Connect with us

प्रदेश

कटा दिग्गजों का पत्ता, जया बच्चन को राज्यसभा भेजेगी सपा

Published

on

 

लखनऊ । यूपी की दस राज्यसभा सीटों के लिए इस माह चुनाव होने जा रहे हैं । समाजवादी पार्टी ने नरेश अग्रवाल सहित अपने कई दिग्गज नेताओं को दरकिनार करते हुए उनकी जगह जया बच्चन को दोबारा राज्यसभा भेजने का फैसला किया है । समाजवादी पार्टी के छह राज्य सभा सांसद तीन अप्रैल को रिटायर हो रहे हैं । किरणमय नंदा, दर्शन सिंह यादव, नरेश अग्रवाल, जया बच्चन, मुनव्वर सलीम और आलोक तिवारी के नाम इस लिस्ट में हैं ।

सपा के पास सिर्फ 47 वोट हैं, अखिलेश यादव सिर्फ एक नेता को ही संसद भेज सकते है । बाकी के अतिरिक्त वोट को गठबंधन के तहत बसपा प्रत्याशी को देगी । समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सदस्य और पूर्व में बच्चन परिवार के करीबी रहे अमर सिंह ने कहा, ‘जया बच्चन समाजवादी पार्टी के लिए हमेशा से ही वफादार रही हैं । वह नरेश अग्रवाल से बेहतर उम्मीदवार साबित होंगीं ।’ नरेश अग्रवाल, रामगोपाल यादव के बेहद करीबी माने जाते हैं और उनका विवादों से अक्सर नाता रहा है । पिछले साल पाकिस्तान में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर दिए उनके बयान पर काफी विवाद हो गया था । भगवान राम पर उनके द्वारा की गई टिप्पणी को लेकर भी संसद में खूब हंगामा हुआ था । जया बच्चन समाजवादी पार्टी से लगातार दो बार राज्यसभा में सांसद चुनी जा चुकी हैं । 2005 में उस उन्हें उस समय सदस्यता छोड़नी पड़ी थी, जब उन पर लाभ के पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगा था । 2012 में समाजवादी पार्टी ने एक बार फिर अपने टिकट पर जया बच्चन को राज्यसभा भेजा था ।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

यूपी ‘कोविड केयर फंड’ में एक-एक करोड़ की सहायता करें सभी विधायकः स्पीकर

Published

on

विधानसभा अध्यक्ष ने सभी सदस्यों को पत्र लिखकर मांगा सहयोग

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश विधान सभा के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सभी सदस्यों को एक पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने कोरोना महामारी से निपटने के लिए सभी विधायकों को अपनी निधि से एक-एक करोड़ की धनराशि आवंटित करने की अपील की है। स्पीकर ने पत्र में कहा है कि पूरी दुनिया महामारी का सामना कर रही है। भारत भी कठिन दौर से गुजर रहा है। केन्द्र के साथ कदम से कदम मिलाते हुए उत्तर प्रदेश सरकार भी इस महामारी से मुकाबला कर रही है। योगी सरकार ने कई कदम उठाए हैं। सभी सदस्य अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को जागरूक करें। सरकार के निर्देशों का पालन करने के लिए लोगों को प्रेरित करें। ऐसा करना हम सबका राष्ट्रीय कर्तव्य हैं।

यह भी पढ़ें-कोरोना से लड़ रहे स्वास्थ्यकर्मियों को उचित संसाधन व सुरक्षा देने की मांग

श्री दीक्षित ने पत्र में कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश कोविड केयर फंड’ की स्थापना की है। इस फंड से सभी मेडिकल कालेजों व जिलास्तरीय अस्पतालों को कोराना से निपटने के लिए जरूरी उपकरणों की व्यवस्था की जाएगी। इसलिए हम सभी को अपनी विधायक निधि से इस मद में 1 करोड़ रुपए की धनराशि देनी चाहिए। क्योंकि कोरोना महामारी में सहयोग के लिए मुख्यमंत्री ने एक मद पर अधिकतम 25 लाख व्यय की सीमा खत्म कर दी है। स्पीकर ने सभी सदस्यों से अपील की है कि हम सभी लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहेंगे। साथ लोगों को प्रेरित करते रहेंगे। इस महामारी से मुकाबला कर रहे डाक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों और पुलिसकर्मियों का उत्साववर्धन करते रहेंगे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपी: महावीर जयंती व गुड फ्राइडे की छुट्टियां रदद्, खुले रहेंगे बैंक

Published

on

लखनऊ। योगी सरकार ने लॉकडाउन में जरूरतमंदों के खाते में पैसे ट्रांसफर करने करने के साथ ही बैंकों की छुट्टी को रद्द कर दिया है। उत्तर प्रदेश में महावीर जयंती और गुड फ्राइडे के दिन भी बैंक खुले रहेंगे। यानि 6 अप्रैल और 10 अप्रैल को छुट्टियां नहीं होगी। दरअसल, कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के चलते योगी सरकार ने कई योजनाओं की शुरुआत की है। इन योजनाओं का लाभ राज्य के लोगों को मिले, इसके लिए सरकार ने इन दोनों दिन बैंकों को खुला रखने का निर्णय लिया है। सरकार के प्रमुख सचिव सामान्य प्रशासन जितेंद्र कुमार ने इस संबंध में शुक्रवार को आदेश जारी किया ।

यह भी पढ़ें-कोरोना से लड़ रहे स्वास्थ्यकर्मियों को उचित संसाधन व सुरक्षा देने की मांग

उन्होंने कहा कि 6 अप्रैल को महावीर जयंती और 10 अप्रैल को गुड फ्राइडे की छुट्टियां घोषित थी । कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पूर्ण लॉकडाउन की स्थिति में राज्य सरकार डीबीटी के माध्यम से किसानों व गरीबों के लिए घोषित आर्थिक पैकेज का पैसा लाभार्थियों के खाते में भेजा रही है। ऐसी स्थिति में सभी डीएम व मुख्य वरिष्ठ कोषाधिकारी अपने-अपने जिलों में बैंक व कोषागार खुलवाने का निर्देश दिया गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

कोरोना से लड़ रहे स्वास्थ्यकर्मियों को उचित संसाधन व सुरक्षा देने की मांग

Published

on

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने सरकार के समक्ष उठाई आवाज

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे डाक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ मारपीट व अभद्र व्यवहार पर नाराजगी जाहिर की है। परिषद ने कहा है कि यदि स्वास्थ्यकर्मियों को जनता का सहयोग और सुरक्षा नहीं मिलेगी तो उनका काम कर पाना मुश्किल हो जाएगा। अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों का इलाज कर रहे इन कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए सरकार को पुख्ता कदम उठाना चाहिए।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश के महामंत्री अतुल मिश्रा ने कहा कि परिषद पहले ही कोरोना की रोकथाम में लगे स्वास्थ्य कर्मचारियों को पर्याप्त संसाधन और सुरक्षा की मांग उठाई थी। बलरामपुर चिकित्सालय लखनऊ में कई कोरोना पाॅजिटिव मरीज भर्ती हैं। लेकिन यहां तैनात डाक्टरों और मेडिकल स्टाप के पास उचित मास्क और सेनिटाइजर तक उपलब्ध नहीं है। ऐसे में कर्मचारियों को कार्य करना मुश्किल हो रहा है। कन्नौज में चिकित्सा कर्मियों के साथ ग्रामीणों द्वारा बदसलूकी की गई है जो नितांत गलत है। इसके साथ ही कुछ और जगहो से भी ऐसी खबरें आ रही हैं। अगर चिकित्सा कर्मियों को पर्याप्त सुरक्षा नहीं उपलब्ध होती है तो समाज में कार्य कर पाना संभव नहीं होगा।

बलरामपुर अस्पताल में स्वास्थ्यकर्मियों की जान जोखिम में

परिषद के प्रवक्ता एवं राजकीय नर्सेज संघ के महामंत्री अशोक कुमार ने बताया कि संसाधन के अभाव में केजीएमयू में अनेक डॉक्टर एवं कर्मचारी संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं। वहीं बलरामपुर चिकित्सालय में अभी तक कर्मचारियों को क्वारंटाइन करने की व्यवस्था उपलब्ध नहीं है। जिससे डाक्टर और स्वास्थ्यकर्मी अपने घरों में रह रहे हैं। ऐसे में उनके परिजनों में भी संक्रमण का खतरा है। बलरामपुर अस्पताल में कोरोना के 12 मरीजों का इलाज हो रहा है।

यह भी पढ़ें-यूपी में अब 174 लोग कोरोना संक्रमित, 24 घंटे में बढ़े 44 मामले

कोरोना मरीजों के वार्ड में 14 स्टाफ नर्स, 8 वार्ड बॉय और 3 सफाईकर्मी लगातार कार्य कर रहे हैं। जिन्हें पर्याप्त सुरक्षा नहीं दी गई है। परिषद ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि कर्मचारियों को सुरक्षा देने के साथ ही उन्हें सभी सुरक्षा संसाधन उपलब्ध कराए जाएं। जिससे वे निश्चिंत होकर मरीजों की सेवा कर सकें।

स्वाथ्यकर्मियों के वेतन भुगतान न होने पर भी जताई चिंता

परिषद ने चिंता व्यक्त की कि राम मनोहर लोहिया चिकित्सालय, मेडिकल कॉलेज झांसी और मेडिकल कॉलेज बदायूं सहित कुछ चिकित्सालयों के संविदा एवं स्थाई कर्मचारियों के वेतन विगत कई माह से प्राप्त नहीं हुए हैं। जिस पर सरकार का ध्यान परिषद द्वारा आकृष्ट किया गया था। लेकिन अभी तक उन्हें वेतन भुगतान नहीं हो सका है। यहां तक कि सरकार द्वारा स्थाई कर्मचारियों को जो वेतन दिए जाने का निर्देश हुआ था। आज लगभग 5 दिन बीतने के बाद भी इस माह का वेतन अभी तक प्राप्त नहीं हुआ। सरकार को इस बिंदु पर भी ध्यान देना होगा।http://www.satyodaya.cm

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 4, 2020, 7:08 am
Sunny
Sunny
17°C
real feel: 18°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 67%
wind speed: 1 m/s SW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:24 am
sunset: 5:55 pm
 

Recent Posts

Trending