Connect with us

प्रदेश

प्लॉट मिला न पैसा वापस किया, ग्राहकों ने शाइन सिटी ग्रुप के कार्यालय का किया घेराव

Published

on

रियल एस्टेट

फाइल फोटो

लखनऊ। जमीन व प्लॉट के नाम पर लोगों से धोखाधड़ी का शाइन सिटी पर आरोप लगा है। अभी हाल ही में गोमतीनगर पुलिस ने रियल एस्टेट समेत तमाम कंपनियों की आड़ में करोड़ों रुपये ठगने की आरोपी शाइन सिटी इन्फ्रा प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड की कर्मचारी उत्तमा अग्रवाल को गिरफ्तार किया था। सोमवार को गोमतीनगर के एसआरएस मॉल के पास स्थित शाइन सिटी ग्रुप के कार्यालय में दर्जनों ग्राहक इकठ्ठा हुए।

शाइन सिटी से जमीन और अपना पैसा न मिलने की वजह से ग्राहक लगातार कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं। वहीं जब पैसे और जमीन के बारे में ग्राहकों से बातचीत की गयी तो उन्होंने बताया कि न तो हमारा पैसा मिला और न ही कार्यालय में कोई हमारी समस्या सुनने वाला है। ऐसे में अब ग्राहकों को ऑफिस में किसी के न होने की वजह से अपने लाखों डूबने का डर भी सता रहा है।

ये भी पढ़ें:धोखाधड़ी व ठगी के मामलों में शाइन सिटी की एचओडी उत्तमा अग्रवाल गिरफ्तार

जानकारी के मुताबिक अभी हाल ही में शाइन सिटी की एचडी उत्तमा अग्रवाल को गिरफ्तार है इतना ही नहीं पुलिस ने उन्हें धोखाधड़ी के मामले में जेल भी भेज चुकी है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

लविवि के खाते से करोड़ों का चूना लगाने वाले जालसाज को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ पुलिस

फाइल फोटो

लखनऊ।राजधानी लखनऊ पुलिस ने ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो लखनऊ विश्वविद्यालय की फर्जी चेक पर करोड़ों रुपयों का गबन किया था। बता दें कि इस बात की जानकारी लगते ही विश्वविद्यालय के कुलसचिव की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करते हुए पुलिस जांच कर रही थी। जांच के दौरान पुलिस ने लखनऊ में यूको बैंक का पूर्व अधिकारी का शामिल होना पाया गया था। जिसकी पहचान आनंद शुक्ला के रूप में हुई है। जो गोमतीनगर निवासी है। पुलिस ने उनको हिरासत में लेकर और लोगों से पूछताछ कर रही है।

एसपीटीजी राजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया की लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलसचिव ने हसनगंज थाना में एक मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें उनका कहना था कि फर्जी चेक लगा कर करोड़ों रुपयों का गबन किया गया है। जिसमें पुलिस ने 420 की धारा में मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही है। वहीं जांच के दौरान पुलिस ने यूको बैंक के पूर्व अधिकारी आनंद शुक्ला के साथ मानस कुमार उर्फ रोशन को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि आनंद शुक्ला को फर्जी चेक का डिमोशन कर सर्विस ब्रांच आईटी शाखा लखनऊ में तैनात किया गया था। जहां से यह आरोपी चेक की सूचनाएं फैजाबाद भेजता था।

ये भी पढ़ें:यूपी में चुनावी नैया पार लगाने के लिए पिछड़ा, अति पिछड़ा को साधने में जुटी कांग्रेस

इतना ही नहीं इसके साथ ही चेक की रंगीन छाया प्रति कॉपी तैयार कर उसका इस्तेमाल करते थे और इन चेकों का इस्तेमाल कर चूना लगा रहे थे। पुलिस इस मामले में जांच कर रही है। साथ ही इसमें और कौन-कौन से बैंक के कर्मचारी या अधिकारी शामिल है इसके बारे में भी अभी जांच की जा रही है। फिलहाल इस मामले में तीन आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार करके जेल भेजा जा चुका है अन्य जो भी साक्ष सामने आएंगे उसके आधार पर लोगों की गिरफ्तारी की जाएगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपी में चुनावी नैया पार लगाने के लिए पिछड़ा, अति पिछड़ा को साधने में जुटी कांग्रेस

Published

on

कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग की मंडलीय बैठक संपन्न

लखनऊ। करीब तीन दशक से यूपी की सत्ता से बाहर कांग्रेस अब पूरे जोर-शोर से मिशन 2022 में जुट गयी है। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को उसकी जमीन वापस दिलाने के लिए प्रियंका गांधी खुद चुनावी मैदान में उतर चुकी हैं। हालांकि 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रियंका कोई करिश्मा नहीं दिखा सकीं। लेकिन अब पार्टी आगामी यूपी विधानसभा चुनावों में कामयाबी के लिए सोशल इंजीनियरिंग में जुट गयी है।
सोमवार को लखनऊ स्थित कांग्रेस कार्यालय में पूर्व सांसद राजाराम पाल के नेतृत्व में कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग की मंडलीय बैठक आयोजित हुई। पार्टी को मजबूत करने के लिए प्रियंका गांधी का जोर उन निचले संगठनों को पुनर्जीवित करने पर है, जो कभी पार्टी की ताकत हुए करते थे। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राजाराम पाल ने कहा, प्रियंका गांधी मुझे प्रदेश में पिछड़े वर्ग व अति पिछड़े वर्ग को पार्टी से जोड़ने का जिम्मा सौंपा है।

समाज के इस वर्ग को पार्टी से जोड़ने के लिए राजाराम पाल प्रदेश के सभी 18 मंडलों में भ्रमण के लिए 18 दिवसीय यात्रा कर रहे हैं। अभियान के 12वें दिन मंगलवार को राजाराम पाल लखनऊ मंडल पहुंचे। पूर्व सांसद ने बताया कि 13 जनवरी को आगरा में इस अभियान की समाप्ति होगी। 15 जनवरी को प्रदेश मुख्यालय में समीक्षा बैठक कर प्रियंका गांधी खुद प्रदेश के पिछड़ा और अति पिछड़ा समाज के लोगों के साथ संवाद करेंगी।

निचले संगठनों में जान फूंक रही कांग्रेस

मीडिया से बात करते हुए राजाराम पाल ने कहा, उत्तर प्रदेश में पिछले 30 वर्षों से कांग्रेस सत्ता से बाहर है। कांग्रेस को सत्ता में लाने के लिए राहुल गांधी ने प्रियंका गांधी को जिम्मेदारी दी थी। पार्टी ने 2019 के आम चुनाव से पहले प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया था। लोकसभा चुनाव के बाद प्रियंका गांधी कांग्रेस के सभी संगठनों में आमूल-चूल परिवर्तन किया है। सभी संगठनों में समाज के हर वर्ग को प्रतिनिधित्व दिया गया है। जिलों में पदाधिकारी बनाने में हमारी पार्टी ’जिसकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी’ का फार्मूला अपनाया है। वरिष्ठ कांग्रेसजनों से भी सलाह ली जा रही है।

भाजपा और सपा बसपा में बंट गए कांग्रेस के 3 मैटीरियल

राजाराम पाल ने कहा कि पिछले कुछ समय में कांग्रेस ने चिंतन और मंथन किया है कि आखिर किन कारणों से कांग्रेस पिछले 30 वर्ष से सत्ता से बाहर है? जिसके बाद इस निष्कर्ष पर पहुुंचा गया कि कांग्रेस जिन तीन मैटीरियलों से बनी थी, पिछले 3 दशकों में वह तीनों मैटीरियल बिखर गए हैं। पूर्व सांसद ने कहा कि 30 साल पहले पूरी अपर कास्ट, सभी अल्पसंख्यक व दलित कांग्रेस में थे, 30 वर्षों में तीन दल बने हैं, जिसके बाद अपर कास्ट भाजपा में चला गया है, दलित बसपा में चला गया और मुसलमान सपा-बसपा दोनों में बंट गया।

यह भी पढ़ें-राष्ट्रीय युवा उत्सव की तैयारियां तेज, मंडलायुक्त ने मांगा आयोजन का पूरा प्लान

प्रदेश में आधी आबादी पिछड़ा, अति पिछड़ा की है, उसमें 95 प्रतिशत आबादी मुसलमानों की है, जिस पर कांग्रेस ने ध्यान नहीं दिया। राजाराम पाल ने कहा कि यह जो पिछड़ा, अति पिछड़ा में आधी से ज्यादा आबादी है, उसके बिना कांग्रेस खड़ी नहीं हो सकती है। इसलिए अब इन सभी लोगों को कांग्रेस से जोड़ा जाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

CAA Protest: पुलिस की बर्बरता पर HC ने योगी सरकार को भेजा नोटिस….

Published

on

सीएए व एनआरसी

फाइल फोटो

लखनऊ। सीएए व एनआरसी को लेकर विरोध कर रहे आन्दोलनकारियों पर पुलिस की बर्बरता और लाठीचार्ज के आरोप में इलाहबाद हाईकोर्ट ने सीएम योगी आदित्यनाथ को नोटिस जारी किया है। हाई कोर्ट ने अख़बारों में छप रही हिंसक प्रदर्शन की तमाम घटनाओं पर जवाब मांगा है।

ऐसे में मुंबई के एक अधिवक्ता अमित कुमार द्वारा ईमेल के जरिए भेजे गए पत्र पर स्वत संज्ञान लेते हुए मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर और न्यायमूर्ति विवेक वर्मा की पीठ ने इस मामले पर सुनवाई के लिए 16 जनवरी की तिथि तय की है।  वहीं अधिवक्ता अजय कुमार द्वारा भेजे गए ईमेल में न्यूयॉर्क टाइम्स और द टेलीग्राफ में प्रकाशित समाचारों का हवाला दिया है जिसमें यूपी पुलिस द्वारा आंदोलनकारियों पर बर्बरता करने का आरोप लगाया गया है।  

ये भी पढ़ें:प्राथमिक स्कूलों में नामी कंपनी के बांटे गए स्वेटर, क्वालिटी व साइज में मिली गड़बड़ी

इतना ही नहीं पत्र में ये भी कहा गया है कि देश की छवि पूरी दुनिया में ख़राब हो रही है। पत्र में इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित समाचार जिसमें मुजफ्फरनगर के एक मदरसे में बच्चों की निर्मम पिटाई का हवाला दिया गया है।

पीठ ने हाइकोर्ट के अधिवक्त फरमान नकवी और रमेश कुमार यादव को याचिका में न्याय मित्र नियुक्त किया है हाईकोर्ट की रजिस्ट्री को निर्देश दिया है कि सभी संबंधित दस्तावेज न्याय मित्रों को उपलब्ध करा दी जाए।  हालांकि याचिका पर अगली सुनवाई 16 जनवरी को होगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 7, 2020, 4:26 pm
Mostly cloudy
Mostly cloudy
21°C
real feel: 20°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 59%
wind speed: 1 m/s NNE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:26 am
sunset: 4:59 pm
 

Recent Posts

Trending