Connect with us

प्रदेश

मुख्यमंत्री योगी कृषि खाद्य प्रसंस्करण और ऊर्जा विषय पर आधारित कार्यक्रम में हुए सम्मिलित

Published

on

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज अपनी रूस यात्रा के दूसरे दिन कृषि, खाद्य प्रसंस्करण एवं ऊर्जा विषय पर आधारित कार्यक्रम में भारतीय उद्यमियों के साथ हिस्सा लिया। सुदूर पूर्व रूस में भारत-रूस सहयोग के सम्बन्ध में आयोजित कार्यक्रम में रूस के जबाइकल्सकी क्राई क्षेत्र और उत्तर प्रदेश के मध्य कृषि और खाद्य प्रसंस्करण सेक्टर के तहत एक एम0ओ0यू0 पर हस्ताक्षर किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने कहा कि रूस के सुदूर पूर्वी क्षेत्र में लगभग 8 मिलियन हेक्टेयर क्षेत्र में कृषि एवं इससे जुड़े क्षेत्रों के विकास की व्यापक सम्भावनाएं मौजूद हैं, जो हम सभी के लिए निवेश के अवसर प्रदान करती हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि भारत तथा रूस के विगत सात दशकों से प्रगाढ़ सम्बन्ध रहे हैं। आजादी के तुरंत बाद भारत की प्रगति में रूसी सहयोग का बड़ा हाथ रहा है। रक्षा, औद्योगिक तथा परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में भारत को रूस का भरपूर सहयोग मिला है। यह कहना गलत नहीं होगा कि रूस और भारत की मित्रता वर्ष-प्रतिवर्ष प्रगाढ़ होती गई है तथा दोनों देश एक-दूसरे के स्ट्रेटजिक पार्टनर के रूप में स्थापित हुए हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पूरे देश की तरह उत्तर प्रदेश में भी इस सहयोग के अनेक उदाहरण मौजूद हैं। वर्ष 1968 में ओबरा तथा वर्ष 1971 में हरदुआगंज में सोवियत संघ के सहयोग से थर्मल पावर प्लाण्ट का निर्माण किया गया। रूसी कम्पनियों द्वारा टेहरी एवं कोटेश्वर हाईड्रोइलेक्ट्रिक प्लाण्ट के निर्माण में सहयोग प्रदान किया गया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कृषि एवं कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग के क्षेत्र में वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सी0एस0आई0आर0) तथा भारतीय कृषि अनुंसधान परिषद (आई0सी0ए0आर0) शीर्षस्थ शोध एवं विकास संस्थाएं भारत में स्थापित हैं। इनकी विशेषज्ञता एवं मार्गदर्शन, सुदूर पूर्वी रूस में कृषि चुनौतियों को दूर करने तथा कृषि के समेकित विकास की सम्भावनाओं के लिये रोड मैप तैयार करने में सहायक होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि भारत पशुधन के क्षेत्र में विश्व में प्रथम स्थान पर है। देश में पशुधन विकास के गतिविधियों को वृहद स्तर पर प्रोत्साहित किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में दुग्ध आधारित मूल्य सम्वर्द्धन एवं वैल्यू चेन के लिए आवश्यक आधारभूत सुविधाओं के विकास हेतु प्रभावी उपाय लागू किए गए हैं, जिससे किसानों को उनके उत्पाद का उचित मूल्य प्राप्त हो सके।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि देश में खाद्य प्रसंस्करण के स्तर को बढ़ाने, जन सामान्य को निरन्तर शुद्ध एवं पौष्टिक खाद्य प्रदार्थों की उपलब्धता बनाए रखने, फसलों की कटाई के उपरान्त क्षति को कम करने तथा किसानों के उत्पादों के उचित मूल्य की प्राप्ति के उद्देश्य से देश में बड़ी संख्या में मेगा फूड पार्कों समेत कोल्ड चेन स्थापित की जा रही है। इस प्रकार की तकनीकी कुशलता एवं संसाधनों के प्रबन्धन की जो विधा हमारे निवेशक अपनाते हैं, वह निश्चित रूप से सुदूर पूर्वी रूस में बेहतर उत्पादन एवं निवेश का सुनहरा अवसर प्रदान करेगी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश ऑफ-ग्रिड विकेन्द्रीकृत सौर प्रणाली संयंत्रों यथा सोलर स्ट्रीट लाइट, सोलर आर0ओ0 वाटर प्लाण्ट, सोलर पावर पैक, सोलर मिनी-ग्रिड पावर प्लाण्ट एवं सोलर हाई-मास्ट की स्थापना में अग्रणी है। सुदूर पूर्वी रूस के क्षेत्रों में सस्ती विद्युत आपूर्ति में उत्तर प्रदेश के ऑफ-ग्रिड विकेन्द्रीकृत सौर प्रणाली संयंत्र कारगर साबित हो सकते हैैं।

यह भी पढ़ें: अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंची चांदी, सोने का भाव गिरा

अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंची चांदी, सोने का भाव गिरार्यक्रम के दौरान केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल, रूस के उप प्रधानमंत्री श्री यूरी त्रुतनेव सहित रूस एवं भारत के कई उद्यमी तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

समाजवादियों को ‘एक’ करने के लिए मैं कोई भी त्याग करने को तैयार: शिवपाल यादव

Published

on

लखनऊ। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर समाजवादी पार्टी को फिर से ‘एक’ करने की इच्छा जाहिर की है। इटावा में संवाददाताओं के साथ बातचीत में पूर्व कैबिनेट मंत्री ने कहा, मेरी इच्छा है कि सभी समाजवादी फिर से एक हो जाएं। इसके मैं कोई भी त्याग देने को तैयार हूं। अखिलेश का नाम लिए बिना शिवपाल ने इशारे में कहा, मैंने तो 2022 की लड़ाई के लिए सब कुछ त्याग करने के लिए कह दिया है। लेकिन यदि सपा एक न हुई तो जनता जो फैसला करेगी, मैं उसका सम्मान करूंगा।

यह भी पढ़ें-भारत का एक ऐसा क्षेत्र जहां 15 नहीं बल्कि 16 अगस्त को मनाया जाता है स्वतंत्रता दिवस

प्रसपा नेता ने आज इटावा के चौधरी चरण सिंह डिग्री कॉलेज में ध्वजारोहण किया। स्वतंत्रता दिवस समारोह में अपने विचार रखते हुए शिवपाल ने कहा, तर्क, सहिष्णुता, मानवता की उर्वर जमीन पर हमारे लोकतंत्र का पौधा फले-फूले। स्वतंत्रता, समानता व बंधुत्व के मूल्य इसकी जड़ों को हमेशा उर्वरता देते रहें।

बता दें कि 2017 के विधानसभा चुनावों से पहले पार्टी की कमान के लिए अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल सिंह यादव के बीच जमकर विवाद हुआ था। जिसके बाद शिवपाल ने सपा से अलग होकर अक्टूबर 2018 में नई पार्टी बनाई।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

UPLMRC व लखनऊ रेल मंडल कार्यालय में मनाया गया स्वतंत्रता दिवस

Published

on

मेट्रो रेल कारपोरेशन में कुमार केशव और उत्तर रेलवे में मण्डल रेल प्रबंधक डाॅ. मोनिका अग्निहोत्री ने फहराया तिरंगा

लखनऊ। 74वें स्वतंत्रता दिवस पर उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन और उत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल के प्रबन्धक कार्यालय में ध्वजारोहण किया गया। उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (यूपीएमआरसी) ने अपने गोमती नगर स्थित प्रशासनिक भवन व ट्रांसपोर्ट नगर स्थित मेट्रो डिपो में स्वतंत्रता दिवस समारोह का आयोजन किया। यूपीएमआरसी के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने ध्वजारोहण कर तिरंगे को सलामी दी। सभी निदेशकों और उच्च अधिकारियों एवं कर्मचारियों की उपस्थिति में राष्ट्रगान के साथ स्वतंत्रता सेनानियों श्रद्धांजलि दी गई। समारोह में कोरोना प्रोटोकाल भी ख्याल रखा गया।

समारोह को संबोधित करते हुए प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और शहीद भगत सिंह के ऐतिहासिक भाषणों का जिक्र किया। साथ ही उन्होंने सभी कर्मचारियों से महात्मा गांधी के आदर्शों पर आगे बढ़ने और कर्तव्यनिष्ठा का आह्वान किया। कानपुर मेट्रो परियोजना के लखनपुर स्थित कास्टिंग यार्ड में भी स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। कानपुर मेट्रो परियोजना के निदेशक अरविंद सिंह ने कास्टिंग यार्ड परिसर में ध्वजारोहण किया।

यह भी पढ़ें-आजम खां को जेल में वीवीआईपी ट्रीटमेंट देने का आरोप, शासन ने बैठाई जांच

समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, हम सभी का एक ही लक्ष्य होना चाहिए कि हमें कानपुर मेट्रो परियोजना के प्रयॉरिटी कॉरिडोर को विश्वस्तरीय मानकों के साथ नियत समय पर पूरा करना है। साथ ही, हमें परियोजना के आगामी कॉरिडोर्स के लिए भी तैयार रहना है।

मंडल रेल प्रबंधक डा. मोनिका अग्निहोत्री ने फहराया तिरंगा

पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल के मंडल रेल प्रबंधक डा. मोनिका अग्निहोत्री लखनऊ स्थित अपने कार्यालय में ध्वजारोहण किया। डा. अग्निहोत्री ने सभी रेलकर्मियों व रेल उपयोगकर्ताओं को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों के त्याग एवं अभूतपूर्व बलिदान को याद करते उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। कहा कि सेना और अर्धसैनिक बलों के उन वीर जवानों, खुफिया एजेंसियों के कार्मिकों को नमन करती हॅू, जो अनेक विषम परिस्थितियों में अपना सर्वोच्च बलिदान देकर देश की अखण्डता एवं संप्रभुता के साथ-साथ हमारी रक्षा कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें-कोरोना पाॅजिटिव पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान की किडनी फेल, वेंटिलेटर पर रखे गए

कोविड-19 के विरूद्ध दिन-रात सेवा कार्य में लगे कोरोना योद्धाओं जैसे डाक्टर, नर्सेस, पैरामेडिकल स्टाफ, आर.पी.एफ एवं पुलिस कर्मी इत्यादि के प्रति आभार व्यक्त किया। इसके उपरांत मण्डल चिकित्सालय, बादशाहनगर में पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल महिला कल्याण संगठन के सहयोग से चिकित्सालय स्टाफ द्वारा रोगियों को फल वितरित किया और उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

लखनऊ जं. स्टेशन पर किया गया पौधरोपण

स्वतंत्रता दिवस पर लखनऊ जं. स्टेशन पर स्टेशन निदेशक गिरीश कुमार सिंह एवं वरिष्ठ पर्यवेक्षकों ने पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के लिए एरिका पाम के 22 पौधों का रोपण किया। एरिका पाम पौधों की देखभाल के लिए संबंधित अधिकारी एवं पर्यवेक्षकों ने एक-एक गमला गोद भी लिया। इस अवसर पर अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (परिचालन) शिशिर सोमवंशी, अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (प्रशासन) राघवेन्द्र कुमार, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. संजय श्रीवास्तव एवं सभी शाखाधिकारी व पूर्वोत्तर रेलवे महिला कल्याण संगठन की सदस्याएं व रेल कर्मचारी तथा उनके परिवारीजन उपस्थित थे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

विकास दुबे के गांव में नहीं हुआ ध्वजारोहण, बिना तिरंगा फहराए ही चले गए शिक्षक

Published

on

लखनऊ। 74वां स्वतंत्रता दिवस आज पूरे देश में हर्ष उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। वहीं विकास दुबे के कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में आजादी का जश्न नहीं मनाया गया। बताया जा रहा है कि यह स्वतंत्रता के बाद इतिहास ने पहली बार हुआ है। यहां स्वतंत्रता दिवस पर किसी भी सरकारी भवन में ध्वजारोहण नहीं किया गया।

बिकरू गांव के पंचायत भवन का ताला तक नहीं खोला गया। वहीं गांव के लोगों ने बताया कि हर साल पंचायत भवन में तिरंगा फहराया जाता था। लेकिन इस बार ग्राम सचिव 15 अगस्त को भी गांव नहीं पहुंचे। गांव के प्राथमिक विद्यायल में सुबह शिक्षक तो पहुंचे और कुछ देर रूकने के बाद बिना तिरंगा फहराए सभी शिक्षक चले गए।

कानपुर सीडीओ डाॅक्टर महेंद्र कुमार का कहना है कि गांव में ध्वजारोहण की जिम्मेदारी बीडीओ और ग्राम सचिव की होती है। बीडीओ आलोक पांडेय कोरोना संक्रमित होने के कारण क्वारंटीन हैं। उनकी अनुपस्थिति में ग्राम सचिव की जिम्मेदारी थी कि वह गांव जाकर लोगों को एकजुटकर ध्वजारोहण कराते और गांव में सफाई का संदेश भी देते।

यह भी पढ़ें:- वाराणसीः नर्स से ध्वजारोहण करवाकर मंडलायुक्त ने कोरोना योद्धाओं का बढ़ाया मनोबल

उन्होंने कहा यदि ऐसा नहीं हुआ है तो यह अपराध है। इस प्रकरण की जांच कराएंगे। वहीं बीडीओ आलोक पांडेय ने कहा कि गांव में ध्वजारोहण न होना अपराध है। यह जिम्मेदारी ग्राम सचिव के साथ-साथ ग्राम प्रधान की भी की होती है। वह गांव जाकर लोगों को एकजुटकर ध्वजारोहण कराएं। उन्होंने कहा कि ग्राम सचिव के पास कई गांवों की जिम्मेदारी होती है। यह पता लगाया जा रहा है कि वह किन कारणों से बिकरू गांव नहीं पहुंच पाए। यह कृत्य अपराध की श्रेणी में आता है। इस प्रकरण की जांच कराई जाएगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 15, 2020, 7:16 pm
Fog
Fog
31°C
real feel: 38°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 83%
wind speed: 2 m/s E
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:08 am
sunset: 6:13 pm
 

Recent Posts

Trending