Connect with us

क्राइम-कांड

 मरीज की मौत के बाद अस्पताल में मारपीट के साथ हुई तोड़फोड़, लापरवाही का लगा आरोप

Published

on

Featured Video Play Icon
clickretina digital marketing company
clickretina digital marketing company

 

लखनऊ । राजधानी में आये दिन मरीजों की मौत के बाद प्राइवेट अस्पतालों पर लापरवाही का आरोप लगता रहता है । साथ ही हंगामा और तोड़फोड़ भी देखने को मिलती रहती है । ऐसी ही एक घटना मड़ियांव थाना क्षेत्र स्थित ताड़ीखाने क्रासिंग के पास एक प्राइवेट अस्पताल में हुआ जहां एक मरीज की मौत के बाद परिजनों और उनके साथ मौजूद लोगों ने हंगामा काटते हुए अस्पताल में मौजूद डॉक्टर और कर्मचारियों को मारने पीटने लगे साथ ही तोड़फोड़ भी शुरू कर दी । वहीं तोड़फोड़ होने के दौरान उसमें भर्ती मरीज को भी बाहर भागने पर मजबूर होना पड़ा और वो बाहर रोड पर बैठ कर हंगामा खत्म होने का इंतिजार कर रहें थे और उस मरीज की हालत भी गंभीर दिख रही थी क्योंकि अभी कुछ दिनों पहले ही उस मरीज का ऑपरेशन हुआ था । जिसकी सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत कराते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और कार्रवाई में जुट गई है ।

पूरा मामला मड़ियांव थाना क्षेत्र स्थित ताड़ीखाना के पास सेंट्रल नर्सिंग होम अस्पताल का है जहां पर क्वीन मेरी अस्पताल से डिस्चार्ज के बाद ही इस अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां आज डॉक्टरों ने तीमारदारों से ब्लड की कमी होने की बात कहकर ब्लड लाने को कहा लेकिन उसके आने से पहले ही शुक्रवार की रात लगभग 10:45 पर मौत हो गई । जिसकी जानकारी पाते ही परिजनों और उसके साथ मौजूद लोगों ने अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए तोड़फोड़ शुरू कर दी । सूचना पाते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत कराते हुए तीमारदार की तहरीर लेकर मामले को शांत कराया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया ।

मृतिका के बेटे दीपक कुमार ने बताया कि जब उसने अपनी मां मीना को अस्पताल में भर्ती कराया था तब उसकी हालत ठीक थी लेकिन आज सुबह डॉक्टरों ने ब्लड चढ़ाने की बात कही थी तभी ब्लड की व्यवस्था करने गए थे लेकिन उसके बाद ही खबर आई कि उसकी मां की मौत हो गई । जिसके बाद आरोप लगाते हुए कहा कि डॉक्टरों की लापरवाही और सही इलाज ना कर पाने के कारण ही उसकी मां की मौत हुई है । साथ ही उसने कहा कि जब उसने डॉक्टर से पूछना चाहा तो डॉक्टर ने फोन कर कई लोगों को अस्पताल बुला लिया और उन लोगों ने उससे मारपीट की । जिसके बाद ही दीपक कुमार ने अस्पताल में तोड़फोड़ शुरू कर दी ।

यहां भी पढ़ें : लोगों के लिए प्रेरणादायक है व्यावसायिक गतिविधियों को सामाजिक कार्य से जोड़नाः महापौर

वहीं डॉक्टर परवेज का कहना है कि मरीज पहले से ही काफी सीरियस हालत में था जिसको क्वीन मेरी से डिस्चार्ज कर दिया गया था । उसके बाद ही मरीज के परिजनों के काफी कहने पर ही मरीज को भर्ती किया गया साथ ही उनसे कई बार क्वीन मेरी में भर्ती करवाने की बात कही जा रही थी और मरीज को ब्लड की भी काफी कमी थी । जिसके लिए तीमारदारों से ब्लड लाने की बात कही थी लेकिन ब्लड चढ़ाने से पहले ही मरीज की मौत हो गई । साथ ही बताया मरीज की मौत के बाद तीमारदारों ने अस्पताल के कर्मचारियों के साथ ही डॉक्टर को भी मारा पीटा और अस्पताल में भी तोड़फोड़ की , जिसके कारण ही भर्ती मरीज को बाहर भागना पड़ा ।

भर्ती मरीज रजिया का कहना है कि उसका अभी कुछ दिनों पहले ही ऑपरेशन हुआ है और जिस मरीज की मौत के बाद हंगामा और तोड़फोड़ की गई उसकी हालत पहले से ही गंभीर थी । जिसकी आज मौत होने पर अस्पताल में तोड़फोड़ और मारपीट की गई है । जिसके बाद ही उसकी मां उसको लेकर अस्पताल के बाहर भाग आई । http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अपना शहर

बेखौफ बदमाशों ने किया दो सगी बहनों की अस्मत लूटने प्रयास, महिला सुरक्षा के दावे निकले कोरे

Published

on

Featured Video Play Icon
clickretina digital marketing company
clickretina digital marketing company

लखनऊ। शहर में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सरकार केवल बड़े-बड़े दावे ही करती है, लेकिन हकीकत में महिलाओं की सुरक्षा परियों की कहानी सरीखी हैं। बंथरा थानाक्षेत्र के अमावां गांव में रहने वाले एक परिवार का आरोप है कि होली के दिन बेखौफ बदमाशों ने जबरन रंग लगाने के नाम पर दो सगी बहनों की अस्मत लूटने की घटना सामने आई है ।

यह है पूरा मामला:

बंथरा थानाक्षेत्र के अमावां गांव में होली के दिन कुछ दबंग एक परिवार से कहासुनी के बाद मारपीट पर उतारू हो गये और जान से मारने की धमकी भी दे डाली। परिवार को बचाने के लिए जब दो बहनें सामने आई तो बदमाशों ने उनके साथ छेड़छाड़ की और उनके कपड़े भी फाड़ दिए। उसी गांव के रहने वाले राहुल, मलोले और खलोले दबंगों ने जब युवतियों के साथ छेड़छाड़ की तब उनके पिता ने यह सब देख तुरंत बीच–बचाव का प्रयास किया। लेकिन बदमाशों ने अपनी दबंगई दिखाते हुए उल्टा युवतियों के पिता की जमकर पिटाई की जिससे वह बेहोश हो गए । यह घटना दोपहर की होली के दिन की है, जिसमें मदद के नाम पर लोगों ने अपनी जिम्मेदारी तक नहीं निभाई । आरोपियों के खिलाफ इस पूरी घटना की जानकारी बुजुर्ग पिता ने पुलिस को देनी चाही तो दो घंटे तक थाने के बाहर तड़पने के बाद भी पुलिस ने एक भी न सुनी ।

बता दें की पुलिस द्वारा मामला न सुने जाने पर दोनों पीड़ित सगी बहनें बुजुर्ग पिता के साथ इलाके के समाजसेवियों का दरवाजा खट-खटा रही है। बदमाशों की करतूत बताकर बुजुर्ग पिता-बिलख बिलखकर रो कर बेटियों के लिए इन्साफ की गुहार लगा रहे हैं। पांच दिन मामला दबाये रखने के बाद  समाजसेवियों के हस्तक्षेप व स्थानीय नेताओं के दबाव में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामले को दर्ज किया। लेकिन अभी भी इस मामले को लेकर कोई भी कारवाई नहीं की जा रही है। जानकारी के अनुसार कैंट थाना क्षेत्र स्थित शारदानगर इब्राहिमपुर की घटना के बाद यह दूसरी बड़ी घटना सामने आई है ।

बेखौफ बदमाशों ने असलहा लहराकर दिखाई दबंगई :

घटना के बाद मामला बढ़ता देख दबंग घर की छत से असलहा लहराकर  धमकी देते हुए भी नजर आएं। लोकसभा चुनाव के आदर्श आचार संहिता लगने के बाद भी बदमाशों में किसी भी तरह का खौफ देखने को नही मिल रहा है। जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल राज शर्मा के द्वारा लगातार असलहा हाजत करने का प्रयास जारी है। लेकिन इसके बावजूद मामले को दबाने के लिए अवैध तरीके से असलहा का दबंगों द्वारा दुरूपयोग किया जा रहा है ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

राजधानी में बाइक सवार लुटेरों का आतंक जारी, रोजाना बना रहे महिलाओं को निशाना

Published

on

clickretina digital marketing company
clickretina digital marketing company

सांकेतिक चित्र

लखनऊ। राजधानी में लुटेरों का आतंक अभी भी बरकरार है। लूटपाट से सम्बंधित एक घटना राजाजीपुरम के सपना कॉलोनी में हुई है, जिसमें कल देर शाम में एक महिला(माधुरी तिवारी) की सरेराह बदमाशों ने चैन लूट ली। हाईटेक बाइक सवार लुटेरे इतने शातिर और निडर थें कि पॉश इलाको में गश्त करने वाली पुलिस के सामने से फरार हो गए ।

लूटपाट की एक और घटना चिनहट के आदर्श नगर में हुई है। जिसमें महिला बैंककर्मी (साधना वर्मा) का मंगलसूत्र लूट कर बदमाश मौके देखते ही घटना स्थल से फरार हो गए। रविवार को भी गाजीपुर थाना क्षेत्र के ए-ब्लॉक से स्कूटी सवार बदमाशों ने महिला से पर्स लूट की वरादत को अंजाम दिया था। बाइक सवार लुटेरे ट्रांसगोमती, नार्थ और पश्चिमी इलाको में सबसे ज्यादा महिलाओं को निशाना बना कर लूटपाट की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। राह चलती महिलाओं से चैन और पर्स लूटपाट की घटनाएं रोजाना शहर में देखने को मिल रही है । अब लुटेरों का आतंक शहर में इतना अधिक बढ़ गया है, कि महिलाएं पूरी तरह से खुद को व खुद के समान को लेकर असुरक्षित महसूस करने लगी है । पुलिस को इस सक्रिय बाइक सवार लुटेरों के गैंग के बारे में तफ्तीश कर लोगों की सुरक्षा की ओर ध्यान देने की आवश्यकता है। http://www.satoydaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

साहू हत्याकांड मामले में बर्खास्त दोनों सिपाहियों ने बुर्का पहनकर कोर्ट में किया सरेंडर

Published

on

clickretina digital marketing company
clickretina digital marketing company

साहू हत्याकांड फाइल फोटो

लखनऊ । राजधानी में बीते वर्षाें हुए सआदमगंज थाना क्षेत्र में श्रवण साहू हत्याकांड के बर्खास्त आरोपी सिपाहियों ने आज खुद को फिल्मी अंदाज में कोर्ट में सरेंडर किया है । जिसमें पुलिस ने बीते दिनों अलीगंज से आरोपी दरोगा धीरेन्द्र शुक्ला को अलीगंज के सरकारी मकान से गिरफ्तार किया था । साथ ही सभी फरार चल रहे पुलिसकर्मियों पर 15-15 हजार का इनाम भी घोषित हुआ था । उसी मामले में आज बर्खास्त दोनों सिपाहियों ने नकाब पहनकर पुलिस को चकमा दिया और खुद को कोर्ट में सरेंडर कर दिया । जिसमें ये आरोपी 3 साल से पुलिस अधिकारियों को चकमा देकर घूम रहे थे और इनपर मास्टरमाइंड कुख्यात अकील अंसारी के साथ मिलकर बेगुनाहों को टार्चर कर फर्जी मामले में फंसाकर उसकी हत्या का आरोप लगा था जिसमें तत्कालीन एसएसपी मंजिल सैनी ने सभी को बर्खास्त किया था ।

यह भी पढ़ें :- बर्खास्त इनामी दरोगा चढ़ा पुलिस के हत्थे, चल रहा था सालों से फरार

पूरा मामला 16 अक्टूबर 2013 का है जब ठाकुरगंज कैम्पल रोड पर स्थित तेल व्यवसाई श्रवण साहू के बेटे आयूष की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी । जिसमें श्रवण साहू अपने बेटे का केस लड़ रहे थे तभी उनको फर्जी मामले में फंसाकर टार्चर किया जा रहा था जिसके बाद ही उनकी 1 फरवरी 2017 को गोली मारकर मौत की नींद सुला दी गई थी । तभी पुलिस के प्रति लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया था जिसके बाद ही तत्कालीन एसएसपी मंजिल सैनी ने मामले की जांच कर रहे सभी पुलिसकर्मियों पर एफआईआर दर्ज कर बर्खास्त कर दिया था । तभी से सभी आरोपी पुलिसकर्मी फरार चल रहे थे ।

http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

March 26, 2019, 3:41 pm
Sunny
Sunny
30°C
real feel: 30°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 24%
wind speed: 3 m/s WNW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 5:34 am
sunset: 5:50 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 7 other subscribers

Trending