Connect with us

प्रदेश

राम मंदिर फैसले पर बोली कांग्रेस, हम राम मंदिर निर्माण के पक्षधर हैं

Published

on

नई दिल्ली: कांग्रेस ने अयोध्या में राम जन्मभूमि विवाद को लेकर उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि पार्टी राममंदिर के निर्माण की पक्षधर है और न्यायालय ने जो फैसला दिया है सभी समुदाय के लोगों को देश के धर्मनिरपेक्ष मूल्यों का सम्मान करते हुए उसको स्वीकार करना चाहिए।


अयोध्या में मंदिर निर्माण को लेकर उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगाई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ के फैसले के बाद कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पार्टी न्यायालय के फैसले का सम्मान करती है और सभी समुदाय के लोगों से सौहार्द्र, धर्मनिरपेक्षता तथा सदभाव की भारतीय परंपरा काे बनाए रखने का आग्रह करती है।

यह भी पढ़ें: अयोध्या फैसलाः पुराने लखनऊ में पुलिस व आरएएफ ने किया पैदल मार्च

उन्होंने कहा कि शनिवार सुबह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारक इकाई कार्य समिति की बैठक हुई जिसमें फैसला लिया गया “न्यायालय ने हमारी आस्था और विश्वास काे बनाए रखने का काम किया है। कांग्रेस राम मंदिर के पक्ष में है। पार्टी ने पहले भी कहा था कि जो फैसला न्यायालय का होगा उसका सम्मान किया जाएगा।”

नई दिल्ली: कांग्रेस ने अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि विवाद को लेकर उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि पार्टी राममंदिर के निर्माण की पक्षधर है और न्यायालय ने जो फैसला दिया है सभी समुदाय के लोगों को देश के धर्मनिरपेक्ष मूल्यों का सम्मान करते हुए उसको स्वीकार करना चाहिए।


अयोध्या में मंदिर निर्माण को लेकर उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगाई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ के फैसले के बाद कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पार्टी न्यायालय के फैसले का सम्मान करती है और सभी समुदाय के लोगों से सौहार्द्र, धर्मनिरपेक्षता तथा सदभाव की भारतीय परंपरा काे बनाए रखने का आग्रह करती है।

उन्होंने कहा कि शनिवार सुबह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारक इकाई कार्य समिति की बैठक हुई जिसमें फैसला लिया गया “न्यायालय ने हमारी आस्था और विश्वास काे बनाए रखने का काम किया है। कांग्रेस राम मंदिर के पक्ष में है। पार्टी ने पहले भी कहा था कि जो फैसला न्यायालय का होगा उसका सम्मान किया जाएगा।”http://www.satyodaya.com

प्रदेश

निर्माण निगम कर्मचारी 24 फरवरी से करेंगे अनिश्चितकालीन प्रदर्शन

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के राजकीय निर्माण निगम के कर्मचारियों का प्रदेश व्यापी आन्दोलन जारी हैं। सोमवार को बुद्धिशुद्धि यज्ञ कर अल्पकालीन कार्य बहिष्कार किया। जिसके बाद मंगलवार को निगम मुख्यालय पर एकत्रित होकर कर्मचारियों और अधिकारियों ने नारेबाजी करते हुए प्रदेश सरकार से काम वापस लिए जाने वाले आदेश पर पुर्नविचार करने की मांग की। संयोजक राज बहादुर सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार की तरह अगर राजकीय निर्माण निगम को ईपीसी मोड पर कार्यदायी संस्था नामित नहीं किया तो वह 24 फरवरी को अनिश्चिितकालीन प्रांत व्यापी धरना प्रदर्शन शुरू करेंगे। उन्होंने बताया कि 24 फरवरी तक आन्दोलन के क्रम में सुबह 10 से 12 बजे तक अल्पकालीन कार्यबहिष्कार जारी रहेगा।

निगम मुख्यालय पर संघर्ष समिति के सह संयोजक इंजीनियर संदीप कुमार सिंह, इंजीनियर मिर्जा फिरोजशाह, उमाकान्त, जागेश्वर प्रसाद, एस.डी. द्विवेदी, और सुरेन्द्र कुमार ने कहा कि प्रदेश सरकार को इस मसले में गोलमेज पर वार्ता के बाद ही इस आदेश को लागू करना चाहिए था।उन्होंने कहा कि सरकार को अब तक राजकीय निर्माण निगम द्वारा समय और मानकों के अनुरूप परिपूर्ण कराई गई परियोजनाओं की समीक्षा करनी चाहिए। यूपी सरकार के इस निर्णय से लगभग 2500 कर्मचारियों के भविष्य के लिए खतरा उत्पन्न हो चुका है। हमारा सरकार से यही प्रश्न है कि जब राजकीय निर्माण निगम की ख्याति पूरे देश में है।

यह भी पढ़ें:- ग्रामीण सफाई कर्मचारी अब नहीं करेंगे गौशाला केंद्रों की सफाई

राजकीय निर्माण निगम फायदे में चलने वाला राज्य का पहला उपक्रम है इसे अचानक इस तरह के निर्णय लेकर बंदी की कगार पर क्यों धकेला जा रहा है। समिति के एस.पी. पाण्डेय, नान बच्चा तिवारी, शिवनन्दन प्रसाद वर्मा, राजेश कुमार चौहान, संतोष कुमार वर्मा, एस.पी. खण्डूरी, भजनलाल यादव और पी.एन. सिंह ने बताया कि निगम द्वारा बनाई गई कई बड़ी परियोजनाओं के आगणन और अन्य प्राविधानों को इस आदेश के उपरान्त पुनः आगणन व प्राविधानों को लागू कराया जाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सुल्तानपुर: परीक्षा देने निकला किशोर रास्ते में बाइक समेत जिंदा जलकर भस्म

Published

on

सड़क पर पड़े हाई टेंशन बिजली के तार की चपेट में आया युवक

लखनऊ। सुल्तानपुर जनपद में मंगलवार सुबह एक भीषण हादसा सामने आया है। यहां हाईस्कूल की बोर्ड परीक्षा देने जा रहा युवक रास्ते में पड़े हाई वोल्टेज बिजली तार की चपेट में आ गया। तार के संपर्क में आते ही युवक की बाइक आग का गोला बन गयी और किशोर जिंदा जलकर भस्म हो गया। घटना की सूचना मिलते ही क्षेत्र में हड़कप मच गया। घटना भीटी थाना क्षेत्र की है। ग्राम कोर्राडड़वा निवासी पूर्व प्रधान जगदीश यादव का बेटा हाई स्कूल की परीक्षा देने के लिए सुबह तड़के घर से निकला था। किशोर की बोर्ड परीक्षा देने के लिए जनपद के जयसिंहपुर पलिया जा रहा था। थाना क्षेत्र के बैथू गांव के पास 11 हजार वोल्टेज का बिजली तार सड़क पर ही पड़ा था। जिसमें करंट प्रवाहित हो रहा था।

यह भी पढ़ें-सीतापुर: बोर्ड की परीक्षा देने जा रहे 2 छात्रों की सड़क हादसे में मौत

युवक तार को ध्यान नहीं दे पाया और बाइक उस पर चढ़ गयी। तार के संपर्क में आते ही बाइक धू-धूकर जलने लगी। आग का गोला बनी बाइक पलभर में युवक समेत खाक हो गयी। भीषण हादसे के बाद आस-पास के क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। लोगों ने इस घटना के लिए बिजली विभाग को जिम्मेदार ठहराया है। घटना की जानकारी होते ही युवक के गांव में कोहराम मच गया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

ग्रामीण सफाई कर्मचारी अब नहीं करेंगे गौशाला केंद्रों की सफाई

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पंचायतीराज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ ने अनावश्यक रूप से गौशाला और पशु आश्रय केन्द्र में सफाई कर्मचारियों की डियूटी लगाए जाने पर नाराजगी व्यक्त की थी। जिसके बाद प्रदेश अध्यक्ष क्रांति सिंह ने कहा कि पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी जाॅब चार्ट के अनुरूप ही डियूटी करेगा। संघ की मांग पर अपर निदेशक पंचायती राज द्वारा गौशाला और पशु आश्रय केन्द्र की डियूटी से पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को मुक्त कर दिया गया है।

पंचायतीराज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के प्रतिनिधि मंडल ने प्रदेश अध्यक्ष क्रान्ति सिंह की अध्यक्षता में अपर निदेशक पंचायतीराज विभाग राज कुमार से ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को पशु आश्रय केंद्र व गौशाला से मुक्त किये जाने को लेकर मुलाकात करते हुए संघ द्वारा सफाई कर्मचारियों के जाॅब चार्ट में दर्ज निर्देशों के बारे में बताया। सफाई कर्मचारियों की नियुक्ति केवल ग्राम पंचायत में ही कार्य करने की होती है। इस आदेश के विपरीत कई जनपदों में सफाई कर्मचारियों से जबरन गौशालाओं व पशु आश्रय केंद्रों में सफाई के अतिरिक्त अन्य कार्य लिए जा रहे हैं। जिससे उनका शोषण किया जा रहा है । निदेशालय ने मंगलवार को आदेश जारी करते हुए ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को पशु आश्रय केंद्रों व गौशाला से मुक्त कर दिया।

यह भी पढ़ें:- प्रदेश के बजट पर अखिलेश यादव ने शहर की जनता से जानी ‘मन की बात’

इस पर संघ के प्रदेश अध्यक्ष क्रान्ति सिंह, महामंत्री बसंतलाल गौतम, कोषाध्यक्ष डी.डी. चौहान, वरिष्ठ उपाध्यक्ष राम किशन वाल्मीकि, उपाध्यक्ष मुलायम सिंह, अटल बिहारी सिंह और प्रदेश मीडिया प्रभारी मयंक गौतम ने निदेशक पंचायतीराज व अपर निदेशक पंचायतीराज विभाग का आभार प्रकट किया। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 18, 2020, 9:21 pm
Clear
Clear
18°C
real feel: 18°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 63%
wind speed: 0 m/s SW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:11 am
sunset: 5:30 pm
 

Recent Posts

Trending