Connect with us

प्रदेश

मुलायम के गढ़ में शिवपाल उतारेंगे प्रत्याशी, किया भारी बहुमत से जीतने का दावा

Published

on

लखनऊ। समाजवादी पार्टी सम्मान न मिलने के बाद ‘समाजवादी सेक्युलर मोर्चे’ गठन करने के बाद अब शिवपाल सिंह यादव अखिलेश यादव को टक्कर देने के लिए कही भी कोई भी कसर नही छोड़ रहे है।

शिवपाल यादव ने शनिवार को आजमगढ़ में बड़ा बयान देते हुए कहा हैं कि मुलायम सिंह यादव के ससंदीय क्षेत्र से भी सेकुलर मोर्चा का प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारेंगे। शिवपाल ने दावा करते हुए कहा कि प्रत्याशी चुनाव लड़ेगा भी और भारी बहुमत से जीतेगा।

शिवपाल यादव ने कहा,” बिना समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के कोई भी पार्टी सरकार नहीं बना सकती।” इसी कड़ी में मुख्तार अंसारी पर पूछे गये सवाल पर शिवपाल ने कहा कि पार्टी में बात करेंगे जो भी आना चाहेगा उसे हम शामिल करेंगे।

मुलायम सिंह यादव को अपना राजनीतिक गुरु बताते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि हमने नेता जी के साथ राजनीति की शुरुआत की। अगर नेताजी नहीं होते तो शायद हम भी कहीं नौकरी कर रहे होते। नेताजी के साथ हमने भी कई राजनीतिक लड़ाइयां लड़ी हैं।

शिवपाल ने कहा कि समाजवादी सेक्युलर मोर्चा को नेता जी का आशीर्वाद प्राप्त है। हमने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा की शुरुआत नेताजी के आशीर्वाद से ही की है। उन्होंने कहा ‘कुछ लोग हैं जो नेताजी को बहका देते हैं। आज भी नेताजी के मन में बहुत तकलीफ है। लेकिन मुझे नेताजी पर भरोसा है, विश्वास है कि उनका आशीर्वाद मेरे साथ हमेशा रहेगा। ‘

बता दे शिवपाल सिंह यादव ने मोर्चे के गठन ले दौरान कहा था वो ‘समाजवादी सेकुलर मोर्चा’ का अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव को बनाना चाहते है और लोकसभा चुनाव में अपनी पार्टी से उनको चुनाव लडवाना चाहते है उन्होंने कहा था अगर नेता जी उनकी पार्टी से चुनाव नहीं लड़ते है तो वो उनके विरोध में कोई प्रत्याशी नहीं उतारेगी और उनका सपोर्ट करेगी। शिवपाल के इस बयान के बाद अब प्रदेश की राजनीति में नया मोड़ जल्द देखने को मिल सकता है।

बता दें कि समाजवादी पार्टी से अलग होकर समाजवादी सेकुलर मोर्चा बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव ने अपनी नई पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (पीएसपी) का निर्वाचन आयोग में रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कर दिया है। शिवपाल यादव ने साफ किया है कि वह 2019 के लोकसभा चुनाव में पीएसपी के चुनाव चिह्न पर ही अपने प्रत्याशी उतारेंगे।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली की मांग कर रहे छात्रों पर बरसी लाठियां

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के विश्वविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव कराए जाने को लेकर छात्रों का धरना प्रदर्शन एक आम बात हो गयी है। मंगलवार को इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली की मांग को लेकर छात्रों ने जमकर धरना प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने खदेड़ने के लिए लाठियां बरसानी पड़ी। जिससे गुस्साए छात्रों ने गाड़ियों में तोड़फोड़ की और जमकर बवाल मचाया। पुलिस ने कई छात्रों को हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने कई छात्रों के खिलाफ कर्नलगंज थाने में एफआईआर दर्ज करा दी है।

यह भी पढ़ें :- ऐतिहासिक देवा शरीफ मेला का हुआ शुभारंभ, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

सोमवार को छात्र संगठनों ने परिसर में गधे के साथ जुलूस निकाला था। इस दौरान यूनिवर्सिटी के सुरक्षाकर्मियों के साथ उनकी झड़प भी हुई थी। मंगलवार को फिर छात्रसंघ भवन पर एकत्र हुए छात्र प्रतिनिधियों ने नारेबाजी और सभा शुरू कर दी। सोमवार की घटना को देखते हुए परिसर में पहले से ही पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। मंगलवार को वीसी कार्यालय के सामने धरना देने पहुंचे तो पुलिस ने आदेश पाते ही छात्रों पर लाठीचार्ज कर दी। जिससे कई छात्र घायल हो गए। छात्रों ने प्राॅक्टर पर पिटाई करवाने का आरोप लगाया है। छात्र संगठनों का कहना है कि वह लोकतांत्रिक तरीके से छात्रसंघ बहाली की मांग कर रहे थे। वही छात्रों के रोष को देखते हुए विश्वविद्यालय परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

ऐतिहासिक देवा शरीफ मेला का हुआ शुभारंभ, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

Published

on

लखनऊ। साम्प्रदायिक सद्भाव और कौमी एकता के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध देवा शरीफ बाराबंकी स्थित हाजी वारिस अली शाह की दरगाह पर लगने वाले देवा मेला मंगलवार से शुरू हो गया। बाराबंकी के जिलाधिकारी डॉ आदर्श सिंह की पत्नी आईएएस शीतल वर्मा ने शेख महमूद हसन द्वार पर फीता काटकर मेले का उद्घाटन किया। इस मौके पर शांति के प्रतीक कबूतर को उड़ाकर शांति का संदेश भी दिया गया।

10 दिवसीय इस मेले में प्रत्येक दिन देश भर से नामी कलाकार, साहित्यकार, कवि लोगों का मनोरंजन करेंगे। कार्यक्रमों में लोक गायिका मालिनी अवस्थी, डॉ. हरिओम, साबरी बंधुओं की कव्वाली, राजा रैंचों की कामेडी नाइट से लेकर कवि सम्मेलन और मुशायरे में देश के नामचीन शायर और कवि और चोटी के कलाकार अपनी प्रस्तुति से महोत्सव को यादगार बनाएंगे।

यह भी पढ़ें-नगर निगम की कार्रवाई से मुस्लिम समाज में रोष, धर्मगुरूओं ने दी चेतावनी

देवा मेला के दौरान सांस्कृतिक पंडाल के अलावां मजार पर भी हजारों लोग पहुंचते हैं। मेला में सैकड़ों दुकानें लगती हैं। भारी भीड़ को देखते हुए यहां सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे ड्रोन कैमरा से पुलिसकर्मी नजर रखे हैं। उद्घाटन समारोह में एसपी अकाश तोमर समेत जिले के ज्यादातर अफसर मौजूद रहे। बता दें कि यह देवा मेला हाजी वारिस अली शाह के वालिद की याद में प्रत्येक वर्ष कार्तिक माह में आयोजित किया जाता है। हाजी साहब ने हमेशा सभी को प्रेम और भाईचारा का संदेश दिया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपी विधानसभा उपचुनाव: 101 प्रत्याशियों में से 24 पर आपराधिक व 21 पर गंभीर मामले दर्ज

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनाव को लेकर इलेक्शन वॉच व असोसिएशन फॉर ड्रेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने मंगलवार को सचिवालाय स्थित एक निजी होटल में प्रेस कांफ्रेंस की। प्रत्याशियों के शपथपत्रों के आधार पर तैयार रिपोर्ट को स्टेट हेड संजय सिंह ने मीडिया के सामने पेश किया। इस उपचुनाव में कुल 109 प्रत्याशी मैदान में हैं जिनमें से 101 प्रत्याशियों के शपथ पत्रों का विश्लेषण किया गया है। 8 उम्मीदवारों के शपथ पत्र स्पष्ट न होने के कारण उनका विश्लेषण फिलहाल नहीं हो पाया है। प्रदेश उपचुनाव में भाग ले रहे 101 प्रत्याशियों में से 24 प्रत्याशियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले व 21 प्रत्याशियों ने गंभीर आपराधिक मामले घोषित किये हैं।

इनमें से सबसे ज्यादा आपराधिक मामले में प्रतापगढ़ विधानसभा से पीस पार्टी के प्रत्याशी अब्दुल मतीन पर हैं। दूसरे नंबर पर रामपुर विधानसभा से समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी डॉ. तंजीन फातिमा पर हैं। तंजीन फातिमा सपा के सीनियर नेता आजम खान की पत्नी हैं। वहीं, तीसरे नंबर पर प्रतापगढ़ सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी नीरज त्रिपाठी हैं।

वहीं, अगर दलगत आपराधिक छवि वाले उम्मीदवारों की बात करें तो सबसे ज्यादा बीएसपी में 5, बीजेपी में 3, कांग्रेस में 2 और समाजवादी पार्टी में 2 शामिल हैं।

एडीआर यूपी इलेक्शन वॉच के स्टेट हेड संजय सिंह ने कहा कि वित्तीय पृष्ठभूमि के आधार पर इस विधानसभा उपचुनाव में 101 प्रत्याशियों में से 35 प्रत्याशी ऐसे हैं जिनकी संपत्ति एक करोड़ से ज्यादा है। सबसे ज्यादा संपत्ति अरुण द्विवेदी की है, जो लखनऊ कैंट से बीएसपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। उनकी 22 करोड से ज्यादा की संपत्ति है। दूसरे नंबर पर देवी प्रसाद तिवारी हैं जो कानपुर नगर से बीएसपी के प्रत्याशी हैं। जिनकी संपत्ति 10 करोड़ से ज्यादा है। तीसरे नंबर पर बीजेपी के टिकट पर कानपुर नगर से सुरेंद्र मैथानी हैं। उपचुनाव में उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 1.59 करोड़ है। सबसे कम संपत्ति रामपुर विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी भीवा खान की है। जिन्होंने अपनी संपत्ति 4029 रुपये घोषित की है।

ये भी पढ़ें: दिनदहाड़े महिला की चेन लूटकर बाइक सवार बदमाश हुए फरार

शैक्षिक योग्यता में 101 प्रत्याशियों में से 31 फीसदी ने अपनी शैक्षिक योग्यता 5 से 12 तक घोषित की है। जबकि 61 प्रत्याशियों ने अपनी योग्यता स्नातक घोषित की है। दो उम्मीदवार डिप्लोमा धारक हैं। वहीं उम्र की बात की जाए तो 70 उम्मीदवारों ने अपनी आयु 25 से 50 वर्ष के बीच घोषित की है। 61 उम्मीदवारों ने अपनी आयु 51 से 70 वर्ष के बीच घोषित की है। बता दें, इस उपचुनाव में 11 महिला प्रत्याशी मैदान में हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 15, 2019, 11:36 pm
Fog
Fog
24°C
real feel: 29°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 94%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:35 am
sunset: 5:09 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending