Connect with us

प्रदेश

लखनऊ: दूषित पानी पीने की वजह से कई लोग हुए बीमार, अस्पताल में चल रहा इलाज…

Published

on

दूषित पानी

फाइल फोटो

लखनऊ। खाने से ज्यादा दूषित पानी का असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है। दूषित पानी की वजह से भारत में रोजाना कई सारी मौतें हो जाती हैं। गंदे पानी वजह से पेट में स्टोन होना या और भी कई सारी बीमारियां हो जाती हैं। इतना ही नहीं इन बीमारियों की वजह से हमारी बॉडी कमजोर हो जाती है। जिसकी वजह अन्य कई बीमारियां होने लगती हैं। ऐसे में पानी का स्वच्छ होना बहुत जरूरी है।

बता दें राजधानी लखनऊ जोन 2 के राजेंद्र नगर के सद्भावना नगर के बिरहाना में पिछले एक हफ्ते से सीवर से गंदा और बदबूदार पानी आ रहा है। जिसे पीने की वजह से कई सारे लोग बीमार भी हो गए हैं। हालांकि लोगों ने कई बार गंदे पानी की शिकायत भी की, लेकिन उसके बावजूद भी किसी ने कोई एक्शन नहीं लिया।

जानकारी के मुताबिक बता दें भारत में आधे से ज्यादा लोग गंदे पानी की वजह से बीमार पड़ते हैं. यहां तक की कुछ की मौत भी हो जाती है. ऐसे में चलिए हम आपको बता दें गंदे पानी से किन-किन बीमारियों के होने का खतरा है।  

ये भी पढ़े:आलमबाग: प्लाईवुड फैक्ट्री फैक्ट्री में लगी भीषण आग, लाखो का सामान जलकर हुआ खाक…

डायरिया

भारत में डायरिया प्रदूषित पानी से होने वाली एक प्रचलित रोग है जिससे ज्यादा बच्चे प्रभावित होते हैं। डायरिया दूषित भोजन और पीने के पानी के माध्यम से फैलता है। दिन में यदि हमें तीन या इससे अधिक बार हमें पतला दस्त आता है, तो यह डायरिया की तरफ इशारा करता है। डायरिया होने पर हमारे शरीर में पानी की कमी आने लगती है, जिसके कारण हमें डिहाइड्रेशन हो जाता है, जो हमारे लिए किसी भयानक बीमारी से कम नहीं है।

टाइफाइड

टाइफाइड सल्मोनेला नामक एक बैक्टीरिया से होने वाली बीमारी है। यह बैक्टीरिया प्रदूषित पेय व खाद्य पदार्थो के सेवन से आंतों में जाकर वहां से रक्त में पहुंच जाता है। यह बहुत ही गंभीर बीमारी है। अगर समय रहते पकड़ में आ जाए तो एंटीबायोटिक्स देने से ठीक हो जाता है। लेकिन टाइफाइड आमतौर पर समय पर पकड़ में नहीं आता। शुरू में तो मामूली बुखार लगता है जिसे अकसर अनदेखा कर देते हैं। कई बार पता ही नहीं चलता कि बच्चों को बुखार है, लेकिन यह बुखार अंदर ही अंदर पनप रहा होता है।

 हैजा

हैजा भी गंदे पानी की वजह से ही होता है. इस बीमारी की वजह से भारत में हर साल कई सारे लोगों की मौत हो जाती है. वैसे हैजा रोग विबियो कोलेरी नामक बैक्टीरिया से फैलता है। यह गर्मियों के अन्त में या वर्षा ऋतु के शुरू में फैलता है। अगर इसका सही समय पर इलाज ना किया जाए तो ये जानलेवा साबित हो सकता है।

प्रदेश

1994 बैच के IPS सुजीत पांडे होंगे लखनऊ के पहले पुलिस कमिश्नर

Published

on

आलोक सिंह को मिली नोएडा की कमान, अन्य कई आईपीएस अफसरों के हुए तबादले

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और नोएडा में अब पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होगी। सोमवार को योगी कैबिनेट ने इस प्रस्ताव पर मुहर लगा दी। इसके साथ ही लखनऊ और नोएडा में पहले पुलिस कमिश्नर के नामों का भी ऐलान हो गया है। राजधानी लखनऊ की कमान 1994 बैच के आईपीएस अफसर सुजीत पांडे को मिली है जबकि 1995 बैच के आईपीएस आलोक सिंह को नोएडा का पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया गया है। पिछले दिनों नोएडा के एसएसपी वैभव कृष्ण की बर्खास्तगी और लखनऊ के एसएसपी कलानिथि नैथानी का गाजियाबाद में तबादला होने के बाद से ही यूपी के इन दोनों प्रमुख शहरों में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू होने की चर्चा गरम थी। लंबी कवायद के बाद सोमवार को हुई योगी कैबिनेट ने इसकी मंजूरी दे दी। देश के कई बड़े शहरों में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू है, लेकिन यूपी के किसी शहर में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम पहली बार लागू होगा।

आलोक सिंह

लखनऊ पुलिस कमिश्नर के नाम की घोषणा के साथ लखनऊ पुलिस के कुछ नए अफसरों के नामों का ऐलान हुआ है। नवीन अरोड़ा को लखनऊ का ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर (लॉ एंड आर्डर) बनाया गया है। नीलाब्जा चौधरी को ज्वाइंट कमिश्नर क्राइम एंड हेड क्वार्टर, अखिलेश कुमार को एडिशनल कमिश्नर लॉ एंड ऑर्डर, श्रीपर्णा गांगुली को एडिशनल कमिश्नर क्राइम व मुख्यालय बनाया गया है। इसके अलावा दोनों जनपदों में कमिश्नर प्रणाली लागू होने के बाद 6 आईपीएस अफसरों को नई तैनाती दी गयी है। जिसमें संदीप सालुंके को एडीजी टेक्निकल सर्विस, असीम अरुण को एडीजी 112, जेएन सिंह को एडीजी कानपुर जोन, प्रेम प्रकाश को एडीजी प्रयागराज जोन, प्रवीण कुमार को आईजी रेंज मेरठ और लव कुमार को डीआईजी गोरखपुर रेंज बनाया गया है।

यह भी पढ़ें-राजधानी लखनऊ शहर होगा मेट्रोपॉलिटियन, पुलिस आयुक्त संभालेंगे कमान

पुलिस से जुड़े विभागों के नेतृत्व में भी बदलाव

यूपी में पहली बार कमिश्नरी सिस्टम का फार्मूला अपनाने जा रही योगी सरकार ने सोमवार को प्रदेश पुलिस में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। पुलिस विभाग से जुड़े अन्य विभागों के नेतृत्व में बदलाव करते हुए शासन ने 4 अन्य आईपीएस अफसरों का तबादला किया है। जिसके तहत जावीद अहमद को डीजी फायर सर्विस, विश्वजीत महापात्रा को डीजी रूल्स एण्ड मैनुअल्स, जीएल मीना को डीजी मानवाधिकार अयोग और डीएल मीना को डीजी मानवाधिकार बनाया गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

CM योगी तीन दिवसीय दौरे पर आज जायेंगे गोरखपुर…

Published

on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ सोमवार को तीन दिवसीय दौरे पर गोरखपुर आ रहे हैं। योगी यहां सीएए को लेकर 19 जनवरी को आयोजित होने वाली भाजपा की रैली के मद्देनजर पार्टी के क्षेत्रीय, जिला, महानगर पदाधिकारियों को सहेजेंगे। बता दें कि योगी को पहले सोमवार को गोरखपुर महोत्सव के समापन समारोह में भाग लेना था, लेकिन ओमान के सुल्तान काबूस बिन सईद के निधन पर सोमवार को राजकीय शोक घोषित होने के कारण गोरखपुर महोत्सव के अंतिम दिन के सभी कार्यक्रम अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दिए गए हैं।

यह जानकारी महोत्सव समिति के अध्यक्ष और मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर ने दी। सूत्रों के मुताबिक सोमवार को होने वाले सभी कार्यक्रम मंगलवार को आयोजित किए जाने की उम्मीद है। वहीं 14 जनवरी को योगी का बिहार के गया जिले में कार्यक्रम है। मकर संक्रांति के अवसर पर 15 जनवरी को योगी गुरु गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाने के बाद लखनऊ रवाना हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें: सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश में लागू की पुलिस कमिश्नर प्रणाली, जानें और बातें…

जानकरी के अनुसार योगी सोमवार 12.30 बजे गोरखनाथ मंदिर के तिलक हाल में भाजपा पदाधिकारियों को संबोधित करेंगे। रात्रि विश्राम गोरखनाथ मंदिर में करेंगे। मंगलवार की सुबह 10.50 बजे बिहार के गया जाएंगे, जहां उन्हें सीएए को लेकर जनसभा को संबोधित करना है। गया से वापस गोरखपुर आएंगे और 15 जनवरी को तड़के गुरु गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाएंगे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश में लागू की पुलिस कमिश्नर प्रणाली, जानें और बातें…

Published

on

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि यूपी पुलिस की दृष्टिकोण से आज का दिन सबसे महत्वपूर्ण है, जिसके सुधार के लिए आज हमारी सरकार ने कदम उठाया है। लगातार जो मांग हो रही थी, पुलिस कमिश्नर प्रणाली को लेकर आज कैबिनेट ने उसे पास किया है। लखनऊ और नोएडा में यह प्रणाली लागू की गई है। पुलिस की प्रणाली धीमी होने के कारण सरकार पर सवाल खड़ा हो रहा था, उसको देखते हुए यह किया गया। 10 लाख से ऊपर नगरीय क्षेत्रों में यह लागू होना चाहिए था, लेकिन राजनीतिक इच्छा शक्ति न होने के कारण कोई कदम नही उठा पाया, हमारी सरकार ने इसे लागू किया है। लखनऊ व गौतमबुद्धनगर में अब पुलिस कमिश्नर होंगे। सुजीत पांडेय लखनऊ के पहले पुलिस कमिश्नर तो गौतमबुद्ध नगर के पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह होंगे।

सुजीत पांडेय
आलोक सिंह

25 लाख से ऊपर गौतमबुद्ध नगर में आबादी रह रही है। नगर निगम के विस्तार के बाद ऐसा हुआ है।  पुलिस आयुक्त एडीजी स्तर का अधिकारी काम करेगा, उनके साथ 2 ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर होंगे, जो आईजी स्तर के होंगे।  9 एसपी रैंक के अधिकारी साथ में मौजूद होंगे, 1 एसपी रैंक की महिला पुलिस कर्मी को भी हम तैनात कर रहे है। जिससे महिला अपराध में रोक लगाई जा सके, एक एडिशन रैंक की महिला अधिकारी मदद करेगी।

यातायात पुलिस एसपी और एक एडिशनल रैक के अधिकारी भी काम करेंगे।  निर्भया फंड के तहत सीसीटीवी कैमरे  जहां जरूरत होगी लगाया जाएगा। गौतमबुद्धनगर एक एडीजी स्तर का व्यक्ति, 2 ज्वाइंट कमिश्नर, 5 एसपी रैंक के अधिकारी 1 महिला पुलिस अधिकारी यहां पर काम करेंगे। एक एसपी रैंक का अधिकारी यातायात व्यवस्था को देखेगा। साथ ही आयुक्त प्रणाली के तहत थाने भी बनाए जाएंगे।

ये भी पढ़ें: आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर 20 फीट नीचे सर्विस रोड पर पलटी बस, दो की मौत

कमिश्नर के पास मजिस्ट्रेट पावर के साथ 15 अधिकार भी दिए जाएंगे। यह अधिकार होगा कि कौन से पुलिस अधिकारी को कौन सा पॉवर दिया जाना है यह वहीं तय करेंगे। इस प्रणाली से जनता के बीच विश्वास बढ़ेगा, उत्तर प्रदेश में बेहतर कानून व्यवस्था को लागू करने के लिए जो भी करना होगा  वह किया जाएगा। आज कैबिनेट में आठ प्रस्ताव पास हुए है। योगी ने कहा आयुक्त प्रणाली में 15 नए अधिकार आयुक्त में निहित होंगे। पुलिस व्यवस्था में सुधार के लिए मील का पत्थर साबित होगी ।

मैं सभी का स्वागत करता हूं, उत्तर प्रदेश पुलिस की दृष्टि से आज का दिन अत्यंत महत्वपूर्ण है। पुलिस सुधार का सबसे बड़ा कदम आज हमारी सरकार ने उठाया है। पिछले 50 वर्षों से बेहतर पुलिसिंग के लिए स्मार्ट पुलिसिंग के लिए कानून व्यवस्था के सुदृढ़ स्थिति के लिए जो, एक मांग बहुत दिनों से की जा रही थी। मुझे बताते हुए प्रसन्नता हो रही है कि आज हमारी कैबिनेट ने प्रदेश की राजधानी लखनऊ प्रदेश के आर्थिक राजधानी के रूप में विख्यात नोएडा पुलिस आयुक्त प्रणाली लागू करने का यह प्रस्ताव पास किया है।

यह पुलिस सुधार के लिए समय-समय विशेषज्ञों द्वारा सुझाव दिए गए थे। यूपी जैसे राज्य में वर्षों से इस बात को महसूस किया जा रहा था, कि पुलिस आयुक्त की प्रणाली यहां पर भी लागू होनी चाहिए। 10 लाख से ऊपर की आबादी के क्षेत्रों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होनी चाहिए। प्रदेश में कानून व्यवस्था एवं सुरक्षा की बेहतर दृष्टि से यह कार्य होना था, लेकिन इसे कहीं ना कहीं नजरअंदाज किया जा रहा था और यह कार्य अभी तक नहीं हो पाया।

उत्तर प्रदेश के दो महत्वपूर्ण क्षेत्रों में हमारी सरकार ने निर्णय लिया है, अगर 2011 की आबादी के हिसाब से लखनऊ की आबादी को देखें तो 29 लाख से ज्यादा शहर में लोग निवास करते हैं। वहीं नोएडा में 2011 की सबसे जनसंख्या देखे तो, 16 लाख से अधिक की आबादी वहां निवास करती है। वर्तमान में 25 लाख नोएडा में आबादी हो चुकी है, जो आबादी  वह निवास कर रही है। एडीजी स्तर का अधिकारी यहां पर कमिश्नर के रूप में कार्य करेगा। उनके साथ दो जॉइंट पुलिस कमिश्नर जो आईडी रैंक के होंगे उनकी तैनाती एसपी रैंक के 9 अधिकारी यहां तैयारी है। इसके साथ ही महिला अपराधों को रोकने के लिए महिला सुरक्षा के लिए एक महिला एसपी रैंक की अधिकारी भी तैनात होगी।

ये भी पढ़ें: CAA के खिलाफ सोनिया गांधी ने बुलाई बैठक, ममता-माया नहीं होंगी शामिल…

इसके साथ एएसपी रैंक की भी एक महिला अधिकारी तैनात होगी इसके साथ ही एसपी और एएसपी स्तर के एक अधिकारी यातायात के लिए भी नियुक्त किए जाएंगे। जिससे वह स्मार्ट सिटी में यातायात सुविधाओं को देखेंगे, जनता को सुविधाएं मुहैया हो पाए, गौतमबुधनगर प्रदेश की आर्थिक राजधानी के रूप में प्रदेश में तेजी से आगे बढ़ा है। जिसमें एक एडीजी स्तर का पुलिस कमिश्नर होगा, इसके साथ दो एडिशनल पुलिस कमिश्नर जो डीआईजी रैंक के अफसर होंगे उनको तैनात करने का निर्णय लिया है। पांच पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी उनके साथ रहेंगे। यह भी तय हुआ है कि वहां भी एक महिला पुलिस अधिकारी केवल महिला अपराध मामलों के संबंधित विवेचना करने उनके समस्याओं को सुनने और हल करने के लिए और महिला अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए तैनात की जाएंगी।

इसके साथ एक पुलिस अधीक्षक स्तर का अधिकारी ट्रैफिक के लिए भी नियुक्त किया जाएगा। गौतमबुध नगर में पुलिस कमिश्नर प्रणाली में 2 नए थाने बनाए जा रहे हैं। पुलिस आयुक्त प्रणाली में पूरी टीम वर्क की तरह कार्य करती है। जिससे वह स्मार्ट पुलिसिंग को आगे बढ़ा सकें। इसके साथ ही उन्हें मजिस्ट्रेट रियल पावर होती है और 15 ऐसे पावर उन्हें दिए जा रहे हैं। यह किस अधिकारी को क्या देना है, यह पुलिस कमिश्नर खुद करेंगे। लखनऊ में भी दो थाने बढ़ाए जाएंगे, इसके साथ ही नोएडा में भी दो थाने नए बनाए जाएंगे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 13, 2020, 2:31 pm
Partly sunny
Partly sunny
17°C
real feel: 20°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 71%
wind speed: 1 m/s E
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:03 pm
 

Recent Posts

Trending