Connect with us

प्रदेश

सीएम योगी की टीम 11 के साथ बैठक, युद्ध स्तर पर हेल्थ प्रोटोकॉल का हो पालन

Published

on

लखनऊ। आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अपने सरकारी आवास पर लॉकडाउन के दौरान गठित की गई टीम 11 के साथ बैठक की। बैठक में सीएम ने तमाम निर्देश देते हुए। युद्ध स्तर पर हेल्थ प्रोटोकॉल का पालन करने की हिदायत भी दी, साथ ही बैठक में गरीबो को मुफ्त में राशन मुहैया कराने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने बैठक में गरीबों को मुफ्त राशन दिए जाने की योजना की समीक्षा की और निर्देश दिया,कि जरूरी सामानों की आपूर्ति में जो वाहन लगे है। उन्हें बिल्कुल भी न परेशान किया जाए। लेकिन साथ ही इस बात का ध्यान रखा जाए, कि इन वाहनों से सवारियां न ढोई जाएं। इसके साथ ही हर गरीब, जरूरतमंद और श्रमिक तक सरकार की तरफ से दी जा रही। एक हजार रुपय की मदद अवश्य पहुंच जाए।

इसे भी पढ़ें-COVID-19 को लेकर सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस करेंगे पीएम मोदी

सरकार की तरफ से दावा किया गया, कि बुधवार को सुबह 10 बजे तक 40 लाख लोगों तक मुफ्त राशन बांटा जा चुका है। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट निर्देश दिया कि जरूरी सामानों की आपूर्ति चेन टूटनी नहीं चाहिए। जरूरी सामान पहुंचते ही रहना चाहिए मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ राज्यों में लोगों की मदद करने के लिए सरकारी कर्मचारियों के वेतन से कटौती की जा रही है। उत्तर प्रदेश में किसी भी सरकारी कर्मचारी के वेतन आदि से कोई कटौती नहीं की जाएगी उल्टे उनका पूरा वेतन पहले सप्ताह में ही उनके अकाउंट में पहुंचा दिया जाएगा। सरकार अपने संसाधनों से ही लोगों की पूरी मदद करेगी।

उन्होंने कहा कि आपदा कार्य में लगे पुलिसकर्मियों, स्वास्थ्यकर्मियों, सफाई कर्मियों समेत हर सरकारी कर्मचारी और संविदा कर्मियों की सैलरी हर हाल में पहले सप्ताह में पहुँच जाए। उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी कर्मचारी के वेतन से जुड़ी समस्या सामने नहीं आनी चाहिए, यदि ऐसी समस्या आयी तो जवाबदेही तय कर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के अन्य बिलों का भी अतिशीघ्र भुगतान किया जाएगा। उन्होंने यह स्पष्ट तौर पर कहा कि आपदा कार्य में लगे हर कर्मचारी का 50 लाख का बीमा सुनिश्चित कराया जाए।

इसे भी पढ़ें-मस्जिद खाली कराने को तैैयार नहीं थे मौलाना, रात 2 बजे पूरा हुआ ‘ऑपरेशन मरकज’

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कहीं भी कोई भूखा नहीं रहना चाहिए। अनाज के सरकारी गोदाम जरूरतमंदों के लिए 24 घंटे खुले रहने चाहिए हर ज़रूरतमंद तक भोजन अवश्य पहुँचे। मुख्यमंत्री ने सीएम पोर्टल के अलावा हर ज़रूरतमंद की मदद के लिए तत्काल एक टोल फ़्री नंबर शुरू करने का आदेश राजस्व विभाग को दिया और कहा कि कंट्रोल रूम शुरू करके पूरे प्रदेश की विधिवत मॉनिटरिंग की जाए। वहीं, जो लोग आश्रय स्थलों में रह रहे हैं उनकी काउंसलिंग के लिए विशेषज्ञ, डॉक्टरों, सोशल स्टडी के विद्वानों की मदद से हर कैंप में काउंसिलिंग करने के निर्देश दिए गए हैं।

इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन के दौरान पूरे प्रदेश में विधिवत सफाई और सैनिटाइजेशन के आदेश दिए और कहा कि नियमित तौर पर फॉगिंग कराई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि पशुओं के चारे को लेकर कहीं कोई कमी नहीं होनी चाहिए। पर्याप्त चारा मौजूद है और इसका पूरा उपयोग होना चाहिए। फसलों की कटाई के संदर्भ में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि मंडियों को तैयार रखा जाए और ख़रीदारी के लिए जल्द से जल्द सारी तैयारियां सुनिश्चित करा ली जाएं।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

लॉकडाउन: विदेश से आए नागरिकों की सूचना न देने वालों पर दर्ज करें FIR- योगी

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को प्रदेश के प्रमुख अफसरों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान सीएम ने ग़रीबों को मुफ़्त राशन देने और हेल्थ प्रोटोकॉल पर जरूरी निर्देश दिए। साथ ही दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से जुड़े मामले पर कार्रवाई के निर्देश दिए। सीएम ने कहा कि तबलीगी जमात में शामिल हुए प्रदेश में जहां-जहां विदेश से आए लोग है। इन लोगों पर कार्रवाई की जाए इनकी सूचना नहीं देने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करें, और कार्रवाई करें बैठक में बताया गया।

इसे भी पढ़ें- लॉकडाउन पर सीएम योगी बेहद सख्त, आला-अधिकारियों के साथ की अहम बैठक

यूपी के कई जगहों पर विदेशी रुके थे, लेकिन यहां जिला प्रशासन को इसकी सूचना नहीं दी गई सीएम ने सभी के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए। सीएम ने कहा कि तबलीगी जमात में शामिल होने वाले लोगों को चिन्हित कर उन्हें क्वारेंटाइन किया जाए साथ ही नियमानुसार कार्रवाई भी की जाए।

सीएम ने इसके अलावा जिला स्तर पर जिला मुख्यालय पर सभी नगर निगम व नगर पालिकाओं में भी क्वॉरेंटाइन करने के निर्देश दिए। उन्होंने लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया। साथ ही यूपी के सभी जिलों में सरकारी कम्युनिटी किचन चालू रखने को कहा सीएम योगी ने सभी डीएम से निजी संस्थाओं व धार्मिक संस्थाओं में भी किचन चालू कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि यूपी में कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे साथ ही राशन वितरण प्रणाली में सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन किया जाए कोई कालाबाजारी करता है। तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

इसे भी पढ़ें-इंटीग्रल यूनिवर्सिटी में मिले 4 विदेशी छात्र, सभी को किया गया क्वारंटाइन

उधर, दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में आयोजित हुए तब्लीगी जमात में उन्नाव जिले की नगर पंचायत कुरसठ के रहने वाले दो मौलवी भी शामिल हुए थे। उत्तर प्रदेश शासन द्वारा जारी अलर्ट के बाद उन्नाव जिला प्रशासन हरकत में आया, जिसके बाद उन्नाव के स्वास्थ्य विभाग ने उनकी पहचान की दोनों मौलवी 7 मार्च को ही दिल्ली से वापस आने का दावा कर रहे है। वहीं जिले की स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल टीम ने उन्हें अपनी निगरानी में ले लिया है। मौलवियों का सैंपल लेकर जांच के लिए लखनऊ भेजा गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

लॉकडाउन पर सीएम योगी बेहद सख्त, आला-अधिकारियों के साथ की अहम बैठक

Published

on

लखनऊ। देश-प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस को रोकने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वाहन पर पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है। बावजूद इसके, कोराना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने दौरे को निरस्त कर लखनऊ में प्रदेश के आला-अधिकारियों के साथ एक अहम बैठक की।
बैठक में, कोरोना वायरस को रोकने और उसके लिये लागू किये लाकडॉउन में खाने-पीने को लेकर की गई। इस व्यवस्था की समीक्षा की बैठक के दौरान, मुख्‍यमंत्री ने यूपी में लॉक डाउन को अधिक सख्ती के साथ लागू करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही, खाद्य एवं रसद विभाग को गरीब मजदूरों का पेट भरने के लिये 1 अप्रैल से राशन बांटने का निर्देश दे दिया है।

इसे भी पढ़ें- यूपी में बिजली बिल जमा करने की अवधि बढ़ाई गई, 30 अप्रैल तक कर सकते है जमा

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के निर्देश पर खाद्य एवं रसद विभाग की तरफ से पहले चरण के तहत बुधवार 1 अप्रैल से ही पूरे प्रदेश में खाद्यान्न वितरण शुरू कर दिया जायेगा। इसमें अंत्योदय कार्ड धारकों, नरेगा श्रमिकों, श्रम विभाग में रजिस्टर्ड श्रमिकों तथा नगर विकास विभाग के दिहाड़ी मजदूरों को निशुल्क राशन वितरण किया जाएगा।

इस योजना के दूसरे चरण में 15 अप्रैल से समस्त कार्ड धारकों को 5 किलो प्रति यूनिट की दर से निशुल्क राशन (चावल) भी उपल्ब्ध कराया जायेगा। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने वितरण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन कराने का निर्देश दिया है। जिसके चलते, प्रत्येक उचित दर दुकान पर सैनिटाइजर,साबुन एवं पानी भी रखा जायेगा, ताकि हाथ धुलने के उपरांत ही ईपोस का इस्तेमाल किया जाये।

इसे भी पढ़ें-इंटीग्रल यूनिवर्सिटी में मिले 4 विदेशी छात्र, सभी को किया गया क्वारंटाइन

राशन की दुकानों पर भीड़ ना हो, सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे इसके लिए प्रत्येक दुकानदार रोस्टर के हिसाब से राशन वितरित करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही, अगर कोई कोई व्यक्ति, परिवार, समुदाय, कस्बा या कॉलोनी को होम क्वॉरेंटाइन किया गया है। उस तक होम डिलीवरी के माध्यम से राशन पहुंचाने के निर्देश दिये गये है।

राशन वितरण हेतु प्रत्येक उचित दर दुकान के लिये नोडल अधिकारी की नियुक्ति जिलाधिकारी द्वारा की गई है। उचित दर विक्रेता द्वारा नोडल अधिकारी तथा ग्राम प्रधान की उपस्थिति में ही हर पात्र मजदूर को राशन का वितरण कराने का निर्देश दिया गया है। जिससे योजना के क्रियांवन में पूरी पारदर्शिता बनी रहे और संकट के इस समय में सभी को भोजन उपलब्‍ध हो सके।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपीः एक ही दिन में कोरोना महामारी से पीड़ित दो मरीजों की मौत

Published

on

गोरखपुर में युवक ने तो मेरठ में बुजुर्ग ने दम तोड़ा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना से मौतों का सिलसिला शुरू हो चुका है। बुधवार को प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में दो कोरोना मरीजों की मौत हो गयी। पहली मौत बस्ती निवासी युवक की हुई। जिसका इलाज गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल काॅलेज में चल रहा था। इसके थोड़ी ही देर बाद मेरठ में भी कोरोना संक्रमित एक बुजुर्ग की मौत हो गयी।

जानकारी के अनुसार बस्ती जिले के 25 साल के कोरोना संक्रमित युवक की गोरखपुर में इलाज के दौरान बुधवार को मौत हो गई। युवका का इलाज बीआरडी मेडिकल कॉलेज में चल रहा था। बुधवार को ही किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में हुई जांच में युवक को कोरोना पाॅजिटिव पाया गया था। मृतक हसनैन बस्ती के गांधीनगर इलाके के रहने वाले था। युवक को रविवार को गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। युवक को सांस लेने में तकलीफ थी। मौत के बाद स्टाफ ने बताया कि उनके अंदर कोरोना के लक्षण थे।

वहीं मेरठ में कोरोना से पीड़ित 72 साल के वृद्ध की भी बुधवार को मौत हो गयी। बुजुर्ग का इलाज यहां के मेडिकल काॅलेज में चल रहा था। पिछले दिनों महाराष्ट्र के अमरावती से आए दामाद से वृद्ध को महामारी का संक्रमण हुआ था। उसकी हालत पिछले कुछ घण्टों से गंभीर बनी हुई थी। इन दो मौतों के अलावा लखनऊ में भी भर्ती एक कोरोना संक्रमित मरीज की हालत नाजुक बनी हुई है।

यह भी पढ़ें-बैंकों में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से कराया जाएगा पालन, तैनात रहेगी पुलिस

बता दें कि यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 100 के पार हो चुका है। लेकिन मौत का पहला मामला गोरखपुर से आया है। प्रदेश में सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज नोएडा में पाए गए हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 1, 2020, 4:20 pm
Sunny
Sunny
35°C
real feel: 35°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 33%
wind speed: 4 m/s W
wind gusts: 4 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 5:27 am
sunset: 5:54 pm
 

Recent Posts

Trending