Connect with us

प्रदेश

अयोध्या फैसले पर सपा ने जारी किया आधिकारिक बयान, कही यह बात…

Published

on

लखनऊ। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर समाजवादी पार्टी ने शाम को प्रेस नोट जारी कर इसे ऐतिहासिक निर्णय करार दिया है। पार्टी के आधिकारिक बयान में कहा गया कि रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद का निर्णय भारत के इतिहास में एक ऐतिहासिक निर्णय के रूप में याद रखा जाएगा। सपा ने कहा, इस मामले में 1986 से ही समाजवादियों ने दो विकल्प रखे थे। पहला यह कि विवाद का निपटारा दोनों समुदायों के बीच आपसी बात-चीत से हो, दूसरा यह कि कोर्ट का निर्णय मान्य हो। लेकिन चूंकि विवाद का हल बात-चीत नहीं निकल पाया, इसलिए सुप्रीम कोर्ट को अपना निर्णय देना पड़ा।

यह भी पढ़ें-अयोध्या मामले में पुनर्विचार याचिका नहीं दाखिल करेगा सुन्नी वक्फ बोर्ड: जुफर फारूकी

शीर्ष अदालत का फैसला हम सब पर लागू होता है और हमें इसे मानना भी पड़ेगा। पूरे देश को सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को सम्मान के साथ स्वीकार करना चाहिए। सपा ने कहा, वास्तव में यह निर्णय हमारे देश के धर्मनिरपेक्ष स्वरूप, कानून का राज और प्रजातंत्र को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। सपा ने कहा कि हमारी सभी से अपील है कि देश में शांति और सौहार्द बनाए रखें। कोई भी समुदाय कोई ऐसा काम न करे जिससे दूसरे की भावनाएं आहत हों। अपने शहर, राज्य और देश का सांप्रदायिक माहौल खुशहाल रखें।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

अर्थव्यवस्था डुबोने वालों को ही केन्द्र सरकार ने दिया आर्थिक पैकेज: अखिलेश यादव

Published

on

सपा मुखिया ने भाजपा सरकारों पर बोला हमला

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा है कि केन्द्र सरकार ने आर्थिक पैकेज उन्हीं लोगों को दिया है, जिन्होंने देश की अर्थव्यवस्था को डुबोया है। इस पैकेज से मजदूरों, किसानों और गरीबों को क्या मिला? गरीब, मजदूर भूखे मर रहे है। किसान आत्महत्या करने पर विवश है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, भाजपा सरकार में पिछले 6 सालों में अर्थव्यवस्था को पहले ही बर्बाद कर दिया था। कोविड-19 के बाद अर्थव्यवस्था फ्रीफाल की स्थिति में है। सभी कारोबार में भीषण मंदी है।

अखिलेश ने कहा, सरकार आत्मनिर्भर होने की बात करती है। लेकिन आत्मनिर्भर होने का क्या रास्ता है, यह नहीं बताती। डिफेंस कॉरिडोर के नाम पर किसानों की हजारों हजार एकड़ जमीन पर कब्जा किया जा रहा है। यह सब उद्योगपतियों को दी जाएंगी। कोविड-19 के संक्रमण रोकने में सरकार को जितनी जिम्मेदारी से कदम उठाने चाहिए थे, वैसा नहीं किया। अखिलेश ने कहा कि यह सरकार विपक्षी सुझाव नहीं सुनती। भाजपा सरकार शुरुआत से ही इस महामारी का राजनीतिक लाभ लेना चाहती थी। पहले ताली और थाली बजवाया। जब परिस्थितियां विस्फोटक हो गई तब आनन-फानन में लाॅकडाउन कर दिया।

यह भी पढ़ें-लखनऊ को मिलेगी जाम से राहत, सेतु निर्माण में तेजी लाने के निर्देश

सरकार ने गरीबों और मजदूरों के बारे में सोचा ही नहीं। सरकार को गरीबों और मजदूरों तथा कामगारों को एक सप्ताह का समय देना चाहिए था। लेकिन सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। गरीबों और मजदूरों का सब्र टूट गया। उनके पास खाने जीने को कुछ भी नहीं रह गया। वे अपने घरों के लिए साइकिल से पैदल, ऑटो से जैसे भी हो सकता था, निकल पड़े। सरकार ने कोई इंतजाम नहीं किया। कईयों की भूख प्यास से रास्ते में ही मौत हो गई। इस सब के लिए केंद्र और उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार जिम्मेदार है। अखिलेश ने कहा, गरीबों और मजदूरों की हालत देखकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें खाना खिलाया, पानी पिलाया और उनकी भरपूर मदद की। लेकिन सरकार के पास इतने बड़े साधन- संसाधन होने के बाद भी कोई मदद नहीं पहुंचाई। मुख्यमंत्री जी सिर्फ अपने टीम-इलेवन की बात सुनते हैं।

गरीबों के प्रति भाजपा संवेदनहीन

भाजपा सरकार गरीबों के प्रति संवेदनहीन है। मजदूर पैदल चलते-चलते सड़कों पर मर गया। ट्रेनों में भूख प्यास से मौत हो गई। बस्ती का एक मजदूर ट्रेन के शौचालय में मृत अवस्था में कई दिन पड़ा रहा। कोई पूछने वाला ही नहीं और ना कोई मदद सरकार ने की। सपा ने उसके परिवार की मदद की। यह सरकार अपनी कामयाबी का डंका विदेशों में बजाती है। लेकिन देश में गरीबों मजदूरों और श्रमिकों की जो हालत हुई। क्या उससे दुनिया में अच्छा संदेश गया होगा?

सपा अकेले ही चुनाव लड़ेगी

अखिलेश ने कहा कि सपा के बड़े नेताओं की राय है कि पार्टी अब किसी भी दल के साथ समझौता नहीं करेगी। अकेले चुनाव लड़ेगी। लेकिन भाजपा राजनीतिक साजिश और षड्यंत्र करती रहती है, अफवाहें फैलाती रहती है। इससे जनता को सावधान रहना पड़ेगा। यूपी ने देश को प्रधानमंत्री दिया। भाजपा की सरकार ने 3 एमओयू किए हैं। लेकिन क्या सरकार बताएगी किस उद्योगपति ने निवेश किया। और उद्योगपति को किस बैंक ने कितना लोन दिया है। मुख्यमंत्री जी जितने निवेश की बात कर रहे हैं अगर उतना हुआ होता तो अब तक उत्तर प्रदेश में करोड़ों लोगों को नौकरियां मिल चुकी होती।

स्किल डेवलपमेंट की पुरानी योजना

आज हालत यह है कि पुराने उद्योग धंधे डूब रहे हैं। तीन साल की भाजपा सरकार में एक भी नया कारखाना नहीं लगा। अब सरकार श्रमिकों को भ्रमित करने के लिए नया आयोग की बात कर रही हैं। जबकि यूपी के पास इसके लिए पुराना विभाग है। स्किल डेवलपमेंट की पुरानी योजना है। स्किल डेवलपमेंट में कम्पनियों को इंपैनल किया जाता था। सरकार को बताना चाहिए कि इनके कार्यकाल में कितनी कम्पनियां इंपैनल्ड हुई। देश की राजनीति की दिशा उत्तर प्रदेश से निकलती है। उत्तर प्रदेश की जनता भाजपा से बहुत नाराज हैं। भाजपा सरकार ने जनता को समाज को हर बार को धोखा दिया है।

समाजवादी लोग डरने वाले नहीं हैं

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, सपा का पूरा फोकस उत्तर प्रदेश पर है। हम संगठन को मजबूत करते हुए जमीन पर कार्य कर रहे हैं। हमारा कार्यकर्ता गरीबों, मजदूरों किसानों के बीच रहकर उनकी मदद कर रहा है। हमारा मुख्य लक्ष्य उत्तर प्रदेश कुशासन का पर्याय बन चुकी भाजपा सरकार को हटाना। जब देश की राजनीति का सवाल आएगा तो सपा फैसला लेगी। इस बीमारी के खिलाफ लड़ाई को लेकर समाजवादी पार्टी लगातार सरकार के सामने अपनी बात रख रही है। पार्टी के कार्यकर्ता लोगों के बीच रहकर मदद कर रहे हैं। लेकिन यह सरकार बात तो मानती नहीं। गरीबों की मदद करने पर सपा कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज करा दिया। लेकिन समाजवादी लोग इससे डरने वाले नहीं हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

प्रयागराज एयरपोर्ट पर यात्रियों को उपलब्ध कराएं बस सेवा: नागरिक उड्डयन मंत्री

Published

on

नंद गोपाल गुप्ता ’नंदी’ ने हवाई सेवाओं को लेकर अधिकारियों के साथ की बैठक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ने निर्देश दिया है कि सभी एयरपोर्ट पर आने वाले यात्रियों की जांच में कोई लापरवाही न बरती जाए। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सभी सावधानियां बरती जाएं। अधिकारी यह भी सुनिश्चित करें कि लखनऊ एयरपोर्ट पर बारिश के मौसम में जलभराव ना हो। मंत्री ने निदेशक उड्डयन को एयर लाइंस अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक कराने का भी निर्देश दिया।

नागरिक उड्डयन मंत्री ने यह निर्देश सोमवार को राजकीय उड्डयन मुख्यालय अमौसी एयरपोर्ट पर विभागीय समीक्षा बैठक में दिए। नंदी ने निदेशक उड्डयन को यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों से बात कर प्रयागराज एयरपोर्ट पर बस चलाने का भी निर्देश दिया। बता दें कि प्रयागराज एयरपोर्ट तक पहुंचने या वहां से कहीं अन्य गंतव्य तक जाने के लिए अभी तक बस सेवा नहीं उपलब्ध हो पाई है।

जिससे यात्रियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।समीक्षा बैठक में एयरपोर्ट के प्रथम एवं द्वितीय चरण के विकास कार्यक्रम के अंतर्गत एयरपोर्ट प्रयागराज, हिंडन एयरपोर्ट गाजियाबाद, बरेली कानपुर नगर, आगरा एयरपोर्ट तथा अलीगढ़, आजमगढ़, श्रावस्ती, मुरादाबाद, चित्रकूट, सोनभद्र वह झांसी हवाई पट्टी की समीक्षा की।

यह भी पढ़ें-भाजपा लखनऊ महानगर की वर्चुअल मीटिंग को प्रदेश अध्यक्ष ने किया सम्बोधित

उन्होंने तृतीय चरण के अंतर्गत अयोध्या, कुशीनगर, सरसावा, गाजीपुर व मेरठ एयरपोर्ट के विकास कार्यों की भी समीक्षा की। समीक्षा बैठक में पायलटों की उड़ान ड्यूटी के लिए रोस्टर बनाए जाने को लेकर भी सहमति बनी। पायलटों को राजकीय वायुयानों की चार्टर सेवाओं, एयर एंबुलेंस सेवाओं तथा प्रदेश सरकार व अन्य राज्य सरकारों के इन्फ्राट्रक्चर की पूलिंग की संभावनाओं की स्टडी कर रिपोर्ट तैयार करने के लिए निर्देशित किया। समीक्षा बैठक में निदेशक उड्डयन सुरेन्द्र सिंह एवं अन्य विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

यूपीः पिछले 24 घंटे में कोरोना के 373 नए मामले, 217 की अबतक मौत

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोराना संकट के बीच प्रदेश प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने सोमवार को बताया कि अब तक प्रदेश में कोरोना वायरस के 4891 मामले पूरी तरह ठीक होने के बाद घर जा चुके हैं और 217 लोगों की अब तक मृत्यु हुई है। हमारा रिकवरी रेट 59.71 प्रतिशत है।

यह भी पढ़ें:- लखनऊ: चारबाग रेलवे स्टेशन बना कोरोना का गढ़, 8 GRP व 1 RPF जवान संक्रमित

उन्होंने बताया कि कल 5-5 सैंपल के 847 पूल लगाए गए। जिसमें से 100 पूल में पॉजिटिविटी पाई गई है। 10-10 सैंपल वाले 111 पूल लगाए गए। जिसमें से 20 पूल में पॉजिटिविटी पाई गई है। साथ उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटे में प्रदेश में संक्रमण के 373 नए मामले आए हैं। वहीं प्रदेश में 3083 मामले सक्रिय है। रविवार को 8642 सैंपल की जांच की गई है। टेस्टिंग को लगातार बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। आइसोलेशन वार्ड में इस समय 3141 मरीज हैं। इनमें से 60 मरीज इस समय ऑक्सीजन पर हैं और 4 मरीज वेंटिलेटर पर हैं। फैसिलिटी क्वारंटाइन में 8472 लोगों को रखा गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 2, 2020, 10:22 am
Mostly cloudy
Mostly cloudy
31°C
real feel: 38°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 70%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 4
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:27 pm
 

Recent Posts

Trending