Connect with us

प्रदेश

मायावती ने कहा, महिलाओं से माफी मांगें आजम खां…

Published

on

फाइल फोटो

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान के बयान के बाद लगातार सियासी हंगामा जारी है। इस टिप्पणी पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने आजम को लेकर नाराजगी जाहिर की है। मायावती ने कहा कि आजम खान को महिलाओं से माफी मांगनी चाहिए। 

मायावती ने ट्विट कर लिखा है कि यूपी में रामपुर सीट से सपा सांसद आजम खान द्वारा कल लोकसभा में पीठासीन महिला के खिलाफ जिस प्रकार की अशोभनीय भाषा का इस्तेमाल किया गया वह महिला गरिमा व सम्मान को ठेस पहुंचाने वाला है और उन्हें माफी मांगनी चाहिए। 

यह भी पढ़े- अहमदाबाद: बिल्डिंग में लगी भीषण आग, 15 लोग फंसे…

आपको बता दें कि इससे पहले जयाप्रदा ने लोकसभा में भाजपा सांसद रमा देवी पर सपा सांसद आजम खान के बयान को उनकी आदत बताते हुए सदस्यता रद्द करने की मांग की है। जयाप्रदा ने कहा कि आजम खान की मानसिक स्थिति खराब है। अगर भारत में रहना है तो महिलाओं का सम्मान करना सीखना चाहिए।www.satyodaya.com

प्रदेश

सीएम योगी ने नई चीनी मिल का किया लोकार्पण,30 हजार किसानों को मिलेगी सुविधा

Published

on

लखनऊ। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के पिपराइच में नई चीनी मिल का लोकार्पण और पेराई सत्र का शुभारंभ किया। इस चीनी मिल की स्थापना कई साल से बंद पड़ी राज्य चीनी निगम की पिपराइच इकाई के स्थान पर की गई है।

सीएम योगी मिल का लोकार्पण करने के बाद जनसभा को संबोधित करेंगे। उन्होंने बताया कि नई चीनी मिल की गन्ना पेराई क्षमता 50 हजार क्विंटल प्रतिदिन है। चीनी मिल में 27 मेगावट का विद्युत उत्पादन संयत्र भी लगाया गया है। मौजूदा पेराई सत्र 2019-20 में इस मिल को पूरी क्षमता से चलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: प्रयागराज: महंत आशीष गिरी ने निरंजनी अखाड़े में की आत्महत्या, मचा हड़कंप

इससे मिल क्षेत्र के लगभग 30 हजार किसानों को गन्ना आपूर्ति करने में सुविधा होगी। मिल में 60 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई और 6.25 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन का अनुमान है। पिपराइच चीनी मिल की स्थापना से लगभग 8500 लोगों को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा। प्रमुख सचिव गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग संजय आर भूसरेड्डी ने बताया मिल मिल के सभी ट्रायल पूरे कर लिए गए हैं और शुरू से पूरी क्षमता से चलाया जाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपी: पिता ने बेटी की कुल्हाड़ी से काटकर की हत्या, फोन पर पुलिस को दी सूचना

Published

on

फिरोजाबाद: यूपी के फिरोजाबाद जनपद में जसराना के गांव सलेमपुर खुटियाना में एक दिल दहला देने वाली घटना देखने को मिली है। जहां एक पिता ने बेटी की कुल्हाड़ी से काटकर उसकी निर्मम हत्या का दी। जिसके बाद हत्यारे पिता ने खुद इसकी सूचना रात दो बजे डायल 112 नम्बर पर दी और अपमना जुर्म कबूला।

वहीं कुल्हाड़ी से काटकर की गई युवती की हत्या से गांव में सनसनी फैल गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हत्यारे पिता को हिरासत में लिया। जिसके बाद पुलिस हत्या के कारणों की पड़ताल कर रही है। साथ ही शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। बता दें कि किसान हरवंश के चारों बेटे अपने अपने कमरे में सोए थे, जबकि बेटी पूजा अपने कमरे में अकेली सो रही थी। रात करीब 1 बजे हरवंश ने बेटी पूजा की गर्दन पर करेंट का झटका दिया। झटका लगने से वह जाग गई, जिसके बाद पिता हरवंश ने बेटी की गर्दन पर कुल्हाड़ी से कई वार किए। जिसके बाद घर वाले जाग गए। बेटी की हत्या करने के बाद पिता ने खुद पुलिस को फोन कर सूचना दी।

ये भी पढ़ें: 30 हजार की इनामी डकैत साधना पटेल को एमपी पुलिस ने किया गिरफ्तार

सूचना पाते ही मौके पर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी दौड़ पड़े। क्षेत्राधिकारी ओपी सिंह, कोतवाल गिरीश चंद्र आनन- फानन में मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने हत्यारोपी पिता को हिरासत में लिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। कोतवाल गिरीश चंद्र ने बताया कि हरिवंश ने अपनी बेटी पूजा की हत्या की है। जांच के बाद पूरे मामले की कार्रवाई की जाएगी। जानकारी के मुताबिक मृतक युवती का उसके गांव के ही युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था, जिससे युवती के परिजन नाराज थे। पुलिस ने प्रेमी बताए जा रहे युवक से भी पूछताछ की है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

AIMPLB बैठक पर बोले पक्षकार इकबाल अंसारी, कहा- इस मामले को यहीं करें खत्म…

Published

on

अयोध्या

फाइल फोटो

लखनऊ। अयोध्या राम मंदिर विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद मुस्लिम पक्षकार ने पुनर्विचार याचिका दायर की है। अयोध्या फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर करने और अयोध्या में 5 एकड़ जमीन के मसले पर लखनऊ में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड आयोजित की जा रही है। हालांकि इस बैठक का बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने बहिष्कार कर दिया है। उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह हिंदुस्तान का अहम फैसला था, हम अब इस मामले को आगे नहीं बढ़ाएंगे।

इतना ही नहीं इकबाल अंसारी ने यह भी कहा कि इस मसले को यहीं पर खत्म कर दिया जाए। जितना मेरा मकसद था, उतना मैंने किया। घर अल्लाह का है और अल्लाह मालिक है। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने जो फैसला कर दिया, उसे मान लो। अयोध्या समेत पूरे देश में शांति का माहौल बना रहे, देश तरक्की करें। और आगे बढ़े। हम पक्षकार थे और हम अब रिव्यू दाखिल करने आगे नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा कि पक्षकार ज्यादा हैं, कोई क्या कर रहा है, नहीं मालूम लेकिन हम रिव्यू दाखिल नहीं करेंगे।

जिलानी ने जताई अपील की इच्छा

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सचिव जफरयाब जिलानी ने बताया कि मौलाना रहमानी ने रविवार को होने वाली बोर्ड की वर्किंग कमेटी की महत्‍वपूर्ण बैठक से पहले रामजन्‍मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले से जुड़े विभिन्‍न मुस्लिम पक्षकारों की राय जानने के लिए बुलाया था। जिलानी ने बताया कि मामले के मुद्दई मुहम्‍मद उमर और मौलाना महफूजुर्रहमान के साथ-साथ अन्‍य पक्षकारों हाजी महबूब, हाजी असद और हसबुल्‍ला उर्फ बादशाह ने मौलाना रहमानी से मुलाकात के दौरान कहा कि सुप्रीम कोर्ट का निर्णय समझ नहीं आया है। इसलिए इसके खिलाफ अपील की जानी चाहिए। जिलानी ने कहा कि इन पक्षकारों ने यह भी कहा कि मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं चाहिए।

ये भी पढ़ें:उन्नाव: उचित मुआवजा न मिलने पर किसानों ने किया विरोध प्रदर्शन, जलाया सब स्टेशन

मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन पर भी होगी चर्चा

सुप्रीम कोर्ट मुस्लिम पक्ष को मस्जिद बनाने के लिए दूसरी जगह 5 एकड़ जमीन देने का फैसला सुनाया है। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की आज होने वाली बैठक में इस पर भी चर्चा की जाएगी कि 5 एकड़ जमीन लेनी है या नहीं। शनिवार को लखनऊ के नदवा कॉलेज में हुई मुस्लिम पक्ष की बैठक में रिव्यू पीटिशन दायर करने पर रजामंदी हो चुकी है।

पुनर्विचार याचिका पर मुस्लिम पक्ष में असमंजस

इस मामले में पुनर्विचार याचिका दाखिल करने को लेकर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सभी सदस्य एकमत नहीं हैं। मौलाना कल्बे जव्वाद कह चुके हैं कि देश को दोबारा इस मसने में डालना सही नहीं है। दूसरी तरफ शनिवार को हुई बैठक में मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी और सुन्नी वक्फ बोर्ड ने हिस्सा नहीं लिया। दोनों पहले ही यह साफ कर चुके हैं कि इस मसले पर कोई पुनर्विचार याचिका दाखिल नहीं करेंगे। हालांकि इस मामले में एम आई सिद्दीकी समेत बाकी तीन पक्षकारों ने याचिका दायर करने को लेकर सहमति जताई है।

पुनर्विचार याचिका का विकल्प

जानकारी के मुताबिक जफरयाब जिलानी के साथ उनके कुछ समर्थक सदस्य रिव्यू पिटीशन दाखिल करने के पक्ष में हैं। उनका तर्क है कि कानूनी रूप से जब रिव्यू पिटीशन का विकल्प मिला हुआ है तो हमें इसका इस्तेमाल जरुर करना चाहिए। वहीं दूसरी तरफ मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड में एक बड़ा तबका है, जिनके तर्क हैं कि एक बड़ी समस्या का अंत हो गया है। ऐसे में हमें अब इस मामले को फिर से नहीं बढ़ाना चाहिए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 17, 2019, 1:54 pm
Sunny
Sunny
28°C
real feel: 27°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 36%
wind speed: 4 m/s NW
wind gusts: 4 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 5:57 am
sunset: 4:46 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending