Connect with us

प्रदेश

झुलसे हुए युवक की मौत, पुलिस ने खारिज किए परिजनों के आरोप…

Published

on

प्रतिकात्मक चित्र

वाराणसी के एक अस्पताल में आग में झुलसे खालिद नाम के किशोर की मंगलवार को इलाज के दौरान मौत हो गई। उसे झुलसी हुई हालत में अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। वहीं, इस मामले में खालिद के परिवार वालो ने आरोप लगाया था कि घर से टहलने के लिए निकले खालिद को चार नकाबपोश युवकों ने कैरोसिन तेल डालकर जिंदा जला दिया था। यूपी पुलिस ने खालिद के परिजनों के आरोपों को खारिज कर दिया है।

चंदौली के पुलिस अधीक्षक ने दावा किया कि एक प्रत्यक्षदर्शी ने किशोर को खुद को आग लगाते हुए देखा था। उन्होंने कहा कि नाबालिग पीड़ित ने दो अलग-अलग बयान दिए थे। पहले खालिद ने कहा था कि वह महाराजपुर गांव गया था, वहां चार लोग उसे एक खेत में ले गए और आग के हवाले कर दिया।

यह पढ़े- बकरी चोरी के आरोप में भीड़ ने युवक को जमकर पीटा…

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि खालिद ने बाद में अपना बयान बदला और पुलिस को बताया कि मोटरसाइकिल सवार चार लोगों ने उसका अपहरण किया और उसे हटेजा गांव ले गए। पुलिस ने कहा कि महाराजपुर और हटेजा गांव दोनों ही अलग-अलग दिशाओं में पड़ते हैं। www.satyodaya.com

प्रदेश

रेजांगला के वीर शहीदों को याद करते हुए अखिलेश यादव ने दी श्रद्धांजलि

Published

on

लखनऊ। 18 नवम्बर 1962 में लद्दाख में चीनी आक्रमण के समय भारतीय सैनिकों की वीरता और बलिदान को याद करते हुए समाजवादी पार्टी के राष्टीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी है। सपा मुखिया ने कहा कि आज भारत के उन वीर शहीदों को याद करने और नमर करने का दिन है, जिन्होंने 1962 में चीन की विशाल सेना से अंतिम सांस तक लड.ते हुए अपना प्राण न्यौछावर कर दिए थे। इतिहास में रेजांगला नाम से दर्ज यह घटना हमेशा भारत के उन 114 वीर शहीदों के शौर्य और बलिदान के लिए याद की जाएगी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, इस शौर्य दिवस पर वीर नायक मानद कैप्टन रामसिंह यादव भी याद आते हैं। इन सभी शहीदों को हार्दिक नमन।

बता दें कि 1962 में 18 नवंबर के दिन ही चीनी सैनिकों ने दक्षिण लद्दाख के रेजांगला में ठण्ड, अंधेरा और बर्फबारी के बीच अचानक हमला कर दिया था। उस वक्त रेजांगला में भारतीय सेना की 13वीं कुमायूं रेजीमेंट के जवान तैनात थे। रेजांगला के रास्ते लद्दाख की चुशुल घाटी में प्रवेश करने का प्रयास कर रही चीनी सैनिकों की फौज को भारतीय सेना के 120 जवानों ने रोके रखा। मेजर शैतान सिंह की अगुवाई में इन जवानों ने अंतिम सांस तक लड़ते हुए चीनी सेना के 1300 जवानों को मौत के घाट उतार दिया। एक-एक भारतीय जवान ने 10-10 चीनी सैनिकों का मुकाबला किया। कुमांयू रेजीमेंट की अहीर कम्पनी के 120 जवानों ने गोला बारूद खत्म होने पर चाकू-छूरे, पत्थर से भी ये लड़ाई लड़ी। इसमें 114 सैनिकों की शहादत हुई।

यह भी पढ़ें-भाजपा विधायक पर आशियाना में जमीन हड़पने का आरोप…

अखिलेश यादव ने कहा, 54 वर्ष पूर्व के अदम्य साहस की रेजांगला गाथा में भारतीय सैनिकों के शौर्य की चीनियों ने भी प्रशंसा की थी। युद्ध के 3 महीने बाद जब शहीद सैनिकों के पार्थिव शरीर मिले तब कई मृत सैनिकों की उंगलियां ट्रिगर पर थी। वे अंतिम सांस तक लड़ते-लड़ते शहीद हुए। उनकी वीरता से लद्दाख चीनी कब्जे में जाने से बच गया। उनकी शहादत को सलाम।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

उन्नाव: पीड़ित किसानों, महिलाओं से सपा के प्रतिनिधि मंडल ने की मुलाकात

Published

on

लखनऊ। उन्नाव में उचित मुआवजे की मांग कर रहे किसानों पर बर्बर लाठीचार्ज को लेकर विपक्षी दल सरकार पर हमलावर हैं। अखिलेश यादव के निर्देश पर समाजवादी पार्टी का एक जांच दल सोमवार को घटनास्थल पर पहुंचा। समाजवादी जांच दल ने उन्नाव तहसील सदर के गांव कन्हवापुर की पीड़ित किसानों, महिलाओं, बुजुर्गों, बच्चों से बात की और उनको न्याय दिलाने के लिए आश्वस्त किया।

इस जांच दल में नेता प्रतिपक्ष विधान परिषद अहमद हसन, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल के अतिरिक्त एमएलसी सुनील सिंह यादव, पूर्व विधायक उदयराज यादव, मनीषा दीपक, युवा नेता मोहम्मद एबाद एवं पूर्व जिला महासचिव राजेश यादव शामिल थे।

यह भी पढ़ें-बिजली कर्मचारियों की हड़ताल में शामिल नहीं होगा पाॅवर ऑफिसर्स एसोसिएशन

बता दें कि बीत शनिवार को उन्नाव के गंगा ट्रांस सिटी के लिए अधिग्रहीत जमीन का उचित मुआवजा देने की मांग कर रहे किसानों पर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। जिसमें कई किसानों को गंभीर चोटें भी आईं। पुलिस ने किसान नेताओं को गिरफ्तार करने के साथ ही उनके खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमे भी दर्ज किए। किसानों पर लाठीचार्ज को लेकर कांग्रेस भी सरकार पर हमलावर है। वहीं बसपा प्रमुख मायावती ने भी किसानों पर बर्बरता की निंदा की है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

बिजली कर्मचारियों की हड़ताल में शामिल नहीं होगा पाॅवर ऑफिसर्स एसोसिएशन

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पाॅवर कारपोरेशन में करोड़ों रुपए के घोटाले के विरोध में बिजली कर्मचारियों की प्रदेश व्यापी हड़ताल और कार्यबहिष्कार से पाॅवर ऑफिसर्स एसोसिएशन ने खुद को अलग कर लिया है। सोमवार को पाॅवर ऑफिसर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से मुलाकात की। जिसके बाद एसोसिएशन ने विरोध प्रदर्शन से खुद को अलग रखने का ऐलान किया। बिजली कर्मचारियों की 2,268 करोड़ रुपए के पीएफ घोटाले को लेकर कार्यवाहक अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में उप्र पावर ऑफिसर्स एसोशिएसन के एक प्रतिनिधि मण्डल ने श्रीकांत शर्मा से मुलाकात की। एसोसिएशन ने ऊर्जा मंत्री के सामने डीएचएफएल में फंसी बिजली कर्मचारियों के भविष्य निधि की रकम दिलाने के लिए प्रभावी कदम उठाने की मांग की। ताकि बिजली कर्मचारियों और सरकार के बीच का टकराव खत्म हो सके। साथ ऊर्जा निगमों में कामकाज सुचारू रूप से चलता रहे। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने प्रदेश के ऊर्जा मंत्री को एक ज्ञापन भी सौपा।

ऊर्जा मंत्री ने पदाधिकारियों को डीएचएफएल मामले में अब हुई कार्रवाई के बारे में विस्तार से जानकारी दी। यह भी बताया कि जिन कर्मचारियों ने जीपीएफ सीपीएफ से शादी, विवाह या अन्य कार्य के लिए कार्पोरेशन से धनराशि की मांग की है, सभी को भुगतान भी किया जा रहा है। ऊर्जा मंत्री ने आश्वस्त किया कि आगे भी कोई समस्या नहीं आएगी। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि सरकार सभी कर्मचारियों का पैसा वापस करने के लिए हर संभव कदम उठा रही है। ऊर्जा मंत्री के साथ वार्ता के बाद एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने ऐलान किया कि सरकार द्वारा की गयी अब तक की कार्रवाई से हम संतुष्ट हैं। इसलिए सभी सदस्यों ने निर्णय लिया है कि अगले निर्णय तक पावर आफीसर्स एसोसिएशन का कोई भी सदस्य कार्यबहिष्कार या हड़ताल में शामिल नहीं लेगा।

यह भी पढ़ें-संसद के शीतकालीन सत्र में हिस्सा लेने खास कार से पहुंचे प्रकाश जावड़ेकर

ऊर्जा मंत्री से मुलाकात करने वाले प्रतिनिधि मण्डल में उप्र पावर आफिसर्स एसोसिएशन के कार्यवाहक अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा, महासचिव अनिल कुमार, सचिव आरपी केन, संगठन सचिव अजय कुमार, योगेश कुमार, मध्यांचल महासचिव आदर्श कौशल, अवनीश कुमार आदि शामिल रहे। सभी ने एक स्वर में कहा कि आज पूरे प्रदेश में पावर आफीसर्स एसोसिएशन के हजारों सदस्यों ने सभी बिजली कम्पनियों में प्रतिदिन की तरह अपना कार्य किया। एसोसिएशन के सदस्य 19 नवंबर को भी कार्य बहिष्कार/हड़ताल से खुद को अलग रखेंगे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 19, 2019, 2:21 am
Fog
Fog
16°C
real feel: 17°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 87%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:58 am
sunset: 4:45 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending