Connect with us

प्रदेश

टीबी जैसी गंभीर बीमारी से लोगों को निजात दिलाने के लिए केजीएमयू ने एसटीएफ का किया गठन

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ। ट्यूबरक्लोसिस जिसे टीबी या क्षय रोग कहा जाता है, यह एक ऐसी बीमारी है जिसकी पहचान आसानी से नहीं हो पाती है। इसलिए इसके लक्षणों पर ध्यान देना बेहद जरूरी है। विश्व में लगभग 6 करोड़ लोग इस बीमारी से ग्रसित हैं और प्रत्येक वर्ष 25 से 30 लाख लोगों को इस बीमारी की वजह से मृत्यु हो जाती है। हर दिन चालीस हजार लोग इस संक्रमण से जूझते हुए दिखाई देते हैं।

टीबी जैसी गंभीर बीमारी से लोगों को बचाने के लिए मेडिकल कॉलेज के द्वारा (एसटीएफ) स्पेशल टास्क फोर्स का गठन किया गया है जिसमें पूरे उत्तर प्रदेश के टीबी से जुड़े चिकित्सकों को सम्मिलित किया गया है। एसटीएफ को दिशा-निर्देश देने के लिए और लक्ष्य की प्राप्ति के लिए केजीएमयू में तीन दिवसीय एसटीएफ कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसके अध्यक्ष केजीएमयू के कुलपति एमएल भट्ट हैं।

केजीएमयू में 13,14 और 15 मार्च को होने वाले 3 दिवसीय वर्कशॉप का आज पहला दिन था, जिसमें पूरे प्रदेश के 38 मेडिकल कॉलेजों से चिकित्सक और स्वास्थ से जुड़े जिम्मेदार लोग शामिल हुए। वर्कशॉप को संबोधित करते हुए केजीएमयू कुलपति एमएल भट्ट ने कहा कि टीबी एक गंभीर समस्या है इससे छुटकारा पाना आसान नहीं है, मगर नामुमकिन भी नहीं है। कुलपति ने कहा कि हम सब मिलकर अगर कोशिश करें तो यह काम बहुत ही आसानी से तय लक्ष्य के मुताबिक पूरा किया जा सकता है।

ये भी पढ़े: ईडी का बड़ा खुलासा, पुलवामा हमले में पाकिस्तान उच्चायोग का हाथ

कुलपति ने कहा कि इस बीमारी को रोकने के लिए आम जनता को जागरूक करना बहुत जरूरी है और टीवी के लक्षण और बचाव आम जनता तक पहुंचाना उससे भी ज्यादा जरूरी है। उन्होंने कहा कि टीबी आनुवांशिक नहीं बल्कि एक संक्रामक रोग है इसकी चपेट में आने वाला व्यक्ति धीरे-धीरे कमजोर हो जाता है। सबसे आम फेफड़ों की टीबी ही है लेकिन यह ब्रेन, यूटरस, मुंह, लिवर, किडनी, गला, हड्डी आदि शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकती है । टीबी का सबसे आम लक्षण है, दो हफ्ते से ज्यादा खांसी होना और तेज बुखार आना है ।

अच्छा खान-पान न करने वालों को टीबी ज्यादा होती है क्योंकि कमजोर इम्यूनिटी से उनका शरीर बैक्टीरिया का वार बर्दाश्त नहीं कर पाता है और टीबी के रोग मे ग्रसित हो जाता है । कुलपति ने कहा कि डब्ल्यूएचओ का लक्ष्य है की 2030 तक पूरे विश्व को टीवी की बीमारी से मुक्त करेंगे मगर भारत में यह लक्ष्य प्रधानमंत्री के आदेशानुसार 2025 तक तय करना है और उत्तर प्रदेश समेत पूरे भारत को टीबी मुक्त बनाना है ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदेश

गोरखपुर: डॉ कफील खान के मामा की गोली मारकर हत्या, जमीनी विवाद का मामला….

Published

on

कफील खान

फाइल फोटो

लखनऊ। गोरखपुर के बीआरडी ऑक्सीजन कांड से चर्चा में आए डॉ कफील खान के मामा नुसरत उल्लाह वारसी उर्फ अफसर की बदमाश ने गोली मारकर हत्या कर दी है। शुक्रवार की रात 11 बजे के करीब गोली की तड़तड़ाहट सुनकर बेटी दौड़ी, लेकिन तब तक बदमाश फरार हो चुके थे।

हालांकि इस हत्या की खबर पाते ही एसएसपी डॉ। सुनील कुमार गुप्ता, एसपी सिटी डॉ। कौस्तुभ, सीओ कोतवाली वीपी सिंह तीन थाने की फोर्स और फोरेंसिक एक्सपर्ट के मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भेजकर जांच शुरू कर दी है।

मृतक डॉ। कफील खान के छोटे मामा थे। वह गोरखपुर के पुराने रईस होने की वजह से शहर में कई जगह इनका जमीन का विवाद भी चल रहा था। कई मामले में न्यायालय में विचाराधीन हैं। तीन भाइयों में सबसे छोटे नुसरत उल्लाह खां रोजाना ही रात में खाना खाने के बाद पड़ोसी सिराज तारिक के घर में कैरम खेलने जाते थे। शुक्रवार की रात दस बजे के करीब वह कैरम खेलने गए थे। जब वह ग्यारह बजे वह वहां से घर के लिए लौट रहे थे।

ये भी पढ़ें:भारत दौरे पर ट्रंप व पत्नी मेलानिया को नहीं पहनाया जाएगा माला, न लगेगा तिलक

घर के अंदर से ही रास्ता था मगर वह बाहर के रास्ते अपने गेट पर पहुंचे। आसपास के लोगों के मुताबिक एक बाइक सवार वहां पर मौजूद था। वह नुसरत के कंधे पर हाथ डालकर बात करते हुए अंदर गया और फिर गेट के अंदर से घर में साथ घुसा। उसके बाद उसने उन्हें गोली मार दी और वह नीचे गिरकर तड़पने लगे।

गोली की आवाज सुनकर बेटी तायब दौड़ पड़ी। शोर मचाने पर आसपास के लोग भी मौके पर पहुंच गए मगर तब तक बदमाश फरार हो गए थे। लोग उन्हें अस्पताल ले जाते इसके पहले ही उनकी मौत हो गई थी। बदमाशों ने आंख के नीचे, मुंह के बीच में गोली मारी है। पुलिस बदमाश और हत्या के वजह की तलाश में जुटी है। क्राइम ब्रांच की टीम भी मौके पर पहुंच गई थी। हालांकि पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है। पुलिस, क्राइम ब्रांच की टीम लगी है, जल्द ही घटना का पर्दाफाश किया जाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

भारत दौरे पर ट्रंप व पत्नी मेलानिया को नहीं पहनाया जाएगा माला, न लगेगा तिलक

Published

on

डोनाल्ड ट्रंप

फाइल फोटो

लखनऊ। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया के भारत दौरे से पहले तैयारियां पूरी हो चुकी हैं । भारत दौरे से पहले डोनाल्ड ट्रंप भी कम उत्साहित नहीं हैं। ऐसे में आगरा दौरे के दौरान ट्रंप और उनकी मेलानिया को न तो तिलक लगाया जाएगा और न ही कोई उनके पैर छुएगा। सुरक्षा को देखते हुए ये निर्देश दिए गए हैं। इसकी सूची जारी कर दी गई है कि स्वागत कौन-कौन करेगा।

खेरिया एयरपोर्ट पर ट्रंप और मेलानिया के आने के बाद उनका स्वागत सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, भारत में अमेरिका के राजदूत करेंगे। आगरा के महापौर नवीन जैन उन्हें शहर की प्रतीकात्मक चाबी भेंट कर उनका स्वागत करेंगे।

ये भी पढ़ें:सीतापुर: डीजे बजाने को लेकर हुए विवाद में चली गोली, महिला डांसर घायल

वहीं सुरक्षा ड्यूटी में पुलिसकर्मियों, अधिकारियों को इसके लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं। मेहमानों को न बुके भेंट किए जाएंगे, न ही फूल। इतना ही नहीं स्वागत के दौरान ट्रंप को माला पहनाने की भी इजाजत नहीं है।

फोटो लेने पर पुलिसवाले होंगे निलंबित

पुलिसकर्मियों को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि ट्रंप और मेलानिया का मोबाइल से फोटो लेने की कोशिश न करें। अगर कोई पुलिसवाला ऐसा करता है तो उसे सस्पेंड कर दिया जायेगा। इसे अनुशासनहीनता माना जाएगा बाद में इसकी विभागीय जांच भी की जाएगी।

ट्रंप और मेलानिया के ताज के लिए रवाना होने पर उनके जहाज के नजदीक भी सिर्फ वे ही अफसर जा सकेंगे जिनको जहाज की सुरक्षा में लगाया गया है। अन्य को ट्रंप और मेलानिया के नजदीक जाने की इजाजत नहीं है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सीतापुर: डीजे बजाने को लेकर हुए विवाद में चली गोली, महिला डांसर घायल

Published

on

सांकेतिक चित्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सीतापुर में एक गांव में शनिवार रात दावत समारोह में डीजे पर गोलियां चल गईं। बताया जा रहा है कि देर रात शुरू हुए डांस समारोह में अचानक किसी अज्ञात ने गोलियां चला दीं। जिसके चलते मौके पर भगदड़ मच गई। इस दौरान डांस में शामिल एक बार डांसर के हाथ व पैर में गोली लग गई। वहीं आनन-फानन युवती को अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

सीतापुर जिले के रामकोट थाना क्षेत्र के मिर्जापुर गांव निवासी वसीम पुत्र निजामू की शादी हुई थी।  शादी के उपलक्ष्य में शनिवार शाम घर पर ही दावत थी, जिसके बाद डांस कार्यक्रम का आयोजन था। हरदोई जिले के सांडी थाना क्षेत्र के धोधी गांव से डांस पार्टी आई हुई थी। बताया जा रहा है कि रात में करीब 2 बजे डांस के दौरान किसी ने फायरिंग कर दी। जिसमें गोली नृत्य कर रही ममता (28) को लग गई। गोली लगते ही भगदड़ मच गई।

ये भी पढ़ें: सोनभद्र के फिलाईट चट्टानों में 52806.25 टन अयस्क संसाधन

घायल ममता पत्नी संजय यादव निवासी हरदोई की बताई जा रही है। घायल ममता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पति संजय यादव की सूचना पर थानाध्यक्ष ओपी राय पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। थानाध्यक्ष ने बताया हरदोई जिले से आई डांस पार्टी की युवती के हाथ व पैर में 12 बोर के तमंचे से चली गोली लगी है। पति की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।  http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 23, 2020, 7:00 pm
Mostly cloudy
Mostly cloudy
23°C
real feel: 24°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 74%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:07 am
sunset: 5:33 pm
 

Recent Posts

Trending