Connect with us

प्रदेश

स्कूल में शिक्षक नहीं कर सकतें मोबाइल का इस्तेमाल

Published

on

फाइल फोटो
लखनऊ । उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है जहां बेसिक शिक्षा विभाग के सरकारी स्कूलों में अब शिक्षक मौजूदा स्कूल टाइम सुबह 8 बजे से दोपहर 1 बजे तक मोबाइल फोन पर सोशल मीडिया फेसबुक, व्हाट्सएप्प आदि का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। दरअसल, स्कूल के शिक्षकों द्वारा बच्चों को पढ़ाई में ध्यान देने की बजाय सोशल साइट पर व्यस्त रहने की शिकायतें अक्सर सामने आती थीं। इसी को देखते हुए सरकार ने चेतावनी दी है कि अगर कोई भी शिक्षक मोबाइल फोन पर सोशल मीडिया का इस्तेमाल करता मिला तो उसके खिलाफ निलंबन जैसी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए प्रदेश सरकार का है ये कदम

प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने यह आदेश प्रतिबंध बेहतर शिक्षा व्यवस्था को प्रभावी करने की दिशा में उठाया है। सूत्रों के मुताबिक सीएम योगी जल्द ही कोई मोबाइल नंबर जारी करने वाले हैं, जिस पर आम जनता सरकारी स्कूल से जुड़ी शिकायतों को सीधे उन तक पहुंचा सकेगी । आपको बता दें कि सीएम योगी ने सरकारी कर्मचारियों, शिक्षकों की सुस्ती व भ्रष्टाचार के खिलाफ बेहद कड़ा रुख अखित्यार किया है। बीते दो सालों के कार्यकाल में सीएम योगी ने 600 से ज्यादा अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई की है। जबकि अभी 200 कर्मचारी सरकार की रडार पर हैं।

शिक्षको के जींस -टी शर्ट पहनने पर भी रोक

सरकारी स्कूलों में शिक्षको के जींस और टी शर्ट पहनकर आने पर भी तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है। भड़कीले पैंट शर्ट भी पहनकर शिक्षक स्कूल नहीं आ सकेंगे। अगर किसी ने इन निर्देशों की अवहेलना की तो उसे भी विभागीय कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। सरकार ने यह फरमान सुनाते हुए तत्काल पालन करने के निर्देश दिए हैं।

बच्चों के साथ शिक्षकों की भेजनी होगी सेल्फी

लंबे समय से बिगड़ी प्राइमरी शिक्षा को सुधारने की दिशा में प्रदेश सरकार कोशिश कर रही है। सरकार की मंशा के अनुसार सभी जिले में तैनात अफसर भी शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने को अलग अलग तरीके अपना रहे हैं। इसी क्रम में जिलों स्कूलों में समय पर शिक्षकों की हाजिरी चेक करने के लिए बच्चों के साथ शिक्षकों को सेल्फी अपने विभाग के ग्रुप पर भेजनी है। जिससे स्कूल में उनकी उपस्थित सुनिश्चित की जा सके।

प्रदेश

सीएम योगी ने ट्रैवेल मार्ट का किया उद्घाटन, कहा- प्रदेश में लाखों की संख्या में आते हैं पर्यटक..

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को लखनऊ के निजी होटल में ट्रैवेल मार्ट का उद्घाटन किया। जहां पांचवे संस्करण का यूपी पर्यटन विभाग और फिक्की द्वारा होटल में इसका आयोजन किया गया। सीएम योगी के इस आयोजन में 19 देशों के 49 विदेशी टूर ऑपरेटर्स और 13 शहरों के 21 भारतीय टूर ऑपरेटर्स ने भाग लिया। ट्रैवेल मार्ट के आयोजन के बाद सभी टूर ऑपरेटरों का टूर आगरा-ब्रज, बुंदेलखंड, बुद्धिस्ट सर्किट, अयोध्या प्रयागराज और वाराणसी में फैमिलियाराइजेशन कराया गया।

ये भी पढ़े- बीजेपी पार्षद की दबंगई चरम सीमा पर, गुर्गों ने महिला कर्मचारियों से की छेड़छाड़…

इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि पर्यटन की जितनी अपार संभावनाएं हमारे पास हैं, भारत सरकार बौद्ध सर्किट के लिए जिस कार्य को क्रियान्वित की है उसका सबसे बड़ा स्थान यूपी है इसमें 6 स्थल हैं। उन्होंने कहा कि जैनी टूरिज्म में 24 तीर्थंकरों में से 23 यूपी की भूमि रही है। रामायण सर्किट अयोध्या में वनवास के समय मे सर्वाधिक समय जहां व्यतीत किया चित्रकूट वो यूपी में हैं। आगे कहा कि अयोध्या, मथुरा, काशी, विंध्यवासिनी, देवीपाटन धाम यहां पहले से मौजूद हैं लाखों की संख्या में पर्यटक यहां आते हैं। रामजानकी रामवनगमन मार्ग पर कार्य तेजी के साथ शुरू हो गया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सीएम योगी रूस दौरे पर जाएंगे आज, कई एमओयू पर होगा साइन…

Published

on

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ आज रूस के दौरे पर रवाना होंगे। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के नेतृत्व में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत भी आज शाम रूस के लिए रवाना होंगे।इस दौरे में यूपी का नेतृत्व सीएम योगी आदित्यनाथ करेंगे। जिसमें उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधिमण्डल कृषि, खाद्य प्रसंस्करण तथा ऊर्जा व नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्रों में दोनों देशों में परस्पर सहयोग के सम्बन्ध में विचार-विमर्श करेगा। इन क्षेत्रों में एमओयू हस्ताक्षरित किए जाने की भी सम्भावना है।

यह भी पढ़ें: सीएम ने कई विभागों की कार्यशैली पर जताई नाराजगी, दिए सख्त निर्देश

इस दौरे को लेकर हाल ही में लोकभवन में एक वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग हुई थी। इस दौरान रूस के प्रतिनिधिमण्डल ने रूस के सुदूर पूर्वी क्षेत्रों में व्यापार और उद्योग स्थापना की सम्भावनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत और रूस के पुराने सम्बन्ध रहे हैं। इस दौरे के बाद रिश्ते और सुदृढ़ होंगे।

बता दें कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रस्तावित दौरे के मद्देनजर कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग, फूड प्रोसेसिंग और रिन्यूएबिल इनर्जी के सम्बन्ध में कार्य किया जा रहा है। 38 कम्पनियों के नाम केन्द्र सरकार को प्रेषित किए गए हैं, जिनकी अनुमति मिल जाने पर प्रतिनिधिमण्डल में शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों सहित कौशल विकास और मानव संसाधन में भी उत्तर प्रदेश अग्रणी राज्य है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सीएम ने कई विभागों की कार्यशैली पर जताई नाराजगी, दिए सख्त निर्देश

Published

on

लखनऊ। सीएम योगी ने सरकारी कामकाज में पारदर्शिता और शुचिता पर जोर दिया है, लेकिन कई विभाग उनकी कसौटी पर खरे नहीं उतर रहे हैं। कुछ विभागों के रवैये से योगी नाराज हैं। तबादलों से लेकर कामकाज की वह अब नए सिरे से समीक्षा कर रहे हैं। हाल में कई विभागों में हुए तबादलों को निरस्त कर उन्होंने साफ कर दिया कि अब मंत्रियों की मनमानी नहीं चलेगी।

स्टांप एवं निबंधन विभाग में उप निबंधक से लेकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के करीब 350 तबादले गुरुवार को निरस्त कर दिये गए। इन तबादलों को लेकर मुख्यमंत्री तक शिकायत पहुंची थी। इनमें 30 जून से लेकर एक अगस्त के बीच करीब 60 उप निबंधकों के भी तबादले किये गए थे। इन तबादलों के चलते विभागीय मंत्री की भी शिकायत मुख्यमंत्री तक पहुंची। मुख्यमंत्री ने इन तबादलों को निरस्त कर स्पष्ट कर दिया कि चाहे कोई भी हो, लेकिन अनियमित तरीके से कामकाज करेगा तो उस पर अंकुश लगाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: बलरामपुर अस्पताल से बिना इलाज लौटे कई मरीज

मुख्यमंत्री तक कुछ अफसरों की भी शिकायत पहुंची है। ये अफसर मंत्रियों से साठ-गांठ कर नियमों की अनदेखी कर फाइलों का निस्तारण कर रहे हैं। ऐसे अफसरों पर अभिसूचना तंत्र के साथ ही मुख्यमंत्री कार्यालय की भी नजर है। कई विभागों के कामकाज की ऑडिट कराने से लेकर वह अपने स्तर पर छानबीन भी करा रहे हैं। सीएम की मंशा है कि थाना, ब्लाक, तहसील और जिलों में काम काज पारदर्शी तरीके से हो। इसके लिए उन्होंने मंडलायुक्तों को विशेष रूप से जवाबदेह बनाया है। गुरुवार को मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिलों में डीएम और एसएसपी की दफ्तर में मौजूदगी और कामकाज की समीक्षा की गयी। करीब एक दर्जन डीएम और आधा दर्जन एसएसपी कसौटी पर खरा नहीं पाये गये। उन सभी से स्पष्टीकरण मांगा गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 10, 2019, 12:46 pm
Mostly cloudy
Mostly cloudy
33°C
real feel: 41°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 66%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 7
sunrise: 5:05 am
sunset: 6:18 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending