Connect with us

प्रदेश

हार-जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए अयोध्या पर फैसला: भाकपा

Published

on

लखनऊ। अयोध्या मामले पर फैसला आने के बाद भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव मण्डल डॉ. गिरीश ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले से दशकों से लंबित एक कानूनी विवाद का पटाक्षेप हो गया है।

सभी आस्थाओं को समान बताते हुये सम्मानित सर्वोच्च अदालत ने यह संतुलित और स्वीकार्य फैसला दिया है। इसे नीति, न्याय और धर्म निरपेक्षता के व्यापक परिप्रेक्ष्य में देखा जाना चाहिये। इसे किसी भी पार्टी, पक्ष और वादी की जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिये। सभी को भड़कावे से बचना चाहिये।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने देश को किया संबोधित, कहा- कोर्ट का फैसला भारत में लाएगा नया सवेरा

उन्होंने कहा कि फैसला आने के बाद पूरा दिन बीत जाने के बाद देश और प्रदेश के किसी भी कोने से वारदात की कोई सूचना नहीं मिली है। यह मेल मिलाप ही हमारी साझा विरासत और संस्कृति की देन है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भाकपा फैसले का गहनता से अध्ययन करेगी और भविष्य में उसके प्रभावों पर विचार करेगी।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

कानपुर एनकाउंटर: विकास दुबे का एक और साथी शशिकांत गिरफ्तार, हथियार बरामद

Published

on

लखनऊ। कानपुर जिले के बिकरु गांव में सीओ सहित पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में 50 हजार रुपए का इनामी वांछित अपराधी शशिकांत पांडेय  को पुलिस ने मंगलवार रात 2:30 बजे  गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही उसके पास से पुलिसकर्मियों से लूटे गए हथियारों को बरामद कर लिया गया है। पुलिस ने उसके पास से एके-47 व 17 कारतूस, इसांस राइफल व 20 जिंदा कारतूस बरामद किया है। जिसकी जानकारी एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने मंगलवार को दी।

एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि बिकरू कांड के एक और आरोपी शशिकांत पांडेय को गिरफ्तार कर लिया गया है। उस पर 50 हजार रुपये का इनाम था। शशिकांत के खुलासे के बाद पुलिस ने विकास दुबे के घर से एके-47 और 17 कारतूस बरामद कर लिया है। इसके साथ ही शशिकांत के घर से इंसास राइफल भी मिली है। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में 21 आरोपी थे। जिसमें चार लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। गिरफ्तार आरोपियों में श्यामू वाजपेयी, जहान यादव, दयाशंकर अग्निहोत्री और शशिकांत है। वहीं  अबतक 6 आरोपियों को एनकाउंटर में  ढेर किया जा चुका है। मारे गए आरोपियों में  विकास दुबे, प्रेम कुमार पांडेय,  अतुल दुबे, अमर दुबे, प्रभात मिश्रा और प्रवीण दुबे शामिल है।

एडीजी ने बताया कि 120बी के तहत सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 216 में दो आरोपी जेल गए हैं। अभी इस केस में 11 लोगों की तलाश जारी है। इसके अलावा महाराष्ट्र में पकड़े गए दो लोगों को रिमांड पर यूपी लाया जा रहा है। उनपर आगे की कार्रवाई नियमानुसार की जाएगी। गिरफ्तार किया गया शशिकांत पांडेय विकास दुबे का कथित मामा प्रेम कुमार पांडेय का बेटा है। आरोपी शशिकांत ने पूछताछ के दौरान बताया कि इस घटना में विकास दुबे का अलावा अमर दुबे, अतुल दुबे, प्रेम कुमार पांडेय, प्रभात मिश्रा, प्रवीण दुबे, हीरु, शिवम, जिलेदार, रामसिंह, रमेशचंद्र, गोपाल सैनी, अखिलेश मिश्रा, विपुल, श्यामू वाजपेयी, राजेन्द्र मिश्रा, बालगोविंद दुबे और दयाशंकर अग्निहोत्री वारदात में शामिल थे।

यह भी पढ़ें:- सीएम योगी ने कहा- घर या कार्यालय पर भीड़ न जुटाएं सरकार के मंत्री

बता दें कि कानपुर के बिकरू गांव में 2 जुलाई की रात दबिश देने गई पुलिस टीम पर विकास दुबे और उसके गुर्गो ने हमला किया था। इस दौरान सीओ देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इसके बाद एनकाउंटर में विकास दुबे और उसके पांच साथी मारे जा चुके हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

माले का योगी सरकार में दमन-उत्पीड़न के खिलाफ आज से प्रदेशव्यापी जन अभियान

Published

on

डॉ. कफील खान समेत जेल में बंद समाज सेवियों की रिहाई जैसी मांगे शामिल

लखनऊ। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) योगी सरकार में दमन-उत्पीड़न व जंगल राज के खिलाफ लोकतंत्र के लिए 14 से 20 जुलाई तक प्रदेशव्यापी जन अभियान चलाएगी। कोरोना सतर्कता संबंधी नियमों का पालन करते हुए यह अभियान चलेगा।

यह जानकारी देते हुए भाकपा (माले) के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने बताया कि सप्ताह भर के अभियान के दौरान पार्टी के नेता-कार्यकर्ता लोगों के बीच जाएंगे और प्रदेश में दलित-आदिवासी उत्पीडऩ, आंदोलनकारियों के दमन व जंगल राज को लेकर योगी सरकार का पर्दाफाश करेंगे। 

उन्होंने कहा, कि गंभीर रूप से बीमार सुप्रसिद्ध कवि वरवर राव, गोरखपुर के बाल चिकित्सक डॉ. कफील खान समेत जेल में बंद समाजसेवियों की रिहाई, राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर दर्ज फर्जी मुकदमों की वापसी, कमजोर वर्गों पर अत्याचार के मामलों में न्याय, लोकतंत्र की बहाली और आयकर सीमा के बाहर सभी को प्रतिमाह प्रति यूनिट 10 किलो राशन, दस हजार रु. लॉकडाउन भत्ता व रोजगार की मांग की जाएगी। बैठक, सभा, मार्च आयोजित कर व ज्ञापन देकर अभियान का समापन होगा।

इसे भी पढ़ें-अयोध्या विवाद मामले में आया नया मोड़, रामजन्मभूमि पर बौधिष्ठों ने ठोंका दावा

राज्य सचिव ने कहा कि मोदी-योगी की सरकार कोरोना आपदा से निपटने में असफल साबित हुई है। मरीजों की तेजी से बढ़ती संख्या इसका प्रमाण है। इस मामले में भारत दुनिया के देशों में तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। मगर महामारी के दौर में भी भाजपा की केंद व प्रदेश सरकार आपदा को लोकतंत्र-विरोधी कामों व संघी एजेंडे को लागू करने के अवसर के रूप में इस्तेमाल करने से चूक नहीं रही हैं। 

माले नेता ने कहा, कि कानपुर के बिकरु कांड ने जहां कानून-व्यवस्था के योगी सरकार के दावों की पोल खोल दी। इससे जुड़े सभी मामलों की सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज की अध्यक्षता में जांच करा कर असलियत को उजागर करने के बजाय प्रदेश सरकार की ओर से लीपापोती करने की कोशिश शुरू कर दी गई है।

भाकपा (माले) के राज्य सचिव ने कहा कि योगी राज में निशाने पर अपराधी नहीं, आंदोलनकारी हैं। डॉ. कफील जैसे अल्पसंख्यक तो टारगेट में पहले से ही हैं। लोकतंत्र की आवाज उठाने के कारण सीतापुर, लखीमपुर खीरी, मुरादाबाद, अयोध्या से लेकर प्रयागराज, मिर्जापुर तक भाकपा (माले) के नेताओं-कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस द्वारा फर्जी मुकदमे कायम किये गए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सीएम योगी ने कहा- घर या कार्यालय पर भीड़ न जुटाएं सरकार के मंत्री

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी तेजी से अपने पैर पसार रही है। जिसके चलते सीएम योगी आदित्यनाथ के मंत्री, भाजपा नेता व अन्य पार्टियों के नेता विधायक कोरोना संक्रमण की चपेट में आने लगे है। जिसके बाद सीएम योगी सख्त हो है। उन्होंने सभी मंत्रियों को सतर्क करते हुए सलाह दी है कि बेवजह घर या दफ्तर में भीड़ न इकट्ठा करें। इसके साथ ही बेहद जरूरी होने पर ही वह फील्ड में जाएं। उन्होंने कहा कि मंत्री भी फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें। संक्रमित होने के बाद अपने दफ्तर और घर के लोगों की जांच कराने के साथ ही अपने घर और दफ्तर को पूरी तरह से सैनिटाइज जरूर कराएं।

प्रदेश सरकार राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह, धर्म सिंह सैनी, चेतन चौहान, उपेंद्र तिवारी और रघुराज सिंह के कोरोना पॉजिटिव निकलने बाद मुख्यमंत्री ने सख्त रूख अपनाते हुए यह निर्देश दिए हैं। वहीं कैबिनेट मंत्री मोती सिंह का पूरा परिवार कोरोना संक्रमित हो गया था। उन्हें इलाज के लिए मेरठ में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें:- CM योगी के एक और मंत्री ठाकुर रघुराज सिंह कोरोना पाॅजिटिव, संख्या पहुंची 5

कोरोना के संक्रमण ने विधानसभा सचिवालय को भी चपेट में आ गया है। विधानसभा अध्यक्ष के ओएसडी पंकज मिश्रा कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसके साथ ही विधानसभा अध्यक्ष का एक गार्ड भी कोरोना संक्रमित मिला है। इन सबके संक्रमित पाये जाने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रियों को सतर्कता बरतने के निर्देश दिया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 14, 2020, 2:37 pm
Thunderstorms
Thunderstorms
32°C
real feel: 39°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 79%
wind speed: 1 m/s SE
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 4:53 am
sunset: 6:33 pm
 

Recent Posts

Trending