Connect with us

प्रदेश

यूपी में दस आईपीएस अफसरों का तबादला, 7 जिलों के पुलिस कप्तान भी बदले गए

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए योगी सरकार ने रविवार देर रात 10 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए। यह सूबे के सीएम ने लगातार चौथे दिन बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है। जिसमें महाराजगंज, गोंडा, बरेली, श्रावस्ती, जौनपुर समेत सात जिलों के पुलिस अधीक्षक (एसपी) बदले गए हैं। रोहित सिंह सजवान को अब बरेली का एसएसपी बनाया गया है।

इसके अलावा प्रदीप गुप्ता को एसपी महाराजगंज, अरविंद कुमार मौर्या को एसपी श्रावस्ती, अनूप कुमार सिंह को सेनानायक पीएसी-मुरादाबाद, अशोक कुमार तृतीय को एसपी ईओडब्लू, घुले सुशील चंद्रभान को एसपी मऊ बनाया गया है। उधर मनोज कुमार सोनकर को एसपी कासगंज, कुंवर अनुपम सिंह को एसपी सतर्कता अधिष्ठान बनाया गया है। एसपी गोंडा राजकरन नय्यर अब पुलिस अधीक्षक जौनपुर हैं। एसएसपी बरेली रहे शैलेष कुमार पांडेय अब पुलिस अधीक्षक गोंडा हैं।अशोक कुमार लखनऊ के एसपी EOW में तैनात किए गए। घुले सुशील चंद्रभान एसपी मऊ है।मनोज कुमार सोनकर एसपी कासगंज है।

इसे भी पढ़ें-UP में बीते 24 घंटे में 6239 पॉजिटिव केस, 80 लोगों की मौत, आंकड़ा पहुंचा 3 लाख के पार

तीन दिन पहले ही योगी सरकार ने 13 आईपीएस अधिकारियों का तबादला किया था। आठ जिलों के पुलिस कप्तान को बदल दिया गया था। इसमें रायबरेली, हरदोई, कानपुर देहात, हमीरपुर, उन्नाव, सिद्धार्थ नगर, खीरी और कुशीनगर शामिल थे। जिसक बाद शनिवार को भी 6 आईएएस अफसरों का तबादला किया गया था। योगी सरकार ने 2 आईपीएस अफसरों को निलंबित कर दिया था। 8 सितंबर को प्रयागराज के एसएसपी अभिषेक दीक्षित के बाद 9 सितंबर को महोबा के एसपी मणिलाल पाटीदार को भी सस्पेंड कर दिया गया था।

इसी कड़ी में योगी सरकार ने शनिवार देर रात बांदा और कौशांबी के डीएम को हटाकर इन पदों पर नए अधिकारियों की तैनाती कर दी। आईएएस राजेश पांडे का डीएम मऊ के पद पर तबादला निरस्त करते हुए उन्हें प्रतीक्षारत कर दिया गया। अमित सिंह बंसल जिलाधिकारी बांदा से जिलाधिकारी मऊ बनाए गए हैं। शुक्रवार को मऊ के डीएम बनाए गए राजेश पांडे का तबादला निरस्त कर उन्हें वेटिंग में डाल दिया गया है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

समाज की बहन-बेटियाँ प्रदेश में सुरक्षित नहीं, जो अति-शर्मनाक और निन्दनीय- मायावती

Published

on

लखनऊ। हाथरस में 19 वर्ष की दलित युवती के साथ दुष्कर्म के बाद उसकी जीभ काटने के मामले पर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था को लेकर सरकार पर तंज कसा है। सोशल मीडिया पर बेहद एक्टिव बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने हाथरस में 19 वर्ष की दलित युवती से साथ दुष्कर्म को बेहद ही शर्मनाक बताया है।

मायावती ने मंगलावार को ट्वीट करके कहा कि यूपी के हाथरस में गैंगरेप के बाद दलित पीड़िता की आज हुई मौत की खबर अति-दुःखद। सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव सहायता करे व फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर अपराधियों को जल्द सजा सुनिश्चित करे, बीएसपी की यह माँग।

इसे भी पढ़ें- रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी: 1 अक्टूबर से 4 जोड़ी नई पैसेंजर ट्रेनें चलेंगी, देखें शिड्यूल

ये है पूरा मामला

बता दें, कि हाथरस में एक दलित युवती के साथ दरिंदगी का मामला सामने आया है। यहां एक 19 वर्ष की लड़की के साथ आरोपियों ने पहले तो दुष्कर्म किया और उसके साथ मारपीट कर रीढ़ की हड्डी तोड़ दी, इतने से भी हैवानों का मन नहीं भरा तो उन्होंने पीड़ित लड़की की जीभ भी काट दी। पीडि़त लड़की अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है।

हाथरस के एसपी विक्रांत वीर ने बताया कि 11 दिन पहले कुछ हैवानों ने 19 वर्ष की दलित लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। उसके बाद उसे अधमरी हालत में सड़क पर छोड़ दिया। पीड़ित लड़की का इलाज अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज में चल रहा है, फिलहाल वह वेंटिलेटर पर है, उसकी गर्दन पर गंभीर चोट है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

हाथरस: गैंगरेप की शिकार गुड़िया हारी जिंदगी की जंग, दिल्ली में इलाज के दौरान मौत

Published

on

हाथरस। सामूहिक दुष्कर्म के बाद 19 वर्षीय युवती के साथ अमानवीय कृत्य से हाथरस शर्मसार है। इस घटना को निर्भया पार्ट-2 का नाम दिया गया है। हाथरस में 14 सितंबर को सामूहिक दुष्कर्म के बाद अमानवीय कृत्य झेलने वाली पीड़िता का संघर्ष मंगलवार को नई दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में समाप्त हो गया। हाथरस की गुड़िया के साथ इस कृत्य के बाद मानवता शर्मसार है। सामूहिक दुष्कर्म के बाद दलित गुड़िया की जुबान काटी गई और भयानक जख्म दिए गए थे। इस मामले में पीड़िता के बयान के बाद चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 14 सितंबर के इस कांड के बाद पुलिस को सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज करने में आठ दिन लगे। अगर पीड़िता का बयान सामने ना आता तो पुलिस दरिंदो को बचाती रहती। पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर ने पीड़िता की मौत की पुष्टि की है। सोमवार को हालत बेहद गंभीर होने पर उसे अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया था। जहां इलाज के दौरान पीड़िता की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी: 1 अक्टूबर से 4 जोड़ी नई पैसेंजर ट्रेनें चलेंगी, देखें शिड्यूल

हाथरस में 14 सितंबर को एक 19 वर्ष की युवती के साथ उसके गांव के ही रहने वाले चार दबंग युवकों ने दुष्कर्म किया था और वह कुछ किसी को बता न पाए इसके लिए उसकी जीभ काट दी थी। इसके बाद से पीडि़ता जिंदगी-मौत से संघर्ष कर रही है। इस दौरान उसका जेएन मेडिकल कॉलेज, अलीगढ़ के आईसीयू वार्ड में इलाज चल रहा था। इसके बाद उसको सोमवार को दिल्ली सफदरजंग हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया। अलीगढ़ में पीड़िता की हालत में यहां कोई सुधार नही दिख रहा था। जवाहर लाल नहरू मेडिकल कालेज अस्पताल के अधीक्षक डा हारिस मंजूर खान ने बताया कि पीड़िता की हालत अब भी गंभीर बनी थी वह जीवन रक्षक प्रणाली (वेंटीलेटर) पर थी। उसके परिवार के लोगों ने उसका इलाज दिल्ली में कराने की इच्छा जतायी तो इसके बाद उसे सोमवार की सुबह दिल्ली एम्स में भेज दिया गया।

पीड़िताके भाई ने 14 सितंबर को थाना चन्दपा में लिखित सूचना दी कि संदीप पुत्र गुड्डु निवासी थाना चंदपा जनपद हाथरस ने आकर गला दबाकर पीड़िता की हत्या करने की कोशिश की। इसके बाद संदीप पुत्र गुड्डू उपरोक्त के विरुद्ध पंजीकृत किया गया था। विवेचना के क्रम में पीड़िता के बयान के आधार पर तीन अन्य लोग प्रकाश में आये। इसके बाद सभी नामजद की गिरफ्तारी की गई।http://satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी: 1 अक्टूबर से 4 जोड़ी नई पैसेंजर ट्रेनें चलेंगी, देखें शिड्यूल

Published

on

लखनऊ। कोरोना संक्रमण काल के कारण लॉकडाउन के दौरान लगाई गई बंदिशें लगातार हटने के बाद अब उत्तर पश्चिम रेलवे ने पैसेंजर ट्रेनों नई पैसेंजर ट्रेनों की घोषणा की है। उत्तर पश्चिम रेलवे अपने चारों मंडल (अजमेर, जयपुर, जोधपुर और बीकानेर) में पैसेंजर ट्रेनों के संचालन की संख्या में इजाफा कर रहा है।

नई ट्रेनें शुरू होने के साथ ही NWR के चारों मंडल पर चहल पहल बढ़ने लगी है। कोरोना काल से पहले सिर्फ जयपुर जंक्शन से एक दिन में 100 से ज्यादा ट्रेनें गुजरती थी लेकिन अब ये आंकड़ा बेहद कम हो गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे ट्रेनों की संख्या में इजाफा होने के साथ रेलवे से जुड़े कामगारों ने भी राहत की सांस ली है। उम्मीद की जा रही है आने वाले समय में NWR से ट्रेनों की संख्या और बढ़ाई जाएगी।

इस कड़ी में अब NWR 1 अक्टूबर से 4 जोड़ी नई पैसेंजर ट्रेनें शुरू करने जा रहा है। इससे अप-डाउन मिलाकर 8 नई ट्रेनों की शुरुआत होगी। नई पैसेंजर ट्रेनों के चलने के बाद जयपुर जंक्शन से चलने वाली ट्रेनों की संख्या 11 तक पहुंच जाएगी। NWR लॉकडाउन से लेकर अब तक कुल 23 पैसेंजर ट्रेनों का संचालन शुरू कर चुका है। पहले जहां शुरुआत में जयपुर से एक ही ट्रेन चल रही थी। वहीं अब 11 ट्रेनें जयपुर से शुरू हो चुकी हैं। इनमें से अधिकांश वाया जयपुर होकर गुजर रही हैं।

इसे भी पढ़ें- कृषि बिल सहित कई मुद्दों को लेकर सड़क पर उतरे प्रसपा, लाठीचार्ज हुई गिरफ्तारी

1 अक्टूबर से इन नई ट्रेनों का संचालन शुरू जा रहा है। ट्रेन संख्या 02991 उदयपुर-जयपुर सुबह 6 बजे रवाना होगी। ट्रेन संख्या 02992 जयपुर-उदयपुर दोपहर 2 बजे रवाना होगी। ट्रेन संख्या 09609 उदयपुर-हरिद्वार सोम, गुरु और शनिवार को चलेगी। यह ट्रेन 1 अक्टूबर से उदयपुर से दोपहर 1.05 बजे रवाना होगी। ट्रेन संख्या 09610 हरिद्वार-उदयपुर मंगल, शुक्र और रविवार को चलेगी।

यह हरिद्वार से 1 अक्टूबर से शाम 7.40 बजे रवाना होगी।ट्रेन संख्या 02996 अजमेर-बांद्रा टर्मिनस मंगल, गुरु और शनिवार को चलेगी। यह ट्रेन 1 अक्टूबर से अजमेर से शाम 8.30 बजे रवाना होगी। ट्रेन संख्या 02995 बांद्रा टर्मिनस-अजमेर बुध, शुक्र और रविवार को चलेगी। यह 2 अक्टूबर से बांद्रा टर्मिनस से शाम 4.15 बजे रवाना होगी। ट्रेन संख्या 02901 बांद्रा टर्मिनस-उदयपुर 1 अक्टूबर से चलेगी। यह बांद्रा टर्मिनस से मंगल, गुरु और शनिवार को चलेगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 29, 2020, 11:33 am
Hazy sunshine
Hazy sunshine
32°C
real feel: 39°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 70%
wind speed: 3 m/s NNW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 5:28 am
sunset: 5:25 pm
 

Recent Posts

Trending