Connect with us

प्रदेश

कलेक्ट्रेट ऑफिस पर पुलिस विभाग ने मीडिया कर्मियों के साथ की अभद्रता, दी गालियां

Published

on

कलेक्ट्रेट ऑफिस

फाइल फोटो

लखनऊ। यूपी पुलिस की बुराई से ज्यादा अच्छाई दिखने के लिए पत्रकारों ने गुड वर्क चलाए। आए दिन पत्रकार उनकी अच्छाई और मेहनत को दिखने के के लिए वर्क करते हैं। लेकिन आज वहीं पुलिस पत्रकारों के साथ अभद्रता करने पर उतर आई है।

आज नामाकंन के दौरान कलेक्ट्रेट ऑफिस में मौजूद पुलिस विभाग ने मीडियाकर्मी कैमरापर्सन, और फोटोग्राफर्स को धक्का दिया और उन्हें खूब गालियां भी दी हैं। पुलिस के इस व्यवहार को देख कर तो यही, लग रहा है शहर के अंदर पत्रकारों का शोषण हो रहा है। जबकि बीजेपी पार्टी ने पत्रकारों के प्रति शालीनता बरतने की बात की थी।

ये भी पढ़े:हेमा मालिनी ने चुनाव जीतने के बाद गेंहू काटने का किया वादा, वायरल तस्वीरों को बताया झूठा

इस तरह पत्रकारों को धक्के और गालियां देकर पुलिस सरकार के अच्छे व्यवहार और शालीनता की धज्जियां उड़ा रही है। पुलिस विभाग के इस तरह के व्यवहार से पूरा मीडिया आहत है। अगर उनके साथ ऐसा ही व्यवहार होता रहा, तो किस तरह लोगों की आवाज बनेंगे। कैसे वह देश हित में सरकार का साथ निभा पाएंगे।http://www.satyodaya.com

 

प्रदेश

संचारी रोगों व दिमागी बुखार से बचाने के लिए पूरे प्रदेश में चलेगा जागरूकता अभियान

Published

on

01 जुलाई से 31 जुलाई तक पूरे माह गांव-गांव तक चलाया जायेगा

लखनऊ। प्रदेश के सभी 75 जनपदों में 1 जुलाई से संचारी रोग नियंत्रण जबकि 18 जनपदों में दिमागी बुखार के प्रति जागरूकता के लिए दस्तक अभियान चलाया जायेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अभियान के शुभारंभ की जानकारी देते हुए ट्वीटर पर प्रदेश की जनता से इसमें सहयोगी की अपील की है। सीएम योगी ने अपने ट्वीट में कहा, हर बच्चे का जीवन हमारे लिए बहुत अनमोल है, उसके बेहतर स्वास्थ्य के लिए हम सभी लोग सजग हों, जागरूक हों और संचारी रोग नियंत्रण के इस पूरे अभियान में हम सब सहभागी हों। सीएम योगी ने एक के बाद एक तीन ट्वीट में कहा, प्रति वर्ष जुलाई से अक्टूबर माह के बीच विभिन्न प्रकार की विषाणु जनित बीमारियों का पूर्वी उ.प्र. में प्रकोप बढ़ जाता है।

विगत 2 वर्षों में हमारी सरकार द्वारा संचारी रोगों के नियंत्रण और उन्मूलन के लिए प्रभावी कार्यक्रमों को योजनाबद्ध ढंग से लागू किया गया है। इस जन आंदोलन का ही परिणाम था कि 33 प्रतिशत कमी इन रोगों में देखने को मिली है। अगर हम सभी जागरूक होकर इन सभी प्रकार के संचारी रोगों के नियंत्रण में छोटे-छोटे प्रयास जैसे स्वच्छता, जलजमाव न होने देना, बासी भोजन न खाना और दूषित जल का सेवन न करना, करें तो इस बीमारी को पूरी तरह रोका जा सकता है।
मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन पंकज कुमार ने बताया कि इन बीमारियों से निपटने के लिए इस बार प्रदेश व्यापी तैयारियां की गयी हैं।

यह भी पढ़ें-…और जब मृतक ने मनाया अपना 25वां पुनर्जन्म दिन

पूरे प्रदेश में एक साथ यह अभियान प्रारम्भ किया जाएगा। पंकज कुमार ने बताया कि इस बार दिमागी बुखार के मामलों के लिए 18 जनपदों को संवेदनशील चिन्हित किया गया है। जिनमें गोरखपुर, देवरिया, महराजगंज, कुशीनगर, सिद्धार्थनगर, संतकबीरनगर, बस्ती, लखनऊ, हरदोई, लखीमपुर खीरी, रायबरेली, सीतापुर, उन्नाव, गोंडा, बहराइच, श्रावस्ती, बलरामपुर एवं बाराबंकी शामिल हैं। इन जनपदों में दरवाजे-दरवाजे पर दस्तक देकर जनता को दिमागी बुखार के प्रति जागरूक किया जायेगा। मिशन निदेशक ने अवगत कराया है कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के साथ अन्य विभागों द्वारा भी सहयोग किया जायेगा। जिसके लिए प्रदेश के मुख्य सचिव डॉ. अनूप चंद्र पांडेय द्वारा विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों को व्यापक निर्देश दे दिए गए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सरकार ने बेसिक शिक्षा विभाग में किया बड़ा फेरबदल, तबादला सूची जारी

Published

on

लखनऊ । स्वास्थ्य विभाग के बाद अब सरकार ने बेसिक शिक्षा विभाग में बड़े पैमाने पर तबादले कर दिए हैं। रविवार देर शाम जारी तबादला सूची में सरकार ने बेसिक शिक्षा विभाग के दर्जनों बड.े अफसरों का स्थानांतरण कर दिया है। उमेश शुक्ला को लखनऊ मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। इसी प्रकार फतेह बहादुर सिंह को उप प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान मिर्जापुर, कालीचरण भारती को मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक कानपुर, मुनेश कुमार को उप प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान एटा, प्रवीण उपाध्याय को मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक काशी बनाया गया है। ह्रदय राम आजाद को सहायक शिक्षा निदेशक निदेशालय, सत्येंद्र कुमार सिंह को सहायक शिक्षा निदेशक प्राइमरी, हरवंश सिंह को उप शिक्षा निदेशक निदेशालय प्रयागराज, सच्चिदानंद यादव को वरिष्ठ प्रवक्ता डायट कानपुर देहात, आरएसपी त्रिपाठी को वरिष्ठ प्रवक्ता डायट लखीमपुर खीरी बनाया गया है।
इसके अलावा सरकार ने कई जिलों के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भी बदल दिए हैं। ओमकार सिंह को बेसिक शिक्षा अधिकारी आगरा, लालजी यादव को बेसिक शिक्षा अधिकारी बलिया, संतोष पांडेय को बेसिक शिक्षा अधिकारी सुल्तानपुर, संगीता सिंह को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान रायबरेली, प्रदीप कुमार पांडेय को बेसिक शिक्षा अधिकारी उन्नाव, अखंड प्रताप सिंह को बेसिक शिक्षा अधिकारी कानपुर देहात, कमल सिंह को बेसिक शिक्षा अधिकारी हापुड़, राम सिंह को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान हरदोई, वीके शर्मा को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान मिर्जापुर, देवेंद्र गुप्ता को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान सोनभद्र, महेश चंद्र को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान चित्रकूट, पवन कुमार तिवारी को बेसिक शिक्षा अधिकारी बिजनौर, माधव तिवारी को सहायक उप निदेशक एमडीएम, एसपी यादव को उप प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान इटावा, रवींद्र सिंह को उप प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान महराजगंज, नंदलाल यादव को उप प्राचार्य डायट जौनपुर बनाया गया है। विनय मोहन को वन राज्य विज्ञान शिक्षा संस्थान, महेश कुमार गुप्ता को राज्य विज्ञान शिक्षा संस्थान, आरसी वर्मा को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान पीलीभीत,

यह भी पढ़ें-मांगें पूरी न होने से सफाई कर्मचारियों में रोष, सरकार के खिलाफ खोलेंगे मोर्चा

महराज स्वामी को राज्य विज्ञान संस्थान प्रयागराज, मसऊद अंसारी को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान बस्ती, प्रभुराम चैहान को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान मऊ, शिव प्रसाद को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान मऊ, राम हुजूर को वरिष्ठ प्रवक्ता प्रशिक्षण संस्थान सीतापुर, शशि देवी शर्मा को प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान बरेली, डॉ मुकेश को प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान आगरा, शफीक मोहम्मद को प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान पीलीभीत, राकेश कुमार को उप शिक्षा निदेशक प्रशिक्षण परिषद लखनऊ, एसपी सिंह को उप प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान कानपुर देहात, महेंद्र यादव को प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान मथुरा, एके मिश्रा को उप प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान शाहजहांपुर, रामचंद्र यादव को रीडर कॉलेज टीचर एजूकेशन काशी, नंद लाल गुप्ता को उप प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान कौशांबी, बलिराज राम को उप प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान प्रयागराज, बिमलेश को उप प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान फिरोजाबाद, रेखा श्रीवास्तव को प्राचार्य प्रशिक्षण संस्थान कानपुर देहात, शील वर्मा को आईएएसई प्रयागराज में प्रोफेसर बनाया गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

भारतीय वैज्ञानिक ने बनाया दुनिया का सबसे चमकीला पदार्थ, सीएम योगी ने दी बधाई

Published

on

लखनऊ। भारत की एक युवा वैज्ञानिक ने दुनिया का सबसे ज्यादा चमकीले पदार्थ बनाने में सफलता पायी है। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर स्थित दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय में रसायन शास्त्र की शोधार्थी इफ्फत अमीन ने यह उपलब्धि हासिल की है। इस युवा वैज्ञानिक ने पांच साल की कड़ी मेहनत के बाद यह सफलता हासिल की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर इफ्फत अमीन को बधाई दी है। सीएम योगी ने कहा, आपने गोरखपुर और उ.प्र. का नाम रोशन करने के साथ ही देश और प्रदेश के युवाओं के लिये एक अनुकरणीय प्रतिमान स्थापित किया है। आप जैसे युवा ही एक नए और सशक्त भारत का निर्माण कर रहे हैं। उ.प्र. की जनता और सरकार आपके साथ है।# IffatAmin
इफ्फत अमीन ने जो पदार्थ बनाया है उसकी चमक क्षमता 91.9 प्रतिशत है। अभी तक बने सभी तरह के चमकीले पदार्थों की क्षमता 80 फीसदी से ज्यादा नहीं है। इफ्फत ने बताया कि संश्लेषित कांप्लेक्स का आईआईटी मद्रास और चेन्नई, लखनऊ स्थित सीडीआरआई और जापान की लैब में परीक्षण कराया गया है। जहां इस पदार्थ की चमक क्षमता 91.9 फीसदी पायी गयी है।

इफ्फत अमीन की खोज के फायदे

इफ्फत अमीन की इस खोज से आर्गेनिक एलईडी बनाई जा सकेगी जो मात्र 1 से 2 वाॅट की करंट में तेज रोशनी देगी। अमीन द्वारा खोजे गए इस पदार्थ से रडार ऊर्जा खपत में कमी की सकेगी। एमआरआई में इस्तेमाल करने पर ज्यादा सटीक नतीजे मिल सकेंगे। साथ ही चिकित्सा के क्षेत्र में अन्य कई फायदे हासिल किए जा सकेंगे।
इफ्फत के चार शोध पत्र अंतरराष्टीय जर्नल्स में प्रकाशित हो चुके हैं। शोध के लिए उन्हें गुरू गोरक्षनाथ शोध मेडल मिला है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 1, 2019, 8:36 am
Partly sunny
Partly sunny
31°C
real feel: 38°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 74%
wind speed: 3 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 4:47 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending