Connect with us

प्रदेश

संभल: 9 दिनों तक मौत से लड़ने के बाद रेप पीड़िता ने तोड़ा दम….

Published

on

रेपकांड

फाइल फोटो

संभल। दुनियाभर से आए दिन निर्भया,आसिफा जैसी रेपकांड की खबरें सुनने को मिलती हैं, लेकिन फिर भी सरकार इन दरिंदों के खिलाफ कोई सख्त कानून देश में लागू नहीं कर रही हैं। देश में रोजाना महिलाओं और बेटियों के साथ घर में बाहर हर जगह रेप होता है। ऐसे में हैदराबाद में एक 22 साल की महिला डॉक्टर से गैंगरेप और फिर उसे जिंदा जलाने का मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है। आज के समय इन हैवानों से भरी दुनिया में किसी की बहू, बेटियां सुरक्षित नहीं है। ऐसे में एक खबर यूपी के संभल से भी गैंगरेप पीड़िता की आई है। जिसका दिल्ली में ईलाज के दौरान मौत हो गई। 9 दिन से जिंदगी से जंग लड़ते-लड़ते उसने आज दम तोड़ दिया।

महिला डॉक्टर प्रियंका रेड्डी की तरह ही जघन्य घटना पीड़िता के साथ उत्तर प्रदेश के संभल में हुई थी। दरअसल संभल में एक नाबालिग लड़की के साथ पहले तो पड़ोस के दबंग युवक ने रेप किया और फिर विरोध करने पर उसे मिट्टी का तेल छिड़क कर आग लगा दी। हालांकि चीख पुकार सुनकर पड़ोस के लोगों ने किसी तरह युवती के शरीर पर लगी आग बुझाई। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया था और पीड़ित युवती को गंभीर हालत में ईलाज के लिए दिल्ली भेज दिया था। लेकिन आज 9 दिन से जिंदगी और मौत के बीच लड़ रही रेप पीड़िता ने दम तोड़ दिया।

ये भी पढ़ें:प्रयागराज में स्थापित होगा मिश्रित आसवनी, आबकारी विभाग ने दी अनुमति

जानकारी के मुताबिक घटना की सूचना के बाद मुरादाबाद रेंज के आईजी रमित शर्मा और संभल के एसपी यमुना प्रसाद मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का जायजा लेते हुए चश्मदीदों और पड़ोसियों से जानकारी ली थी। पीड़ित युवती ने अपने बयान में कहा था कि पड़ोस में रहने वाले जीशान ने उसके साथ बलात्कार किया और विरोध करने पर आग लगा दी। आरोपी युवक पड़ोस का ही रहने वाला है और ज़बरदस्ती खींच कर ले गया था।

वहीं इस रेप की घटना के बारे में पीड़ित की मां ने पुलिस में शिकायत करने की धमकी दी तो आरोपी युवक ने पीड़ित के घर में घुस कर युवती को आग लगा दी। पुलिस के मुताबिक आरोपी बलात्कार के बाद युवती को आग लगा कर भाग गया था जिसे बाद में दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया गया है और आरोपी के खिलाफ सख्त क़ानूनी कार्रवाई की जा रही है। हालांकि इस दर्दनाक घटना से यूपी की कानून व्यवस्था भी सवालों के घेरे में हैं।

यूपी के बाद हैदराबाद की बेटी के साथ भी हुआ ऐसा

जानकारी के मुताबिक हैदराबाद में 22 साल की महिला डॉक्टर रोजाना की तरह ड्यूटी पर जा रही थीं। लेकिन बुधवार को रास्ते में उनकी स्कूटी में पंचर हो गया और वह वहां रुक गईं। इसके बाद महिला ने अपनी बहन को फोन करके बताया कि स्कूटी खराब हो गई है। उन्होंने ये भी कहा कि मुझे बहुत डर लग रहा है। लेकिन बाद में महिला के साथ गैंगरेप होता है और उसे जलाकर मार दिया जाता है। पुलिस को महिला का शव जली हुई हालत में हाईवे पर ब्रिज के नीचे मिला था। जिसके बाद से सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा चरम पर है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक निर्विरोध चुने गए यूपी वॉलीबाल संघ के अध्यक्ष

Published

on

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ सरकार के कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक को यूपी वॉलीबाल संघ का निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया है। बृजेश पाठक कोरोना पॉजिटिव होने के कारण कानपुर में वॉलीबाल संघ की बैठक में न जा पर भी उनके खिलाफ किसी ने भी नामांकन नहीं किया।

उत्तर प्रदेश वॉलीबाल संघ के सचिव सुनील कुमार तिवारी ने बताया कि प्रदेश के कानून व ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री ब्रजेश पाठक को पूर्व सांसद हरिओम पाण्डेय के स्थान पर संघ का अध्यक्ष चुना गया है। कानपुर के क्राइस्चर्च कॉलेज में उत्तर प्रदेश वॉलीबाल संघ की बैठक में सुनील कुमार तिवारी महासचिव के पद पर बरकरार रहे।

वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी पीएस मीणा को वरिष्ठ उपाध्यक्ष, गौरव सिंह, बीएन मिश्र, एसवीएस राठौर, प्रताप नारायण तिवारी, हसनुद्दीन सिद्दीकी, चंद्रभद्र सिंह, ओम पाल नागर, मोहम्मद इलियास व धर्मेश कुमार शाही को उपाध्यक्ष, चंद्र प्रकाश यादव, प्रदीप चैहान, नर्वदा राय, एसएन दीक्षित, प्रथम सिंह, प्रेमनाथ तिवारी, राजेश दुबे व दिव्या वर्मा को संयुक्त सचिव और मोहम्मद इब्राहिम को संघ का कोषाध्क्ष चुना गया है।

यूपी वॉलीबाल संघ की ओर से बीएन मिश्र चुनाव अधिकारी थे। जबकि भारतीय वॉलीबाल संघ से अनिल चैधरी व उत्तर प्रदेश ओलंपिक संघ से मनीष कक्कड़ पर्यवेक्षक थे। लखनऊ के क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी जितेंद्र यादव खेल निदेशालय के पर्यवेक्षक के रूप में मौजूद थे।

यह भी पढ़ें:- केरलः मुन्नार में भारी बारिश से भूस्खलन, 12 की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

अध्यक्ष बृजेश पाठक ने कहा कि वॉलीबाल तो प्रदेश का सबसे लोकप्रिय खेल है। गांव-गांव में पहले सिर्फ वॉलीबाल ही खेला जाता था और उत्तर प्रदेश के खिलाडियों ने देश का नाम रोशन किया है। बीते कई वर्ष से इसकी लोकप्रियता में कमी आई है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश के खिलाड़ी भी नहीं चमक रहे हैं। मेरा प्रयास इस खेल को एक बार फिर गांव-गांव में काफी सक्रिय और प्रचारित करने का रहेगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

UP: स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव, अस्पताल से हुए डिस्चार्ज

Published

on

370 मरीज हुए कोरोना से मुक्त

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। हजारों में लगातार केश आ रहे है। लेकिन इन सबके बीच राहत भरी खबर सामने आई है। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह का रिपोर्ट कोरोना नेगेटिव आया है। अब प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री कोरोना से मुक्त हो गये हैं। उनकी रेंडम जांच बलरामपुर अस्पताल की पैथोलॉजी की गयी। इसमें उनकी रिपोर्ट निगेटिव आयी है। स्वास्थ्य मंत्री की कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। इसके अलावा कोरोना से स्वस्थ होने के बाद 370 मरीजों को छुट्टी दी गयी है।

इसे भी पढ़ें-BKT CASE: पिस्टल से खिलवाड़ करते समय मोनू को लगी गोली, दो दोस्त गिरफ्तार

केजीएमयू, पीजीआई, लोहिया संस्थान, एरा मेडिकल कालेज और लोकबंधु अस्पताल, इंट्रीगल, राम सागार मिश्र संयुक्त चिकित्सालय आदि कोविड अस्पताल से डिस्चार्ज हुए है। इन मरीजों को अभी सात दिनों तक होम क्वारंटीन रहने के निर्देश दिये गये हैं।

राजधानी में कुल मिलाकर अभी तक 10,805 मरीजों में कोरोना की पुष्टि की गयी। जबकि विभिन्न कोविड अस्पतालों में 4806 मरीजों का उपचार जारी है। इसके अलावा कुल मिलाकर कोरोना के चलते 125 मरीजों की मौत हो चुकी है।http://satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

आगरा में कोरोना फिर बेकाबू, सांसद व विधायक के परिजन भी मिले पाॅजिटिव

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ, ताजनगरी आगरा और उद्योग नगरी कानपुर में कोरोना संक्रमण की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। एक ओर लखनऊ और कानपुर में एक-दूसरे से आगे निकलने की होड़ लगी हुई है तो वहीं आगरा में एक बार फिर से स्थिति विस्फोटक हो रही है। ताजनगरी के वीआईपी घरों तक कोरोना की घुसपैठ हो चुकी है। आगरा के सांसद एसपी सिंह बघेल की पत्नी मधु बघेल भी कोरोना की चपेट में आ गई हैं। गुरुवार को सांसद सहित अन्य परिजनों का भी सैंपल लिया गया है, जिनकी रिपोर्ट आनी बाकी है।

इसके अलावा आगरा के मण्डलायुक्त अनिल कुमार की मां के बाद अब पिता भी कोरोना पाॅजिटिव पाए गए हैं। कमिश्नर कार्यालय के कुछ कर्मचारी भी कोरोना पाॅजिटिव पाए गए हैं। गुरुवार को कुल 38 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। इससे पहले एसएन मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डॉ संजय काला, विधायक योगेंद्र उपाध्याय, उनकी पत्नी, बेटा, बहू और नौकरानी, राज्यमंत्री चैधरी उदयभान का बेटा और बहू कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। जनपद में अब तक 10 से ज्यादा अधिकारी, 20 से ज्यादा वरिष्ठ चिकित्सक, करीब 24 पुलिस अफसर और 24 से ज्यादा पुलिसकर्मी कोरोना पाॅजिटिव पाए जा चुके हैं।

यह भी पढ़ें-इस बार शनिवार-रविवार को लाॅकडाउन में मिलेगी छूट, चालू रहेंगी परिवहन सेवाएं

आगरा में अब तक करीब 2000 से ज्यादा लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। जबकि 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक कोरोना पाॅजिटिव करीब 1600 मरीजों को इलाज के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है। वर्तमान समय में आगरा में 300 से ज्यादा सक्रिय केस हैं।

पुलिस व सेना के जवान भी कोरोना पाॅजिटिव

नेताओं और अधिकारियों के अलावा जनपद में पुलिस और सेना के जवान भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। यहां तैनात 5वीं वाहिनी पीएसी के 17 जवान कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जबकि आगरा पुलिस के 5 जवानों में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। पीएसी के संक्रमित जवानों के संपर्क में आए सभी जवानों को भी क्वारंटीन किया गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 7, 2020, 9:16 pm
Fog
Fog
31°C
real feel: 39°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 83%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:04 am
sunset: 6:20 pm
 

Recent Posts

Trending