Connect with us

प्रदेश

पुलिस के हत्थे चढ़ा बुलट चोरों का गैंग, 20 लाख की बाइक उड़ाने का बना रहे थे प्लान

Published

on

चोरों के हौसले

फाइल फोटो

लखनऊ। राजधानी में चोरी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है, पुलिस की सख्ती के बाद भी चोरों के हौसले बुलंद हैं। ऐसे में पुलिस की सुपर 30 टीम ने बुलेट गैंग चोरों का पर्दाफाश किया है। इस गैंग में 4 सदस्य विनय कुमार सिंह उर्फ राजन, साहिल राय, अभिषेक यादव और नुर्शीद आलम शामिल हैं। हालांकि बुलेट गैंग सरगना के 2 आरोपी विकास कुमार उर्फ आनंद कुमार और प्रिंस कुमार अभी भी पुलिस के गिरफ्त से दूर हैं।

ये शातिर चोर लखनऊ और दिल्ली से बुलेट चोरी करके बिहार में इसे अच्छे दामों पर बेचते थे। यही वजह है बिहार में चोरी की गई बुलेट और अन्य बाइकों की डिमांड होती थी। चोरों का ये बुलेट गैंग पीजीआई इलाके में 20 लाख की बाइक उड़ाने की योजना बना रहे थे। बता दें की ये शातिर गैंग के पास से गिरफ्तारी के बाद से मोटर साईकिल, 10 कार, 2 तमंचे और कारतूस बरामद किए गए हैं। इस पूरे गैंग की टीम का पर्दाफाश गोमतीनगर पुलिस ने किया है।

ये भी पढ़ें:सोनभद्र नरसंहार: पीड़ित परिवारों को 10 लाख रुपए देगी कांग्रेस, मुकदमा भी लड़ेगी

वहीं इन शातिर चोरों के बारे बात करते हुए एसपी नार्थ सुकृति यादव बताया कि जनपद एक सुपर 30 टीम एसएसपी द्वारा बनाई गई है। गोमतीनगर टीम ने सर्विलांस के माध्यम से काफी समय से जानकारियां इकट्ठा कर रहे थे। उन्होंने कहा जो पुराने लूट की घटनाएं हुई हैं, इनसे सम्बंधित कुछ सर्विलांस पर हम लोग सुन और देख रहे थे। जिसकी वजह से एक गैंग प्रकाश में आया। ऐसे में जब हमने उनको अरेस्ट किया तो पता चला कि ये पीजीआई में एक बड़ी लूट की घटना को अंजाम देने वाले थे। उन्होंने कहा यह एक अंतरराजीय गिरोह है, जिसमें अलग शिवान के 2 नए लोगों को बुलाया गया था।

ये भी पढ़ें:सोनभद्र नरसंहार: यूपी भाजपा अध्यक्ष ने प्रियंका गांधी पर साधा निशाना

जिसके बाद ये लोग तमंचे, कार और बाइक की मदद से एक बड़ी लूट की घटना को अंजाम देने वाले थे। हालांकि पूछताछ के दौरान पता चला कि इनके पास गाड़ियों को खोलने का मास्टर चाभी थी। वहीं इस दौरान एसपी ने ये भी बताया कि जो गाड़ियां वहां से चोरी हैं उन सभी में ये गिरोह शामिल था। जिसके बाद सभी गाड़ियों को लखनऊ और बिहार से पता करके इन्हें गिरफ्तार किया गया है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

उत्तर प्रदेश शिक्षक महासंघ 21 जनवरी को करेगा सामूहिक अवकाश, देंगे धरना

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश शिक्षक महासंघ के शिक्षक सम्मान और सेवा बचाओं आंदोलन के अन्तर्गत आगामी 21 जनवरी, 2020 को प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों मे धरना प्रदर्शन होगा। प्रदर्शन के समय यूपी शिक्षा सेवा आयोग अधिनियम की प्रतियां प्रतीक स्वरूप फाड़कर फेकीं जाएंगी।

उ.प्र. माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेशीय मंत्री एवं प्रवक्ता डॉ. आरपी मिश्र ने बताया कि शिक्षक सम्मान बचाओ आंदोलन के अन्तर्गत आगामी 21 जनवरी को सामूहिक अवकाश तथा विद्यालय की तालाबंदी के साथ जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन पहले से ही प्रस्तावित था। लेकिन सरकार की ओर से शिक्षकों की सेवा सुरक्षा संबधी माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड अधिनियम की धारा 21 समाप्त कर उ.प्र. शिक्षा सेवा आयोग अधिनियम की धारा 18 लागू की गई। जो प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा तक गैर सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयो मे कार्यरत शिक्षकों एवं कर्मचारियो पर लागू होगी। डॉ. मिश्र ने बताया कि पूर्व धारा 21 से चयन बोर्ड की पूर्वानुमति के बिना प्रबंध तंत्र का कोई भी दंडात्मक कार्य शून्य था, लेकिन शिक्षा सेवा आयोग की धारा 18 मे यह व्यवस्था समाप्त कर नियुक्ति प्राधिकारियों को शिक्षक उत्पीड़न का खुला रास्ता दे दिया गया है। यहां तक कि शिक्षको को पदावनत करने की नई व्यस्था लागू की गई है।       

ये भी पढ़ें: ‘अटल दर्शन’ के लिए खुला लोकभवन, पूर्व प्रधानमंत्री को बच्चे ने दी श्रद्धांजलि

डॉ. मिश्र ने बताया कि इसी के विरोध मे प्रदेश के शिक्षक हाथ में काली पट्टी बांधकर 20 जनवरी 2020 तक शिक्षण कार्य करेंगे और 21 जनवरी को सामूहिक अवकाश तथा विद्यालय की ताला बंदी कर जिला मुख्यालय पर धरना प्रर्दान होगा और प्रदर्शन के अवसर पर प्रतीक स्वरूप अधिनियम की प्रतियां फाड़कर फेंकी जाएंगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

बोर्ड परीक्षा का सफल आयोजन कराना एक बड़ी चुनौती: डॉ. दिनेश शर्मा

Published

on

अधूरी तैयारियां समय पर हो जायेंगी पूरी

लखनऊ। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि आगामी बोर्ड परीक्षा का सफल आयोजन कराना एक बड़ी चुनौती है। इसके लिए संपूर्ण तैयारी करनी होगी, जो भी तैयारियां अधूरी रह गई हैं उसे समय रहते पूरी कर ली जाएंगी। यह प्रतिष्ठा का विषय है।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि अपनी बेसिक कठिनाइयों के संबंध में एक सुझाव पत्र दीजिए। जरूरी है कि हमें अपने अधिकारियों एवं कर्मचारियों से काम की अपेक्षा करने के साथ ही साथ उनकी बुनियादी आवश्यकताओं को भी पूरा किए जाने पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुझे आशा है कि इस दो दिवसीय अधिवेशन में विभाग की कार्यशैली को और अधिक सुधारने, शिक्षा व्यवस्था के स्तर को और ऊंचा करने के संबंध में अच्छे विचार निकलकर सामने आएंगे।

यह भी पढ़ें :- सिविल में फरवरी से होगी मॉड्यूलर ओटी की शुरूआत

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा व्यवस्था में एक नई कार्य परंपरा का इजाद करें। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, प्रयागराज उत्तर प्रदेश को इस स्तर पर ले जाएं कि अन्य बोर्ड के लोग आपकी अच्छाइयों को फॉलो करें और आप से तुलना करें। उन्होंने कहा कि माध्यमिक एवं बेसिक शिक्षा दोनों को आपस में समन्वय स्थापित करते हुए शिक्षा व्यवस्था के बेहतरी में अपना योगदान देना चाहिए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

इंदौर, उज्जैन और वाराणसी के बीच चलेगी विशेष ट्रेन

Published

on

लखनऊ। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आज मध्यप्रदेश के विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर के शहर उज्जैन और वाराणसी को जोड़ने के लिए शीघ्र ही नयी सर्वसुविधायुक्त ट्रेन चलाने की घोषणा की। गोयल ने यहां पत्रकारवार्ता में कहा कि यह ट्रेन शीघ्र ही चलायी जाएगी, जो इंदौर से उज्जैन होते हुए वाराणसी तक जाएगी और इसी रूट से वापस इंदौर आएगी। इस ट्रेन का नामकरण भी महाकालेश्वर से जोड़कर रखा जाएगा।

गोयल ने कहा कि पर्यटन के दृष्टिकोण से सरकार भगवान महाकाल की नगरी उज्जैन को विश्वकाशी (वाराणसी) से जोड़ना चाहती है। इसके अलावा यह ट्रेन विश्व प्रसिद्ध दोनों धार्मिक नगरों को एक दूसरे से जोड़ देगी। उज्जैन में महाकाल मंदिर के दर्शन के बाद अल्प समय के लिए इंदौर पंहुचे रेल मंत्री के लिए आज सुबह स्थानीय रेल प्रबंधन ने एक प्रेस वार्ता आयोजित की थी। बताया गया है कि महाकाल मंदिर के दर्शन के बाद ही गाेलय के मन में यह ट्रेन चलाने की बात आयी और उन्होंने इंदौर आकर इसकी घोषणा कर दी।

एक सवाल के जवाब में गोयल ने कहा कि निजी कम्पनियों की ओर से ट्रेनों के संचालन को लेकर कहीं कोई हल्ला-विरोध नहीं हैं। बल्कि निजी ट्रेन संचालकों को सभी जगह से अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। गोयल ने कहा कि सालों से रेल सेवा में पर्याप्त निवेश नहीं होने के कारण उनका उन्नयन नहीं हुआ है। लिहाजा निजी सहयोग से रेलवे को सर्वसुविधा युक्त किये जाने का यह प्रयास है।

यह भी पढ़ें: शादी से पहले कुंडली मिलान का चलन हुआ पुराना, दूल्हा-दुल्हन करा रहे हैं ये टेस्ट

उन्होंने कहा कि रेल सेवा भारत की धरोहर है। निजी कंपनियों के आने से भारत की धरोहर पर कोई विपरीत फर्क नहीं पड़ने वाला है। श्री गोयल ने कहा पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप द्वारा अगले 12 साल में 50 लाख करोड़ रुपयों का निवेश रेलवे क्षेत्र में होने का लक्ष्य है। अभी यात्री ट्रेन क्षमता से डेढ़ गुना ‘ओवरलोड’ चल रही हैं। इसलिए निजी रेलगाड़ियों के आने से राहत मिलेगी।

इसी से जुड़े एक अन्य सवाल के जवाब गोयल ने कहा कि जो ट्रेन खाली जा रही हैं और जिन रूट पर ट्रेन ही नहीं है, ऐसे में देश भर के सभी रेल मार्गों का परीक्षण करा कर संतुलन बनाया जाएगा। गाेयल ने दावा करते हुए कहा कि ट्रेनों के संचालन के क्षेत्र में निजी क्षेत्र के आने से रेल सुविधाओं में सुधार और विस्तार होगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 12, 2020, 9:06 pm
Fog
Fog
13°C
real feel: 14°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 87%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:02 pm
 

Recent Posts

Trending