Connect with us

प्रदेश

सीता श्रृंगार से प्रसिद्ध,चूड़ी मेले में उमड़ी महिलाओं की भारी भीड़

Published

on

प्रतीकात्मकचित्र

जौनपुर । जनपद के शाहगंज तहसील में 152 वर्षों से लगातार प्रसिद्ध चूड़ी मेले का आयोजन होता है । विजयादशमी के पर्व के एक सप्ताह के बाद सीता श्रृंगार हाट के नाम से नगर में चूड़ी मेले का आयोजन किया जाता है। ऐसा मन जाता है कि लंका पर विजय के बाद प्रभु राम और लक्ष्मण के साथ जब माता सीता अयोध्या वापस आई तब उन्होनें अपनी सहेलियों के साथ श्रृंगार हाट पहुंचकर खरिद्दारी की थी। ऐसे में यह मेला महिलाओं के लिए शुभ का प्रतीक माना जाता है। इसी को याद करते हुए इस मेले का आयोजन होता है।

सप्ताहभर तक चलने वाले इस प्रसिद्ध ऐतिहासिक चूड़ी मेले का आरम्भ रविवार को हुआ था ।मेले में बुधवार को भी महिलाओं की भीड़ रही ।इस मेले में महिलाऐं रंग-बिरंगी चूड़ियों सहित अन्य सामानों की खरिद्दारी कर रही हैं। इस मेले में पुरुष का प्रवेश का वर्जित होता है।
मेले में विभिन्न जनपदों वाराणसी, आजमगढ़, बलिया, लखनऊ, जौनपुर, सुल्तानपुर, बाराबंकी से व्यापारी आकर यहां दुकान लगाते हैं।सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस बल की तैनाती की गई है। साथ ही रामलीला समिति के कार्यकर्ता भी मेले पर नजर रखते हैं।

इस मेले में क्षेत्र के अलावा आजमगढ़, अंबेडकरनगर और सुल्तानपुर की महिलाएं बड़ी संख्या में पहुंचकर खरिद्दारी करती हैं। जिस मोहल्ले में मेला लगता है, उसका नाम ही चूड़ी मोहल्ला पड़ गया। मेले को लेकर महिलाओं में उत्साह रहता है। यह मेला अपने आप में अनोखा और अलबेला है। मेले में चूड़ी, कंगन, क्राकरी के बर्तन, सौंदर्य प्रसाधन, हैंडबैग, चप्पल आदि की दूकानें लगती हैं। इसके अलावा चाट, पकौड़े आदि की दुकानों पर महिलाओं को अपनी सहेलियों से मिलने का मौका मिलता है। खास बात तो यह है कि मेला भारतीय संस्कृति की मिसाल है।http://www.satyodaya.com

 

प्रदेश

इस गांव की महिलाओं ने कचरे को बनाया सोना, अब सभी हुए उनके मुरीद…

Published

on

महिलाओं

फाइल फोटो

लखनऊ। इस दुनिया में अगर इंसान कुछ भी करना चाहे, तो उसके लिए कुछ भी मुश्किल नहीं है। इसी तरह कुछ महिलाओं ने अपनी कड़ी मेहनत और लग्न से इसे सच करके दिखाया। बता दें लखनऊ-रायबरेली नेशनल हाईवे के किनारे बसा लालपुर गांव सफाई के मामले सभी को चौंका देता है। लेकिन यहां की पूरी सफाई का क्रेडिट यहां की महिलाओं को जाता है।

बता दें घर के चूल्हे-चौके के साथ उन्होंने गांव के कूड़ा प्रबंधन की कमान थाम कर गांव का नक्शा ही बदल दिया। सभी के परिवार की मुश्किलें दूर हुई और एक दम से चमकने लगा। इस गांव की सभी गृह लक्ष्मी के स्पर्श से यहां का कचरा भी अब सोना बन गया है।

ये भी पढ़े:कनाडा: हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन कराने पर पाक के खिलाफ लोगों ने किया प्रदर्शन…

रोजाना यहां सुबह के समय महिलाएं रिक्शा लेकर निकलती हैं। गांव के प्रत्येक घर से कूड़ा इकठ्ठा  करतीं हैं। इसके बदले वह एक तय शुल्क भी लेती हैं। सूखे और गीले कूड़े को अलग-अलग रखा जाता है। एक निजी संस्था की मदद लेकर कूड़े से जैविक खाद भी तैयार होती है। उसके बाद उन्हें बेचा भी जाता है। इसके साथ ही ये महिलाएं कूड़े से कबाड़ छांटकर उसे अलग से बेच देती हैं। यही वजह है कि लालपुर गांव की महिलाएं स्वच्छता के साथ आत्मनिर्भरता का भी पाठ पढ़ रहीं हैं।

कचरे की वजह से नालियां रहती थी गन्दी

राजधानी से करीब 40 किलोमीटर दूर लालपुर गांव में करीब सवा दो सौ घर हैं। अधिकांश घरों के लोग मेहनतकश मजदूर और छोटे काश्तकार हैं। गांव की नालियां कचरे से जाम होकर बजबजाती थीं। चारो तरफ से गंदगी और बदबू ही फैला रहता था। राजधानी से सटे होने के बाद भी सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों के पहुंचने की रफ्तार बहुत धीमी थी। लेकिन इस गांव में भी बहुत कुछ बदल चुका है।

जानिए कैसे शुरू हुआ स्वच्छता और सफलता का सफर

जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान से प्रेरणा पाकर ग्राम प्रधान जितेंद्र ने हरिता स्वयं सहायता समूह तैयार किया। इसमें ऐसी कुछ महिलाओं को शामिल किया जो घर की देहरी से निकल कर परिवार के लिए कुछ करना चाहती थीं। वहीं इस कार्य में साथ दिया अध्यक्ष निर्मला सिंह, सचिव सीमा और कोषाध्यक्ष गायत्री ने, उन्होंने एक समूह तैयार किया जो केवल लालपुर में ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों में भी स्वच्छता और आत्मनिर्भरता की प्रेरणा दे रहा है। जिससे गांव से लोग कतराते थे आज सभी अफसर उस गांव का नाम बड़े चाव के साथ लेते हैं। तमाम योजनाओं के रूप में इसका लाभ यहां के हर व्यक्ति को मिल रहा है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

अलीगढ़: मुस्लिम महिला ने ली भाजपा की सदस्यता, तो मकान मालिक ने उसके साथ किया ऐसा काम…

Published

on

सदस्यता अभियान

फाइल फोटो

लखनऊ। लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद 6 जुलाई पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र बनारस पहुंचे थे। वही से उन्होंने सदस्यता अभियान की शुरूआत की थी। इस अभियान के तहत सेलिब्रिटी से लेकर आम आदमी ने बीजेपी का हाथ थामा है। इस बीच उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से एक ऐसी खबर सामने आई है, जो आपको हैरान कर देगी। यहां एक मुस्लिम महिला के बीजेपी ज्वाइन करने के बाद उसके मकान मालिकों ने उसे घर खाली करने को धमकी दी है। हालांकि यह मामला थाने तक पहुंच गया है और पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है।

जानकारी के मुताबिक रविवार को अलीगढ़ निवासी गुलिस्ताना ने आरोप लगाया कि शनिवार को उसने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली है। लेकिन, सदस्यता लेने के बाद जब घर गई, तो मकान मालिक उन्हें घर से निकाल दिया। गुलिस्ताना ने आरोप लगाया है कि मकान मालिक ने उनके साथ बदतमीजी भी की है।

ये भी पढ़े:कर्नाटक: सत्ता बचाने में जुटे कुमारस्वामी, नाराज विधायकों को दिया इस पद का ऑफर….

वहीं, इस मामले में अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुलहारी का कहना है कि इस मामले में शिकायत दर्ज कर ली गई है। एसएसपी ने जब इस मामले की जांच की तो पता चला मकान मालिक ने गुलिस्ताना से बिजली के बिल के 4000 रुपये मांगे थे। जिसके बाद दोनों के बीच बहस शुरू हो गई, बीच में ही बहस उसके बीजेपी ज्वाइन करने को लेकर भी तीखी बहस छिड़ गई। जिसके बाद अब शिकायत दर्ज कर ली गई है।

आपको बता दें 6 जुलाई को बीजेपी ने राष्ट्रीय स्तर पर सदस्यता अभियान शुरू किया है। इस दौरान पीएम मोदी ने इस अभियान की शुरुआत काशी से की वहीं इस दौरान उनके साथ मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

बिना लाईसेन्स बार व दुकान पर होगी सख्त कार्रवाई, नियमों का अनुपालन करने के निर्देश…

Published

on

लखनऊ। प्रदेश में बिना लाईसेन्स के संचालित होने वाली बार व दुकान के लिए अधिकारी एवं कर्मचारी के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। वहीं बिना लाईसेन्स के मदिरा की बिक्री करने वाले बिक्री केन्द्रों तथा लाईसेन्स की अवधि का दुरूपयोग करने वाले बिक्री केन्द्रों को चिन्हित करने के साथ समस्त आबकारी निरीक्षकों एवं जिला आबकारी अधिकारी अपने कार्य क्षेत्र के सभी बिक्री केन्द्रों का भौतिक चिन्हांकन कर उनका सूचीकरण करते हुए तत्काल निरीक्षण कर नियमों का अनुपालन करने के निर्देश दिए गए हैं। यह निर्देश प्रदेश के प्रमुख सचिव आबकारी संजय आर. भूसरेड्डी ने गन्ना संस्थान परिसर में आबकारी विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक के दौरान दिए। भूसरेड्डी ने निर्देश दिये कि सभी अधिकारी अपने क्षेत्र एवं सेक्टर में यह सुनिश्चित करें कि अवैध मदिरा एवं मिलावटी शराब तथा अन्य प्रांतों से अनियमित आयातित मदिरा की बिक्री न हो। इस संबंध में जीरो टाॅलरेन्स की नीति अपनाते हुए संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी व्यक्तिगत उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए कार्यवाही करें।

उन्होंने प्रदेश में गठित आबकारी विभाग के सेक्टर एवं क्षेत्रों में अवैध मदिरा के निष्कर्षण, बिक्री आदि के संबंध में राजस्व विभाग के लेखपाल, कानूनगो, तहसीलदार एवं स्थानीय पुलिस से सम्पर्क कर मुखबिर तंत्र, गोपनीय सूचनाएं आदि से जुड़ी प्रभावी सूचना तंत्र विकसित करने के बारे में भी चर्चा की। प्रमुख सचिव आबकारी ने सभी संबंधित अधिकारियों को मदिरा केन्द्रों के लाईसेन्स पर अंकित अनुज्ञापी के नाम का सत्यापन करने के निर्देश दिये। उन्होंने मद्य निषेध के दौरान नियमों का सख्त अनुपालन कराते हुए मदिरा बिक्री केन्द्रों के खुलने व बंद होने के समय का अनुपालन सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने दुकानों के बंद किये जाने के संबंध में निर्धारित समय के उपरान्त ग्रेस पीरियड दिये जाने के संबंध में आबकारी आयुक्त द्वारा प्रस्ताव उपलब्ध कराये जाने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्थापित आबकारी दुकानों की चैहद्दी के संबंध में यह सुनिश्चित किया जाये की ये दुकानें निर्धारित चैहद्दी में संचालित हो रही हैं एवं नियमों के अनुरूप अनुमन्य से अधिक दरवाजे नहीं हैं।

यह भी पढ़ें :- सड़कों पर जानवरों को खुला छोड़ने वालों पर लगेगा ये जुर्माना…

भूसरेड्डी ने राजस्व की क्षति को रोकने के दृष्टिगत मदिरा बिक्री को प्रतिबंधित करने तथा जिन मदिरा केन्द्रों के पास लाईसेन्स नहीं है उन्हें मदिरा बिक्री हेतु लाईसेन्स प्रदान किये जाने के निर्देशों के साथ आईजीआरएस के लम्बित प्रकरणों की समीक्षा के दौरान वर्ष 2017 से जून 2018 तक सभी प्रकरणों को तत्काल निस्तारित किये जाने के आदेश दिये। उन्होंने विभाग के 50 वर्ष से अधिक उम्र के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति किये जाने हेतु प्रस्ताव उपलब्ध कराने की कार्यवाही सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये। भूसरेड्सी ने प्रदेश के बंद आसवनियों, यवासनियों व फार्मेसियों से आबकारी स्टाफ को अन्यत्र तैनात किये जाने तथा पद सहित स्थानान्तरण किये जाने हेतु प्रस्ताव उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने स्थानान्तरण आदेशों का क्रियान्वयन 48 घन्टे के अन्दर सुनिश्चित करने एवं किसी कार्मिक के स्थानान्तरण होने के पश्चात चार्ज आदान-प्रदान करते समय वर्तमान तैनाती स्थल के संबंध में संक्षिप्त टिप्पणी व सूचना भी हस्तान्तरित करने के निर्देश दिये। इस बैठक में आबकारी आयुक्त, संयुक्त आबकारी आयुक्त, उपायुक्त, सहायक आबकारी आयुक्त सहित सभी जिला आबकारी आयुक्त एवं आबकारी निरीक्षक उपस्थित थे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 8, 2019, 3:11 pm
Partly sunny
Partly sunny
33°C
real feel: 40°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 66%
wind speed: 1 m/s SE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 4:50 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending