Connect with us

प्रदेश

लॉकडाउन: विदेश से आए नागरिकों की सूचना न देने वालों पर दर्ज करें FIR- योगी

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को प्रदेश के प्रमुख अफसरों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान सीएम ने ग़रीबों को मुफ़्त राशन देने और हेल्थ प्रोटोकॉल पर जरूरी निर्देश दिए। साथ ही दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से जुड़े मामले पर कार्रवाई के निर्देश दिए। सीएम ने कहा कि तबलीगी जमात में शामिल हुए प्रदेश में जहां-जहां विदेश से आए लोग है। इन लोगों पर कार्रवाई की जाए इनकी सूचना नहीं देने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करें, और कार्रवाई करें बैठक में बताया गया।

इसे भी पढ़ें- लॉकडाउन पर सीएम योगी बेहद सख्त, आला-अधिकारियों के साथ की अहम बैठक

यूपी के कई जगहों पर विदेशी रुके थे, लेकिन यहां जिला प्रशासन को इसकी सूचना नहीं दी गई सीएम ने सभी के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए। सीएम ने कहा कि तबलीगी जमात में शामिल होने वाले लोगों को चिन्हित कर उन्हें क्वारेंटाइन किया जाए साथ ही नियमानुसार कार्रवाई भी की जाए।

सीएम ने इसके अलावा जिला स्तर पर जिला मुख्यालय पर सभी नगर निगम व नगर पालिकाओं में भी क्वॉरेंटाइन करने के निर्देश दिए। उन्होंने लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया। साथ ही यूपी के सभी जिलों में सरकारी कम्युनिटी किचन चालू रखने को कहा सीएम योगी ने सभी डीएम से निजी संस्थाओं व धार्मिक संस्थाओं में भी किचन चालू कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि यूपी में कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे साथ ही राशन वितरण प्रणाली में सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन किया जाए कोई कालाबाजारी करता है। तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

इसे भी पढ़ें-इंटीग्रल यूनिवर्सिटी में मिले 4 विदेशी छात्र, सभी को किया गया क्वारंटाइन

उधर, दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में आयोजित हुए तब्लीगी जमात में उन्नाव जिले की नगर पंचायत कुरसठ के रहने वाले दो मौलवी भी शामिल हुए थे। उत्तर प्रदेश शासन द्वारा जारी अलर्ट के बाद उन्नाव जिला प्रशासन हरकत में आया, जिसके बाद उन्नाव के स्वास्थ्य विभाग ने उनकी पहचान की दोनों मौलवी 7 मार्च को ही दिल्ली से वापस आने का दावा कर रहे है। वहीं जिले की स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल टीम ने उन्हें अपनी निगरानी में ले लिया है। मौलवियों का सैंपल लेकर जांच के लिए लखनऊ भेजा गया है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

लॉकडाउन पर सीएम योगी बेहद सख्त, आला-अधिकारियों के साथ की अहम बैठक

Published

on

लखनऊ। देश-प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस को रोकने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वाहन पर पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है। बावजूद इसके, कोराना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने दौरे को निरस्त कर लखनऊ में प्रदेश के आला-अधिकारियों के साथ एक अहम बैठक की।
बैठक में, कोरोना वायरस को रोकने और उसके लिये लागू किये लाकडॉउन में खाने-पीने को लेकर की गई। इस व्यवस्था की समीक्षा की बैठक के दौरान, मुख्‍यमंत्री ने यूपी में लॉक डाउन को अधिक सख्ती के साथ लागू करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही, खाद्य एवं रसद विभाग को गरीब मजदूरों का पेट भरने के लिये 1 अप्रैल से राशन बांटने का निर्देश दे दिया है।

इसे भी पढ़ें- यूपी में बिजली बिल जमा करने की अवधि बढ़ाई गई, 30 अप्रैल तक कर सकते है जमा

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के निर्देश पर खाद्य एवं रसद विभाग की तरफ से पहले चरण के तहत बुधवार 1 अप्रैल से ही पूरे प्रदेश में खाद्यान्न वितरण शुरू कर दिया जायेगा। इसमें अंत्योदय कार्ड धारकों, नरेगा श्रमिकों, श्रम विभाग में रजिस्टर्ड श्रमिकों तथा नगर विकास विभाग के दिहाड़ी मजदूरों को निशुल्क राशन वितरण किया जाएगा।

इस योजना के दूसरे चरण में 15 अप्रैल से समस्त कार्ड धारकों को 5 किलो प्रति यूनिट की दर से निशुल्क राशन (चावल) भी उपल्ब्ध कराया जायेगा। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने वितरण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन कराने का निर्देश दिया है। जिसके चलते, प्रत्येक उचित दर दुकान पर सैनिटाइजर,साबुन एवं पानी भी रखा जायेगा, ताकि हाथ धुलने के उपरांत ही ईपोस का इस्तेमाल किया जाये।

इसे भी पढ़ें-इंटीग्रल यूनिवर्सिटी में मिले 4 विदेशी छात्र, सभी को किया गया क्वारंटाइन

राशन की दुकानों पर भीड़ ना हो, सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे इसके लिए प्रत्येक दुकानदार रोस्टर के हिसाब से राशन वितरित करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही, अगर कोई कोई व्यक्ति, परिवार, समुदाय, कस्बा या कॉलोनी को होम क्वॉरेंटाइन किया गया है। उस तक होम डिलीवरी के माध्यम से राशन पहुंचाने के निर्देश दिये गये है।

राशन वितरण हेतु प्रत्येक उचित दर दुकान के लिये नोडल अधिकारी की नियुक्ति जिलाधिकारी द्वारा की गई है। उचित दर विक्रेता द्वारा नोडल अधिकारी तथा ग्राम प्रधान की उपस्थिति में ही हर पात्र मजदूर को राशन का वितरण कराने का निर्देश दिया गया है। जिससे योजना के क्रियांवन में पूरी पारदर्शिता बनी रहे और संकट के इस समय में सभी को भोजन उपलब्‍ध हो सके।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपीः एक ही दिन में कोरोना महामारी से पीड़ित दो मरीजों की मौत

Published

on

गोरखपुर में युवक ने तो मेरठ में बुजुर्ग ने दम तोड़ा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना से मौतों का सिलसिला शुरू हो चुका है। बुधवार को प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में दो कोरोना मरीजों की मौत हो गयी। पहली मौत बस्ती निवासी युवक की हुई। जिसका इलाज गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल काॅलेज में चल रहा था। इसके थोड़ी ही देर बाद मेरठ में भी कोरोना संक्रमित एक बुजुर्ग की मौत हो गयी।

जानकारी के अनुसार बस्ती जिले के 25 साल के कोरोना संक्रमित युवक की गोरखपुर में इलाज के दौरान बुधवार को मौत हो गई। युवका का इलाज बीआरडी मेडिकल कॉलेज में चल रहा था। बुधवार को ही किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में हुई जांच में युवक को कोरोना पाॅजिटिव पाया गया था। मृतक हसनैन बस्ती के गांधीनगर इलाके के रहने वाले था। युवक को रविवार को गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। युवक को सांस लेने में तकलीफ थी। मौत के बाद स्टाफ ने बताया कि उनके अंदर कोरोना के लक्षण थे।

वहीं मेरठ में कोरोना से पीड़ित 72 साल के वृद्ध की भी बुधवार को मौत हो गयी। बुजुर्ग का इलाज यहां के मेडिकल काॅलेज में चल रहा था। पिछले दिनों महाराष्ट्र के अमरावती से आए दामाद से वृद्ध को महामारी का संक्रमण हुआ था। उसकी हालत पिछले कुछ घण्टों से गंभीर बनी हुई थी। इन दो मौतों के अलावा लखनऊ में भी भर्ती एक कोरोना संक्रमित मरीज की हालत नाजुक बनी हुई है।

यह भी पढ़ें-बैंकों में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से कराया जाएगा पालन, तैनात रहेगी पुलिस

बता दें कि यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 100 के पार हो चुका है। लेकिन मौत का पहला मामला गोरखपुर से आया है। प्रदेश में सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज नोएडा में पाए गए हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपी में बिजली बिल जमा करने की अवधि बढ़ाई गई, 30 अप्रैल तक कर सकते है जमा

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोराना वायरस (COVID-19) का खतरा थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसे देखते हुए योगी सरकार ने एक ओर जहां प्रदेश में सख्ती के साथ लॉक डाउन का पालन कराने का निर्देश जारी कर दिया है। वहीं दूसरी ओर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के निर्देश पर आम बिजली उपभोक्ता की सुविधा के लिए बिजली बिल भुगतान की देय तिथि को आगामी 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है। वहीं 31 मार्च को खत्म हो रही किसान आसान किस्त योजना को भी किसानों के हितो में 1 महीने के लिये 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है।

इसे भी पढ़ें-इंटीग्रल यूनिवर्सिटी में मिले 4 विदेशी छात्र, सभी को किया गया क्वारंटाइन

प्रमुख सचिव ऊर्जा अरविंद कुमार के मुताबिक कोराना वायरस को रोकने के लिये पूरे देश के साथ यूपी को लाक डाउन कर दिया गया है। जिसका यूपी में खासा सख्ती के साथ पालन कराया जा रहा है। ऐसें में बिजली उपभोक्ताओ की सुविधा के लिए उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन लिमिटेड (UPPCL) ने 1 मार्च से 14 अप्रैल के बीच बनने वाले बिजली बिल की देय तिथि बढ़ाकर 30 अप्रैल 2020 कर दी गई है। इस दौरान उपभोक्ता को देय तिथि पर बिजली बिल का भुगतान करने पर 1 प्रतिशत की छूट का लाभ मिलेगा साथ ही 30 अप्रैल 2020 तक लगने वाले विलंब भुगतान अधिभार को भी माफ कर दिया जायेगा।

इसे भी पढ़ें- मस्जिद खाली कराने को तैैयार नहीं थे मौलाना, रात 2 बजे पूरा हुआ ‘ऑपरेशन मरकज’

प्रमुख सचिव ऊर्जा अरविंद कुमार ने बताया, कि किसानों की सुविधा के लिये भी 31 मार्च को समाप्त हो रही किसान आसान किस्त योजना को अब 1 माह के लिये 30 अप्रैल 2020 तक बढ़ा दिया गया है। निजी नलकूपों के बकाया बिल भुगतान को आसान किस्तों और ब्याजमाफी के साथ जमा कराने के लिये किसान आसान किस्त योजना 1 फरवरी 2020 से शुरू की गई थी। जिसके तहत किसानों को अपने नलकूप के बकाये को 6 आसान किस्तों में जमा करने की सुविधा के साथ 31 जनवरी 2020 तक का ब्याज भी माफ किया जा रहा है। इस योजना के जरिये अब तक प्रदेश के 361215 किसानो को लाभ पहुंचाया जा चुका है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 1, 2020, 3:19 pm
Partly sunny
Partly sunny
35°C
real feel: 39°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 40%
wind speed: 1 m/s WNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 4
sunrise: 5:27 am
sunset: 5:54 pm
 

Recent Posts

Trending