Connect with us

प्रदेश

कांग्रेस का अली में भरोसा, हमारा बजरंगबली मेंः योगी आदित्यनाथ

Published

on

मेरठ में चुनावी सभा में करते हुए बोले मुख्यमंत्री, हिन्दुओं के लिए भाजपा के अलावां कोई विकल्प नहीं बचा है

मेरठ। हाल ही में एक चुनावी सभा में बसपा प्रमुख मायावती ने मुस्लिमों के लिए वोट मांगे हैं। उन्होंने मुस्लिमों से कहा कि वह सिर्फ गठबंधन के लिए वोट करें और अपना वोट बंटने ना दें। तो ऐसे में अब हिंदुओं के पास भारतीय जनता पार्टी के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है। देश में दलित-मुस्लिम एकता संभव नहीं है। यह बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ में आयोजित चुनावी सभा में कहीं। मंगलवार को सीएम योगी पश्चिमी यूपी के दौरे पर हैं। जहां उनकी मेरठ और बरेली में चुनावी सभाएं हैं।
मेरठ की जनसभा में योगी आदित्यनाथ ने बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी समेत कांग्रेस पर भी जमकर निशाना साधा। कहा कि अगर कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का अली में विश्वास है, तो हमारा बजरंगबली में विश्वास है। उन्होंने कहा कि मायावती ने रैली में कहा कि वह सिर्फ मुस्लिम वोटरों का वोट चाहती हैं। सीएम ने कहा कि दलित-मुस्लिम एकता संभव नहीं है, क्योंकि भारत विभाजन के समय दलित नेताओं के साथ पाकिस्तान में किस तरह का बर्ताव हुआ, ये दुनिया ने देखा है। उन्होंने कहा कि भारत में बाबा साहेब अंबेडकर बड़े दलित नेता हुए, लेकिन योगेश मंडल बंटवारे के वक्त पाकिस्तान चले गए थे।

यह भी पढ़ें-प्रियंका ने भाजपाइयों पर फेंकी फूल माला, भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ता भिड़े

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब योगेश मंडल ने पाकिस्तान में दलितों पर अत्याचार देखा तो वह वापस भारत आ गए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि महागठबंधन ने मुस्लिम वोटरों का ध्रुवीकरण करने की कोशिश की है, इसलिए बचे हुए समाज को सोचना चाहिए कि उन्हें किसके लिए वोट करना है। गौरतलब है कि देवबंद की रैली में बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने मुस्लिम वोटरों से अपील की थी कि एक मुश्त होकर महागठबंधन के लिए वोट दें, अपना वोट बंटने ना दें। पश्चिमी यूपी को लेकर उन्होंने कहा कि यहां मुस्लिम-दलितों का वोट आसानी से ट्रांसफर नहीं होगा, वहीं भाजपा को इससे फायदा होगा और बड़ी जीत मिलेगी। उन्होंने एक बार फिर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा और कहा कि राहुल का अमेठी छोड़कर वायनाड जाने की वजह भी मुस्लिम वोट हैं।

बता दें कि योगी आदित्यनाथ इससे पहले भी कांग्रेस की साथी मुस्लिम लीग पार्टी पर निशाना साध चुके हैं। उन्होंने पार्टी के हरे झंडे के बहाने कहा था कि ये एक वायरस की तरह है जो कांग्रेस देशभर में फैलाना चाहती है।

मेरठ में भाजपा ने सांसद राजेन्द्र अग्रवाल पर ही भरोसा जताया है। हालांकि मेरठ की जनता में मौजूदा भाजपा सांसद के प्रति रोष है। समय-समय पर जनता ने बैनर व पोस्टर के माध्यम से उनका विरोध भी किया है। शुरूआत में भाजपा में मेरठ सीट के लिए करीब दो दर्जन दावेदार थे लेकिन राजेन्द्र अग्रवाल टिकट की जंग तो जीत गए लेकिन इस बार के चुनाव में वह जीत हासिल कर पाएंगें इसमें संदेह हैं। कांग्रेस ने यहां से हरेन्द्र अग्रवाल को मैदान में उतारा है जो निश्चित रूप से राजेन्द्र अग्रवाल की मुश्किलें बढाएँगे। सपा-बसपा और रालोद गठबंधन भी मजबूत दिख रहा है। हरेन्द्र अग्रवाल साफ सुथरी छवि के उम्मीदवार हैं। पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास के पुत्र हरेन्द्र अग्रवाल अपने निजी संबंध रखने के साथ ही गंभीर छवि भी रखते हैं। अन्य कांग्रेस प्रत्याशियों के मुकाबले वो चुनाव जीतने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे।
गठबंधन ने यहां से इस बार मीट कारोबारी याकूब कुरैशी को मैदान में उतारा है जो चुपचाप जंग की तैयारी में जुटे हैं। याकूब कुरैशी की इस बार सबसे बड़ी ताकत एक ही मुस्लिम प्रत्याशी का चुनाव मैदान में उतरना है। हालांकि कुरैशी अलग-अलग वजहों से विवादों में रहे हैं लेकिन गठबंधन की ताकत के आधार पर जातीय गणित से वह काफी मजबूत दिख रहे हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदेश

वसीम रिजवी ने पीएम मोदी की सबसे बड़ी जीत का किया दावा

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ । अपने बयानों से सुर्खियों में बने रहने वाले शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने वीडियो जारी कर अपना बयान दिया है । बनारस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सबसे बड़ी जीत होने वाली है । अयोध्या में राम मंदिर निर्माण शुभ संकेत होगा देशद्रोही और नफरत फैलाने वाले जो भारत को खंडित करके एक और पाकिस्तान बनाना चाहते हैं । यह जीत उनके विचारों की करारी हार होगी देश के सबसे बड़े चुनाव में भारत की जीत लगभग तय है । भारत एक बार फिर मोदी जी के मजबूत और सुरक्षित हाथों में जाने को तैयार है ।

यह भी पढ़ें : लोकसभा चुनाव नतीजे आने के बाद यूपी में होगा बड़ा प्रशासनिक फेर बदल

वसीम रिजवी अक्सर चर्चा में रहतें है । अभी हाल में रिजवी का एक बयान और आया था जिसमें उन्होंने देश के पीएम मोदी पर ही दिया था । रिजवी ने कहा था कि अगर नरेंद्र मोदी देश के दोबारा प्रधानमंत्री नहीं बने तो वह अयोध्या में राम जन्मभूमि के गेट के पास जाकर आत्म हत्या कर लेंगे । http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

लोकसभा चुनाव नतीजे आने के बाद यूपी में होगा बड़ा प्रशासनिक फेर बदल

Published

on

प्रतीकात्मक चित्र

लखनऊ । यूपी में चुनाव नतीजे आने के बाद बड़ा प्रशासनिक फेर बदल APC की कुर्सी पर सीनियर IAS की तैनाती चेयरमैन पिकप के कुर्सी पर नए IAS अफसर की पोस्टिंग चकबंदी आयुक्त पर तैनात होंगे नये IAS अफसर ACEO आपदा प्राधिकरण में तैनात होंगे IAS अफसर प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा पर होगी नई तैनाती आबकारी में तैनात किये जायेंगे नये IAS अफ़सर भूतत्व एव खनिज में तैनात होंगे नये IAS अफसर औद्योगिक विकास आयुक्त के पद पर नए IAS अससर की तैनाती राजस्व परिषद में आयुक्त और सचिव के पद पर IAS की तैनाती प्रमुख सचिव चिकित्सा व स्वास्थ्य के पद पर नए सीनियर IAS अफसर होंगे तैनात ।

यहां भी पढ़ें : राबड़ी देवी की सुरक्षा में तैनात जवान ने खुद को मारी गोली

मुख्यमंत्री कार्यालय में नए सचिव और विशेष सचिव की होगी तैनाती 5 सीनियर IAS होंगे इसी महीने रिटायर्ड, उनकी जगह नई तैनाती IAS दीपक सिंघल, पीवी जगनमोहन होंगे रिटायर्ड IAS चन्द्र प्रकाश त्रिपाठी, कर्ण सिंह होंगे रिटायर्ड IAS बलविंदर सिंह भुल्लर मई में होंगे रिटायर्ड UP के 23 PCS से IAS बने अफसरों की पोस्टिंग 23 नये IAS अफसरों ने DM और VC बनने का लगाया है दांव इसके साथ ही जिले में जमे अफसरों को भी हटाया जाएगा PCS अफसर छोटे लाल मिश्रा सस्पेंड केंद्रीय चुनाव आयोग से मंजूरी मिलने के बाद नियुक्ति विभाग ने किया सस्पेंड IAS अफ़सर शारदा सिंह के निलंबन को ECI ने नही किया मंजूर चकबन्दी विभाग में फर्जी टाइप टेस्ट लेकर भर्ती का आरोप 70 चपरासियों को क्लर्क बनाने के मामले में धांधली ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

चौका नदी मामले में दाखिल हुई ग्रीन ट्रिब्यूनल में याचिका

Published

on

पर्यावरण सुरक्षा का सबसे बड़ा प्रशासनिक भ्रष्टाचार है चौका नदी मुहाने पर कब्जा : विजय कुमार

लखनऊ। जनपद सीतापुर की चौका नदी पर प्रशासन की मिलीभगत से कब्जा जमाए लोगों को वहां से हटाकर उसके मुहाने को खोलने को लेकर जनपद के अंतिम-आदमी के साथ मिलकर वर्षों से संघर्ष कर रहे सबल अधिवक्ता संघर्ष-मंच के मुख्य-कार्यकर्ता विजय कुमार पाण्डेय एवं मताधिकारी संघ के मुख्य-कार्यकर्ता पी.एन.कल्की ने उच्च-न्यायालय के बाद मामले को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के सामने पेश कर दिया है। मांग की है कि पारिस्थितिकी संतुलन के लिए नदी के मुहाने को खुलवाया जाय और सचिव, उ.प्र. सिंचाई, जिलाधिकारी, सीतापुर, जिला पंचायत अध्यक्ष एवं अन्य लोगों पर व्यक्तिगतरूप से आर्थिक जुर्माना किया जाए।
प्रकरण यह था कि सीतापुर की जल और जीवन दायिनी नदी चैका के मुहाने पर प्रशासन की मिलीभगत से भू-माफियाओं ने कब्जा जमा लिया जिससे उसका प्रवाह बंद हो गया जिसके लिए मताधिकारी संघ के मुख्य-कार्यकर्ता पीएन कलकी ने ग्रामीणों की मदद से काफी लम्बा संघर्ष किया लेकिन प्रशासन ने उन्ही से नदी के मुहाने को बताने का आग्रह किया और मुहाना खोलने के बारे में चुप्पी साधे रहे।

यह भी पढ़ें-सिर्फ लखनऊ में ही क्यों मनाए जाते हैं जेठ के बड़े मंगल, जानें कब-कैसे चल निकली परंपरा…

पीएन कलकी ने पूंछे जाने पर बताया कि वर्तमान युग पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी संतुलन के प्रति काफी संवेदनशील है और भारत संयुक्त-राष्ट्र पर्यावरण संस्थान का सक्रिय सदस्य है। यह मानवता से संबंधित विषय होने के कारण भारत जैसे विशाल देश के लिए सर्वाधिक संवेदनशील है लेकिन सीतापुर प्रशासन के लिए यह विषय मायने नहीं रखता। इसलिए वह इस नदी को पुनर्जीवित नहीं करना चाहता। उन्होंने कहा कि सबल अधिवक्ता संघर्ष-मंच के मुख्य-कार्यकर्ता विजय कुमार पाण्डेय ने इसके लिए उच्च-न्यायालय के समक्ष जनहित याचिका दायर की लेकिन प्रारम्भिक हलचल के अलावा कोई निष्कर्ष नहीं निकला ।
सबल अधिवक्ता संघर्ष-मंच के मुख्य-कार्यकर्ता विजय कुमार पाण्डेय ने कहा कि मामले को ग्रीन ट्रिब्यूनल लखनऊ के समक्ष दायर किया गया है। क्योंकि यह प्रकरण सम्पूर्ण भौगोलिक क्षेत्र की पारिस्थितकीय स्थितियों को प्रभावित करने वाला ही नहीं बल्कि पर्यावरण सुरक्षा अधिनियम, 1986 की धारा 2(क), संविधान के अनु.21, 39 (इ), 48। 51।(ह), 252 और 263 जल अधिनियम की धारा 17(1)(ं) के विपरीत है जिससे बेहता, लहरपुर, रेउसा, बिसवां, महमूदाबाद और रामपुरमथुरा ब्लाक बुरी तरह प्रभावित है जिसके कारण यहाँ प्रतिवर्ष, बाढ़, हैजा, मलेरिया, महामारी खसरा और डायरिया जैसी संक्रामक बीमारियों का प्रकोप होता है और अन्तुलित पारिस्थितिकीय परिस्थितियों का प्रभाव जीव-जंतुओं और पौधों पर पड़ता है, विजय पाण्डेय ने कहा कि उम्मीद है कि ग्रीन ट्रिब्यूनल इस विषय का अवश्य संज्ञान लेगा और सकारात्मक परिणाम आएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 19, 2019, 7:11 am
Mostly sunny
Mostly sunny
26°C
real feel: 27°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 60%
wind speed: 1 m/s W
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 4:47 am
sunset: 6:19 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 8 other subscribers

Trending