Connect with us

प्रदेश

दबंग बरातियों ने हॉस्पिटल में घुसकर स्टाफ और तीमारदारों पर चाक़ू से किया वार, दर्जनों लोग घायल

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के कमला देवी हॉस्पिटल में दबंग बारतियों ने घुसकर स्टाफ और मरीजों के साथ आए उनके परिजनों को जमकर पीटा। इतना ही नहीं बरातियों ने हॉस्पिटल स्टाफ और तीमारदारों पर चाक़ू से भी हमला किया। इस हमले के दौरान लगभग आधे दर्जन लोगों को गहरी चोटें आई हैं।

इस घटना के दौरान जब हॉस्पिटल स्टाफ ने डायल 100 सूचना दी, तो मौके पर पहुंची पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि पुलिस ने दबंगों को कुछ दूर लाने के बाद छोड़ दिया। जिसके बाद हॉस्पिटल स्टाफ ने फिर से 100 डायल कर पुलिस पर दबंगों को छोड़ने का आरोप लगाया है।

ये भी पढ़े:विश्व की ऐतिहासिक धरोहर संरक्षण कार्यक्रम में महापौर संयुक्ता भाटिया सहित सिटी मोंटेसरी के छात्र-छात्राओं ने भी लिया हिस्सा…

जानकरी के मुताबिक हॉस्पिटल स्टाफ ने थाना ठाकुरगंज में दबंगो के खिलाफ थाने में तहरीर दी है। तहरीर के बाद पुलिस ने थाना ठाकुरगंज के भुवर पल के इस हमले में घायल लोगों को अस्पताल पहुंचाया। लेकिन पुलिस लगातार अपनी लापरवाही को छिपाती रही। दबंगों के खिलाफ सीसीटीवी विजुअल होने के बाद भी नही की कोई कार्यवाही। इस पूरे मामले पर सीओ दुर्गा प्रसाद ने बोलने से इंकार किया है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

गोलीकांड मामले में यहियागंज उद्योग व्यापार मंडल के व्यापारियों ने बुलाई आम सभा…

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के चौक सुपारी व्यवसायी श्रीनिवास अग्रवाल की दुकान पर बदमाशों ने गोली चलाई थी। इस बदमाशों द्वारा की ताबड़तोड़ फायरिंग में उनके कर्मचारी की मृत्यु हो गई थी। जिसके बाद यहियागंज उद्योग व्यापार मंडल के व्यापारियों ने गोली मारकर हुई हत्या के मामले विरोध जताया है। इतना ही नहीं उन्होंने आज आम सभा भी बुलाई है।

ये भी पढ़ें:अखिलेश यादव ने यूपी की कानून व्यवस्था पर खड़े किए सवाल, कहा- दिन-प्रतिदिन…

जानकारी के मुताबिक इस गोलीकांड को लेकर यहियागंज उद्योग व्यापार मंडल अध्यक्ष अमरनाथ मिश्रा  की अध्यक्षता में बुलाई गई आम सभा नेहरू क्रॉस नादान महल रोड पर बैठक समाप्ति तक समस्त दुकानें बंद रहीं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

अखिलेश यादव ने यूपी की कानून व्यवस्था पर खड़े किए सवाल, कहा- दिन-प्रतिदिन…

Published

on

अखिलेश यादव

फाइल फोटो

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी में अराजकता की स्थिति हो गई है। यहां बड़ी आबादी में लोगों के अन्दर डर है। इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि यहां की कानून व्यवस्था दिन-प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है।

राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के कई जिलों में में आए दिन हत्याएं हो रही हैं। इसे दुरुस्त करने के बजाए सीएम योगी आदित्यनाथ खुद अलोकतांत्रिक भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। बता दें अखिलेश यादव गुरुवार को पार्टी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा भाजपा राज में नागरिकों के अधिकारों का हनन किया जा रहा है। लोकतंत्र में सभी को असहमति का अधिकार है। इसमें धमकी और अहंकार के लिए कोई स्थान नहीं होता है। मुख्यमंत्री वन ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था का दावा कर रहे हैं, लेकिन यह कैसे हासिल होगा इसकी कोई रूपरेखा अभी तक तय नहीं है। पुलिस हिरासत में सबसे अधिक मौतें यूपी में हुईं हैं।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने नैतिकता को ताक पर रखकर असत्य को स्थापित करने की प्रतियोगिता शुरू कर दी है। उन्होंने कहा भाजपा के अहंकार से परेशान जनता का विश्वास समाजवादी पार्टी और उसकी सरकार के समय हुए तमाम विकास कार्यों पर है। वर्ष 2022 के विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी के 351 विधायकों के साथ जनता के बल पर फिर सपा एक बार फिर सरकार बनाएगी।

ये भी पढ़ें:CAA: उजरियांव गांव में बारिश के बाद भी महिलाओं का प्रदर्शन जारी, लगाए नारे…

अखिलेश यादव ने कहा कि जीवन में बदलाव लाने वाले काम समाजवादी सरकार में हुए थे। जो मेडिकल कालेज समाजवादी सरकार में बने थे उन्हें ही अपना बताने में भाजपा संकोच नहीं कर रही है। एक्सप्रेस-वे और मेट्रो जैसी कोई चीज भाजपा नहीं बना पाई है। सपा सरकार एक बार फिर बनने पर और भी अच्छी सुविधायुक्त अस्पताल बनाएंगे। चिकित्सा सुविधाएं बढ़ाई जाएगी। जनहित के विकासकार्यों का विस्तार किया जाएगा।

अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं से कहा कि हमें गांव-गांव, घर-घर जनसंपर्क अभियान शुरू करना चाहिए। इस दौरान समाजवादी पार्टी की नीतियां, कार्यक्रम और समाजवादी सरकार की उपलब्धियां लोगों तक पहुंचाई जाएं।पार्टी की मजबूती के लिए हम सबकी एकजुटता एवं निष्ठा आवश्यक है। जनता के विश्वास को बना रखना है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

CAA: उजरियांव गांव में बारिश के बाद भी महिलाओं का प्रदर्शन जारी, लगाए नारे…

Published

on

सीएए

फाइल फोटो

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के सीएए व एनआरसी के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन बंद होने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में अब घंटाघर के बाद गोमतीनगर थाना क्षेत्र स्थित उजरियांव में भी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ शुरू हुए विरोध प्रदर्शन को एक महीने से ज्यादा हो गया है। NRC, CAA व NPR के खिलाफ महिलाओं का विरोध प्रदर्शन इस घने कोहरे को पार करते हुए बारिश में भी लगातार जारी है। आज बारिश के बाद भी महिलाओं में जोश की कमी नहीं आई है। वह लगातार सीएए, एनआरसी के खिलाफ विरोधप्रदर्शन कर रही हैं।

जानकारी के मुताबिक 40-50 की संख्या में महिलाएं शाहीन बाग व घंटाघर पर सीएए के विरोध में शुरू हुए धरने को देखते हुए उजरियांव गांव में भी धरने पर बैठ गई थीं। उस वक्त शायद किसी को भी इस बात का अंदाजा नहीं था कि यह आंदोलन इतना बड़ा आकार ले लेगा। उजरियांव में प्रदर्शन का एक महीना पूरा होने पर विशेष कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया है।

ये भी पढ़ें:महाशिवरात्रि:मनकामेश्वर में भक्तों की उमड़ी भीड़, शिव को चढ़े बेलपत्र, लगे जयकारे…

इतना ही नहीं उजरियांव का धरना 19 जनवरी शाम 6 बजे करीब 50 महिलाओं से शुरू ही हुआ था कि धरने स्थल पर पुलिस आ गई। जिसके बाद पुलिस ने धरने पर बैठी हुई महिलाओं को धमकाते हुए कहा कि आप लोग यहां धरना नहीं दें सकती हैं। यह कहते हुए धरने स्थल पर लगे टेंट, कम्बल, दरी, कुर्सी, पोस्टर को पुलिस थाने उठा ले गई। हालांकि 19 जनवरी की कड़ाके की ठंड में रात में भी उजरियांव की महिलाओं ने हार न मानी वह धरने पर बैठी रहीं। धरने के दूसरे दिन से महिलाओं की संख्या बढ़ने लगी और अब महिला संघर्ष को एक महीने से ज्यादा हो गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 21, 2020, 1:20 pm
Partly sunny
Partly sunny
22°C
real feel: 22°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 68%
wind speed: 4 m/s E
wind gusts: 10 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 6:08 am
sunset: 5:32 pm
 

Recent Posts

Trending