Connect with us

प्रदेश

टीबी जैसी गंभीर बीमारी से लोगों को निजात दिलाने के लिए केजीएमयू ने एसटीएफ का किया गठन

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ। ट्यूबरक्लोसिस जिसे टीबी या क्षय रोग कहा जाता है, यह एक ऐसी बीमारी है जिसकी पहचान आसानी से नहीं हो पाती है। इसलिए इसके लक्षणों पर ध्यान देना बेहद जरूरी है। विश्व में लगभग 6 करोड़ लोग इस बीमारी से ग्रसित हैं और प्रत्येक वर्ष 25 से 30 लाख लोगों को इस बीमारी की वजह से मृत्यु हो जाती है। हर दिन चालीस हजार लोग इस संक्रमण से जूझते हुए दिखाई देते हैं।

टीबी जैसी गंभीर बीमारी से लोगों को बचाने के लिए मेडिकल कॉलेज के द्वारा (एसटीएफ) स्पेशल टास्क फोर्स का गठन किया गया है जिसमें पूरे उत्तर प्रदेश के टीबी से जुड़े चिकित्सकों को सम्मिलित किया गया है। एसटीएफ को दिशा-निर्देश देने के लिए और लक्ष्य की प्राप्ति के लिए केजीएमयू में तीन दिवसीय एसटीएफ कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसके अध्यक्ष केजीएमयू के कुलपति एमएल भट्ट हैं।

केजीएमयू में 13,14 और 15 मार्च को होने वाले 3 दिवसीय वर्कशॉप का आज पहला दिन था, जिसमें पूरे प्रदेश के 38 मेडिकल कॉलेजों से चिकित्सक और स्वास्थ से जुड़े जिम्मेदार लोग शामिल हुए। वर्कशॉप को संबोधित करते हुए केजीएमयू कुलपति एमएल भट्ट ने कहा कि टीबी एक गंभीर समस्या है इससे छुटकारा पाना आसान नहीं है, मगर नामुमकिन भी नहीं है। कुलपति ने कहा कि हम सब मिलकर अगर कोशिश करें तो यह काम बहुत ही आसानी से तय लक्ष्य के मुताबिक पूरा किया जा सकता है।

ये भी पढ़े: ईडी का बड़ा खुलासा, पुलवामा हमले में पाकिस्तान उच्चायोग का हाथ

कुलपति ने कहा कि इस बीमारी को रोकने के लिए आम जनता को जागरूक करना बहुत जरूरी है और टीवी के लक्षण और बचाव आम जनता तक पहुंचाना उससे भी ज्यादा जरूरी है। उन्होंने कहा कि टीबी आनुवांशिक नहीं बल्कि एक संक्रामक रोग है इसकी चपेट में आने वाला व्यक्ति धीरे-धीरे कमजोर हो जाता है। सबसे आम फेफड़ों की टीबी ही है लेकिन यह ब्रेन, यूटरस, मुंह, लिवर, किडनी, गला, हड्डी आदि शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकती है । टीबी का सबसे आम लक्षण है, दो हफ्ते से ज्यादा खांसी होना और तेज बुखार आना है ।

अच्छा खान-पान न करने वालों को टीबी ज्यादा होती है क्योंकि कमजोर इम्यूनिटी से उनका शरीर बैक्टीरिया का वार बर्दाश्त नहीं कर पाता है और टीबी के रोग मे ग्रसित हो जाता है । कुलपति ने कहा कि डब्ल्यूएचओ का लक्ष्य है की 2030 तक पूरे विश्व को टीवी की बीमारी से मुक्त करेंगे मगर भारत में यह लक्ष्य प्रधानमंत्री के आदेशानुसार 2025 तक तय करना है और उत्तर प्रदेश समेत पूरे भारत को टीबी मुक्त बनाना है ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदेश

‘द फन एंड स्पाइस फूड क्लब’ में महिलाओं ने दिखाया अपना हुनर

Published

on

महिलाओं ने रोचक गेम्स में अपने हुनर दिखाए, औषधीय पौधों का निशुल्क वितरण हुआ और साथ ही मशहूर मास्टर शेफ जयनंदन व कविता से कुकिंग के हुनर सीखे। द फन एंड स्पाइस फूड क्लब की लखनऊ चैपटर की शुरुआत मेयर संयुक्ता भाटिया ने दीप प्रज्जवलन कर किया। कार्यक्रम त्रिवेणी नगर सीतापुर रोड स्थित मेराव बैक्वेंट हॉल में हुआ, जिसमें मुख्य अतिथि मेयर संयुक्ता भाटिया, विशिष्ट अतिथि मशहूर मास्टर शेफ जयनंदन भास्टकर और मास्टर शेफ कविता सिंह रहे।

इस मौके पर पूर्व प्रशासनिक अधिकारी एसी श्रीवास्तव, पूर्व वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी अनूप मलिक, व्यवसायी आरएन शास्त्री भी मौजूद रहे।

मेयर संयुक्ता भाटिया ने क्लब की फाउंडर प्रेसीडेंट संध्या गर्ग को बधाई दी। उन्होंने कहा कि क्लब का महिलाओं को आत्मनिर्भर और स्वाबलंबी बनाने का काम बेहद सराहनीय है। मास्टर शेफ जयनंदन भास्कर और कविता ने अपनी मशहूर रेसपी बनाकर दिखाई। उन्होंने जायकेदार व्यंजनों के बनाने के टिप्स दिये।

रोचक गेम्स में दिखा उत्साह, सीखे कुकिंग के हुनर

क्लब की सदस्यों ने तंबोला, गोलगप्पे खाने, चम्मच से रसगुल्ला खाने जैसे रोचक गेम्स में उत्साहपूर्वक भाग लिया। विजेता महिलाओं को पुरस्कृत किया गया। मास्टर शेफ कविता और जयनंदन ने महिलाओं की एक घंटे की कुकिंग वर्कशॉप की। संस्था पृथ्वी इनोवेशन की संयोजिका अनुराधा गुप्ता ने औषधीय और इंडोर प्लांट निशुल्क वितरित किये। वीक फील्ड, गोल्डी मसाले निशुल्क बांटे गए।

Continue Reading

प्रदेश

यूपी : सरकार ने 22 आईपीएस अधिकारियों के किए तबादले, बदले गए 6 जिलों के पुलिस कप्तान

Published

on

योगी सरकार ने सोमवार देर रात पांच रेंज के मुखिया और 6 जिलों के पुलिस कप्तान समेत 22 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए हैं। इनमें लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज और मेरठ सहित कई जिलों के पुलिस कप्तान शामिल हैं।

कानपुर रेंज के आईजी आलोक सिंह को मेरठ रेंज का आईजी बनाया गया है। मेरठ के आईजी राम कुमार को पीएसी मध्य जोन की कमान सौंपी गई है। पीएसी मध्य जोन के आईजी ए सतीश गणेश को आगरा का नया आईजी रेंज बनाया गया है। यहां तैनात लव कुमार को कारागार विभाग में डीआईजी के पद पर तैनाती दी गई है। मेरठ में मॉब लिंचिंग को लेकर हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान बवाल की गाज आईजी और एसएसपी पर गिरी है। आईजी राम कुमार के साथ साथ एसएसपी नितिन तिवारी को भी हटा दिया गया है। बाराबंकी के एसपी अजय साहनी को मेरठ का नया एसएसपी बनाया गया है।

इसी कड़ी में प्रयागराज रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल को कानपुर रेंज भेजा गया है। गाजियाबाद में तैनात डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल को सहारनपुर का नया डीआईजी बनाया गया है। उपेंद्र सहारनपुर में एसएसपी के पद पर भी तैनात रह चुके हैं। दीपक कुमार को पीएसी से हटा कर बांदा का नया डीआईजी बनाया गया है। यहां तैनात अनिल कुमार राय अब पीएसी सेक्टर मेरठ के डीआईजी होंगे। विवाद के बाद आगरा के भी डीआईजी और एसएसपी को हटा दिया गया है। डीआईजी लव कुमार के साथ 8 जून को आगरा भेजे गए जोगेंद्र कुमार को भी हटा दिया गया है। उनके स्थान पर बबलू कुमार को भेजा गया है। जोगेंद्र को पीएसी एटा भेजा गया है।

Continue Reading

प्रदेश

हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा का जारी हुआ शेड्यूल

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि माध्यमिक शिक्षा की परीक्षा समय सारिणी जारी कर मासिक पाठ्यक्रम का निर्धारण किया गया है । आज से पठन पाठन का कार्य प्रारंभ हो गया है । पिछली बार 7 फरवरी से परीक्षाएं हुई थी और 50 लाख से अधिक परीक्षार्थी थे । 14 दिन में हाइस्कूल और 16 दिन में 12वीं की परिक्षाएं पूरी हुई थीं ।

डॉ दिनेश शर्मा ने बताया कि इस बार यूपी बोर्ड में करीब 55 लाख परीक्षार्थी बैठेंगे । परिक्षाएं 18 फरवरी से शुरू होंगी । 15 दिन में इंटरमीडिएट व 12 दिन में हाइस्कूल की परीक्षा खत्म होगी । पाठ्यक्रम का मासिक विभाजन किया है । कौन सा चैप्टर कब पढ़ाया जाना है, यह भी तय किया गया है । 15 से 25 मार्च के बीच मूल्यांकन होगा और 20 से 25 अप्रैल के बीच रिजल्ट आएंगे । NCRET की पुस्तक अधिक दाम पर बेचने पर कार्रवाई होगी । 1 अप्रैल से नया सत्र शुरू किया गया था । ग्रीष्म अवकाश के बाद आज से स्कूल खुले हैं ।

यह भी पढ़ें: मानसून की पहली बारिश में कई जगह चोक हो गए नाले, जनता के बीच डटी रहीं महापौर

उन्होंने बताया कि इस बार पांच से 30 मार्च तक विश्विद्यालय की परीक्षा होगी और 5 जून तक रिजल्ट जारी करना होगा । 10 मई तक सेमेस्टर परीक्षा पूरी करनी होगी । 9 जुलाई को स्वयं दिनेश शर्मा लखनऊ विश्वविद्यालय में कलास लेंगे ।http://WWW.SATYODAYA.COM

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 2, 2019, 4:21 pm
Fog
Fog
28°C
real feel: 34°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s NNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 4:47 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending