Connect with us

प्रदेश

लखनऊ मेट्रो के सुरक्षा आयुक्त ने पेश की इंसानियत की मिसाल, दिव्यांग हयाज को कराया मेट्रो का सफर  

Published

on

दिव्यांग

फाइल फोटो

लखनऊ। देश में ऐसे बहुत सारे दिव्यांग और लाचार बच्चे हैं जिन्हें दुनिया की खूबसूरती को देखने मन करता है। लेकिन अपनी लाचारी और विकलांगता की वजह से बस वह सपने में देख पाते हैं न की हकीकत में।

इसी तरह आज 12 साल के बच्चे मो. हयाज जो पोलियोग्रस्त है उसने चारबाग मेट्रो स्टेशन से मेट्रो पर बैठकर हजरतगंज चिड़ियाघर जाने की इच्छा जताई। जिसके बाद चारबाग स्टेशन पर ड्यूटी कर रहे सुरक्षा गार्ड ने बच्चे की इच्छा को पूरी करने के लिए हजरतगंज का टोकन लिया। उसके बाद उस विकलांग बच्चे को व्हीलचेयर पर बैठाकर मेट्रो में हजरतगंज के लिए रवाना किया गया।

ये भी पढ़े: बंगाल से चुनाव लड़ने को लेकर ममता बनर्जी ने पीएम मोदी पर बोला हमला, कही ऐसी बात…

इतना ही नहीं सुरक्षागार्ड ने हजरतगंज प्लेटफार्म पर बच्चे की सूचना भी दी। ऐसे में वहां बच्चे के पहुंचने के बाद उसे स्टेशन कंट्रोलर ने बिस्किट दिया। उसके बाद उसे मेट्रो से बाहर लाकर चिड़ियाघर के लिए रवाना किया गया। जहां बच्चे ने जाकर खूब मस्ती की है।

http://www.satyodaya.com

 

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदेश

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों और महिला सुरक्षा को लेकर सपा महिला सभा ने किया प्रदर्शन

Published

on

प्रदर्शन

फाइल फोटो

लखनऊ। यूपी में पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी के बाद सपा महिला सभा ने कलेक्ट्रेट पर जमकर प्रदर्शन किया है। इसी क्रम में आज सपा महिला सभा की कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर तख्तियां लेकर विरोध प्रदर्शन करती नजर आईं।

बता दें प्रदर्शन के दौरान महिलाओं ने बिगड़ती कानून व्यवस्था और महिला सुरक्षा जैसे मुद्दों को लेकर भी बात की है। सपा कार्यकर्ताओं ने कैसरबाग बारादरी से जिला कलेक्ट्रेट तक पैदल मार्च निकालकर आक्रोश जताया है। इतना ही नहीं सभी कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भी सौंपा है।

वहीं सपा महिला सभा की कार्यकर्ता प्रेमलता यादव ने कहा कि आज महिला सभा की  सभी कार्यकर्ता और पदाधिकारी सड़क पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार के विरोध में उतरें हैं। उन्होंने कहा पेट्रोल, डीजल, गैस के दाम इतने ज्यादा बढ़ गए हैं कि हम सभी लोग मजबूर हो गए हैं। उन्होंने कहा गाड़ी खरीद सकते हैं, लेकिन उसमें पेट्रोल नहीं भरवा सकते हैं। इससे हतास होकर हम सभी महिलाएं सड़क पर उतरी हैं।

ये भी पढ़ें:अगर घर में हैं 14-21 साल के बच्चे, तो रहना होगा चौकन्ना…

इतना ही नही उन्होंने इस दौरान महिलाओं और बच्चियों के साथ हो रहे दुष्कर्म के विरोध में भी प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं होती तब तक इसी तरह सड़कों पर उतर कर हम प्रदर्शन करते रहेंगे।http://www.satyodaya.com  

Continue Reading

प्रदेश

योगी ने नए मंत्रियों को दिया ‘इंस्ट्रक्शन’, बताई 5 मंत्रियों के प्रमोशन की वजह

Published

on

लखनऊ। बुधवार को योगी मंत्रिमंडल का पहला विस्तार हुआ। छह कैबिनेट मंत्री, छह राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और 11 राज्यमंत्रियों समेत कुल 23 विधयकों को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इन में 18 नए चेहरे हैं। शपथ ग्रहण समारोह के बाद, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रिमंडल के नए सदस्यों के साथ बैठक की और उन्हें उनकी जिम्मेदारी समझाई। साथ ही नए मंत्रियों को पिछले ढाई साल में सरकार की विभिन्न उपलब्धियों और योजनाओं से अवगत भी कराया। नए मंत्रियों को इंस्ट्रक्शन देते हुए योगी ने कहा- आप लोग वीआईपी कल्चर से दूरी बनाएं, सरकारी गेस्ट हाउसों को तरजीह दें, भाषा में संयम रखें, काम में ईमानदारी और व्यवहार में शालीनता रखें। प्रदर्शन ही कसौटी है। परिणाम नहीं देंगे तो उसके प्रतिकूल नतीजे होंगे। आप लोग जनता के बीच जितना सहज रहेंगे, उतने प्रभावी रहेंगे। बेहतर काम ही ईनाम देगा।  

सीएम ने बताया- क्यों हुआ पांच मंत्रियों का प्रमोशन

बुधवार को राजभवन में आयोजित हुए शपथग्रहण समारोह में 23 मंत्रियों ने शपथ ली थी। इनमें 18 नए चेहरे शामिल किए गए, जबकि 5 मंत्रियों को प्रमोट किया गया है। इसकी वजह सीएम ने खुद बताई है। योगी ने कहा कि महेंद्र सिंह की अगुवाई में ग्राम्य विकास विभाग ने 12 राष्ट्रीय पुरस्कारों में सभी जीते। मनरेगा में शानदार काम हुआ। सुरेश राणा की अगुवाई में गन्ना विकास विभाग ने जितना किसानों को गन्ना मूल्य का भुगतान किया उतना दस सालों में नहीं हुआ। भूपेंद्र चौधरी ने “स्वच्छ भारत मिशन” को सफल बनाने में अहम भूमिका निभाई। अनिल राजभर ने होमगार्ड विभाग में कई अहम सुधार किए। नीलकंठ तिवारी ने संगठन व सरकार दोनों ही जिम्मेदारियों को बेहतर निभाया। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

अगर घर में हैं 14-21 साल के बच्चे, तो रहना होगा चौकन्ना…

Published

on

घर-परिवार

फाइल फोटो

लखनऊ। अगर आपके घर-परिवार में 14-21 साल के बच्चे हैं तो यह खबर आपके लिए सुझाव होगी। इस उम्र का बच्चा अचानक गुमसुम रहने लगे, बहकी-बहकी बातें करने लगे, पढ़ाई बंद करने या आत्महत्या जैसी बातें करे तो हो सकता है कि वह साइबर बुलिंग या दादागीरी की चपेट में हो।  चिंता की बात इसलिए है, क्योंकि केजीएमयू के मानसिक रोग विभाग में ऐसे मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे अवसाद मरीजों में 70 प्रतिशत बेटियां हैं।

ये भी पढ़ें:बॉडी वार्न कैमरे से होगी अब परिवहन बसों की निगरानी

केजीएमयू के मानसिक रोग विभाग के डॉ. त्रिपाठी बताते हैं कि एक ओपीडी में औसतन दो मरीज ऐसे आते हैं जिनके अवसाद का कारण साइबर बुलिंग है। हफ्ते में ऐसे मरीजों की संख्या का औसत 30 है। लोहिया अस्पताल के वरिष्ठ मानसिक रोग विशेषज्ञ डॉ. शुक्ला कहते हैं कि वास्तविक दुनिया से ज्यादा लगाव के कारण बच्चे तेजी से अवसाद के शिकार हो रहे हैं।

बता दें कि एक मरीज 15-16 साल की छात्रा है। उसके स्कूल के लड़के-लड़कियों का कॉमन वॉट्सएप ग्रुप है। इसमें शामिल लड़के से उसकी दोस्ती हो गई। दोनों पर्सनल नंबर पर बात करने लगे। एक दिन उनका ब्रेकअप हो गया। इसके बाद लड़के ने फेसबुक पर कुछ फोटो व उसके बारे में भद्दी बातें शेयर कर दी। इससे छात्रा धीरे-धीरे डिप्रेशन में चली गई। उसने हाथ की नस काटकर आत्महत्या की कोशिश भी की। गहरे अवसाद में रह रही छात्रा का इलाज चल रहा है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 22, 2019, 3:19 pm
Partly sunny
Partly sunny
31°C
real feel: 38°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 81%
wind speed: 2 m/s NNE
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 4
sunrise: 5:11 am
sunset: 6:07 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending