Connect with us

प्रदेश

योगी सरकार को बर्खास्त करने की मांग करने वाला कांस्टेबल खुद हो गया बर्खास्त

Published

on

इटावा। कानून व्यवस्था अथवा किसी अन्य ऐसी बड़ी घटना जिसके पीछे सरकार की विफलता हो, तो सरकार की बर्खास्तगी की मांग करना विपक्ष का काम है। लेकिन किसी सरकारी कर्मचारी या सुरक्षा बलों में तैनात जवान ऐसी मांग करता है तो उसे अपनी नौकरी भी गंवानी पड़ सकती है।
ऐसी ही एक मामला इटावा से सामने आया है। पीएसी के कांस्टेबल को योगी आदित्यनाथ सरकार को बर्खास्त करने की मांग भारी पड़ गयी। इस मांग की कीमत उसे अपनी नौकरी की कुर्बानी देकर चुकानी पड़ीं। कांस्टेबल मुनीश यादव शनिवार को अपनी वर्दी के साथ समाजवादी पार्टी की लाल टोपी पहनकर जिला कलेक्ट्रेटएक तख्ती लेकर गए पहुंच गए जिस पर लिखा था, योगी सरकार को बर्खास्त करो। मुनीश यादव ने मीडिया से कहा कि राज्य सरकार को बर्खास्त कर दिया जाना चाहिए क्योंकि यह कानून और व्यवस्था कायम रखने में विफल रही है। उन्होंने कहा कि वह जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को इस संबंध में ज्ञापन देने आए थे। जिलाधिकारी जे.बी. सिंह ने कहा कि कांस्टेबल उनसे नहीं मिला, लेकिन उन्होंने मीडियाकर्मियों से घटना के बारे में सुना है। वर्तमान में इटावा के रहने वाले मुनीश यादव नोएडा में तैनात हैं।

यह भी पढ़ें-पुलिस ने 50 किलो गांजा और दो गाड़ियों के साथ आरोपियों को किया गिरफ्तार….

पुलिस महानिदेशक ओ.पी.सिंह ने घटना का संज्ञान लिया है और घोर अनुशासनहीनता के आरोप में मुनीश यादव की बर्खास्तगी के आदेश जारी किए हैं। मुनीश यादव के परिवार के सदस्यों ने निवेदन किया कि वह मानसिक रूप से परेशान है इसलिए यह घटना हुई। फिलहाल इसकी इटावा जिला स्तर पर कोई भी अधिकारी पुष्टि नहीं कर पाया है। उधर, इस बाबत पूछे जाने पर डीएम जेबी सिंह ने बताया कि सिपाही मुझसे नहीं मिला। चर्चा में मैने भी सुना है। कलक्ट्रेट परिसर में घूमने की जानकारी मीडिया कर्मियों ने मुझे भी दी थी।

प्रदेश

लखनऊ : बेखौफ बदमाशों ने घर में घुसकर महिला को मारी गोली

Published

on

लखनऊ। राजधानी में अपराध ग्राफ चरम पर है जिससे आये दिन बेखौफ बदमाश किसी न किसी वारदात से पुलिस के ईकबाल को चुनौती देते नजर आ रहे हैं। हाल में ही देश के टॉप थ्री थानों में शुमार गुडंबा थाने के तत्कालीन थाना प्रभारी रवींद्र नाथ राय को एसएसपी कलानिधि नैथानी ने औचक निरीक्षण के दौरान लाइन हाजिर कर दिया था। इसके बाद कमान नए इंस्पेक्टर के हाथों में सौंपी गई थी। शुक्रवार रात नए इंस्पेक्टर को बदमाशों ने फिर चुनौती देते हुए सनसनीखेज हत्याकांड को अंजाम दिया। गुडंबा थाना क्षेत्र में शुक्रवार रात 43 वर्षीय महिला की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के गढ़ी निवासी प्रेमा देवी (43) परिवार संग रहती थी। शुक्रवार रात लगभग 10:30 बजे अज्ञात शख्स द्वारा प्रेमा को गोली मार दी गई। दरवाजा खोलते ही अज्ञात शख्स ने प्रेमा के सर पर गोली मार दी। घायल अवस्था मे प्रेमा को ट्रामा पहुंचाया गया जहां उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी पाकर गुडंबा पुलिस व एसएसपी कलानिधि नैथानी मौके पर पहुंचे। फिलहाल एसएसपी कलानिधि नैथानी की मौजूदगी में पुलिस टीम मामले की तफ्तीश में जुटी है व शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

घटना के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई। घटनास्थल पर लोगो का भारी हुजूम इकट्ठा हो गया। दबे शब्दों में स्थानीय लोगो द्वारा हत्या के पीछे मृतका के करीबी के होने की आशंका जताई गई है। सूत्रीय जानकारी के मुताबिक मृतका प्रेमा के पति प्रेमशंकर की भी 5 वर्ष पूर्व इसी तर्ज पर हत्या हुई थी। हालांकि इंस्पेक्टर गुडंबा इस बात से इनकार कर रहे है। फिलहाल पुलिस हर बिंदु पर मामले की पड़ताल करने की बात कर रही है।

Continue Reading

देश

खुलेआम घूम रहे बलात्कारियों को मिलनी चाहिए सजा : अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज

Published

on

लखनऊ। अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज,वर्तिका सिंह पूर्व राष्ट्रपति स्वर्ण पदक से सम्मानित व दिल्ली विश्वविद्यालय के इन्द्रप्रस्थ कॉलेज की पूर्व छात्राध्यक्ष ने आज लखनऊ के एक होटल में प्रेस वार्ता कर महिलाओं के सशक्तिकरण शोषण, देश में महिलाओं के साथ आये दिन हो रहे बलात्कार जैसे मुद्दे पर बोलते हुए सरकार से सात सूत्री मांगों को पूरा करने का आग्रह किया ।

उन्होनें कहा कि जो बलात्कारी सरेआम घूम रहा अगर उनपर सरकार कोई कार्यवाई न कर पाए तो हमें बताए । मैं एक अंतर्राष्ट्रीय शूटर हूं बलात्कारियों को मैं खुद शूट कर सकती हूं ।
एक अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज हूं और देश के नागरिक होने के नाते मेरा यह कर्तव्य है कि अगर किसी लड़की के साथ इस प्रकार का कुकृत्य सामने आता है तो उसको इंसाफ दिलाने के लिए आवाज बुलंद करूं। बलात्कारियों को खुलेआम सजा मिलनी चाहिए, ताकि जनता में यह संदेश पहुंच सके कि यदि ऐसा कोई भी अपराध किया तो हश्र बुरा होगा।

महिलाओं को इतना सशक्त बनाने का प्रावधान किया जाए कि किसी भी प्रकार की विषम परिस्थितियों में एक महिला किसी से भी निपट सके। सिर्फ “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” का नारा देने से काम नहीं चलेगा बेटियां तभी बचेगी जब उनको आरक्षण से सशक्तिकरण की तरफ ले जाया जाएगा।

न्याय मिलने में इतना समय क्यों? ज्यादा समय देकर अपराधी को सबूत मिटाने का अवसर मिल जाता है। अपराधियों को अधिकतम 3 महीने के अंदर सजा देने का प्रावधान किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: समान कार्य-समान वेतन समेत 12 सूत्रीय समस्याओं को लेकर विद्धुत संविदा कर्मियों का धरना-प्रदर्शन

महिला हेल्पलाइन नंबर 1090 और पुलिस हेल्पलाइन नंबर 100 को सीधा सरकार अपनी निगरानी में कर ले क्योंकि अधिकतर मामलों में 1090 या डायल 100 की तरफ से समुचित रूप से मदद नहीं मिल पाती। इसीलिए अपराधी और भी बेखौफ और बेलगाम हो चुके हैं। हर जिले में शूटिंग रेंज होनी चाहिए। मैंने उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को इसके पूर्व भी इस बाबत एक पत्र लिखा है जिससे पुनः उनको अवगत कराना है।

हमें लगता है कि सरकार की तरफ से कोई न कोई त्वरित कार्यवाही देखने को मिलेगी ताकि भविष्य में लड़कियों के साथ हो रहे घिनौने कुकृत्य को रोकने में सहायता मिल सके।http://WWW.SATYODA.COM

Continue Reading

अपना शहर

समान कार्य-समान वेतन समेत 12 सूत्रीय समस्याओं को लेकर विद्धुत संविदा कर्मियों का धरना-प्रदर्शन

Published

on

Uppcl

लखनऊ । उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन निविदा संविदा संघ के बैनर तले प्रदेश भर से एकत्र हुए विद्युत विभाग में कार्यरत आउटसोर्सिंग संविदा कर्मियों ने हाइकोर्ट द्वारा आदेशित समान कार्य समान वेतन समेत 12 सूत्रीय समस्याओ को लेकर आलमबाग के इको गार्डन पार्क में धरना-प्रदर्शन किया । गुरुवार को कड़ी धूप में सैकड़ो की संख्या में संविदा कर्मियों ने पावर कार्पोरेशन के प्रबंधन के खिलाफ हल्ला बोला ।

धरने का नेतृत्व कर रहे संघ के महामंत्री देवेन्द्र कुमार पांडेय ने बताया कि आउटसोर्सिंग के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों को आधा अधुरा वेतन, ईपीएफ और ईएसआई में घोटाला, अधिकारियों द्वारा सौतेला व्यवहार बिना सुरक्षा उपकरण के दबाव बनाकर कार्य कराने से आये दिन होने वाली दुर्घटनाओं में मृत्यु-अपंग समेत कई समस्याओं के समाधान के लिए अध्यक्ष कारपोरेशन से वार्ता के लिए पत्र भेजा था पर उस पर कोई निर्णय नही लिया गया ।

संविदा कर्मियों के समर्थन में सांसद मोहनलालगंज ने भी प्रस्तावित पत्र भेजा था लेकिन उसमें भी कोई रुचि नही दिखाया गया । इस कारण हम सभी संविदा कर्मी आंदोलन करने को मजबुर हैं । वहीं संघ के प्रदेश अध्यक्ष मो. खालिद ने बताया कि प्रबंधन या सरकार कोई कदम नही उठाती है तो संविदा कर्मी-क्रमिक अनशन करने को मजबूर हो गए हैं । उन्होंने कहा कि रात हो या दिन, बरसात के मौसम हो या तेज धूप संविदा कर्मी हमेशा उपभोक्ताओं को 24 घण्टे बिजली देने के लिए तैयार रहता है, हां उसे बस किसी इंजीनियर के कहने भर का इंतजार होता है । जबकी संविदा कर्मी कार्य करते समय कोई घटना हो जायें तो इंजीनियर का कहना होता है कि वह प्राइवेट कार्य करने गया था ।

यहां तक की दुर्घटना के बाद भी संविदा कर्मी का सही इलाज तक नही हो पाता है । धरना स्थल पर संतोष कुमार फतेहपुर के बिन्दकी सब स्टेशन पर संविदा नौकरी कर रहा था, बीते वर्ष बिजली का कार्य करते समय संतोष का दुर्घटना में पैर और हाथ झुलस गया था । जिसे कुछ दिन तक अधिशासी अभियंता ने इलाज कराया फिर कुछ दिन बाद उसे नौकरी से निकाल दिया गया । धरना स्थल पर संतोष अपनी पत्नी के साथ आया था और अधिकारियों से अपनी गुहार लगा रहा था कि 16 वर्ष विभाग में नौकरी करने के बाद अब कटा हुआ हाथ लेकर किससे नौकरी मांगू । इतना कहते ही धरना स्थल पर मौजूद लोगों की आखो में आशू आ गया ।

यह भी पढ़ें: कल्बे जव्वाद ने सरकार को लिया आड़े हाथ, कहा- पहले करवाती थी एनकाउंटर अब करा रही है मॉब लिंचिंग

प्रदेश महामंत्री देवेंद्र कुमार पाण्डेय ने बताया कि तमाम आश्वासन के बाद भी संविदा कर्मियों को शोषण जारी है । संविदा कर्मियों को समय से वेतन मिलना दूर, कई कई माह से वेतन नहीं दिया जा रहा है, ईपीएफ व ईएसआई के मद्द में करोड़ों का घोटाला किया जा रहा है । यही नहीं संविदा कर्मियों से सौतेला व्यवहार बिजली विभाग में किया जा रहा है ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 29, 2019, 10:01 am
Partly sunny
Partly sunny
36°C
real feel: 42°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 41%
wind speed: 1 m/s WNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 8
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending