Connect with us

प्रदेश

कैराना के रसूलपुर गांव में पोलिंगबूथ पर हंगामे के दौरान हुई फायरिंग, फर्जी वोटिंग कराने का लगाया गया आरोप

Published

on

कैराना

फाइल फोटो

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को शुरू हो चुका है। जिसमें आज 20 राज्यों में 91 सीटों पर मतदान होगा। ऐसे में आज यूपी के कैराना लोकसभा सीट के रसूलपुर के पास एक पोलिंगबूथ पर फायरिंग हो गई। जानकारी के मुताबिक पोलिंग बूथ पर फर्जी मतदान को लेकर गांव वालों और सुरक्षाकर्मियों के बीच बवाल हो गया। जिसके बाद लोगों को अलग करने के लिए पुलिसकर्मियों ने लाठीचार्ज और हवाईफायरिंग भी की है।

यह पूरा मामला कांधला थाना क्षेत्र के रसूलपुर गुजरान गांव का बताया जा रहा है। पोलिंगबूथ पर जब सभी लोग आपस में भीड़ रहे थे, तो उस दौरान का एक वीडियो वायरल हुआ है। हालांकि इन लड़ाई-झगड़ों के बीच थोड़ी देर के लिए मतदान को भी रोक दिया गया था।

आपको बता दें इस बार के चुनाव में कैराना में सपा से वर्तमान सांसद तबस्सुम हसन, कांग्रेस से हरेंद्र मलिक और बीजेपी से प्रदीप चौधरी शामिल हैं। पहले चरण के मतदान के लिए यहां सुबह से ही लोगों के आने-जाने का सिलसिला जारी था, लेकिन इस बीच किसी बात को लेकर गांव वाले भड़क गए और उन्होंने पोलिंग बूथ पर ही हंगामा करना शुरू कर दिया।

ये भी पढ़े:सोनिया गांधी ने रायबरेली से पांचवीं बार किया नामांकन

इस हंगामें के दौरान सभी को शांत कराने के लिए सुरक्षा में तैनात जवानों ने भीड़ पर लाठीचार्ज कर दिया। उसके बाद गुस्साए गांव वालों ने पत्थरबजी करनी शुरू कर दी। फिलहाल मौके पर डीएम, एसपी और दूसरे अधिकारियों ने पहुंचकर नाराज गांव वालों को समझा कर उन्हें शांत कराया।http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

सहारनपुर के बाद अब कानपुर और बस्ती में दो नेताओं की गोली मारकर हत्या

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार जहां दावा कर रही है कि प्रदेश में सभी अपराधियों को जेल भेज दिया गया है। वहीं दूसरी ओर अपराधी लगातार आपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। प्रदेश में पिछले 24 घण्टे में तीन नेताओं की हत्या हो चुकी है। इनमें से दो नेता तो सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के ही हैं। मंगलवार को सहारनरपुर के देवबंद इलाके में भाजपा नेता की हत्या से शुरू हुआ सिलसिला बुधवार को भी जारी रहा है। कानपुर में कांग्रेस एक नेता जबकि बस्ती भाजपा नेता की हत्या कर दी गयी। बदमाशों ने इन हत्याओं को दिनदहाड़े अंजाम दिया। जिससे त्यौहारों पर पुलिस की सक्रियता पर भी सवाल उठ रहा है।

कानपुर के चकेरी थानाक्षेत्र में ग्रेटर कैलाशनगर में बुधवार को युवा कांग्रेस नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। कानपुर के कांग्रेस नेता रवि यादव को गोलीमार कर हत्या कार दी गयी। हत्या के पीछे रुपयों का लेनदेन बताया जा रहा बताया जा रहा है कि कानपुर के कांग्रेस नेता रवि यादव ग्रेटर कैलाश नगर घर के पास ही एक प्लाट बनवा रहे थे। जिसका निर्माण का ठेका जाजमऊ निवासी प्रशांत को दिया था। जहां दोनों के बीच 80 हजार रुपये लेनदेन का विवाद हो गया था। बुधवार दोपहर प्रशांत के पिता से रवि का विवाद हो गया। खबर पाकर केडीए कालोनी निवासी कांग्रेस नेता शोएब खान अपने एक दर्जन साथियो के साथ पहुंच गया।

दोनों तरफ से मारपीट हुई तो प्रशांत पक्ष ने ईंट पत्थर चला दिया। जिसके बाद रवि ने शोएब पर घर में रखी पिता की लाइसेंसी रायफल से गोली चला दी और मौके से फरार हो गया। शोएब को घायल अवस्था में उसे पहले पास के नर्सिंग होम ले गए, जहां से उसे हैलेट रेफर किया गया। हैलट में डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस के अनुसार मामले में आरोपी पक्ष से दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस मामला दर्ज कर फरार रवि यादव की तलाश कर रही है। कानपुर के अपर पुलिस महानिदेशक प्रेम प्रकाश ने रवि की गिरफ्तारी के लिए कई टीमों का गठन किया है। रवि पुलिसकर्मी यशवंत यादव का पुत्र है।

वहीं दूसरी ओर बस्ती में एपीएन काॅलेज के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष और भाजपा कार्यकर्ता आदित्य नारायण तिवारी (27) की गोली मार कर हत्या कर दी गयी। शहर के व्यस्त इलाके में ताबड़तोड़ फायरिंग से अफरा-तफरी मच गई। गोली मार कर भाग रहे हमलावरों को पुलिस ने राहगीरों की सहायता से असलहे के साथ दबोच लिया। आदित्य के एक गोली सीने में और दूसरी हाथ पर लगी। वहीं आदित्य को जिला अस्पताल के जाया गया। जहां डाक्टरों ने गंभीर हालात में लखनऊ रेफर कर दिया। आदित्य ने लखनऊ ले जाते वक्त रास्ते में दम तोड़ दिया।

यह भी पढ़ें-नंबर प्लेट पर कमिंग सून लिखी बाइक को रोका तो दी वर्दी उतरवाने की धमकी

सूचना पाकर कई भाजपा कार्यकर्ता व नेता कोतवाली पहुंच कर नारेबाजी शुरू कर दी। उसके बाद दोपहर भाजपा संसद हरीश द्विवेदी और विधायक दयाराम चौधरी कोलवाली पहुंच कर डीएम व एसपी से मामले की जानकरी ली। पुलिस इस घटना को कुछ महीने पहले एपीएन पीजी कॉलेज के सामने हुई फायरिंग से जोड़कर देखा जा रहा है। घटना स्थल और अस्पताल में भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। बताया जा रहा है कि आदित्य एक प्लाट की बांउड्री करा रहा था। तभी बाइक सवार युवको ने हमला कर दिया। उस पर जिले के दो थानों में एक दर्जन मुकदमे दर्ज थे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

पुष्पेंद्र यादव के परिवार से मिलने पहुंचे अखिलेश, कहा- ये एनकाउंटर नहीं हत्या है

Published

on

लखनऊ। झांसी के पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर का मामला राजनेताओं की एंट्री के बाद और तूल पकड़ता जा रहा है। बुधवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने झांसी से 30 किलोमीटर दूर ग्राम करगुआ खुर्द थाना एरच स्थित पुष्पेंद्र यादव के आवास पर पहुंच कर पीड़ित परिवारीजनों से भेंट की और उन्हें सांत्वना दी। पुष्पेंद्र यादव की विधवा की शादी अभी तीन महीने पहले ही हुई थी। उसका रो-रोकर बुरा हाल है। अखिलेश ने पुष्पेंद्र के परिवार को भरोसा दिलाया है कि समाजवादी पार्टी उनके साथ खड़ी है।

परिवारजनों से मिलने के बाद अखिलेश यादव ने कहा कि किसी को भी पुलिस की कहानी पर भरोसा नहीं है। झांसी का पुलिस प्रशासन जो घटनाक्रम बता रहा है उससे कोई संतुष्ट नही है। परिवार को भी उस पर भरोसा नही है। उन्होंने कहा यह एनकाउंटर नहीं हत्या है। 

 अखिलेश यादव ने विश्वास दिलाया कि पुष्पेन्द्र यादव के परिवार को न्याय दिलाया जाएगा। समाजवादी पार्टी उनके दुख में शामिल है और वह उनका साथ देगी। अखिलेश यादव के साथ उनके समर्थकों की भारी भीड़ थी। अखिलेश के वहां पहुंचते ही लोगों ने पुलिस के खिलाफ काफी नारेबाजी की। अखिलेश भी इस बात से बहुत आक्रोशित थे कि पुलिस निर्दोषों की हत्या कर रही है। उनका कहना है कि कानून के रक्षक ही भक्षक बन रहे हैं। जनता के नागरिक अधिकारों पर डाका डाला जा रहा है। उन्होंने कहा जिस प्रदेश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री हैं वहां जनता को न्याय न मिले तो ताज्जुब हैं।

अखिलेश यादव के आने की खब़र पर पूरा गांव उन्हें देखने उमड़ पड़ा था। आस पड़ोस के गांवो से भी बड़ी संख्या में लोग आए थे। इनमें हजारों नौजवान, महिलाएं, बूढ़े तथा बच्चे तक शामिल थे। पुष्पेंद्र का गांव बेतवा नदी के पास है। यहां लोग नारे लगा रहे थे कि पुष्पेन्द्र के हत्यारों को सजा मिले, पीड़ित परिवार को न्याय मिले।

दरअसल, बीते शनिवार की रात में मोंठ थाने के इंस्पेक्टर पर हमला करने के बाद कार लूटकर भागने वाले पुष्पेंद्र यादव को गुरसराय थाना क्षेत्र में अगली सुबह पुलिस मुठभेड़ में कथित तौर पर मार दिया गया था। पुलिस के मुताबिक उसके 2 साथी भाग निकले थे। पुलिस ये भी आरोप है कि पुष्पेंद्र की कार से दो तमंचे कारतूस और मोबाइल भी बरामद किए गए हैं। जबकि परिजनों का कहना है कि पुष्पेंद्र को जबरन पकड़कर मारा गया है। वे इस मामले में न्याय चाहते हैं। परिजनों का आरोप है कि पुष्पेंद्र के खिलाफ कोई शिकायत नहीं थी। कभी किसी ने उसके बारे में कुछ नहीं कहा। लेकिन पुलिस ने उसे अपराधी बताकर हत्या कर दी।

ये भी पढ़ें: राजस्थान: मालपुरा में राम बारात पर हुआ पथराव, इलाके में लगा अनिश्चितकालीन कर्फ्यू

समाजवादी पार्टी की मांग है कि आरोपी एसओ पर 302 का केस दर्ज किया जाए। घटना की हाईकोर्ट के माननीय सिटिंग जज से जांच कराई जाए। जिसने हत्या की उसे जेल भेजा जाए। उनका कहना है कि इस मामले में पुलिस दोषी है। सबसे ज्यादा मानव अधिकार आयोग की नोटिसें उत्तर प्रदेश सरकार को मिली हैं। हवालात में सबसे ज्यादा मौतें प्रदेश में हुई हैं। कानून व्यवस्था ध्वस्त है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मृतक और उसके शोकाकुल परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए उठ रही आवाजों को ज्यादा समय तक सरकार नहीं दबा सकती।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

काशीराम की 13वीं पुण्यतिथि पर मायावती ने ट्वीट कर दी कर श्रद्धाजंलि

Published

on

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने बुधवार को पार्टी संस्थापक कांशीराम को श्रद्धाजंलि अर्पित की। मायावती ने कहा कि उपेक्षितों को उनका बाजिव हक दिलाने का संघर्ष अनवरत जारी रहेगा।
मायावती ने बुधवार को कांशीराम की 13वीं पुण्यतिथि के अवसर पर एक के बाद एक तीन ट्वीट कर दलित पिछड़ों के मसीहा के संघर्षो को  याद किया। मायावती ने कहा, बामसेफ, डीएस4 एवं बीएसपी मूवमेन्ट के जन्मदाता और संस्थापक कांशीराम को आज उनकी पुण्यतिथि पर बीएसपी द्वारा देश व यूपी में अनेकों कार्यक्रमों के जरिए भावभीनी श्रद्धांजलि व श्रद्धा-सुमन अर्पित। उपेक्षितों के हक में उनका संघर्ष था वोट हमारा राज तुम्हारा नहीं चलेगा।”

उन्होंने कहा कि “ दिल्ली में गुरुद्वारा रकाबगंज रोड पर स्थित प्रेरणा केन्द्र में तथा लखनऊ में बीएसपी सरकार द्वारा वीआईपी रोड में स्थापित भव्य कांशीराम स्मारक स्थल के आयोजनों में बहुजन नायक श्री कांशीराम जी को पुष्पांजलि व श्रद्धा-सुमन अर्पित। उनके सपनों को साकार करने का संकल्प।”

एक अन्य ट्वीट में मायावती ने कहा “ बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के आत्म-सम्मान व स्वाभिमान के मूवमेन्ट को समर्पित श्री कांशीरामजी जानते थे कि जातिवादी व संकीर्ण ताकतें साम, दाम, दण्ड, भेद आदि हथकण्डों से बसपा मूवमेन्ट को चुनौतियाँ देती रहेंगी जिसका सूझबूझ से मुकाबला करके आगे बढ़ना है जिसका बेहतरीन उदाहरण यूपी है।” http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 10, 2019, 2:20 am
Fog
Fog
25°C
real feel: 31°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 94%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:33 am
sunset: 5:14 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending