Connect with us

प्रदेश

मुजफ्फरनगर : शुक्रताल स्थित ‘हनुमान धाम’ की सुरक्षा की गई कड़ी, जानें क्या है मामला

Published

on

मुजफ्फरनगर । शुक्रताल में ‘हुनमान धाम’ की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है । यह कदम भीम आर्मी के इस तरह के सभी मंदिरों पर कब्जा करने के आह्वान को देखते हुए उठाया गया है । भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर ने गत रविवार को कहा था कि दलित समुदाय के लोगों को सभी हनुमान मंदिरों पर कब्जा कर वहां दलित पुजारी नियुक्त करने चाहिए ।

चंद्रशेखर ने यह आह्वान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा हनुमान को दलित बताए जाने के बाद किया था । अधिकारियों ने बताया कि पीएसी और पुलिस टीम हनुमान धाम में तैनात की गई हैं, ताकि भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं द्वारा मंदिर पर कब्जा करने के किसी भी प्रयास को रोका जा सके । उन्होंने बताया कि अभी तक यहां किसी भी अप्रिय घटना की कोई खबर नहीं है ।

गौरतलब है कि राजस्थान के अलवर जिले में एक रैली संबोधित करते हुए आदित्यनाथ ने कहा था, ‘हनुमान एक वनवासी, वंचित और दलित थे । बजरंग बली ने उत्तर से दक्षिण तक और पूर्व से पश्चिम तक सभी भारतीय समुदायों को साथ लाने के लिए काम किया ।’

आदित्यनाथ को एक दक्षिणपंथी समूह ने कानूनी नोटिस भेजा है और उनसे भगवान हनुमान को दलित बताने पर माफी मांगने को कहा है । वहीं, पिछले सप्ताह अनुसूचित जनजाति राष्ट्रीय आयोग (एनसीएसटी) के प्रमुख नंद कुमार साई ने दावा किया था कि हनुमान आदिवासी थे । http://www.satyodaya.com

देश

सीएम योगी ने दी पीएम मोदी को बधाई, दिल्ली हुए रवाना

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ । यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोकसभा चुनाव 2019 में ऐतिहासिक बहुमत प्राप्त करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व अमित शाह को बधाई दी है।

उन्होंने कहा कि इस चुनाव में जनता ने जात-पात और वंशवाद से ऊपर उठकर विकास को वोट किया है। इसके लिए प्रधानमंत्री व पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को बधाई।

यहां भी पढ़ें : इमरान खान ने भी पीएम मोदी को दी जीत की बधाई, कहा शांति के लिए मिलकर करेंगे काम

उन्होंने यूपी में महागठबंधन की चुनौती पारकर जीत लगभग 60 सीटों पर बढ़त के लिए कार्यकर्ताओं को बधाई दी है ।
योगी दिल्ली रवाना हुए भाजपा मुख्यालय जायेंगे योगी 6 बजे मोदी से मिलेंगे योगी । मोदी – शाह को बधाई देने जा रहें हैं योगी । http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

अमेठी में पहली बार गांधी परिवार के किसी सदस्य की हार, राहुल ने स्वीकारी पराजय…

Published

on

लखनऊ। 2019 के आम चुनावों में कांग्रेस को 2014 के लोकसभा चुनावों से भी बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस के बड़े- बड़े दिग्गज नेता हर चुनाव में हार रहे हैं। गुना से ज्योतिरादित्य सिंधिया, भोपाल से दिग्विजय सिंह की नैया डूबती नजर आ रही है। लेकिन इन सबसे बड़ा आघात पहंुचा है अमेठी में। यहां से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भाजपा की स्मृति ईरानी ने पटकनी दे दी है। इसी के साथ स्मृति ईरानी ने इतिहास रचते हुए पहली बार गांधी परिवार के सदस्य को यहां से हराया है। अमेठी और रायबरेली कांग्रेस का गढ. रही है। सोनिया गांधी तो किसी तरह अपनी सीट बचाने में कामयाब होती नजर आ रही हैं लेकिन अमेठी में राहुल की नैया डूब चुकी है। कांग्रेस अध्यक्ष यहां से तीन बार सांसद रह चुके हैं। वह यहां से लगातार 2004 से 2014 तक जीत दर्ज करते रहे। लेकिन 2014 के लोकसभा चुनावों में भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी से उन्हें कड.ी टक्कर मिली थी। करीब एक लाख वोटों से राहुल गांधी अपने परिवार की परंपरागत सीट बचाने में सफल रहे थे। लेकिन इस बार गांधी परिवार के इस किले में भाजपा सेंध लगाने में कामयाब हो गयी। इस तरह से ऐसा पहली बार हुआ है कि अमेठी में गांधी परिवार के सदस्य की हार हुई है। हालांकि राहुल गांधी इस बार अमेठी अलावां केरल के वायनाड से भी चुनाव लड. रहे थे जहां से उन्होंने भारी मतों से जीत दर्ज की है।#VijayiBharat

यह भी पढ़ें-एनडीए की जीत पर पूरी दुनिया दे रही पीएम मोदी को बधाई…

अमेठी लोकसभा सीट के साथ गांधी परिवार की पहचान जुड.ी हुई है। यहां से गांधी परिवार के सुनहरे अतीत की यादें भी जुड़ी हैं। यह सिलसिला 1967 से शुरू हुआ था जब कांग्रेस के विध्याधर वाजपेयी ने अमेठी में पार्टी की जीत की नींव रखी थी। 1967-71 और 1971-77 तक विध्याधर वाजपेयी अमेठी के सांसद बने रहे। 1977-80 तक जनता पार्टी के रविंद्र प्रताप सिंह अमेठी के सांसद बने रहे। 1980 में संजय गांधी ने यहां की जनता से भावनात्क रिश्ता जोड.ते हुए कांग्रेस की पैठ मजबूत की जो 2014 तक जारी रही। 80 के चुनाव में संजय गांधी यहां से सांसद चुने गए लेकिन विमान दुर्घटना में उनकी मौत के बाद यह जिम्मा गांधी परिवार के ही राजीव गांधी को दिया गया। राजीव गांधी 1981 से लेकर 1991 तक अमेठी सीट के सांसद बने रहे।#ElectionResults2019 बम धमाके में राजीव गांधी के निधन के बाद यह जिम्मेदारी कांग्रेस के सतीश शर्मा को सौंपी गई, सतीश शर्मा ने अमेठी सीट की बागडोर 1991 से लेकर 1998 तक संभाली और 1998 में भाजपा के संजय सिन्हा ने सतीश शर्मा को अमेठी लोकसभा चुनाव में शिकस्त दी। लेकिन 1999 में राजीव गांधी की पत्नी सोनिया गांधी ने संजय सिन्हा को चुनाव में हरा दिया और 1999-2004 तक अमेठी की सांसद बनी रही। इसके बाद 2004 से अब तक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी के सांसद बने हुए हैं। कुल मिलाकर अबतक कांग्रेस का कोई भी नेता अमेठी सीट से हारा नहीं है, और अब अगर राहुल गांधी अपने गढ़ से हारते हैं तो ये गांधी परिवार के पहले सदस्य होंगे जो अमेठी से लोकसभा चुनाव हारेंगे। बता दें कि एक दफा राजीव गांधी से मुकाबला करने के लिए मेनका गांधी मैदान में निर्दलीय उतरी थीं और उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

बिहार में गठबंधन का सूपड़ा साफ करता नजर आ रहा है एनडीए…

Published

on

बिहार। लोकसभा चुनाव 2019  के नतीजे आने शुरु हो गए हैं। बिहार की 40 और झारखंड की 14 लोकसभा सीटों पर मतगणना शुरू हो गई और रुझान आने शुरू हो गए।  बिहार में इस बार एनडीए और महगठबंधन के बीच कड़ा मुकाबला है। अभी तक बिहार 40 सीटों पर रुझाना आया है जिसमें 38 पर बीजेपी गठबंधन और 2 पर यूपीए गठबंधन आगे है।

यह भी पढ़े: लोकसभा चुनाव परिणाम से पहले भाजपा कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल…

इसके साथ ही झारखंड में 14 सीटों पर रुझान आ गया है जिसमें अब तक 12 सीटों पर एनडीए आगे है। इसके साथ ही 2 सीटों पर कांग्रेस आगे हैं। बता दें कि एग्जिट पोल के नतीजों में बिहार में एनडीए की बड़ी जीत दिखाई गई थी। वहीं महागठबंधन को 2014 के लोकसभा चुनावों के मुकाबले कम सीटें मिलने का अनुमान जताया गया था।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 24, 2019, 6:31 am
Partly sunny
Partly sunny
31°C
real feel: 34°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 51%
wind speed: 1 m/s ENE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 4:45 am
sunset: 6:22 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending