Connect with us

प्रदेश

प्रवासी मजदूरों के आने से UP में कोरोना का चढ़ा पारा, 1200 से ज्यादा पॉजिटिव

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार की मानें तो अब तक देश के विभिन्न हिस्सों से प्रदेश में 12 लाख से ऊपर कामगार मजदूर वापस अपने घरों को आ चुके हैं। इन तमाम कवायदों के बीच में सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बात यह है कि एक तरफ प्रदेश में लगातार जहां कोरोना संक्रमितो की संख्या बढ़ रही थी, वहीं प्रवासी मजदूरों के आने से यह समस्या कई गुना ज्यादा बड़ी होती हुई दिखाई दे रही है। अब तक उत्तर प्रदेश में 1200 से ज्यादा प्रवासी मजदूरों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

स्थानीय जिलों के स्वास्थ्य अधिकारियों ने माना है कि प्रवासी मजदूरों की वजह से लगातार चुनौतियां बढ़ रही हैं। लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश कहते हैं, “राजधानी लखनऊ में अब तक 30 से ज़्यादा कोरोना पॉजिटिव केस प्रवासी कामगार मज़दूर के रूप में मिले है। अभी यह संख्या और ज्यादा हो सकती है लेकिन इनमें से ज़्यादातर लखनऊ ज़िले के नहीं हैं।

इसे भी पढ़ें-बसों का किराया मांगकर अपनी कंगाली का प्रदर्शन कर रही है कांग्रेस- मायावती

उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों के स्वास्थ्य अधिकारियों के माथे पर भी चिंता की लकीरें साफ दिखाई देती हैं। स्वास्थ्य विभाग का आंकड़ा तैयार करने वाली एजेंसी का मानना है कि अब तक जिन जिलों में आए कामगार मज़दूरों में कोरोना संक्रमण मिला है, ब्यौरा तैयार किया जा रहा है। जहां मज़दूर भारी तादाद में आए हैं।

पिछले 3 दिनों में सिर्फ बाराबंकी में 100 से ज़्यादा पॉजिटिव केस कामगार मज़दूरों से जुड़े हैं। बस्ती, सिद्धार्थ नगर, संतकबीर नगर, जौनपुर, बहराइच, श्रावस्ती, गाजीपुर, वाराणसी, आज़मगढ़, अम्बेडकर नगर, अयोध्या, सुल्तानपुर, बलिया, रायबरेली, प्रयागराज, फर्रुखाबाद, चित्रकूट, बलिया, कानपुर देहात, उन्नाव, कुशीनगर, बांदा, अमेठी, सीतापुर, गोंडा, प्रतापगढ़ में हालात ठीक नहीं हैं।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

विजिलेंस विभाग की चूक, मामला झांसी का पत्र जारी कर दिया एलडीए को…

Published

on

लखनऊ। यूपी पुलिस के विजिलेंस विभाग की एक बड़ी चूक सामने आई है। मामला झांसी विकास प्राधिकरण से जुड़ा है जबकि अपर पुलिस अधीक्षक सतर्कता अधिष्ठान झांसी ने पत्र लखनऊ विकास प्राधिकरण को जारी कर दिया है। बिना मामले की जांच किये ही पत्र जारी करने से विजिलेंस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठे हैं। हालांकि एलडीए ने यह पत्र झांसी विकास प्राधिकरण के सचिव को अग्रेषित कर दिया है।

यह भी पढ़ें: दिल्ली में तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल कोविद-19 पॉजिटिव

दरअसल, दानेश कुमार देवांगन भारतीय सेना में तैनात हैं। वह मूल रूप से डडियापुरा झांसी के रहने वाले हैं। उन्होंने 2013 में खेरापति बिल्डकॉन से 43 लाख में एक मकान खरीदा था। दानेश का आरोप है कि बिल्डर ने सुविधाओ का झांसा देकर मकान बेच दिया लेकिन सुविधाएं नहीं दी। उन्होंने बिल्डर पर जमीन की खरीद फरोख्त करने के साथ ही पुलिस और प्रशासन से मिलकर करोड़ो का भ्र्ष्टाचार किया। मामले को लेकर उन्होंने शासन सचिव, जिलाधिकारी सहित विजिलेंस को चिट्ठी लिखी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं। दानेश ने मिलीभगत का आरोप लगाते हुए सीएम पोर्टल पर शिकायत की है। वहीं अपर पुलिस अधीक्षक ने झांसी प्राधिकरण को पत्र लिखने की जगह एलडीए को पत्र लिखा दिया है।http://satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

नाना को facebook पर हुआ प्यार, प्रेमिका को पाने के लिए किया एक मासूम का अपहरण

Published

on

लखनऊ। प्रयागराज के संगम नगरी में रिश्तों को कलंकित करने वाला एक मामला सामने आया है। जहां एक नाना को फेसबुक पर एक युवती से प्यार हो गया। फिर फेसबुक प्रेमिका को पाने के लिए नाना ने अपने ही 15 महीने के नाती का अपहरण कर लिया और बच्चे को जान से मारने की धमकी भी दी। मासूम के अपहण की जानकारी होने पर पुलिस में हड़कंप मच गया।

दरअसल 15 माह के बच्चे का उसके रिश्ते के नाना नन्हे ने ही अपहरण कर लिया था। नन्हे सऊदी अरब में रहता था और फेसबुक पर उसकी करेली की एक फेसबुक की लड़की से दोस्ती हो गई। नन्हे पहले ही शादीशुदा था लेकिन उसने अपनी फेसबुक फ्रेंड को शादी के लिए राजी कर लिया। इस बीच वह भारत आया और अपने भांजे सलमान को लड़की के पास शादी का प्रस्ताव लेकर भेजा।

यह भी पढ़ें: लखीमपुर खीरी: चीनी मील के वाटर टैंक में मिला मगरमच्छ, मचा हड़कंप

यहां कहानी ने नया मोड़ ले लिया। अपने मामा नन्हे की शादी का प्रस्ताव ले जाने वाले सलमान की भी उस फेसबुक फ्रेंड से दोस्ती हो गई। इसके बाद लड़की ने नन्हे से दूरी बना ली। नाराज नन्हे ने अपने भांजे सलमान से बदला लेने की सोची। उसने सलमान के 15 माह के भांजे का 22 सितम्बर को अपहरण कर लिया और सलमान को फोन कर अपनी फेसबुक फ्रेंड को वापस करने की मांग करने लगा।

बच्चे के अपहरण की जानकारी जब उसके पिता करेहदा निवासी मंसूर अली को हुई तो उसने पुलिस में बच्चे के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई। 48 घंटे के अंदर पुलिस ने बच्चे को सकुशल बरामद कर उसके माता-पिता को सौंप दिया है। पुलिस ने मुख्य अपहरणकर्ता नन्हे और उसके साथी दिलदार को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अब दोनों ही आरोपियों को जेल भेजने की तैयारी कर रही है। अपहरणकर्ताओं की गिरफ्तारी किए जाने पर पुलिस टीम को नकद पुरस्कार से सम्मानित किया है।http://satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

कृषि बिल के खिलाफ किसानों का जबरदस्त हल्ला बोल, अयोध्या-लखनऊ हाइवे जाम

Published

on

लखनऊ। कृषि बिल के खिलाफ आज देश भर तमाम विपक्षी पार्टियों के साथ भारतीय किसान यूनियन के देशव्यापी बंद का असर देखने को मिल रहा है। किसानों के ‘ भारत बंद’ की बहुत व्यापक शुरूआत हो चुकी है। पंजाब,हरियाणा, नयी दिल्ली, उत्तर प्रदेश व बिहार समते देश के तमाम राज्यों में किसान मोदी सरकार के कृषि बिल को लेकर सड़कों पर उतर आए हैं।

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में भी कृषि बिल के खिलाफ बड़ी संख्या मे किसानों का हल्लाबोल है। आज लखनऊ से सटे बाराबंकी के साथ ही बागपत व मिर्जापुर में किसान जोरदार प्रदर्शन कर रहे हैं।। इस दौरान नेशनल हाइवे पर पराली जलाकर आगजनी का प्रयास भी किया गया है। कई जगह पर सड़क जाम करने के साथ किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों ने अयोध्या-लखनऊ हाई-वे जाम कर दिया है।

सैकड़ों की संख्या में आंदोलित किसानों ने अयोध्या-लखनऊ हाइवे जाम कर दिया है। इस दौरान किसान आन्दोलन में राहगीरों का लम्बा जाम लग गया। हाइवे के दोनों तरफ गाड़ियों की लंबी लाइनें लग गईं। किसानों के हंगामे को लेकर प्रशासन के हाथ-पांव फूल रहे है। बता दें किसान कृषि बिल पारित होने के बाद से ही आंदोलन और चक्का जाम को लेकर प्रशासन को चेतावनी दे रहे थे। आंदोलित किसानों ने मोदी सरकार को अल्टीमेटम देते हुए ऐलान कर दिया कि जब तक ये किसान विरोधी सरकार तीनों विधेयक वापस नहीं लेगी तब तक लड़ाई जारी रहेगी।

बता दें, कृषि बिल के विरोध में आज किसानों का देशव्यापी बंद है। इसमें 31 संगठन शामिल हो रहे हैं। किसान संगठनों को कांग्रेस, आरजेडी, समाजवादी पार्टी, अकाली दल, आप, टीएमसी समेत कई पाॢटयों का साथ भी मिला है। इसी के साथ यूपी के कई इलाकों जैसे सीतापुर, उन्नाव, महोबा, चंदौली ,पीलीभीत, मिर्जापुर, में किसान बिल के विरोध में भारत बंद के दौरान जगह-जगह चक्का जाम किया गया।

इसे भी पढ़ें- एक ही दिन में कत्ल की 3 वारदातों से दहला बरेली, 5 साल के मासूम का अपहरण कर हत्या

किसान बिल के विरोध में कई संगठन भी मैदान में उतरे हैं। इस जाम की सूचना पाकर पुलिस व प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। वहां पर किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रयागराज में कृषि बिल के विरोध में किसानों ने धरना दिया। प्रयागराज में बड़ी संख्या में किसान कानपुर हाइवे पर धरने पर बैठे है। यहां पर भाकियू के बैनर तले किसान का आंदोलन चल रहा है। यहां पर किसानों के धरने से ट्रैफिक व्यवस्था चरमरा गई है। यहां पर वन-वे ट्रैफिक से वाहनों को निकाला जा रहा है। यहां मौके पर खुल्दाबाद व धूमनगंज पुलिस हाईअलर्ट पर है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 25, 2020, 6:57 pm
Mostly clear
Mostly clear
30°C
real feel: 36°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 78%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:26 am
sunset: 5:29 pm
 

Recent Posts

Trending