Connect with us

प्रदेश

पूरा यूपी 27 मार्च तक लाॅकडाउन, उल्लंघन करने पर होगी सख्त कार्रवाई

Published

on

सीएम योगी ने मंगलवार को बैठक अफसरों को दिए निर्देश

लखनऊ। कोरोना की महामारी निपटने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे प्रदेश को 27 मार्च तक लाॅक डाउन करने की घोषणा की है। मंगलवार को एक बैठक कर सीएम योगी ने प्रदेश में महामारी से बचाव और रोकथाम के लिए चल रहे प्रयासों की समीक्षा की। इससे पहले सीएम योगी ने प्रदेश के 17 जनपदों को 23 से 25 मार्च तक लाॅक डाउन करने का निर्देश दिया था। मंगलवार को ताजा बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस को लेकर कई बड़े फैसले लिए है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की सभी सीमाएं पूरी तरह से सील करने को कहा है। अधिकारियों से लाॅकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए भी कहा है।

यह भी पढ़ें-इलाहाबाद हाईकोर्ट और लखनऊ बेंच अब 28 मार्च तक के लिए बंद

मुख्यमंत्री ने कहा है कि लाॅकडाउन की छुट्टी के चलते किसी सरकारी या निजी क्षेत्रों में काम करने लोगों का वेतन नहीं लंबित होना चाहिए। जरूरी सामानों जैसे सब्जी, फल व दूध आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए एक कमेटी बनाने का भी निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार सभी जरुरी कदम उठा रही है। साथ ही सभी के अपील की है वह लॉक डाउन का पालन करें। ताकि कर्फ्यू लगाने की नौबत न आए।

किराना दुकानें दोपहर से शाम तक खुलेंगी

लॉक डाउन के दौरान किराना दुकानें बुधवार से दोपहर 12:00 बजे से लेकर 4:00 बजे तक ही खुलेंगी। फल, सब्जी और दूध की दुकानें पूरे दिन खुली रहेंगी। कोई भी व्यक्ति प्राइवेट वाहन लेकर सड़क पर नहीं निकल सकेगा।अगर कोई इमरजेंसी है तो उसे एडीएम से आदेश लेना होगा। जिले से बाहर जाने व आने के लिए भी आदेश की आवश्यकता होगी। यदि उसे आदेश मिलता है तो जिले के बॉर्डर पर एंट्री देने से पहले मेडिकल जांच से गुजरना होगा ।

निजी अस्पतालों का होगा अधिग्रहण

कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए जिले के समस्त निजी चिकित्सालयों का अधिग्रहण करने की बात कही गई है । लिसके लिए डाटा बेस तैयार किया जा रहा है। टीएमयू में 200 बेड का आईसोलेशन सेंटर बनेगा।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

भाजपा को उपचुनावों में ही सबक सिखा देगी जनता: अखिलेश यादव

Published

on

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि झूठ और धोखाधड़ी भाजपा की राजनीति के मुख्य हथियार बन गए हैं। सच पर पर्दा डालने और जनता को बहकाने के लिए नए-नए प्रपंच रचने में उसका कोई मुकाबला नहीं है। किसान बेहाल है, भाजपा सरकार उसको भ्रमित करने के लिए पूरा जोर लगाए हुए है, जबकि प्रदेश ही नहीं देश भर में कृषि विधेयक को लेकर व्यापक जनाक्रोश है। महिलाओं और बच्चियों के लिए तो उत्तर प्रदेश असुरक्षित जंगल हो गया है। आए दिन अपहरण, बलात्कार की घटनाओं से बेटियों के परिवार वाले भी दहशत में हैं। भाजपा नेतृत्व और मुख्यमंत्री योगी प्रदेश की बढ़ती बदनामी से बेखबर अपने मुंह से अपनी प्रशंसा करने में ही मगन हैं। जनता यह सब कितने दिन बर्दाश्त करेगी?

यह भी पढ़ें-कल हाथरस की ‘गुड़िया’ के घर जाएगा सपा का प्रतिनिधि मंडल

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, किसान पर भाजपा सरकार की चैतरफा मार पड़ रही है। एक ओर कृषि विधेयक लाकर उसको अपनी खेती से विस्थापित करने की साजिश है, तो दूसरी तरफ धान खरीद का भी थोथा सरकारी प्रचार होने लगा है। किसान को न्यूनतम समर्थन मूल्य तो मिलने से रहा। सरकारी खरीद एजेंसियां ही किसान को लौटा रही हैं। आजमगढ़ में धान खरीद का शासनादेश न होने से किसान परेशान हैं तो झांसी में सरकारी एजेंसियों ने धान खरीद से ही इंकार कर दिया है। बागपत में मंडियों में किसान को वाजिब दाम नहीं मिल रहा है, उसे लूटा जा रहा है।

महिलाओं पर पुलिस ही कर रही अत्याचार

उत्तर प्रदेश में महिला सुरक्षा की जिम्मेदार पुलिस खुद महिलाओं के प्रति अत्याचार का दूसरा नाम बन गई है। मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर में भी बेटियां-बहनें सुरक्षित नहीं। गगहा में छेड़खानी से पीड़ित युवती ने खुदकुशी कर ली तो कैण्ट स्थित अस्पताल में मृत महिला के कान से टाप्स खींचने की घटना हुई। हमीरपुर के पुलिस थाने में महिला की पिटाई की गई। इससे ज्यादा शर्मनाक और क्या होगा?

योगी सरकार ने महिला सुरक्षा का ताना-बाना नष्ट कर डाला

श्री यादव ने कहा, सच तो यह है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार जाति-धर्म के आधार पर निर्णय लेती है। उसकी रूचि नफरत फैलाने में है। भाजपा की राज्य सरकार ने 1090 और यूपी डायल-100 सेवाओं को बर्बाद कर दिया है। समाजवादी सरकार ने इन सेवाओं की शुरूआत की थी ताकि महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाओं पर प्रभावी नियंत्रण हो और पुलिस कम से कम समय में घटनास्थल पर पहुंच सके। इसके लिए उसे नए वाहन दिए गए, अत्याधुनिक उपकरण मुहैया कराए गए।

घायलों को बिना देर किए अस्पताल पहुंचाने के लिए 108 एम्बूलेंस सेवा भी शुरू की गई। भाजपा को जनता के कल्याण और उसकी सुरक्षा में जरा भी दिलचस्पी नही है। वह कारपोरेट को ज्यादा से ज्यादा फायदा पहुंचाने की तिकड़म में ही लगी रहती है। जनता भाजपा की कुनीतियों से बुरी तरह त्रस्त है। अब वह अराजकता और भ्रष्ट भाजपा सरकार से मुक्ति चाहती है। भाजपा को प्रदेश में होने वाले उपचुनावों में ही सबक मिल जाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

कल हाथरस की ‘गुड़िया’ के घर जाएगा सपा का प्रतिनिधि मंडल

Published

on

लखनऊ। हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र में दलित युवती के साथ गैंगरेप और दरिंदगी की जांच व जानकारी के लिए सपा मुखिया अखिलेश यादव ने 10 सदस्यीय एक प्रतिनिधि मण्डल गठित किया है। समाजवादी पार्टी का यह प्रतिनिधि मण्डल गुरुवार (1 अक्टूबर) को पीड़िता के घर जाएगा और पीडि.त परिवार से मुलाकात करेगा।

प्रतिनिधिमण्डल में जसवन्त सिंह यादव सदस्य विधान परिषद, अतुल प्रधान पूर्व प्रदेश अध्यक्ष छात्र सभा उप्र, सर्वेश अम्बेडकर निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ उप्र, विनोद सविता सदस्य राष्ट्रीय कार्यकारिणी समाजवादी पार्टी, डाॅ. राम करन निर्मल प्रदेश अध्यक्ष लोहिया वाहिनी उप्र, जुगुल किशोर बाल्मीकि पूर्व अध्यक्ष सफाई आयोग उप्र, देवेन्द्र अग्रवाल पूर्व विधायक हाथरस सदर, जैनुद्दीन चौधरी जिला महासचिव समाजवादी पार्टी हाथरस, गिरीश यादव जिलाध्यक्ष समाजवादी पार्टी अलीगढ़ एवं राकेश सिंह पूर्व विधायक छर्रा अलीगढ़ शामिल है।

यह भी पढ़ें-यूपी में सत्ता, जाति और वर्दी के अहंकार के आगे इंसानियत तार तार- मनीष सिसोदिया

बता दें कि चंदपा थाना क्षेत्र के ग्राम बूलगढ़ी में बीते 14 सितंबर को कुछ दबंगों ने एक युवती के साथ बलात्कार के बाद जमकर हैवानियत की थी। करीब 15 दिन तक अस्पताल में मौत से जूझने के बाद पीडि.ता ने 29 सितंबर को दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में दम तोड. दिया। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

बाबरी विध्वंस पर CM योगी बोले, ‘ये सत्य की जीत षड्यंत्र रचने वाले मांगें देश से माफी’

Published

on

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बाबरी विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि सत्यमेव जयते के अनुरूप सत्य की जीत हुई है। उन्होंने कहा कि इस पूरे षड्यंत्र के जिम्मेदार लोग देश की जनता से माफी मांगें। सीएम योगी ने वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को इस फैसले के बाद फोन कर बधाई दी।

वहीं मुख्यमंत्री योगी के सूचना सलाहकार मृत्युंजय कुमार द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने कहा, “यह फैसला स्पष्ट करता है कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा राजनीतिक पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर वोट बैंक की राजनीति के लिए देश के पूज्य संतों, भारतीय जनता पार्टी के नेताओं, विश्व हिंदू परिषद से जुड़े वरिष्ठ पदाधिकारियों एवं समाज से जुड़े विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों को बदनाम करने की नीयत से उन्हें झूठे मुकदमों में फंसाकर बदनाम किया गया।

इसे भी पढ़ें- यूपी में सत्ता, जाति और वर्दी के अहंकार के आगे इंसानियत तार तार- मनीष सिसोदिया

बता दें सीबीआई कोर्ट ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। 6 दिसंबर 1992 को मस्जिद गिराए जाने के मामले में कुल 49 आरोपी थे। जिसमें से 17 आरोपियों की मौत हो चुकी है। 28 साल पुराने इस केस में लखनऊ में सीबीआई की विशेष अदालत के जज सुरेंद्र कुमार यादव ने फैसला सुनाया है।

कोर्ट ने इस केस में CBI की ओर से पेश किए गए सबूतों को पर्याप्त नहीं माना है। 2300 पन्नों के फैसले में कोर्ट ने कहा है कि ढांचा गिराने में विश्व हिंदू परिषद का कोई रोल नहीं था, बल्कि कुछ असामाजिक तत्वों ने पीछे से पत्थरबाजी की थी और ढांचा गिराने में कुछ शरारती तत्वों का हाथ था। कोर्ट ने लालकृष्ण आडवामी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 1, 2020, 1:54 am
Fog
Fog
24°C
real feel: 28°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:29 am
sunset: 5:22 pm
 

Recent Posts

Trending