Connect with us

प्रदेश

दारुल उलूम फरंगी महल ने कोरोना को लेकर जारी किया फतवा…

Published

on

कहा, बीमारी को छुपाना और इलाज न कराना दोनों हराम

लखनऊ। एक तरफ कोरोना महामारी देश में अपने पैर पसार रही है, तो वहीं दूसरी तरफ कई जगहों पर लोगों द्वारा कोरोना जांच का विरोध किया जा रहा है। कुछ जगहों पर तो डाक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ मारपीट की भी खबरें आई है। इसी संबंध में लखनऊ स्थित दारुल उलूम फरंगी महल की तरफ से मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने एक फतवा जारी किया है। दारुल उलूम के फतवे में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण की जांच और इलाज कराना सभी के लिए लाजिमी है। इस बीमारी को छुपाना बहुत बड़ा जुर्म है, और इस्लाम की रोशनी में किसी की जान को अपनी जान या किसी दूसरे की जान को हालाकात हराम है।

क्योंकि अल्लाह ने कुरान में फरमाया है कि जिस किसी ने भी एक इंसान की जान बचाई तो जैसे उसने तमाम इंसानों की जान बचाई है। मौलाना ने कहा कि इस सिलसिले में दारुल उलूम फिरंगी महल में जनाब सऊद रईस एडवोकेट की तरफ से एक फतवा दाखिल किया गया है। जिसमें सवाल किया गया है कि यदि कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से मुतासिर है, लेकिन वह अपने मर्ज को छुपाता है, और इलाज कराने के लिए तैयार नहीं है। तो क्या शरीयत के हिसाब से यह दुरुस्त है? साथ ही यह भी पूछा गया है कि सरकार और स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी एडवायजरी और निर्देशों पर अमल करना क्या जायज है?

यह भी पढ़ें-उप्र सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने अब तक 20 लाख रुपए की बांटी ‘राहत’

इन सवालों का जवाब देते हुए दारुल उलूम फरंगी महल ने अपने फतवे में कहा, इस्लाम एक दीन फितरत है। इसमें इंसान की जान और माल को पूरी अहमियत दी गयी है। इस्लाम की हिदायत है कि खुद भी हलाकत से बचो और दूसरे को भी बचाओ। कोरोना की जांच और इलाज न कराने वाला खुद भी तबाह होगा और दूसरे की जान को भी खतरे में डालेगा। हदीस में पैगंबरे इस्लाम हुजूर सल्लल्लाहु अलैय वसल्लम ने फरमाया है किसी के लिए खुद नुकसान उठाना और दूसरों को नुकसान पहुंचाना जायज नहीं है। इस हदीस पाक की रोशनी में सहाबा इकराम ने लिखा है कि किसी को नुकसान पहुंचाना जानी हो या माली हालत यह हराम है। एक तरह से धोखा देने के बराबर है। और धोखा देना हराम है। खुद भी इस मजहब की तालीम के खिलाफ है। यह मुल्क और कौम के साथ खिलाफ था इसलिए कोरोनावायरस को छुपाना संगीन जुर्म है और इसका इलाज कराना इंसान को जरूरी है।

पूरी दुनिया के सामने एक अच्छी छवि भी देनी है

हुकूमत की तरफ से जो हिदायत दी गई हैं। हजरात में जो इतिहास थी या डॉक्टर की तरफ से सलाह दी गई है उसकी भी पाबंदी करें और उसपर मुकम्मल करना बेहद जरूरी है। कुरान में अल्लाह तबारक ताला ने फरमाया है कि अपने आप को कत्ल ना करो जो शख्स एहतियात नहीं करता खुद को भी तबाही में डालता है और ऐसा करना शरीयत की रोशनी में मुकम्मल तौर पर हराम है। लिहाजा आज फतवा जारी करके पूरे मुल्क और पूरी दुनिया के सामने एक अच्छी छवि भी देनी है। जिससे कि कोरोना वायरस की जांच कराना और उसको छिपाना अगर कोई शख्स इसकी जद में है तो उसको जांच कराना जरूरी है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

विकास दुबे के हमले में जिन्दा बचे घायल पुलिस जवानों से मिला कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल

Published

on

लखनऊ। प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू व आराधना मिश्रा की अगुवाई में कांग्रेस के एक प्रतिनिधि मंडल ने कानपुर के विकरू गांव में हुई मुठभेड़ में घायल पुलिस जवानों से मुलाकात की। कांग्रेस नेताओं ने अस्पताल में भर्ती जांबाज पुलिसकर्मियों से मिलकर उनकी हौंसला अफजाई की और हालचाल लिया। प्रतिनिधिमंडल मंडल में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू व विधायक मंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना के साथ वरिष्ठ कांग्रेसी नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी, आरके चैधरी भी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें-यूपी की बिगड़ती कानून व्यवस्था और जंगलराज के खिलाफ अभियान चलाएगी कांग्रेस

कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने घायल पुलिसकर्मियों आश्वास्त किया कि कांग्रेस उनको न्याय दिलाएगी। दोषियों को जल्द से जल्द सजा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

शहीद पुलिसकर्मियों को एनसीपी कार्यकर्ताओं ने दी श्रद्धाजंलि

Published

on

कहा- सीएम पद से इस्तीफा दे योगी, कानून व्यवस्था उनके बस की बात नहीं

लखनऊ। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर यादव ने कानपुर घटना में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को श्रद्धाजंलि देते हुए कहा कि योगी सरकार में अपराधियों के हौसले बुलंद है। पुलिस ही अपनी रक्षा नहीं कर पा रही है, तो आम आदमी की रक्षा कौन करेगा। उन्होंने कहा कि कानपुर की घटना ने सरकार के कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है। एनसीपी प्रदेश अध्यक्ष ने मांग करते हुए कहा कि सीएम योगी अपने पद से इस्तीफा दे। क्योंकि उनके नेतृत्व में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। कानून व्यवस्था उनके बस की बात नहीं है।

यह भी पढ़ें:- प्रदेश में भाजपा सरकार की चलाचली की बेलाः अखिलेश यादव

उन्होंने कहा कि कानपुर की घटना रोंगटे खड़े कर देने वाली है। इस जघन्य घटना ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है। लचर कानून व्यवस्था के कारण अपराधी ,माफिया और बलात्कारी खुलेआम घूम रहे हैं और आए दिन कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ा रहे हैं। लेकिन सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। यादव ने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने पुलिस सुधार पर प्रदेश सरकार को निर्देशित भी किया है। वहीं पुलिस सुधार की रिपोर्ट सचिवालय में धूल खा रही है। इस मौके पर एनसीपी कार्यालय पर एक श्रद्धाजंलि सभा भी आयोजित की गई जिसमें पार्टी के वरष्ठि नेता राम स्नेही मिश्र, श्रवण अवस्थी, रामप्रीत शर्मा, इन्द्रसेन यादव सहित अन्य पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

प्रदेश में भाजपा सरकार की चलाचली की बेलाः अखिलेश यादव

Published

on

मुख्यमंत्री शिलान्यास कर निभा रहे औपचारिकता

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शिलान्यास को लेकर भाजपा सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा कि यूपी में भाजपा सरकार की अब चलाचली की बेला आ गई है। तभी मुख्यमंत्री कहीं शिलान्यास की औपचारिकता निभाने का टोटका कर रहे हैं। तो कहीं वृक्षारोपण के रिकार्ड बनाने में लग गए हैं। वहीं प्रदेश में कानून व्यवस्था की बिगड़ती दशा पर वे आंख बंदकर बैठ गए हैं। अपने कार्यकाल के अधिकांश समय में सीएम जनहित की कोई योजना सामने नहीं ले पाए अब विदाई में पत्थरों पर अपना नाम छपवाने में सक्रियता दिखा रहे हैं। लेकिन जनता सच्चाई जानती है कि जब अभी तक कुछ नहीं कर पाए तो अब आखिर में क्या खाक हवा महल बना देंगे?

उन्होंने कहा कि सीएम हस्तिनापुर में वृक्षारोपण अभियान की शुरूआत करेंगे। तो इसमें नई बात क्या है? महाभारत काल में देश की राजधानी हस्तिनापुर को इससे क्या मिलने वाला है? हस्तिनापुर को रेल मार्ग और हाइवे से जोड़ने की मांग पिछले 70 वर्षों से जनता करती आ रही है। लेकिन भाजपा सरकार का भी ध्यान इधर न गया है और न जाने वाला है। भाजपा सपने दिखाकर लोगों को बहकाने का काम बड़ी चतुराई से करती है। जबकि समाजवादियों का काम खुद बोलता है। सपा सरकार के समय ही हस्तिनापुर में एक बड़ा बिजलीघर बना जिससे किसानों, नगरवासियों की बिजली सम्बंधी समस्या दूर हो गई। आश्रम पद्धति का एक हाईस्कूल और गल्र्स हास्टल बना। बूढ़ी गंगा पर पुल बनवाया गया। बस्तौरा गांव में गंगा के पानी से गांवों को बचाने के लिए बांध बना। डेयरी फार्म की जमीन समतल कराई। यानी जो भी विकास हुआ, समाजवादी सरकार के कार्यकाल में ही हुआ हैं।

अखिलेश ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार की एक विशेषता यह भी है कि वह अपने काम का ब्यौरा देने से कतरा रही है। पर्यावरण संरक्षण भाजपा के लिए भ्रष्टाचार का एक रास्ता है। वहीं सपा सरकार में राजधानी लखनऊ में 400 एकड़ जमीन में विशाल जनेश्वर मिश्र पार्क बना, जहां की हरियाली देखते बनती है। लाॅयन सफारी इटावा में एक हजार एकड़ में वृक्षारोपण किया गया था। समाजवादी सरकार का एक दिन में 5 करोड़ वृक्षारोपण का रिकार्ड गिनीज बुक में दर्ज है। चूंकि इनके रख-रखाव की भी व्यवस्था हुई इसलिए वे आज भी जीवित हैं और फल-फूल रहे हैं।

यह भी पढ़ें:- UP: 24 घंटे में कोरोना के 772 नए मामले, संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 26569

उन्होंने कहा कि प्रदेश में हरियाली उगाने के पहले मुख्यमंत्री बुन्देलखण्ड में जलधारा भी बहा चुके हैं। मंगलवार को उन्होंने शिलान्यास के पत्थर में अपना नाम लगवा दिया बस यही उनका विकास मिशन है। भाजपा सरकार को लगता है कोई ऐसा मंत्र फूंक दिया है कि अब सदा के लिए बुन्देलखण्ड की प्यास भी बुझ जाएगी। भाजपा नेतृत्व की समस्या यह है कि उनमें सच्चाई का सामना करने की हिम्मत नहीं है। बुन्देलखण्ड में समाजवादी सरकार के समय ही पानी की टंकी लगी, पाइप बिछा दिए गए थे। चरखारी में 8 तालाबों का जीर्णोद्धार हुआ। चंद्रावल नदी को पुनर्जीवित करने के साथ सैकड़ों तालाब गहरे किए गए। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 5, 2020, 10:11 am
Fog
Fog
30°C
real feel: 37°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 83%
wind speed: 3 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 4:49 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending