Connect with us

प्रदेश

पिता ने अपनी बेटियों को बनाया हैवानियत का शिकार, 15 साल से कर रहा था रेप

Published

on

लखनऊ

फाइल फोटो

लखनऊ। दुनिया में ऐसे कुछ लोग है जो रिश्तों को तार-तार करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला राजधनी लखनऊ के चिनहट से सामने आया है। जहां एक बाप ने हैवानियत की सारी हदें पार कर 15 साल से अपनी ही 2 बेटियों के साथ दुष्कर्म करता रहा। इस मामले का खुलासा तब हुआ जब बड़ी बेटी ने पत्र लिखकर 181 आशा ज्योति केंद्र से दोनों बहनों को हैवान पिता के हैवानियत से बचाने की गुहार लगाई।  

बता दें बेटियों की मदद के लिए केंद्र की टीम ने रविवार को देर शाम दोनों को उनके घर से रेस्क्यू कर लिया। दोनों पीड़ित बहनों को बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) के सामने पेश किया गया। समिति ने पिता के खिलाफ दुष्कर्म व पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दे दिया।

दोनों बेटियों ने लखनऊ के चिनहट थाने में पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है। जिसके बाद पुलिस देर रात दबाव बनाती रही।

6 साल की थी बच्ची जब से पिता करता है ऐसी हरकत

आशा ज्योति केंद्र की एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर अर्चना सिंह ने बताया कि पीड़ित बच्चियों का पिता ठेकेदारी करता है। बड़ी बेटी की उम्र 22 साल है और वह ग्रेजुएशन कर रही है। उसने 11 अगस्त 2019 को केंद्र को पत्र लिखकर बताया था कि जब वह 6 साल की थी तभी से पिता उसके साथ गंदी हरकतें करने लगा था।

ये भी पढ़ें:राज्यपाल आनंदी बेन पटेल आज जाएंगी दिल्ली, शाह और पीएम मोदी से करेंगी मुलाकात

हालांकि समय के साथ यह सिलसिला बढ़ता चला गया। इस मामले में सबसे खास बात यह है कि यह सब कुछ मां की आंखों के सामने होता रहा, लेकिन वह खामोश रही। पीड़िता का कहना है कि कक्षा नौ में पढ़ने वाली छोटी बहन के साथ भी पिता ने वही सब शुरू कर दिया। जो वह उसके साथ करता था।

डीपीओ सुधाकर शरण पांडेय ने बताया कि रेस्क्यू कराई गई लड़कियों के बयान के आधार पर पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज करने की सूचना संबंधित थाने को दी जा चुकी है। प्रभारी निरीक्षक चिनहट सचिन कुमार सिंह के मुताबिक, आरोपी पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

बड़ी बेटी हो चुकी है कई बार प्रेग्नेंट

दुष्कर्म पीड़िताओं ने बताया कि मां उनके विरोध करने पर धमकाती थी। वह पिता की हरकतों पर रोक लगाने के बजाए उल्टा उनकी मदद करती थी। आशा ज्योति केंद्र को लिखे पीड़िता के पत्र के मुताबिक, पिता की हरकतों की वजह से वह 5-6 बार प्रेग्नेंट भी हो चुकी है, लेकिन मां ने हर बार गोली खिलाकर मुंह बंद करा दिया।

बता दें आशा ज्योति केंद्र की प्रभारी अर्चना सिंह के मुताबिक, कवच कार्यक्रम के दौरान हम लोग एक स्कूल में पहुंचे थे, जहां पीड़ित बड़ी बहन ने हमसे अपनी समस्या बताई थी। उसके बाद हमें पत्र लिख कर खुद को और छोटी बहन को न्याय दिलाने की गुहार लगाई थी।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

अयोध्या फैसले के बाद अब तक 10,830 सोशल मीडिया पोस्ट के खिलाफ हुई कार्रवाई

Published

on

लखनऊ। अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कहीं से भी किसी हिंसा या हंगामा की खबर नहीं आई। इसके पीछे सरकार व प्रशासन की पुख्ता तैयारियां हैं। जमीनी स्तर के साथ पुलिस-प्रशासन सोशल मीडिया पर खासतौर पर नजर रखी। सोशल मीडिया पर किसी भी तरह की भड़काऊ पोस्ट पर तत्परता से कार्रवाई भी की जा रही है। फैसले के दो दिन बाद भी सोशल मीडिया की माॅनीटरिंग की जा रही है। सामाजिक सौहार्द खराब करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है।

पिछले 24 घण्टे में प्रदेश भर में 2555 सोशल मीडिया पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई की गयी। कुल 56 मुकदमे दर्ज कर 93 व्यक्तियों की गिरफ्तारी की गयी। जबकि लखनऊ में पिछले 24 घण्टे में 22 लोगों के खिलाफ अभियोग दर्ज किए गए जबकि 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि 94 पोस्ट के विरूद्ध पुलिस महानिदेशक मुख्यालय के सोशल मीडिया सेल द्वारा कार्रवाई की गयी। जिसमें स्थानीय थाने में रिपोर्ट दर्ज कर पोस्ट हटवाना, डायरेक्ट मैसेज कर पोस्ट डिलीट करना तथा प्रोफाइल हटवाना आदि कार्रवाई शामिल हैं।

यह भी पढ़ें-मंदिर बनाने से पहले सरकार तय करे कि हमें जमीन कहां देगी : इकबाल अंसारी

फैसला आने के बाद पूरे प्रदेश में अब तक कुल 10,830 सोशल मीडिया पोस्ट के विरुद्ध कार्रवाई की गयी। पिछले 24 घण्टे में सबसे ज्यादा कार्रवाई 1701 ट्विटर पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई की गयी। जबकि फेसबुक की 777 पोस्ट, यूट्यूब के 77 वीडियो एवं प्रोफाइल के विरूद्ध कार्रवाई की गयी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

केशव प्रसाद मौर्य ने जनता दरबार में सुनी लोगों की समस्या, निराकरण के दिए निर्देश

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सोमवार को लखनऊ स्थित 7-कालीदास मार्ग अपने आवास पर प्रदेश के दूरदराज जिलों से आए विभिन्न लोगों की समस्याओं को सुना। आए हुए लोगो से सीधे तौर पर संवाद किया। समस्याओं को सुनने के बाद संबंधित अधिकारियों को समस्याओं को तत्काल समय सीमा के अन्दर निस्तारण करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा समस्याओं का निराकरण तेज गति से किया जाएगा। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि निस्तारण गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए। ताकि किसी फरियादी को दुबारा उस समस्या के निदान हेतु परेशान न होना पड़े।

यह भी पढ़ें:- राम मंदिर निर्माण के उपलक्ष्य में भाजपा कार्यालय में अखण्ड रामायण पाठ का आयोजन

श्री मौर्य ने कहा कि जन समस्याओं का त्वरित निस्तारण कराना सरकार की प्रमुख प्राथमिकता है। कहा कि अधिकारी शासन की मंशा को समझे और सरकार की प्राथमिकताओ व जन आकांक्षाओ के अनुरूप अपने दायित्वों का निष्ठापूर्वक निर्वहन करें। जन समस्याओं के निराकरण के किसी भी स्तर पर लापरवाही या उदासीनता किसी भी दशा में बर्दाश्त नही की जाएगी। http://www.Satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

मंदिर बनाने से पहले सरकार तय करे कि हमें जमीन कहां देगी : इकबाल अंसारी

Published

on

लखनऊ। अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले को लागू करने की कवायद शुरू हो गई है। इस बीच सोमवार को मुस्लिम पक्षकार रहे इकबाल अंसारी ने कहा है कि सरकार पहले तय करे कि वह हमें जमीन कहां दे रही है। जमीन मिलने के बाद सभी मुस्लिम पक्ष मिलकर तय करेंगे कि मस्जिद किस तरह बनेगी। इकबाल अंसारी ने कहा, हम चाहते हैं कि मस्जिद आस-पास ही बने।

अयोध्या के फैसले पर असदुद्दीन ओवैसी के बयान पर इकबाल अंसारी ने कहा कि हम खुद पक्षकार हैं। कोई क्या कह रहा है, हम सुनते भी नहीं हैं। मैं पुनर्विचार याचिका नहीं डालूंगा। एक फैसला आने में 70 वर्ष लग गए, जबकि सारे गवाह और सबूत हमने दिए। हम चाहते हैं कि हिंदू-मुस्लिम भाईचारा बना रहे। राम मंदिर मामले में मुस्लिम पक्षकार रहे इकबाल अंसारी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला हमें मंजूर है। देशभर के लोगों को इसका स्वागत करना चाहिए। बाबरी पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने जो फैसला किया है मैं उसका सम्मान कर रहा हूं। कोर्ट हमें पांच एकड़ की जमीन दी है वह तय करेगी कि हमें कहां जमीन देगी। उस जमीन का क्या करना है यह हम तय करेंगे, लेकिन हम ऐसा कोई काम नहीं करेंगे जिससे सौहार्द बिगड़े।

यह भी पढ़ें-डेंगू से मौत के बाद जागा स्वास्थ्य महकमा, लगाया कैम्प

उन्होंने कहा कि जमीन हम लेंगे और ऐसा काम करेंगे कि देश में अमन चैन कायम रहे। कुछ लोग देश में सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। बता दें कि इकबाल अंसारी के पिता हाशिम अंसारी ने 70 साल तक इस मामले में मुकदमा लड़ा और 3 साल पहले उनका निधन हो गया है। हाशिम अंसारी चाहते थे कि उनके रहते इस मामले का निपटारा हो जाए। अब उनके बेटे इकबाल अंसारी मानते हैं कि उनके पिता अगर आज जिंदा होते तो वो भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 12, 2019, 1:08 am
Fog
Fog
19°C
real feel: 18°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 77%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:53 am
sunset: 4:48 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending