने अंतर्राज्यीय ठग गैंग को दबोचा

Published

on

लखनऊ। राजधानी पुलिस ने शुक्रवार को ठगी करने वाले अंतर्राज्यीय गैंग का पर्दाफाश किया है। ये गैंग प्रशासनिक एवं न्यायिक अधिकारी बनकर लोगों को ठगता था। एसटीएफ समेत कई प्रदेशों की पुलिस इनके पीछे पड़ी थी। एसएसपी कलानिधि नैथानी के निर्देश पर क्राइम ब्रांच व तालकटोरा पुलिस की संयुक्त टीम ने इस गैंग के तीन ठगों को धरदबोचा है।

दरअसल, ये ठग वरिष्ठ प्रशासनिक व न्यायिक अधिकारी बनकर संबंधित विभाग के जूनियर अधिकारी और ठेकेदारों को फोन कर उनसे रुपये जमा कराते थे। इसके लिए वे इंटरनेट पर प्रदर्शित नाम और नंबर का इस्तेमाल करते थे। इसी तरह उन्होंने यूपी पावर कारपोरेशन के चेयरमैन आलोक कुमार के नाम पर बिजली ठेकेदारों से 10 लाख की उगाही की। ये लोग यह कार्य कई सालों से करते आ रहे थे। इनकी तलाश बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, राजस्थान पुलिस और एसटीएफ कर रही थी।

पुलिस ने बहुत ही सूझबूझ के साथ इन ठगों को ट्रैक किया और शुक्रवार को इन्हें गिरफ्तार करने में कामयाब रही है। इनके पास से 20 हजार की नकदी, चार मोबाइल, फर्जी वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड और एचडीएफसी का एटीएम कार्ड बरामद किया गया है। पकड़े गए आरोपियों के नाम सत्यदेव उर्फ पिंटू बाबू, राम कुमार उर्फ रामू और प्रशांत कुमार उर्फ मिट्ठू हैं। यह सभी बिहार के मुजफ्फरपुर और उसके आसपास के ही रहने वाले हैं।

ये भी पढ़ें: राजा भैया ने जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी के पहले प्रदेश कार्यालय का किया उद्घाटन

बता दें, इनको गिरफ्तार करने के लिए अलग-अलग टीमें गठित की गईं थीं। आरोपियों को दबोचने में क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर अखिलेश पांडेय, इंस्पेक्टर अंजनी कुमार पांडेय और साइबर क्राइम सेल के कांस्टेबल अखिलेश कुमार की अहम भूमिका रही। गिरफ्तार करने वाली टीम को एसएसपी लखनऊ ने 25 हजार रुपये के पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

विरोध करने पर पशु तस्करों ने युवक को उतारा मौत के घाट…

Published

on

प्रतिकात्मक चित्र

उत्तर प्रदेश। पीलीभीत से इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक गांव मोहनपुर में जब एक युवक ने पशु तस्करों का विरोध किया तो उन लोगों ने उसे मौत के घाट उतार दिया।

मिली जानकारी के अनुसार  मोहनपुर गांव के रहने वाले सोनपाल उर्फ सोनू अपने घर के बाहर देखा कि कुछ तस्कर अपने वाहन में आवारा पशुओं को भर रहे थे। इसके बाद सोनू व परिवार के लोगों ने इसका जमकर विरोध किया। इससे गुस्साए तस्करों ने तमंचा निकाला और सोनू के सीने में गोली मार दी। इसके बाद वे सभी तस्कर मौके से फरार हो गए। घटना के बाद आसपास के गांव में भी हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने पूरे थाना क्षेत्र की नांकेबंदी करा दी। हालांकि, घटना को अंजाम देने वाले अज्ञात बदमाश नहीं मिल सके। फिलहान पुलिस बदमाशों की तलाश कर रही है।

यह भी पढ़ें: राजस्थान: पुलिस ने 1 करोड़ रुपए का गांजा बरामद कर दो आरोपी किए गिरफ्तार

वहीं गोली लगने के बाद सोनू को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया जहां उसकी मौत हो गई. इसके अलावा एक अन्य साथी युवक भी घायल हो गया. घटना से परिवार में कोहराम मच गया। मृतक तीन भाई था। उसके बड़े भाई बांकेलाल ने थाने में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 24, 2019, 4:03 am
Thunderstorms
Thunderstorms
26°C
real feel: 32°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 100%
wind speed: 3 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:12 am
sunset: 6:05 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending