Connect with us

प्रदेश

चुनाव आयोग के बैन करने के बाद सीएम योगी पहुंचे काशी के संकटमोचन धाम

Published

on

लोकसभा चुनाव

फाइल फोटो

लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण का मतदान भी शुरू हो चुका है। ऐसे पार्टी के नेता अपनी पार्टी के प्रचार-प्रसार में जुटे हुए हैं। अभी हाल ही में विवादित बयानों के चलते सीएम योगी आदित्यनाथ को चुनाव आयोग ने 72 और बसपा सुप्रीमो मायावती को 48 घंटे के लिए बैन कर दिया था।

चुनाव आयोग ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि इन लोगों ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है। बैन के चलते 3 दिनों तक सीएम योगी कोई भी प्रचार –प्रसार नहीं कर पाएंगें। जिसकी वजह से वह लखनऊ में हनुमान मंदिर, अयोध्या में राम की शरण में जाने के बाद आज योगी कशी नगरी में भोले बाबा के दर्शन के बाद संकटमोचन मंदिर पहुंच चुके हैं।

ये भी पढ़े:कलेक्ट्रेट ऑफिस पर पुलिस विभाग ने मीडिया कर्मियों के साथ की अभद्रता, दी गालियां

सीएम योगी वाराणसी के संकटमोचन मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद फेमस गढ़वा आश्रम जाएंगे। ये आश्रम यादवों के प्रभुत्व वाला माना जाता है, ऐसे में इसके राजनीतिक संदेश भी हो सकते हैं।

इतना ही नहीं इस यात्रा के दौरान सीएम रामकृष्ण मिशन पर भी जाएंगे, जहां वह दिव्यांग बच्चों से मुलाकात करेंगे। जानाकारी के मुताबिक 15 अप्रैल को चुनाव आयोग ने योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे तक प्रचार करने से रोक लगाई थी। जिसकी वह से वह किसी राजनीतिक कार्यक्रम में हिस्सा नहीं ले सकते थे, ना ही कोई राजनीतिक ट्वीट कर सकते थे।

ये भी पढ़े:पूनम सिन्हा ने लखनऊ में नामाकंन पत्र दाखिल करने बाद रोड शो का किया आगाज

हालांकि, इस बीच योगी ने 16 अप्रैल को लखनऊ के फेमस हनुमान मंदिर में पूजा की और हनुमान चालीसा भी पढ़ी। जिसके बाद वह 17 अप्रैल को अयोध्या पहुंचे और हनुमानगढ़ी के दर्शन किए और  साथ ही उन्होंने दलितों के घर खाना भी खाया।

योगी के इस यात्रा पर मायावती ने साधा निशाना

आपको बता दें बैन होने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ के द्वारा लगातार दौरे पर होने की वजह से बसपा सुप्रीमो मायावती ने विरोध जताया है। मायावती ने गुरुवार सुबह ट्वीट कर कहा था कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ बैन के बाद मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं और चुनावी लाभ ले रहे हैं। उन पर आयोग इतना मेहरबान क्यों है?http://www.satyodaya.com

 

प्रदेश

मेरठ: जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में हुआ खूनी झड़प, महिला की मौत कई घायल

Published

on

मेरठ

फाइल फोटो

मेरठ। मेरठ के रोहटा थाना क्षेत्र के थिरोट गांव  में जमीनी विवाद को लेकर गुरुवार सुबह 2 पक्षों में खूनी झड़प हो गया। जिसके बाद एक पक्ष की महिला को गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई, वहीं आधा दर्जन लोग बुरी तरह से घायल हैं। हालांकि मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया ।

जिसके बाद मृतका के देवर की ओर से छह लोगो के नाम से तहरीर दी गई है।जानकारी के मुताबिक गांव थिरोट में दस बीघा जमीन को लेकर गांव खिवाई निवासी वहाब व दूसरा गांव थिरोट निवासी इंशाल्लाह के बीच कई साल से विवाद चल आ रहा था। इस विवाद को लेकर दो साल पहले भी दोनों पक्षों में लड़ाई के दौरान गोलियां चली थी। जिसके बाद कई लोग जेल भी गए थे।

ये भी पढ़ें:UP: किशोर ने 4 साल की मासूम के साथ किया दुष्कर्म, गिरफ्तार

बता दें गुरुवार तड़के खेत मे खड़ी गन्ने की फसल काटने को लेकर दोनों पक्षों में गाली गलौज के बाद झड़प हो गया। जिसमें दोनों पक्षों से फायरिंग शुरू हो गई। वहीं ताबड़तोड़ फायरिंग के दौरान मौके पर एक महिला को गोली लग गया। घायल महिला गुलशमा पत्नी हुसैन निवासी थिरोट की मौके पर ही मौत हो गई। हमले में अन्य कई लोग घायल हो गए। सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया ।

वहीं मृतक महिला के देवर जब्बार की ओर से छह लोगो के नामजद तहरीर दी गई है।वहीं इस घटना के बारे में थाना प्रभारी उपेन्द्र निरीक्षक सिंह का कहना हैं कि उक्त जमीन पर पुराना विवाद है। पुराने विवाद को लेकर संघर्ष हुआ है। इस घटना की सूचना किसी भी शख्स ने पुलिस को नहीं दी। इतना ही नहीं दोनो पक्ष उस जमीन पर अपना हक जता रहे है जिसमें बोई गई फसल को अपनी बता रहे है। हालांकि पुलिस जांच में जुटी हुई है।

http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

UP: किशोर ने 4 साल की मासूम के साथ किया दुष्कर्म, गिरफ्तार

Published

on

प्रतीकत्मक चित्र

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले  में अकबराबाद थाना क्षेत्र के कस्बा कौड़ियागंज में गुरुवार रात एक 4 साल की बच्ची के साथ किशोर ने दुष्कर्म किया। बताया जा रहा है कि बच्ची गली में अन्य बच्चों के साथ खेल रही थी। इस दौरान किशोर पहले बच्ची को दुकान पर चीज दिलाने के बहाने ले गया और फिर अपने घर में ले जाकर मासूम के साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता मासूम के पिता ने घटना कि रिपोर्ट पुलिस के पास लिखवाई। जिसके बाद ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं आरोपी किशोर मोहल्ले का ही रहने वाला बताया जा रहा है।  


बता दें कि अलीगढ़ जनपद के जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर कस्बा कौड़ियागंज में एक 4 साल की बच्ची रात को अपने हम उम्र के बच्चों के साथ गली में खेल रही थी। इस बीच मोहल्ले का ही एक किशोर आया और बच्ची का हाथ पकड़कर दुकान से टॉफी दिलवाने की बात कहकर अपने साथ ले गया। इसके बाद किशोर ने बच्ची को दुकान से टॉफी दिलवाई और बच्ची को अपने साथ घर ले गया। उस वक्त उसके परिवार का कोई सदस्य घर में नहीं था, जिसका फायदा उठाकर किशोर ने बच्ची के साथ हैवानियत की।  

ये भी पढ़ें: CM योगी ने महाशिवरात्रि व होली के पर्व को लेकर अधिकारियों को दिए ये निर्देश

जिसके बाद किशोर के चंगुल से छूटकर बच्ची खून से लथपथ अपने घर पहुंची। जहां बेटी की हालत देखकर मां के होश उड़ गए। पूछताछ करने पर बेटी ने आपबीती बताई, यह सुनकर पिता दरिंदे की तलाश में निकल गये, लेकिन तब तक वह फरार हो चुका था। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने आरोपित को हिरासत में लेते हुए बच्ची को मेडिकल के लिए जिला अस्पताल भेजा दिया। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

महंत नृत्यगोपाल दास बने ‘राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र’ ट्रस्ट के अध्यक्ष…

Published

on

रामजन्मभूमि

फाइल फोटो

लखनऊ। अयोध्या में रामजन्मभूमि निर्माण के लिए गठित ‘राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र’ ट्रस्ट की बुधवार को दिल्ली में अहम बैठक हुई है। जिसमें महंत नृत्यगोपाल दास को ट्रस्ट का अध्यक्ष और चंपत राय को महासचिव बनाया गया है। महंत नृत्यगोपाल दास ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाये जाने पर पूरी राम नगरी ख़ुशी से झूम उठी है। सभी मंदिरों में संतों ने फूलों की होली खेली और मिठाइयां बांटकर अपनी खुशी जताई है। दिनभर अयोध्या के संत-धर्माचार्य जहां बैठक को लेकर कयास लगाते रहे। शाम होते ही रामनगरी को एक बार फिर शुभ समाचार मिला। रामजन्मभूमि निर्माण के लिए बनाए गए श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में महंत नृत्यगोपाल दास को शामिल न किए जाने से संतों ने में खासी नाराजगी जताई थी। जिसके बाद गृह मंत्रालय ने हस्तक्षेप किया। गृहमंत्री अमित शाह ने महंत नृत्यगोपाल से बातचीत कर उन्हें आश्वस्त किया।

ये भी पढ़ें:फांसी से बचने के लिए निर्भया के दोषी विनय ने दीवार पर मारा सिर, आई चोट…

इसके बाद 17 फरवरी को ट्रस्ट के सदस्यों बिमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र, स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती, डॉ अनिल मिश्र व चंपत राय ने उनसे मुलाकात कर ट्रस्ट की बैठक में आने के लिए आमंत्रित किया था। बुधवार को ट्रस्ट की बैठक में सदस्यों ने सर्वसम्मति से महंत नृत्यगोपाल दास को अध्यक्ष पद के लिए चुना। इससे पूर्व रामनगरी बुधवार सुबह से ही ट्रस्ट की बैठक को लेकर ख़ुशी की लहर दौड़ गई। वहीं शाम को जैसे ही नृत्यगोपाल दास को अध्यक्ष बनाए जाने की सूचना मिली रामनगरी में सभी लोग ख़ुशी से झूम उठे।

संत समाज का बढ़ा गौरव : ज.गु.रामदिनेशाचार्य

यह स्वागतयोग्य कदम है। महंत नृत्यगोपाल दास की कीर्ति का परिणाम सामने आया है। वे संत समाज के लिए गौरव हैं, भगवान श्रीराम का मंदिर संतों का ही नहीं पूरे हिंदू समाज का सपना है, इस सपने को महंत नृत्यगोपाल दास ने वर्षों तक जीया है। संत समाज का इस निर्णय से गौरव बढ़ा है, हम मुदित है। 

गरिमा के अनुरूप बनेगा राममंदिर : कन्हैयादास

महंत नृत्यगोपाल दास व चंपत राय को ट्रस्ट में शामिल किए जाने पर मैं ट्रस्ट के सदस्यों सहित पीएम नरेंद्र मोदी व अमित शाह को धन्यवाद देता हूं। राममंदिर मुक्ति आंदोलन के हर पड़ाव पर महंत नृत्यगोपाल दास व चंपतराय हमेशा अग्रणी भूमिका निभाई है। अब सभी अयोध्यावासी बेफिकर हैं। क्योंकि अब अयोध्या की गरिमा के अनुसार ही मंदिर बनेगा।

बता दें दिगंबर अखाड़े के महंत सुरेश दास ने कहा कि ट्रस्ट के सदस्यों का निर्णय स्वागत योग्य है। महंत नृत्यगोपाल दास ने आजीवन राममंदिर के लिए संघर्ष किया, यह उनके संघर्ष की ही फल है। अब करोड़ों हिंदु भक्तों की मनोकामना शीघ्र पूरी होगी और रामलला टेंट से बाहर होंगे। राममंदिर अयोध्या की गरिमा के अनुरूप भव्यतम बनेगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 20, 2020, 3:24 pm
Intermittent clouds
Intermittent clouds
27°C
real feel: 27°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 41%
wind speed: 3 m/s ESE
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 6:09 am
sunset: 5:31 pm
 

Recent Posts

Trending