Connect with us

प्रदेश

अखिल भारतीय साहित्य गोष्ठी का शानदार आयोजन

Published

on

विगत 13 अप्रैल 2019 की शाम गोरखपुर के सहजनवा अंतर्गत तख्था गांव में भारतवर्ष के कोने-कोने से लब्धप्रतिष्ठ साहित्यकारों का आगमन हुआ। अवसर था अखिल भारतीय साहित्य गोष्ठी का। अखिल भारतीय साहित्य गोष्ठी के इस आयोजन के सूत्रधार थे तख्था गांव के निवासी और पूर्व जिला समाज कल्याण अधिकारी, लखनऊ के श्री बलदेव त्रिपाठी।

इस कार्यक्रम में पं.दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. अनंत मिश्र, दिल्ली से वरिष्ठ नाटककार और कवि श्री प्रताप सहगल, वरिष्ठ कवयित्री डॉ.शशि सहगल, डॉ.रमेश तिवारी, कवि श्री रणविजय राव, रांची से अनवरत पत्रिका के संपादक श्री दिलीप कुमार तेतरबे, कैमूर, बिहार से वीररस के कवि डॉ.विनोद कैमूरी, लखनऊ से अखिल भारतीय साहित्यकार परिषद के अध्यक्ष श्री विजय त्रिपाठी, महामंत्री श्री शिवमंगल सिंह ‘मंगल’, श्री कुमार तरल, दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री व उ.प्र.आवास विकास परिषद के उपाध्यक्ष श्री अश्वनी त्रिपाठी, गोरखपुर विकास प्राधिकरण के मुख्य लेखा अधिकारी श्री महेन्द्र मिश्र, श्री जीतेन्द्र त्रिपाठी, क्षेत्रीय प्रबंधक, ग्रामीण बैंक, बलिया, श्री आदित्य सिंह, आर.आई., पुलिस ट्रेनिंग सेंटर, गोरखपुर, श्री शैलेन्द्र श्रीवास्तव, अध्यक्ष, अखिल भारतीय भ्रष्टाचार निरोधक समिति, डॉ. अप्रमेय मिश्र, सहायक प्राध्यापक, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा, तख्था एवं आसपास के ग्रामवासियों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

कार्यक्रम का आरंभ श्रीमती गीता त्रिपाठी और सुश्री शांभवी त्रिपाठी के द्वारा सरस्वती वंदना से हुआ। श्री अश्वनी त्रिपाठी, उपाध्यक्ष, उ.प्र.आवास विकास परिषद के उद्बोधन और पुष्पमाला-अंगवस्त्र आदि से देश भर से आए गणमान्य साहित्यकारों और ग्रामवासियों का स्वागत किया गया। दिल्ली से पधारे व्यंग्यालोचक डॉ. रमेश तिवारी ने कार्यक्रम का सफल संचालन किया।

श्री रणविजय राव की कविता ‘मन में बसता है मेरा गांव’ कविता से कविता-पाठ का आरंभ हुआ। देश की राजधानी दिल्ली में रहते हुए भी रणविजय जी ने जिस अंदाज में अपने गांव से जुड़े संबंधों और रिश्ते-नातों की उष्मा को शब्दों के द्वारा कविता में प्रस्तुत किया वह श्रोताओं में विशेष रूप से सराहा गया। कुमार तरल जी ने अवधी भाषा में देश की राजनीति और राजनेताओं की विसंगतियों पर कविता में जो प्रहार किया, वह श्रोताओं को खूब पसंद आया। श्रोताओं की तालियां इसकी साक्षी थीं। इसके बाद विनोद कैमूरी जी ने हिंदी और भोजपुरी में गीतों की धमाकेदार प्रस्तुति दी। वायुसेना के पायलट अभिनंदन की जांबाजी को जिस प्रकार फगुआ (होली) के गीत में सुनाया, उसे सुनकर श्रोता झूम उठे। अखिल भारतीय साहित्यकार परिषद के अध्यक्ष श्री विजय त्रिपाठी जी ने अपने काव्य पाठ में देश की आजादी से लेकर आज तक की राजनीतिक स्थिति का साक्षात्कार अत्यंत तीखे तेवरों में कराया। डॉ. अप्रमेय मिश्र जी की कविता में व्याप्त संदेश को श्रोताओं ने गंभीरता से सुना और सराहा। शिवमंगल सिंह ‘मंगल’ ने अपनी कविता को पंजाबी, अंग्रेजी, भोजपुरी, अवधी, बुंदेली आदि कई भाषाओं में प्रस्तुत कर खूब तालियां बटोरीं। कार्यक्रम के मध्य में रांची से प्रकाशित अनवरत मासिक पत्रिका के ‘बलदेव त्रिपाठी – विशेषांक’ का लोकार्पण किया गया। अनवरत पत्रिका के संपादक श्री दिलीप कुमार तेतरबे जी ने अपने उद्बोधन में इस विशेषांक-निर्माण के मूल में पत्रिका के संयुक्त संपादक और व्यंग्यालोचक डॉ. रमेश तिवारी की प्रेरणा तथा भूमिका का बखूबी उल्लेख किया। बलदेव त्रिपाठी का साहित्य अनुभव की प्रामाणिकता और समाज की सच्ची तस्वीर को हमारे सामने रखता है। तेतरबे जी ने अपने वक्तव्य में बलदेव त्रिपाठी के उपन्यासों ‘अर्थागमन’, ‘विक्रय मूल्य’ और कहानी-संग्रह ‘पिअरका फुलवा’ पर भी सारगर्भित वक्तव्य दिया। दिल्ली से पधारीं वरिष्ठ कवयित्री डॉ. शशि सहगल की कविता ‘मीठे चावल’ ने श्रोताओं को विशेष रूप से पसंद आई। गोरखपुर विकास प्राधिकरण के मुख्य लेखा अधिकारी श्री महेन्द्र मिश्र की कविता को भी श्रोताओं द्वारा सराहा गया।

दिल्ली से पधारे वरिष्ठ नाटककार प्रताप सहगल ने कविता और कवियों की सामर्थ्य और सीमा की ओर संकेत करते हुए समाज में रचनाकार की सकारात्मक भूमिका पर जोर देते हुए कहा कि साहित्य का मूल उद्देश्य समाज को जोड़ने का है । मुझे खुशी है कि आज का कवि विशेष रूप से जागरुक और सक्रिय हुआ है। यदि हम जीवन और रचना में समग्रता और समन्वय की धारणा के साथ आगे बढ़ें तो हमारा साहित्य निश्चित रूप से बेहतर समाज-निर्माण के उद्देश्य को हासिल करेगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता गोरखपुर विश्वविद्यालय के पूर्व विभागाध्यक्ष हिन्दी विभाग ने की। उन्होंने भारतीय समाज की विविधता के गुण की बात करते हुए सभी के महत्व और सहयोग को रेखांकित किया। इस सफल-सार्थक आयोजन के लिए आयोजन के सूत्रधार श्री बलदेव त्रिपाठी को विशेष साधुवाद देते हुए प्रो. मिश्र ने ऐसे आयोजनों की समाज-निर्माण में भूमिका का भी उल्लेख किया। प्रो. मिश्र ने बलदेव त्रिपाठी जी से  इस गांव में प्रत्येक वर्ष ऐसे अखिल भारतीय वार्षिक आयोजन और भी बृहद स्तर पर करने का सुझाव दिया। ऐसे आयोजनों से गांव और शहर के लोगों को भी एक-दूसरे के जीवन को करीब से देखने, समझने, घुलने-मिलने का अवसर मिलता है । इसलिए समाज निर्माण और विकास में साहित्य और साहित्यकारों की यह भूमिका है और उत्तरदायित्व भी।

देश भर से पधारे विद्वानों और गोरखपुर तथा आसपास के साहित्यकारों के साथ-साथ गांववासियों की उपस्थिति से कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी के प्रति श्री बलदेव त्रिपाठी के धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ। http://www.satyodaya.com

Continue Reading
1 Comment

1 Comment

  1. Ramesh Tiwari

    April 15, 2019 at 3:24 pm

    वाह, सत्योदय के समाचार संपादक की पारखी नजर का जवाब नहीं। मैं इस आयोजन का साक्षी था। सचमुच अत्यंत आत्मीय और सराहनीय आयोजन रहा। सूत्रधार बलदेव त्रिपाठी और समस्त तख्था ग्रामवासियों को अनेकानेक साधुवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदेश

भाजपा का 38 दलों का गठजोड़ ही असली महामिलावटः अखिलेश

Published

on

पूर्व मुख्यमंत्री ने आजमगढ़ से दाखिल भरा नामांकन

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को आजमगढ़ लोकसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल कर दिया। नामांकन दाखिल करने के बाद सपा मुखिया ने आजमगढ़ और पूर्वांचल के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि सपा-बसपा और रालोद के महागठबंधन से प्रदेश की जनता खुश है। समय-समय पर सपा के प्रति आजमगढ़ ने जो प्यार बरसाया है वहीं मुझे यहां खींच लाया है। आजमगढ़ की धरती वीरों, साहित्यकारों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की धरती है। राहुल सांकृत्यायन, शिबली नोमानी, कैफी आजमी, अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध ने आजममढ़ का नाम पूरी दुनिया में ऊंचा किया है। श्री यादव ने कहा कि आजमगढ़ का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिलना सौभाग्य की बात है। यहां के लागों ने इतिहास और विरासत बदलते हुए देखा है। आजमगढ़ मेरा दूसरा घर है। श्री यादव ने कहा कि भाजपा का 38 दलों का गठजोड़ ही असली महामिलावट है। यह चुनाव देश के परिवर्तन का है। संविधान और उससे मिले अधिकारों को बचाने का चुनाव है। भाजपा न जाने कौन सा झूठ, साजिश कर दे कोई नहीं जानता। नौजवानों और किसान भाइयों को इससे सावधान रहना होगा। भाजपा का कहना है कि यह देश बनाने का चुनाव है। हमारा कहना है कि यह नया प्रधानमंत्री बनाने का चुनाव है।

यह भी पढ़ें-टाइम की 100 प्रभावशाली लोगों की सूची में मुंकेश अंबानी के साथ दो भारतीय महिलाओं ने भी बनाई जगह

श्री यादव ने कहा कि अच्छे दिन कहां है? यह पिछले पांच वर्षों के भाजपा कार्यकाल में पता नहीं चल पाया। प्रधानमंत्री जी ने बताया कि रूपया जमा करने से कालाधन वापस आ जायेगा। लेकिन न तो कालाधन आया और न ही भ्रष्टाचार कम हुआ। बल्कि देश की अर्थव्यवस्था नोटबंदी से जरूर चैपट हो गयी। भाजपा सरकार में 36 हजार उद्योगपति भारत छोड़कर चले गये। प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि हवाई-चप्पल पहनकर लोग हवाई जहाज में उड़ेंगे जबकि हवाई जहाज उड़ाने वाले लोग जहाज छोड़कर ही चले गये। भाजपा ने जो भी वायदे किये वे सभी झूठे साबित हो गये। नौजवानों से रोजगार, किसानों की आय दुगुना करने का वादा हवा हवाई साबित हुआ।
श्री यादव ने कहा कि आजमगढ़ से समाजवादियों का विशेष लगाव है। यहां से समाजवादी आंदोलन आगे बढ़ा है। समाजवादी सरकार में समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पत्थर का शिलान्यास विधानसभा के बाहर किया गया था। एक्सप्रेस-वे में किसानों की जमीनों का समुचित मुआवजा भर दिया गया था। यह सड़क बन गयी होती तो हम लोग हेलीकाप्टर की जगह सड़क मार्ग से आते। भाजपा सरकार ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का टेण्डर कैंसिल कर दोबारा टेण्डर जारी किया और उसकी गुणवत्त एवं मानकों को कम कर दिया। लेकिन समाजवादी लोग भरोसा दिलाते है कि सत्ता में आने पर इसकी सुन्दरता को बढ़ाया जायेगा।

यह भी पढ़ें-पत्रकारों से हुई अभद्रता के मामले में चुनाव आयोग ने मांगा जवाब, दोषी पुलिसकर्मियों पर होगी कार्रवाई…

भाजपा ने विकास को अवरूद्ध कर दिया। किसानों की मंडियों का काम रोक दिया। समाजवादी सरकार बनने पर आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर हवाई पट्टी बनायी जायेगी। जिस पर हरक्यूलिस, मेराज जैसे लड़ाूक विमान उतारे जायेंगे। इस एक्सप्रेस-वे को बलिया तकि जोड़ा जायेगा। श्री यादव ने कहा कि काम में समाजवादियों का कोई मुकाबला नहीं कर सकता। आजमगढ़ में चीनी मिल, मेडिकल कालेज समाजवादी सरकार की ही देन है। केन्द्र में महागठबंधन की सरकार बनने पर पैरामेडिकल और एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के काम को आगे बढ़ाया जायेगा। कहा कि आजमगढ़ के लोग एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, मुबंई, दुबई सहित कई जगहों से बधाई दे रहे है। यहां से दिल का रिश्ता है और यह रिश्ता आजमगढ़ के कारण विदेशों से जुड़ता चला जा रहा है।

अखिलेश ने कहा कि नफरत की दीवार गिराने और तानाशाही सरकार हटाने के लिये महागठबंधन को जिताना जरूरी है। आज आजमगढ़ में जितना जनसैलाब उमड़ा और जितना उत्साह लोगों में था ऐसा अभूतपूर्व दृश्य कभी पहले नहीं देखा गया। श्री अखिलेश यादव के नामांकन के दिन स्वतः स्फूर्त ढंग से धूप-गर्मी की परवाह किए बिना बच्चे, बूढ़े, जवान, महिलाएं, सब सुबह से ही सभास्थल पर एकत्र होने लगे थे।
इस अवसर पर बसपा के सतीश चन्द्र मिश्रा, नरेश उत्तम पटेल, अहमद हसन रामगोविन्द चैधरी, कुंवर रेवती रमण सिंह, माता प्रसाद पाण्डेय, आर.एस. कुशवाहा, बलराम यादव, अवधेश प्रसाद, आलमबदी, पारसनाथ यादव, ओम प्रकाश सिंह, शैलेन्द्र यादव ललई, दुर्गा प्रसाद यादव, अफजाल अंसारी, अतुल राय,  संगीता, कल्पनाथ पासवान, नफीस अहमद, शाह आलम गुड्डू अबू आसिम आजमी, डाॅ0 संजय चैहान, रामआसरे विश्वकर्मा, वंदना सिंह, डाॅ मसूद, आईपी सिंह, वसीम अहमद, रामरतन राजभर, हवलदार यादव, राकेश यादव, इमरान अहमद, डाॅ संग्राम यादव, वासुदेव यादव, रामबृक्ष यादव, संतोष यादव ‘सनी‘ सहित अन्य प्रमुख लोगों की उपस्थिति रही।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपी: प्रॉपर्टी डीलर ने साथियों संग चौकी में घुसकर दरोगा की पिटाई, जानिए पूरा मामला

Published

on

प्रॉपर्टी डीलर

फाइल फोटो 

लखनऊ। राजधानी लखनऊ से आए दिन लूटमार, हत्या की खबरें सामने आती रहती हैं। इसी तरह कृष्णानगर इलाके में प्रॉपर्टी डीलर ने साथियों के साथ चौकी के अंदर घुसकर दरोगा पर हमला कर दिया। लेकिन थाना के उपनिरीक्षक ने भाग रहे आरोपियों में से एक को दबोच लिया था। मौके पर आरोपी के साथी ने उसे पुलिस के पंजे से छुड़ा कर फरार हो गए। भागे हुए दबंगों पर चौकी के अंदर असलहा लहराने का भी आरोप है। आपको बता दें थाने में पुलिस दरोगा की तहरीर पर हमला करने वाले दबंग आरोपियों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने का केस दर्ज किया गया है। दरोगा की तहरीर के बाद पुलिस आरोपियों को खोजने में जुटी हुई है।

इस मामले की सबसे खास बात यह है कि पुलिस साढ़े तीन घंटे तक इस घटना को छिपाए रखी। कृष्णानगर थाने में उपनिरीक्षक अरविंद बाबू की तैनाती फीनिक्स मॉल चौकी में है। बुधवार शाम पांच बजे वह चौकी के अंदर बैठे थे। इस दौरान बड़गवां निवासी प्रॉपर्टी डीलर श्रीराम यादव आधा दर्जन लोगों के साथ चौकी के अंदर पहुंचा और दरोगा पर हमला बोल दिया।

ये भी पढ़े:हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष अनुभव शुक्ला ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर किया नामाकंन, भाजपा सरकार को हराने की कही बात…

जानकारी के मुताबिक अरविंद बाबू से उसकी किसी बात को लेकर कहासुनी होने लगी। इसी बीच गुस्से में आकर श्रीराम और उसके साथियों ने दरोगा पर हमला बोल दिया। इस दौरान टेबल पर जो भी कागजात रखे थे उसे भी फाड़ कर फेक दिया। इसके बाद आरोपी भागने लगे तो अरविंद पकड़ने के लिए भागे। उन्होंने एक आरोपी को पकड़ भी लिया, लेकिन आरोपियों ने हमला कर उसे छुड़ा लिया। वहीं आसपास के लोगों का कहना हैं कि आरोपियों ने चौकी के सामने असलहे भी लहराए हैं।

जांच से नाराज होकर किया हमला

अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेश चंद्र रावत के मुताबिक प्रॉपर्टी डीलर श्रीराम यादव ने कुछ लोगों से जमीन दिलाने के नाम पर लाखों रुपये जब्त किए हैं। पीड़ित थाने पर तहरीर लेकर पहुंचे थे। एक मामले की जांच उपनिरीक्षक अरविंद बाबू कर रहे थे। ईसिस सिलसिले में पड़ताल के लिए वह प्रॉपर्टी डीलर के घर गए थे। जिसकी वजह वह पुलिस पर खासा नाराज हो गया और उसने साथियों संग पुलिस पर हमला कर दिया।

जानकरी के मुताबिक श्रीराम यादव का स्काई हिल्टन होटल में प्रॉपर्टी डीलिंग का ऑफिस है। वह प्रॉपर्टी खरीदने और बेचने का काम करता है। बलरामपुर में तैनात दो सिपाही विवेक शर्मा और राघवेंद्र यादव ने प्लॉट बुक कराए थे। जमीन बुक कराने के बदले उन्होंने तीन लाख रुपये दिए थे। फिर भी श्रीराम जमीन नहीं दे रहा था। 14 अप्रैल को सिपाहियों ने कृष्णानगर थाने में तहरीर दी, जिस पर दरोगा अरविंद बाबू जांच कर रहे थे।

ये भी पढ़े:लखनऊ सीट से पूनम सिन्हा के बाद कांग्रेस उम्मीदवार आचार्य प्रमोद कृष्णम ने भरा नामाकंन

आसपास के लोगों की माने तो प्रॉपर्टी डीलर ने चौकी के अंदर पहुंचने के कुछ देर बाद सभी के लिए चाय मंगवाई। इसके बाद बातचीत के दौरान किसी बात को लेकर उसकी दरोगा से कहासुनी हो गई। जिसके बाद गुस्से में आकर उसने दरोगा को पीटना शुरू कर दिया। जिसके बाद वह जान बचाकर बाहर आए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष अनुभव शुक्ला ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर किया नामाकंन, भाजपा सरकार को हराने की कही बात…

Published

on

अनुभव शुक्ला

फाइल फोटो

लखनऊ। राजधानी के दूसरे चरण के मतदान के दौरान नामांकन के लिए हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष अनुभव शुक्ला अपने समर्थकों की भारी भीड़ के साथ पहुंचे कलेक्ट्रेट ऑफिस। उन्होंने लखनऊ सीट से नामाकंन पत्र दाखिल कर दिया है। नामाकंन पत्र दाखिल करने के दौरान अनुभव शुक्ला ने कहा कि हिंदू युवा वाहिनी भाजपा सरकार को हराने का काम करेगी, क्योंकि बीजेपी ने हिन्दुत्व समाज के साथ छल किया है। जिसकी वजह से पूरा हिंदू समाज भाजपा सरकार से नाराज है।

इतना ही नहीं इस दौरान अनुभव शुक्ला ने भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि सत्ता में आने से पहले बीजेपी ने वादा किया था भारत में हिंदूराज आयेगा और कश्मीर से धारा 377 हट जाएगी. लेकिन सरकार ने अभी तक कोई भी वादा नहीं पूरा किया।

ये भी पढ़े:लखनऊ सीट से पूनम सिन्हा के बाद कांग्रेस उम्मीदवार आचार्य प्रमोद कृष्णम ने भरा नामाकंन

वहीं उन्होंने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने हिन्दुत्व समाज के साथ छल किया है । साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने सत्ता में आने से पहले कहा था भारत में हिन्दू राज आयेगा और कश्मीर से धारा 377 हटेगी लेकिन भाजपा सरकार ने कोई भी वादा पूरा नहीं किया है। जिससे नाराज होकर हिन्दु यवा वाहिनी ने उनके खिलाफ चुनाव लड़कर उन्हें हराने का फैसला कर चुकी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 19, 2019, 2:00 am
Partly cloudy
Partly cloudy
24°C
real feel: 22°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 56%
wind speed: 1 m/s N
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:09 am
sunset: 6:02 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 7 other subscribers

Trending