Connect with us

प्रदेश

उप्र ऊर्जा निगमों में बाहर से लाये गये निदेशकों की नियुक्ति का विरोध

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य के ऊर्जा निगमों के अनुभवी अभियन्ताओं को नजरंदाज कर निदेशक स्तर के 04 पदों पर उड़ीसा एवं बिहार के व्यक्तियों को निदेशक बनाये जाने का विद्युत अभियन्ताओं ने तीखा विरोध किया है। अभियन्ताओं ने कहा कि सरकार पर ऊर्जा निगमों के अभियन्ताओं को हतोत्साहित कर निजीकरण के एजेण्डे को आगे करने का आरोप लगाया। बिजली अभियन्ताओं ने इन निदेशकां की नियुक्तियां रद्द करने की मांग की है। बता दें कि 10 जुलाई को ऊर्जा निगमों की कुल पांच पदों में से चार पदों पर एनटीपीसी, पावर ग्रिड एवं ओपीटीसीएल के व्यक्तियों को 62 वर्ष की आयु पूर्ण करने तक निदेशक नियुक्त किया गया है। जबकि केन्द्र सरकार के आदेशानुसार केन्द्र सरकार के उपक्रमों के लिए निदेशकों की अधिकतम आयु 60 वर्ष ही निर्धारित है।
उप्र राज्य विद्युत परिषद अभियन्ता संघ के अध्यक्ष जीके मिश्रा एवं महासचिव राजीव सिंह ने बयान जारी कर कहा कि विगत दिनां ऊर्जा निगमों में निदेशक पदों पर नियुक्ति के लिए प्रकाशित विज्ञापन में अधीक्षण अभियन्ता एवं मुख्य अभियन्ताओं को अर्हता शर्तों में शामिल किया। लेकिन अब विभागीय अधीक्षण अभियन्ता एवं मुख्य अभियन्ताओंध्अधिशासी निदेशकों के अनुभवों को नजरंदाज किया जा रहा है। उप्र के ऊर्जा निगमों में बाहर के व्यक्तियों को निदेशक बनाया गया है। सरकार के इस कदम से प्रदेश के समस्त विद्युत अभियन्ताओं में तीव्र आक्रोश है।
पदाधिकारियों ने बताया कि ऊर्जा निगमों में बाहर से लाये गये व्यक्तियों को निदेशक बनाये जाने का पूर्व में बार-बार प्रयोग हुआ है। लेकिन हर बार विफल रहा है। पूर्व में एनटीपीसी से पीके अग्रवाल, राधे मोहन, महाराष्ट्रा से पीजी खण्डालकर, उड़ीसा से पीसी पाण्डा, एसके मिश्रा आदि बाहर से लाये गये निदेशकों का कार्यकाल पूर्ण रूप से विफल रहा है। उनके तथाकथित अनुभवों का ऊर्जा निगमों को कोई लाभ नहीं मिला है बल्कि उन्होंने ऊर्जा निगमों के अनुभवी अभियन्ताओं के पदोन्नति के अवसरों को बाधित करते हुए मात्र रबर स्टैम्प ही रहे हैं।

यह भी पढ़ें-नाकामियों को छिपाने के लिए सांसदों की पदयात्रा करा रही भाजपा : अखिलेश

पदाधिकारियों ने कहा कि सरकार के इस कदम से ऐसा प्रतीत होता है कि उसे ऊर्जा निगमों के अभियन्ताओं पर भरोसा नहीं है। सरकार किसी छिपे एजेण्डे के तहत बाहर के व्यक्तियों को दूसरे दरवाजे से ऊर्जा निगमों में प्रवेश कराया जा रहा है। इसका तीव्र विरोध किया जायेगा। विद्युत अभियन्ताओं ने सरकार से पूर्व में नियुक्त किये गये तथा वर्तमान में नियुक्त बाहर से लाये गये सभी निदेशकों की नियुक्तियां रद्द कर विभागीय अधिकारियों को निदेशक बनाने की मांग की है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

नाकामियों को छिपाने के लिए सांसदों की पदयात्रा करा रही भाजपा : अखिलेश

Published

on

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से गुरुवार को विभिन्न जनपदों के कार्यकर्ताओं ने भेंट कर शिकायत की कि भाजपा सरकार में निर्दोष और गरीब लोगों को फर्जी मामलों में फंसाया जा रहा है। विपक्षियों का उत्पीड़न हो रहा है। सत्ता का दुरूपयोग हो रहा है। विकास के कार्य रूके हुए हैं। भाजपा की जनहित में कोई योजना लागू करने में कोई रूचि नहीं है। अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं से अन्याय का मुकाबला करने और जोरशोर से चुनाव अभियान में जुटने का आग्रह किया। उन्होंने कहा भाजपा की साजिशों से सावधान रहते हुए कार्यकर्ताओं को जनता के बीच जाकर समाजवादी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी देनी चाहिए।
श्री यादव ने कहा कि भाजपा अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए अब 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर 2019 गांधी जयंती से सरदार पटेल की जयंती तक भाजपा सांसदों की पदयात्रा का आयोजन कर रही है। वस्तुतः भाजपा बुनियादी समस्याओं के समाधान के बजाय पदयात्रा कर जनभावनाओं से खिलवाड़ करना चाहती है।

यह भी पढ़ें-2014 के बाद पहली बार रिकार्ड स्तर पर पहुंचा सोना, चांदी भी चमकी

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में आज किसान, गरीब, नौजवान सभी परेशान हैं। नौजवानों का भविष्य अंधेरे में है। भ्रष्टाचार चरम पर है। किसान को न तो न्यूनतम समर्थन मूल्य मिल रहा है और नहीं अभी तक किसानों की आय दुगनी करने की योजना का कोई ठोस प्रारूप सामने आया है। गन्ना किसानों का बकाया भुगतान अभी तक नहीं हो पाया है।
अखिलेश ने कहा कि भाजपा के जनविरोधी हथकंड़ों को सफल नहीं होने देना है। भाजपा की प्रलोभन की राजनीति से लोकतंत्र और स्वतंत्रता आंदोलन के मूल्यों के लिए खतरा हो सकता है। भाजपा का इन मूल्यों से कोई लेना देना नहीं है। भाजपा और उसका मातृ संगठन आर.एस.एस. कभी भारत की आजादी के आंदोलन में शामिल नहीं रहा। लोकतंत्र में भी उसकी आस्था नहीं है। संविधान का सम्मान भी भाजपा में नहीं है। भाजपा समाजवादी विचारधारा की विरोधी है। श्री यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को वैचारिक स्तर पर अपनी बात मजबूती से रखने के लिए भी तैयार रहना चाहिए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

बिना टिकट व अनियमित रेल यात्रियों के विरुद्ध चलाया गया सघन चेकिंग अभियान

Published

on

लखनऊ। टेनों में बिना टिकट व अनियमित यात्रियों की तलाशी के लिए गुरुवार को अधिकारियों ने सघन चेकिंग अभियान चलाया। वरिष्ठ मण्डल वाणिज्य प्रबंधक उत्तर रेलवे जगतोष शुक्ला के नेतृत्व में लखनऊ-सफदरगंज रेल खंड पर चेकिंग अभियान चलाया गया। इस अभियान के तहत विभिन्न रेलगाड़ियों की जांच की गयी जिसमे गाडी 12556 गोरखधाम एक्सप्रेस, 13010 देहरादून दृहावड़ा, दून एक्स., 12511 राप्ती सागर एक्स, 13151 हावड़ा दृजम्मूतवी एक्स. 12541 गोरखपुर लोकमान्य तिलक टर्मिनस सुपरफास्ट एक्सप्रेस, 15909 अवध असम एक्सप्रेस, 15045 गोरखपुर दृ ओखा एक्स. 13020 बाघ एक्सप्रेस, सहित अनेक अन्य गाडियों में सघन टिकट चेकिंग अभियान चलाया गया। चेकिंग के दौरान 310 बिना टिकट अनियमित टिकट यात्रियों को यात्रा करते पाया गया जिनसे 1,65,275 रुपए का जुर्माना वसूला गया। इस टिकट चेकिंग अभियान में सहायक वाणिज्य प्रबंधक एस.एस. यादव, मुख्य टिकट निरीक्षक आर के जुनेजा एवं हरि ओम बाजपाई व 10 टिकट चेकिंग कर्मचारी और जीआरपी कर्मचारी उपस्थित रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

बुलंदशहर में रोडवेज बसों की आमने-सामने की टक्कर, तीन की मौत, 50 लोग घायल

Published

on

लखनऊ। दिल्ली से बदायूं जा रही रोडवेज की एक बस और सामने से आ रही दूसरी रोडवेज बस की बुलंदशहर में टक्कर हो गयी। इस दुर्घटना में तीन यात्रियों की मौत हो गयी जबकि 50 यात्री गंभीर रूप घायल हो गए। जानकारी के अनुसार जनपद बुलंदशहर के थाना सलेमपुर चिट्ठा में दिल्ली से बदायूं की ओर जा रही रोडवेज की बस सामने से आ रही रोडवेज बस से भिड. गयी। टक्कर इतनी जोरदार थी कि दोनों बसों के परखच्चे उड. गए। इस हादसे में तीन यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि करीब 50 लोग घायल हैं। घायलों में से 10 लोगों की हालत गंभीर बतायी जा रही है। पुलिस ने मृतकों के शव पोस्टमार्ट्म के लिए भेज दिए हैं। टक्कर के बाद बसें सड.क किनारे खाईं में गिर गईं। हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने बचाव कार्य शुरू करने के साथ पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने सभी घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया है। हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के आरोप है कि रोडवेज बस के ड्राइवर पर शराब के नशे में घुत थे। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मुख्यमंत्री ने शोक व्यक्त किया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद बुलंदशहर में एक सड़क दुर्घटना में तीन लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। सीएम योगी ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को इस हादसे में घायल हुए लोगों का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 11, 2019, 7:26 pm
Fog
Fog
29°C
real feel: 36°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 94%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:51 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending